home / xSEO
Gokhru ke fayde (गोखरु के फायदे) - Gokshura Benefits in Hindi

गोखरु के फायदे – Gokhru Ke Fayde

गोखरू पारंपरिक आयुर्वेदिक और चीनी चिकित्सा में एक लोकप्रिय औषधीय पौधा है। पश्चिमी देशों में, गोखरू को लोकप्रिय आहार पूरक ट्रिबुलस टेरेस्ट्रिस के रूप में जाना जाता है। लोग इसे कई अन्य उपयोगों के अलावा अपनी कामेच्छा और टेस्टोस्टेरोन को बढ़ावा देने के लिए लेते हैं। इसके अलावा गोखरू नामक जड़ी बूटी का उपयोग गुर्दे और मूत्र संबंधी समस्याओं से निपटने के लिए भी किया जाता है। यह जंगली पौधे की तरह दिखता है मगर वास्तव में यह एक जड़ी बूटी है। गोखरू का पौधा कई तरह की बीमारियों को ठीक करने के काम आता है। हम आपको यहां गोखरु के फायदे (gokhru ke fayde) और गोखरू का उपयोग (gokhru uses in hindi) बता रहे हैं।  चंद्रप्रभावटी के फायदे

गोखरू क्या है? – What is Gokhru in Hindi? 

गोखरू क्या है? - What is Gokhru in Hindi

गोक्षुरा एक छोटा पत्तेदार पौधा है जो कैल्ट्रोप परिवार का सदस्य है। यह दक्षिणी एशिया, दक्षिणी यूरोप, अफ्रीका और उत्तरी ऑस्ट्रेलिया जैसे गर्म तापमान वाले क्षेत्रों में बढ़ता है। पारंपरिक आयुर्वेदिक और चीनी चिकित्सा में, लोगों ने लंबे समय से इसकी जड़ों और फलों का उपयोग विभिन्न प्रकार की स्वास्थ्य स्थितियों के इलाज के लिए किया है। इनमें मूत्र पथ के विकार, गुर्दे की बीमारी, सूजन, पुरानी खांसी, अस्थमा और इरेक्टाइल डिसफंक्शन शामिल हैं। पश्चिमी देशों में, गोखरू को आमतौर पर ट्रिबुलस टेरेस्ट्रिस के रूप में जाना जाता है। कंपनियां इसे प्राकृतिक टेस्टोस्टेरोन बूस्टर के रूप में बाजार में उतारती हैं। आप गोखरू को विभिन्न रूपों में खरीद सकते हैं, जैसे पाउडर, कैप्सूल या टैबलेट। स्टोर आमतौर पर इसे ट्रिबुलस टेरेस्ट्रिस नाम से बेचते हैं। कौंच बीज के फायदे और नुकसान

गोखरू के फायदे – Gokhru or Gokshura Benefits in Hindi

गोखरू एक पारंपरिक हर्बल फॉर्मूलेशन है जिसका उद्देश्य शरीर को पुनर्जीवित करना और उसमें फिर से ऊर्जा भरना है। इस फॉर्मूलेशन के एंटी-इंफ्लैमेटरी और मूत्रवर्धक गुणों के कारण यौन समस्याओं से लेकर गुर्दे के कार्यों में सुधार करने और मूत्र पथ संक्रमण, मूत्र विकृति, मूत्र पथरी, डिसुरिया, पेशाब में कठिनाई, ऑस्टियोआर्थराइटिस का इलाज, गठिया और राहत जैसी कई जेनिटोरिनरी समस्याओं के इलाज के लिए बेहद फायदेमंद बनाती है। यह यौन और प्रजनन स्वास्थ्य को बढ़ावा देने, यौन इच्छा और प्रदर्शन में सुधार करने में एक साथ काम करता है। मगर गोखरू के लाभ (gokshura benefits in hindi) बस यहीं तक सीमित नहीं हैं। हम आपको यहां और भी गोखरु के फायदे (gokhru ke fayde in hindi) के बारे में बता रहे हैं।  जानिए अशोकारिष्ट के फायदे और नुकसान

