home / वेलनेस
जानिए मूली खाने के फायदे और नुकसान – Muli Khane ke Fayde Aur Nuksan

जानिए मूली खाने के फायदे और नुकसान – Muli Khane ke Fayde Aur Nuksan

पत्तेदार सब्जियां सेहत के लिए फायदेमंद मानी जाती हैं। डॉक्टर भी अक्सर सलाह देते हैं कि पत्तेदार सब्जियों को अपने आहार में जरूर शामिल करना चाहिए। पत्तेदार सब्जियों में आयरन, फोलिक एसिड, एंटीऑक्सीडेंट और ल्यूटिन होता है। ये सभी पोषक तत्व स्वस्थ रहने में मदद करते हैं। इसलिए अपने आहार में पत्तेदार सब्जियां और मौसमी सब्जियां जरूर शामिल करें। मूली सबसे लोकप्रिय पत्तेदार सब्जियों में से एक है और ज्यादातर लोग इसे सलाद के रूप में खाना पसंद करते हैं। इसके अलावा यह मूली का अचार व मूली परांठा बहुत से लोगों को पसंद होता है। आयुर्वेद में इसके कई स्वास्थ्य संबंधी गुणों के बारे में बताया गया है। मूली के साथ मूली के पत्ते, मूली के बीज सभी शरीर के लिए फायदेमंद (radish benefits in hindi) होते है। आज यहां हम मूली के गुण और मूली के लाभ (muli ke fayde) के बारे में विस्तापूर्वक आपको जानकारी देने जा रहे हैं ताकि आपको ज्यादा से ज्यादा फायदा मिल सके। चिचिंडा खाने के फायदे और नुकसान

मूली के पोषक तत्व – Radish Health Benefits in Hindi

मूली में कई पोषक तत्व होते हैं जिनकी शरीर को आवश्यकता होती है। मूली में आपको पानी, ऊर्जा, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, कुल आहार, चीनी, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, फास्फोरस, पोटेशियम, सोडियम, जिंक, कॉपर, मैंगनीज, फ्लोराइड सभी खनिज हैं जिनमें विटामिन सी, थायमिन, नियासिन, कोलाइन, बीटा शामिल हैं। विटामिन ए-के, ल्यूटिन भी पाए जाते हैं। जो आपके शरीर को आवश्यक सभी उचित पोषण प्रदान करते हैं। यही वजह है कि मूली खाने के फायदे ही फायदे (radish benefits in hindi) हैं।  कमरख फल के फायदे

मूली खाने के फायदे – Muli Ke Fayde 

ये तो हम सभी जानते हैं कि मूली खाना आपकी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि यह कार्बोहाइड्रेट, फास्फोरस, आयरन और प्रोटीन से भरपूर होता है। खास बात यह है कि कच्ची मूली खाने से खाना अच्छे से पचता है और खाना सही से पचता है। हालांकि मूली के पत्ते भी आपकी सेहत के लिए फायदेमंद होते हैं। लेकिन बहुत कम ही लोगों को पता होता है कि मूली खाने से किस-किस तरह के स्वास्थ्य लाभ होते हैं। तो आइए जानते हैं कि मूली के फायदे (muli ke fayde) जोकि हमारे स्वास्थ्य से जुड़े हुए हैं। रोहू मछली खाने के फायदे 

Muli Juice for Weight Loss in Hindi

मूली के जूस से वजन कम करें – Muli Juice for Weight Loss in Hindi 

अगर आप वजन कम करने की कोशिश कर रहे हैं तो मूली सबसे अच्छा उपाय है। ये फाइबर डाइट वजन को नियंत्रित कर वजन कम करने का काम करती हैं। मूली का सलाद या फिर मूली के जूस का सेवन करने से आपको सही फाइबर मिलता है और यह पेट को भरा हुआ रखता है। इससे आपको ज्यादा भूख नहीं लगती और आप ओवरईटिंग नहीं करते। अगर आप डाइट पर हैं तो मूली का जूस पीने फायदे होंगे। यह कैलोरी को कम करने में भी मदद करता है।

आंखों के रोग में फायदेमंद – Radish Benefits to Treat Eye in Hindi 

मूली में विटमिन ए, बी और सी भी पर्याप्त मात्रा में होता है। यह आंखों की रोशनी बढ़ाने में सहायक है। इसके अलावा मूली के सेवन से आंखों के रोग से भी छुटकारा मिलता है। अगर आप रोजाना मूली का सेवन करते हैं तो आपके आंखों की रोशनी कभी कम नहीं होगी।

मूली हैं सूजन पे असरदार – Muli Helps to Reduce Inflammation in Hindi 

मूली खाने के फायदे सूजन की समस्या में भी मिलती है। जी हां यदि किसी को सूजन का इलाज करना है तो 5 ग्राम तिल के साथ मूली के 1-2 ग्राम बीजों का सेवन करें। ऐसा दिन में दो-तीन बार करने से सूजन जल्द ही पटक यानि पिचक जाती है।

