home / xSEO
Karele Ke Fayde - करेले के फायदे व नुकसान - Bitter Gourd in Hindi

जानिए करेला खाने के फायदे और नुकसान – Karele ke Fayde & Nuksan

इन्हें करेला कहें या कड़वा करेला, यह चमकीली हरी, सुपर कड़वी सब्जी शायद दुनिया भर में कई लोगों की पसंदीदा है। अपने कड़वे, तीखे स्वाद के लिए दूर किए जाने के बावजूद, करेला हमेशा अपने अद्भुत स्वास्थ्य लाभों के कारण भारतीय व्यंजनों में एक अनिवार्य सब्जी के रूप में रहने में कामयाब रहा है। अगर आपको याद हो, तो जब आप बच्चे थे तब आपकी मां या दादी ने करेला की गिना-गिना कर आपको इसकी सब्जी खूब खिलाने की कोशिश की होगी। दरअसल, वे कई मायनों में सही थे। हम इसके कड़वे स्वाद की निंदा करने में इतने व्यस्त हैं, कि हमने करेले के गुण और करेले के फायदे (Bitter Gourd Benefits in hindi) की हमेशा अनदेखी की है। सिर्फ करेला ही नहीं बल्कि करेला जूस के फायदे भी कई हैं।  चिचिंडा खाने के फायदे और नुकसान

करेला क्या है? – Bitter Gourd in Hindi

Bitter Gourd in Hindi

क्या आप जानते हैं कि करेला वास्तव में सब्जी नहीं बल्कि एक फल है। बाहर से हरे रंग का दिखने वाला करेला अंदर से क्रीम कलर का होता है और इसके बीज भी बड़े-बड़े होते हैं। इसकी चीनी किस्म आमतौर पर लंबी, हल्के हरे रंग की होती है, और मस्से जैसे धक्कों से ढकी होती है। दूसरी ओर, भारतीय किस्म अधिक संकरी होती है और छिलके पर खुरदुरे, दांतेदार स्पाइक्स के साथ नुकीले सिरे होते हैं। करेला में आयरन, मैग्नीशियम और विटामिन से लेकर पोटेशियम और विटामिन सी तक महत्वपूर्ण पोषक तत्वों की भरमार होती है। यह फाइबर का एक उत्कृष्ट स्रोत है, इसमें पालक के कैल्शियम, ब्रोकोली के बीटा-कैरोटीन और केले के पोटेशियम से दोगुनी ताकत होती है। ऐश गार्ड के फायदे

करेला के फायदे – Karela Benefits in Hindi 

करेला के औषधीय गुण विभिन्न पारंपरिक औषधीय प्रथाओं में व्यापक रूप से बेहद बेशकीमती माने जाते हैं। मध्य पूर्वी देशों में आयुर्वेद, चीनी और प्राचीन औषधीय चिकित्सक विशेष रूप से पेट की बीमारियों से निपटने के लिए करेले का औषधि उपयोग की पुष्टि करते हैं। यह खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में भी मदद करता है, जिससे हृदय रोग और स्ट्रोक का खतरा कम होता है। यह प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है, सांस से संबंधित बीमारियों में सुधार करता है और इसमें एंटी-एजिंग गुण भी होते हैं। हम यहां आपको करेले के फायदे (Bitter Gourd Benefits in hindi) के बारे में बता रहे हैं। 

Karela Benefits in Hindi

ब्लड शुगर लेवल करे कंट्रोल – Karela to Control Blood Sugar in Hindi 

मधुमेह रोगियों के लिए भी करेले के फायदे हैं। रोजाना सुबह एक गिलास करेले का जूस पीने की सलाह दी जाती है। इसकी सब्जी पॉलीपेप्टाइड-पी में समृद्ध होती है, जो शुगर के लेवल में अचानक वृद्धि को रोक सकती है। आयुर्वेदिक चिकित्सक शुगर के लेवल को कम करने के लिए रोजाना कम से कम 2 मिलीलीटर करेले के रस को पानी में मिलाकर पीने की सलाह देते हैं। विभिन्न अध्ययनों के अनुसार यह भी बताया गया है कि इस जूस के नियमित सेवन से ग्लाइसेमिक नियंत्रण में सुधार होता है। हालांकि, अगर आप लो शुगर लेवल से पीड़ित लोगों में से एक हैं, तो इस रस का सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से बात करें।

वजन घटाए करेला – Karela for Weight Loss in Hindi 

करेले में कैलोरी, वसा और कार्बोहाइड्रेट कम होता है। यह आपके पेट को अधिक समय तक भरा रखता है और इसलिए अगर आप वजन घटाने की योजना बना रहे हैं तो करेला आपकी योजना को आसान बना सकता है। करेले को मोटापे के इलाज के लिए एक प्राकृतिक एजेंट के रूप में देखा जा सकता है। इसके अलावा, करेले में 80-85% पानी होता है, जो भूख को कंट्रोल करने में मदद करता है। यह मेटाबॉलिज्म में भी सुधार करता है।

आंखों के लिए फायदेमंद – Karela Benefits for Eyes in Hindi 

करेले के फायदे मोतियाबिंद जैसी दृष्टि संबंधी समस्याओं को रोकने में मदद करते हैं क्योंकि इसमें बीटा-कैरोटीन और विटामिन ए जैसे यौगिक होते हैं जो आपकी आंखों के लिए स्वस्थ होते हैं और आंखों की रोशनी को मजबूत करते हैं। विटामिन ए और बीटा कैरोटीन से भरपूर होने के कारण, करेले के रस के नियमित सेवन से आंखों की रोशनी में सुधार होता है। यह उन बच्चों के लिए भी फायदेमंद है, जिनकी आंखें काम उम्र में ही कमजोर होने लगती हैं क्योंकि यह आगे उनकी आंखों को और भी कमजोर होने से रोकने में मदद करता है। 