गोखरू के फायदे - Gokhru or Gokshura Benefits in Hindi

इनफर्टिलिटी में फायदेमंद – Gokhru Benefits During Infertility in Hindi 

गोक्षुरा को एक शक्तिशाली कामोद्दीपक माना जाता है और यह पुरुषों में यौन इच्छा को बढ़ा सकता है। गोक्षुरा में मौजूद सक्रिय फाइटोकेमिकल्स टेस्टोस्टेरोन के स्तर के साथ-साथ शुक्राणु की समग्र गुणवत्ता और मात्रा में सुधार करते हैं। यह पुरुषों में बांझपन की समस्या को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है। इसमें मौजूद तत्व पुरुष हार्मोन टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाते हैं। इसके लिए गोखरू के 20 ग्राम फूलों को 250 मिली दूध में उबाल लें और इसे छान कर रोज सुबह और शाम पियें।

हाजमा करे दुरुस्त – Gokhru for Digestion in Hindi

गोखरू के पौधे में पाए जाने वाले पाचक गुण पाचन को बेहतर बनाने में बेहद फायदेमंद पाए जाते हैं। यह पाचक रसों के स्राव को उत्तेजित करता है जिससे आवश्यक पोषक तत्वों के अवशोषण में वृद्धि होती है और पाचन में वृद्धि होती है। यह द्रव प्रतिधारण को भी रोकता है और पेट दर्द, पेट की दूरी, अल्सरेटिव कोलाइटिस के लक्षणों का इलाज करता है।

लो स्पर्म काउन्ट में फायदेमंद – Gokhru to Boost Sperm Count in Hindi 

गोखरू चूर्ण के फायदे लो स्पर्म काउन्ट में काफी देखने को मिलते हैं। गोखरू का चूर्ण आमतौर पर पुरुषों के स्वास्थ्य में सुधार के लिए प्रभावी है। चूर्ण में शक्तिशाली शुक्राणुजन्य गुण होते हैं जो हाइपोस्पर्मिया (low volume of semen), एस्थेनोज़ोस्पर्मिया (sperm motility), ओलिगोस्पर्मिया (low sperm count), टेराटोस्पर्मिया (abnormal sperm shape) के इलाज के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं और शुक्राणुजनन (sperm production) को बढ़ाते हैं। एक प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट होने के कारण, यह टेस्टोस्टेरोन और ल्यूटिनाइजिंग हार्मोन के उत्पादन में सुधार करता है। यह इरेक्टाइल डिस्फंक्शन और शीघ्रपतन जैसी स्थितियों का भी इलाज करता है।

सीने के दर्द में दिलाए राहत – Gokhru for Chest Pain in Hindi 

इसकी मजबूत एंटीऑक्सीडेंट प्रकृति के कारण विभिन्न हृदय रोगों के इलाज में गोखरू बेहद प्रभावी है। यह हृदय की मांसपेशियों को मजबूत करता है। गोखरू में मौजूद बायोएक्टिव घटक गैर-एस्ट्रिफ़ाइड फैटी एसिड यानी एनईएफए के स्तर को कम करते हैं, और इसलिए दिल के दौरे, स्ट्रोक, रक्त के थक्के आदि के जोखिम को कम करते हैं। यह रक्त में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बनाए रखने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

सीने के दर्द में दिलाए राहत - Gokhru for Chest Pain in Hindi

किडनी के लिए फायदेमंद – Gokhru ke Fayde Kidney ke Liye

गोखरू के पारंपरिक फॉर्मूलेशन अतिरिक्त यूरिक एसिड के उत्सर्जन में सहायता करके और किडनी में यूरिक एसिड के स्तर को बनाए रखने के द्वारा किडनी के स्वस्थ कामकाज को बढ़ावा देता है, जिससे गठिया को रोका जा सकता है या इलाज किया जा सकता है। गोखरू चूर्ण की एंटी-लिथियासिस प्रॉपर्टी किडनी स्टोन को बनने से रोकती है और जिन लोगों में यह पहले बन चुकी है उनके किडनी स्टोन के आकार को तोड़ने या कम करने में मदद करती है। 

