home / वेलनेस
यूरिक एसिड को जड़ से खत्म करने का उपाय

यूरिक एसिड को जड़ से खत्म करने का उपाय, कारण और लक्षण – Uric Acid in Hindi

आपके शरीर की किडनी जब किसी कारण से सही प्रकार से अपना काम नहीं कर पाती है तो आपके शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ने लगती है। दरअसल, किडनी का काम शरीर के हानिकारक पदार्थों को बाहर निकालने का होता है लेकिन किन्ही कारणों से जब किडनी अपने इस काम को सही प्रकार से नहीं कर पाती है तो शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ने लगती है। बढ़ा हुआ यूरिक एसिड (uric acid ka ilaj) हड्डियों के बीज में जमा होने लगता है और आपको इसके लक्षण दिखाई देने लगते हैं। आज हम अपने इस लेख में आपको uric acid symptoms in hindi यूरिक एसिड के लक्षण, यूरिक एसिड के लक्षण, कारण और uric acid control in hindi यूरिक एसिड को जड़ से खत्म करने का उपाय के बारे में बताने वाले हैं। 

Uric Acid Kya Hai | यूरिक एसिड क्या है

Uric Acid Kya Hai
यूरिक एसिड क्या है

रक्त में जब जरूरत से अधिक मात्रा यूरिक एसिड (uric acid kya hai) के बढ़ने को चिकित्सीय भाषा में हाइपरयूरिसीमिया कहते हैं। यूरिक एसिड (uric acid in hindi) के बढ़ने से एक व्यक्ति को कई बीमारियां हो सकती हैं। उदाहरण के लिए गाउट। हालांकि, गाउट, हृदय रोग, शुगर और किडनी संबंधी रोग के कारण भी हो सकता है। दरअसल, आपके द्वारा खाए गए भोजन और शरीर की कोशिकाओं के टूटने से शरीर में यूरिक एसिड बनता है। आमतौर पर किडनी मनुष्य के शरीर से अधिकतर यूरिक एसिड को साफ कर देता है, जो बाद में मूत्र के माध्यम से बाहर निकल जाता है। इसके अलावा थोड़ा बहुत यूरिक एसिड मल के द्वारा भी शरीर से बाहर निकल जाता है। हालांकि, कई बार जब किडनी सही तरह से रक्त से यूरिक एसिड को निकाल नहीं पाती है तो इससे शरीर में यूरिक एसिड का स्तर बढ़ जाता है। रक्त में जब यूरिक एसिड का स्तर बढ़ जाता है तो उससे जोड़ों में ठोस क्रिस्टल बन सकते हैं। इससे आपको गाउट रोग भी हो सकता है। ऐसे में यदि गाउट का इलाज नहीं किया जाए तो यूरिक एसिड के क्रिस्टल जोड़ों और उसके आसपास के ऊतकों में इकट्ठा हो जाते हैं और गांठ का रूप ले लेते हैं। यहां तक कि यूरिक एसिड के बढ़ने से गुर्दे में पथरी या फिर गुर्दे खराब भी हो सकते हैं।    

Uric Acid Badhne ke Karan | यूरिक एसिड बढ़ने के कारण

Uric Acid ke Karan
यूरिक एसिड बढ़ने के कारण

ऐसे बहुत से कारण हो सकते हैं, जिनकी वजह से आपके शरीर में यूरिक एसिड बढ़ सकता है (uric acid badhne ke karan)। हम यहां आपको यूरिक एसिड के शरीर में बढ़ने के कुछ प्रमुख कारण बता रहे हैं-

– इंसुलिन विरोध

– अनुवांशिकता

– शरीर में आयरन का अधिक मात्रा में होना

– हाई ब्लड प्रेशर

– थायराइड का कम या ज्यादा होना

– किडनी का खराब हो जाना

– मोटापा

– गलत खान-पान

– अधिक मात्रा में शराब का सेवन करना

– अनुवांशिकता
– शरीर में आयरन का अधिक मात्रा में होना
– हाई ब्लड प्रेशर
– थायराइड का कम या ज्यादा होना
– किडनी का खराब हो जाना
– मोटापा
– गलत खान-पान
– अधिक मात्रा में शराब का सेवन करना

यूरिक एसिड बढ़ने का क्या मतलब है?