पाचन में सुधार – Muli Improve Digestion in Hindi 

चाहे साबूत मूली खाएं या फिर मूली के पत्ते, इनमें हाई फाइबर होता हैं। इसे खाने से पाचन क्रिया बेहतर होती है। यह पाचन तंत्र को सही करके पेट से संबंधित बीमारियों को दूर भगाता है। इसके पत्तों का रस पीने से भी पेट से जुड़ी तमाम समस्याओं से छुटकारा मिलता है।

Control Diabetes With Muli in Hindi

मधुमेह रोग को करे नियंत्रित – Control Diabetes With Muli in Hindi 

मधुमेह रोगियों के लिए मूली खाने के कई फायदे हैं। मूली एक एंटीडायबिटिक के रूप में काम करती है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सिडेंट और एनर्जी हमारे शरीर के मेटाबॉल्जिम में सुधार करने और मुक्त कणों को रोकने में मदद करते हैं, ग्लूकोज को नियंत्रित करते हैं और आंतों के ग्लूकोज इनटेक को कम करते हैं। मधुमेह रोगियों के लिए सिर्फ मूली की जड़ ही नहीं इसके पत्ते और बीज भी फायदेमंद होते हैं। मूली भी विटामिन सी का एक अच्छा स्रोत हैं, जिससे मधुमेह रोगियों को फायदा हो सकता है। 

बेहतर स्किन के लिए – Radish for Better Skin in Hindi 

मूली या इसके पत्ते खाने से शरीर से विषाक्त पदार्थ बाहर निकल जाते हैं और त्वचा में चमक आ जाती है। इसलिए अगर आप अच्छी त्वचा चाहते हैं तो आज ही अपने आहार में पत्तेदार पत्ते शामिल करें।

कब्ज से दिलाए छुटकारा – Radish for Constipation in Hindi  

अगर आप 100 ग्राम मूली खाते हैं तो इससे आपको करीब 1.6 ग्राम फाइबर मिलता है। इसलिए अगर आप रोजाना थोड़ी सी मूली का सेवन करेंगे तो आपको कब्ज से निजात मिल जाएगी। फाइबर आंतों की सफाई के लिए फायदेमंद होता है। इसलिए मूली खाने का फायदा कब्ज के लिए अच्छा होता है। फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ मल त्याग को आसान बनाते हैं और कब्ज से राहत दिलाते हैं।

किडनी स्टोन में फायदेमंद – Radish for Kidney Stone in Hindi 

गुर्दे की पथरी यानि कि किडनी स्टोन के साथ समस्या यह है कि इसमें बहुत ज्यादा परेशानी और दर्द होता है। कैल्शियम ऑक्सालेट किडनी की समस्या का मुख्य कारण है। यदि आप गुर्दे की पथरी से छुटकारा पाना चाहते हैं, तो डॉक्टर भी मूली या मूली के पत्ते से बनी सब्जी का सेवन करने की सलाह देते हैं। 

Radish for Cold and Cough in Hindi

सर्दी खांसी में फायदेंमंद – Radish for Cold and Cough in Hindi 

मूली में एंटी-कंजेस्टिव गुण पाए जाते हैं, जो सर्दी,खांसी और जुकाम से राहत दिलाने में मदद करता है। यह गले और सांस की नली को साफ करके कफ और जुकाम को दूर भगाता है।

कैंसर से करे बचाव – Cancer prevention in Hindi

मूली में विटामिन सी की भी मात्रा उच्च होती हैं, जो एक एंटीऑक्सीडेंट के रूप में कार्य करता है। इसमें मौजूद फाइटोकेमिकल्स और एंथोसायनिन कैंसर से लड़ने में मदद करते हैं। किडनी और आंत जैसे कैंसर से शरीर की रक्षा करता है।

दिल का रखे ख्याल – Radish for Healthy Heart in Hindi 

दिल शरीर का एक अहम हिस्सा है इसलिए इसका ख्याल रखना बेहद जरूरी है। मूली खाने के फायदे कई हैं। दरअसल, एनसीबीई (द नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन) वेबसाइट के मुताबिक, नाइट्रेट मूल्य में एथेरोस्क्लेरोसिस से राहत दिलाने में मदद करता है। एथेरोस्क्लेरोसिस एक गंभीर समस्या है जिसमें आंतरिक नसों में वसा और कोलेस्ट्रॉल जमा हो जाता है, जिससे हार्ट अटैक पड़ सकता है। लेकिन मूली में मौजूद फाइबर इस समस्या को कम करने में मदद करता है। 

पीलिया में फायदेमंद – Radish for Jaundice in Hindi 

मूली पीलिया के मरीजों के लिए रामबाण का काम करती है। जिन लोगों को पीलिया की शिकायत रहती है उन्हें डाइट में ताजी मूली को शामिल करना चाहिए। रोजाना सुबह एक कच्ची मूली खाने से पीलिया रोग सही हो जाता है।