Karela for Weight Loss in Hindi

लीवर के लिए खाएं करेला – Karela Benefits for Liver in Hindi 

करेले को सब्ज़ी के रूप में खाने से लीवर को काफी फायदा होता है। सब्जी में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालते हैं और पित्त एसिड के स्राव को उत्तेजित करते हैं, जो विभिन्न शारीरिक कार्यों जैसे पाचन से लेकर मेटाबॉलिज्म के लिए आवश्यक है। इसके अलावा लीवर के लिए करेला जूस के फायदे भी हैं। यह आंत को साफ करने के साथ-साथ लीवर की कई समस्याओं को भी ठीक करता है। 

कोलेस्ट्रोल करे कम – Karela to Control Cholesterol in Hindi 

करेला जूस में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते है, जो शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में भी मदद करते हैं। यह दिल के दौरे और स्ट्रोक के जोखिम को काफी कम कर देता है। यह शरीर के रक्तचाप को भी बनाए रखता है क्योंकि यह पोटेशियम से भरपूर होता है, जो शरीर में अत्यधिक सोडियम को अवशोषित करता है। यह आयरन और फोलिक एसिड से भरपूर होता है जो स्ट्रोक के जोखिम को कम करने और आपके दिल को स्वस्थ रखने के लिए जाना जाता है।

कैंसर के खतरे को कम करे करेला – Prevent Cancer With Karela in Hindi 

करेले के फायदे कैंसर जैसी घातक बीमारी को कम करने के लिए भी जाने जाते हैं। एक टेस्ट-ट्यूब अध्ययन से पता चला है कि करेले का अर्क पेट, बृहदान्त्र, फेफड़े और नासोफरीनक्स की कैंसर कोशिकाओं को मारने में प्रभावी है। हालांकि यह निर्धारित करने के लिए और शोध की आवश्यकता है कि करेले का सेवन मनुष्यों में कैंसर के विकास को बढ़ने से कैसे रोक सकता है। 

इम्यून सिस्टम बढ़ाए – Boost Immunity With Karela in Hindi 

करेले के गुण वायरस और बैक्टीरिया से लड़ते हैं और आपकी इम्युनिटी को मजबूत करते हैं। यह एलर्जी और अपच को रोकता है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सिडेंट बीमारी के खिलाफ शक्तिशाली रक्षा तंत्र के रूप में काम करते हैं। यह अपच, कब्ज और पेट की अन्य समस्याओं में भी मदद करता है जो इस मौसम में काफी आम हैं।

करेला के नुकसान – Karele Ke Nuksan

Karele Ke Nuksan

करेले के फायदे हैं तो करेले के नुकसान भी हैं। हालांकि विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं से लड़ने के लिए करेला खाने की सिफारिश की जाती है, लेकिन इसे कम मात्रा में लेने की भी सलाह दी जाती है। अगर अधिक मात्रा में लिया जाए तो यह कड़वी सब्जी पेट में तेज दर्द और दस्त का कारण बन सकती है। शुरुआती महीनों में गर्भवती महिलाओं को करेले का सेवन करने से मना किया जाता है क्योंकि इससे संकुचन हो सकता है और योनि से रक्तस्राव और गर्भपात हो सकता है। यदि आपकी हाल ही में सर्जरी हुई है, तो बुखार से उबरने के लिए अपने डॉक्टर से बात करें कि क्या आप करेला खा सकते हैं। यदि आप मधुमेह की दवा की अधिक खुराक ले रहे हैं तो अपने चिकित्सक की सलाह लें क्योंकि यह दवाओं में हस्तक्षेप कर सकता है और हाइपोग्लाइसीमिया या लो ब्लड शुगर का कारण बन सकता है।

करेला को लेकर पूछे जाने वाले सवाल-जवाब – FAQ’s on Bitter Gourd (Karela) in Hindi 

सवाल- करेले का जूस कितने दिन पीना चाहिए?

जवाब- अगर आप लीवर संबंधित समस्या से गुजर रहे हैं तो एक हफ्ते कर रोजाना करेले के जूस को पीना चाहिए।

सवाल- करेले का कड़वापन कैसे दूर करें?

जवाब- करेले का कड़वापन दूर करने के लिए सब्जी या जूस बनाते समय इसके बीजों को निकाल दें।

सवाल- करेले में कौन से तत्व पाए जाते हैं?

जवाब- करेले में प्रचूर मात्रा में विटामिन A, B और C पाए जाते हैं। इसके अलावा कैरोटीन, बीटाकैरोटीन, लूटीन, आइरन, जिंक, पोटैशियम, मैग्नीशियम और मैगनीज जैसे फ्लावोन्वाइड भी पाए जाते हैं। 

सवाल- करेले का जूस कब पीना चाहिए?

जवाब- करेले का जूस खाली पेट पीना चाहिए। इसलिए बेहतर होगा इसे सुबह के समय पिएं।

सवाल- करेला खाने के बाद क्या नहीं खाना चाहिए?

जवाब- करेला खाने के बाद कभी भी दूध नहीं पीना चाहिए।

सवाल- रात को करेला क्यों नहीं खाना चाहिए?

जवाब- रात को करेला खाने से पेट में मरोड़ और दर्द हो सकता है। अगर खाना ही है तो इसकी सब्जी सरसों के तेल में ही पकाएं।

अगर आपको यहां बताए गए करेले के फायदे (karele ke fayde) पसंद आए तो इन्हें अपने दोस्तों और परिवारजनों के साथ जरूर शेयर करें।

23 Sep 2021

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text