यूरिक एसिड बढ़ने से हमारा मतलब है कि रक्त में यूरिक एसिड की मात्रा का बढ़ना। या फिर आप यह भी कह सकते हैं कि शरीर से यूरिक एसिड का बाहर निकलना कम होना या फिर रक्त में यूरिक एसिड का मिक्स होना। इस वजह से ही आपको कई सारी बीमारियां होती हैं। यदि आपकी किडनी सही प्रकार से रक्त में से यूरिक एसिड को साफ नहीं कर पा रही है तो इसका मतलब है कि शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ रही है।

Uric Acid Symptoms in Hindi | यूरिक एसिड के लक्षण

Uric Acid Symptoms in Hindi
यूरिक एसिड के लक्षण

जैसा कि हम आपको ऊपर बता चुके हैं कि यूरिक एसिड किस वजह से बढ़ता है। मुख्य रूप से यूरिक एसिड आपके शरीर में तभी बढ़ता है, जब आपकी किडनी सही प्रकार से उसे रक्त में से साफ नहीं कर पाती है। यदि आपके शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ गई है तो आपको यूरिक एसिड के लक्षण (uric acid symptoms in hindi) दिखाई दे सकते हैं-

– आपको सुबह शाम अपने जोड़ों में दर्द महसूस हो सकता है। किसी वक्त आपको कम दर्द महसूस होगा तो वहीं किसी वक्त आपको तेज दर्द महसूस हो सकता है।

– यदि आप किसी एक स्थान पर काफी देर तक बैठते हैं और उसके बाद उठते हैं तो आपकी एड़ियों में आपको असहनीय दर्द महसूस हो सकता है। 

– गाठों में सूजन होना।

– पैरों, जोड़ों, उंगलियों और गाठों में सूजन होना।

– यूरिक एसिड के लक्षण के रूप में आपके खून में शर्करा का स्तर बढ़ सकता है।

– हालांकि, कई बार यूरिक एसिड बढ़ने पर आपको इनमें से कोई लक्षण दिखाई नहीं देता है।

Uric Acid ka Ilaj | यूरिक एसिड घरेलू उपचार

Uric Acid ka Ilaj
यूरिक एसिड घरेलू उपचार

यदि आपके शरीर में यूरिक एसिड (uric acid treatment in hindi) की मात्रा बढ़ गई है और आप इसे घटाना चाहते हैं, तो दवाइयों के साथ-साथ आयदि आपके शरीर में यूरिक एसिड (uric acid treatment in hindi) की मात्रा बढ़ गई है और आप इसे घटाना चाहते हैं, तो दवाइयों के साथ-साथ आप कुछ घरेलू नुस्खों की भी मदद ले सकते हैं। इन घरेलू नुस्खों को नियमित रूप से करने से आपके शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा कम होने लगेगी। तो चलिए बिना कोई देरी किए आपको बताते हैं यूरिक एसिड (uric acid ko jad se khatam karne ka upay) कम करने के लिए कुछ घरेलू नुस्खे।

नींबू

यूरिक एसिड बढ़ जाने पर आपको नींबू पानी पीना चाहिए। यह यूरिक एसिड बढ़ने की समस्या से पीड़ित लोगों के लिए रामबाण इलाज है। नींबू में काफी अधिक मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है और यह अपने एसिडिक प्रभाव से यूरिक एसिड को कम करने में मदद करता है। आपको इसके लिए रोज सुबह हल्के गर्म पानी में नींबू डालकर पीना चाहिए।

बेकिंग सोडा 

बेकिंग सोडा भी यूरिक एसिड कम करने में मदद करता है। इसके लिए आपको एक गिलास पानी में आधा चम्मच बेकिंग सोडा डालकर पीना होगा।

एप्पल साइडर विनेगर उर्फ सेब का सिरका

जिस तरह से दिन में एक सेब खाने से आप कई समस्याओं से दूर रहते हैं, उसी प्रकार से सेब का सिरका भी स्वास्थ्य के लिए कई तरीकों से फायदेमंद होता है। यूरिक एसिड को कम करने के लिए एक गिलास पानी में दो चम्मच सेब का सिरका मिलाकर दिन में दो बार पीएं। कम से कम दो सप्ताह तक इसका निरंतर सेवन करने से आपके शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा कम होगी।

अजवाइन

खाने-पीने में अजवाइन का सेवन करने से आपके शरीर में धीरे-धीरे यूरिक एसिड की मात्रा कम होने लगती है। आप इसे अपने खाने में डालकर खा सकते हैं।

बथुआ का साग

बथुए के पत्तों का जूस निकालकर रोज सुबह खाली पेट पीएं। इसका जूस पीने के बाद दो घंटों तक कुछ ना खाएं। यदि आप एक सप्ताह तक इसका सेवन करेंगे तो आपके शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा सामान्य हो जाएगी।