मूली खाने के नुकसान – Side Effects of Radish in Hindi 

मूली निश्चित रूप से आपके शरीर के लिए अच्छी होती है। लेकिन मूली के फायदे और नुकसान (radish in hindi) भी है। वो तब जब इसकी मात्रा अधिक हो तो यह स्वास्थ्य के लिए हानिकारक भी हो सकता है। क्योंकि हर चीज की एक निश्चित मात्रा होती है और उसी मात्रा में उसका सेवन करना चाहिए। तो आइए जानते हैं मूली खाने के नुकसान के बारे में-

  • मूली एक वनस्पति गोइट्रोजेनिक पदार्थ है, जो थायरॉइड हार्मोन के साथ हस्तक्षेप करता है। इसके अधिक सेवन से थायरॉइड हार्मोन का स्तर असंतुलित हो सकता है। थायरॉइड से पीड़ित लोगों को इसका ज्यादा सेवन नहीं करना चाहिए।
  • मूली हमारे शरीर के ब्लड शुगर के स्तर को तेजी से कम करता है। इसमें हाइपोग्लाइसेमिक होता है। इसीलिए जिन लोगों का ब्लड शुगर लेवल पहले ही कम है उन्हें मूली का सेवन न के बराबर करना चाहिए।
  • मूली में रेचक गुण होते हैं इसलिए यदि अधिक मात्रा में सेवन किया जाए तो पेट में दर्द बना रह सकता है। जिनका पेट संवेदनशील होता है उन्हें मूली खाने से बचना चाहिए। 
  • मूली का सेवन काले चने के साथ नहीं करना चाहिए। इससे अपच की समस्या हो सकती है। 
  • ध्यान रखें कि दूध पीने के बाद तुरंत मूली का सेवन न करें, नहीं तो लेने के देने पड़ सकते हैं। 
  • एक्सपर्ट बताते हैं कि मछली के साथ मूली का सेवन नहीं करना चाहिए। इससे शरीर को बहुत नुकसान पहुंचता है। 
  • गर्भवती महिला को मूली के सेवन करने से बचें। क्योंकि इससे गैस की दिक्कत हो जाती है।

मूली खाने से जुड़े सवाल-जवाब FAQs on Radish in Hindi 

radish in hindi

– मूली की तासीर कैसी होती है?

मूली की तासीर गर्म होती है, इसीलिए इसका सेवन गर्मियों के मुकाबले सर्दियों में ज्यादा किया जाता है। लेकिन मूली के साथ ये भी है कि इसकी तासीर शाम को ठंडी और दिन में गर्म हो जाती है।

– मूली के पत्ते खाने से क्या होता है?

यदि किसी को कमजोरी है तो उसे मूली के पत्ते खाने चाहिए। मूली के पत्ते विटामिन ए, विटामिन बी, सी के साथ ही क्लोरीन, फास्फोरस, सोडियम, आयरन, मैग्नीशियम और अन्य पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं जो शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं और थकान को दूर करते हैं।

– मूली खाने के बाद किन चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए?

मूली खाने के बाद ठंडा पानी और दूध का सेवन नहीं करना चाहिए। ऐसा करना आपके शरीर के लिए कहीं ज्यादा हानिकारक साबित हो सकता है।

– मूली खाने का सही समय क्या है?

सर्दियों के दिनों में मूली खाने का सबसे सही समय दिन या दोपहर का होता है। इससे मूली आपके शरीर को गर्म रखने में औषधि की तरह काम करेगी।

क्या पथरी में मूली खा सकते हैं?

जी हां, पथरी की समस्या में मूली खाने के फायदे ही फायदे हैं। किडनी, मूत्राशय और पित्त की पथरी में मूली रामबाण है। ये पथरी निकालने का प्राकृतिक उपचार है।

तो दोस्तों, आपने अभी ऊपर मूली खाने के फायदे और नुकसान (muli khane ke fayde) दोनों ही पढ़ें। साथ ही आपने मूली के औषधीय गुण (radish in hindi) के बारे में भी जाना। आप इनकी मदद से कई बीमारियों में मूली के सेवन (muli ke fayde) से स्वास्थ्य लाभ पा सकते हैं, और अनेक रोगों की रोकथाम कर सकते हैं। 

ये भी पढ़ें –
जानिए करेला खाने के फायदे और नुकसान
जानिए सोयाबीन खाने के फायदे और नुकसान
जानिए साबूदाना के फायदे और नुकसान
हल्दी-दूध के फायदे और नुकसान – Haldi Doodh Ke Fayde
गुलकंद खाने के फायदे और नुकसान – Gulkand ke Fayde
आयुर्वेद में गिलोय को अमृत कहा जाता है, जानिए इसके फायदे और सेवन विधि
जानिए सेहत के लिए मुनक्का के फायदे, नुकसान और खाने का सही तरीका

28 Sep 2021

Read More

read more articles like this

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text