शरीर की मांसपेशियां करे मजबूत – Gokhru to Strengthen Body Muscles in Hindi 

शरीर की मासपेशियां मजबूत करने के लिए भी सेहत बनाने के लिए भी गोखरू का उपयोग किया जा सकता है। दरअसल, गोखरू के अर्क का उपयोग ल्यूटिनाइजिंग हार्मोन को बढ़ाता है, जो शरीर की मांसपेशियों को मजबूत और शारीरिक ताकत को बढ़ाने में मदद कर सकता है। इसलिए सेहत बनाने या फिर मांसपेशियां मजबूत बनाने के लिए गोखरू गोखरू एक अच्छा विकल्प साबित हो सकता है। 

बुखार में गोखरू के फायदे – Benefits of Gokhru in Fever in Hindi 

गोखरू का पौधा बुखार आने पर भी बेहद फायदेमंद साबित हो सकता है। अगर आपको भी मौसम बदलने के साथ बार-बार बुखार आ रहा है तो आप भी गोखरू के लाभ उठा सकते हैं। इसके लिए 5 ग्राम गोखरू चूर्ण को 250 मिली पानी में उबालकर काढ़ा बना लें। इस काढ़े को दिन में चार बार पियें। ऐसा करने पर बुखार के लक्षणों से राहत मिलती है। 

गोखरू के नुकसान – Disadvantage of Gokhru in Hindi 

गोखरू के नुकसान - Disadvantage of Gokhru in Hindi

गोखरू का उपयोग अपने डॉक्टर के परामर्श के बाद ही करना बेहतर रहेगा। क्योंकि कभी-कभी पूर्व परामर्श के बिना अत्यधिक सेवन से दस्त, मतली, उल्टी, पेट दर्द, ऐंठन, कब्ज, सोने में कठिनाई या भारी मासिक धर्म रक्तस्राव हो सकता है। गर्भावस्था या स्तनपान के दौरान इसका उपयोग करने से सख्त मना किया जाता है क्योंकि इससे बढ़ते भ्रूण में असामान्यताएं या जन्म दोष हो सकते हैं या दवा, स्तन के दूध के माध्यम से नवजात तक पहुंच सकती है और गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं पैदा कर सकती है। मधुमेह या उच्च रक्तचाप से पीड़ित लोगों को भी डॉक्टर की सलाह के बिना गोखरू या गोखरू चूर्ण का उपयोग करने से मना किया जाता है।

गोखरू के फायदे को लेकर पूछे जाने वाले सवाल-जवाब – FAQ’s

सवाल- गोखरू कहां अधिक पाया जाता है?

जवाब- यह दक्षिणी एशिया, दक्षिणी यूरोप, अफ्रीका और उत्तरी ऑस्ट्रेलिया जैसे गर्म तापमान वाले क्षेत्रों में अधिक पाया जाता है।

सवाल- क्या गोखरू एक जड़ी-बूटी है?

जवाब- हां, गोखरू एक औषधीय पौधा व जड़ी बूटी है।

सवाल- गोखरू का पानी पीने से क्या होता है?

जवाब- गोखरू का पानी या गोखरू का काढ़ा पीने से बुखार में राहत मिलती है।

सवाल- गोखरू कैसे खाना चाहिए?

जवाब- गोखरू के पाउडर को पानी के साथ उबालकर पी सकते हैं। इसके अलावा गोखरु के तने से काढ़ा बनाकर भी पिया जा सकता है।अगर आपको बी यहां बताए गए गोखरू के फायदे gokhru ke fayde in hindi पसंद आए तो इन्हें अपने दोस्तों और परिवारजनों के साथ शेयर करना न भूलें।

20 Sep 2021

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text