ऑलिव ऑयल 

जैतून या फिर ऑलिव ऑयल में बना खाना शरीर के लिए काफी फायदेमंद होता है। इसमें विटामिन ई और पोषक तत्व होते हैं, जो शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा को सामान्य करने में मदद करते हैं।

अलसी

अलसी के बीज खाने से शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा कम होती है। इसके लिए खाना खाने के आधे घंटे बाद अलसी के बीज को चबा कर खाएं।

आंवला

आंवला भी यूरिक एसिड के मरीजों के लिए बहुत लाभकारी होता है। इसके लिए आप आंवले के रस को एलोवेरा जेल में मिलाकर पीएं।

कच्चा पपीता

एक कच्चा पपीता लें और उसे बीच में से काटकर उसके बीज अलग कर लें। अब इसे 2 लीटर पानी में उबाल लें और पानी के ठंडा होने के बाद इसके पानी को दिन में 2 से 3 बार पीएं।

नारियल पानी

यूरिक एसिड की समस्या में आपको रोज दिन में एक बार नारियल पानी जरूर पीना चाहिए।

Yoga for Uric Acid in Hindi | यूरिक एसिड के लिए योग

Yoga for Uric Acid
यूरिक एसिड के लिए योग

यदि आप यूरिक एसिड की समस्या से निजात पाना चाहते हैं और अपने स्वास्थ्य को ठीक करना चाहते हैं तो आपको अपनी दिनचर्या में थोड़ा बदलाव करने की जरूरत है। इसके लिए आपको कुछ योगासन (yoga for uric acid) को अपनी दिनचर्या में शामिल करने की आवश्यकता है। इन योगासन (यूरिक एसिड के लिए योग) को करने से आपके शरीर में यूरिक एसिड का स्तर कम होने लगेगा। 

वृक्षासन

वृक्षासन करने से केवल शरीर की बीमारियां ही दूर नहीं होती बल्कि शरीर में जमा एक्स्ट्रा फैट भी बर्न होता है। साथ ही इस आसन को करने से आपके शरीर में मौजूद यूरिक एसिड की मात्रा भी संतुलित रहती है। इस आसन को करने के लिए पेड़ की तरह सीधे खड़े हो जाएं। अब अपने बाएं पैर पर शरीर का सारा भार डाल दें और दाएं पैर को मोड़ लें। दाएं पैर के तलवे से बाए पैर को दबाएं और बाएं पैर के तलवे को जमीन पर रखें। सांस अंदर लेते हुए अपने हाथों को सिर के ऊपर ले जाएं। अपने सिर को सीधा रखें और सामने की ओर देखें। कुछ देर तक इस स्थिति में रहें।

उष्ट्रासन

उष्ट्रासन करने से कमर स्ट्रेच होती है। इस आसन को करने से भी यूरिक एसिड की समस्या दूर होती है। इस आसन में आपका सिर थोड़ा झुका हुआ रहता है और पेट उठा हुआ रहता है। यह आसन आपके हिप्स और थाई को मजबूत बनाने में भी मदद करता है। साथ ही इस आसन को करने से आपकी थाई पर वसा भी कम होती है।

कपोतासन

इस आसन को करने से भी आपकी यूरिक एसिड की समस्या दूर होगी। इसे करने के लिए सबसे पहले वज्रासन की मुद्रा में बैठ जाएं। अब घुटनों के बल अपने शरीर को उठा लें। अब अपने दोनों हाथों को कमर के नीचे की तरफ जमीन पर रखें। अपनी हथेलियों का सहारा लें और धीरे-धीरे पीछे की ओर मुड़ जाएं। अब अपनी कमर को नीचे की ओर झुकाते हुए सिर को जमीन से टिकाने की कोशिश करें। अब अपने दोनों से ध्यान से पैरों की एड़ियों को पकड़ें। कुछ देर तक इसी अवस्था में रहें।

Uric Acid mei Kya Khana Chahiye | यूरिक एसिड में क्या खाना चाहिए

Uric Acid Diet in Hindi
यूरिक एसिड में क्या खाना चाहिए

यूरिक एसिड की समस्या होने पर आपको अपने खान-पान का विशेष ध्यान रखना चाहिए .नीचे बताई गई चीजों का सेवन करना आप यूरिक एसिड होने पर कर सकते हैं। 

फल- यूरिक एसिड में सभी प्रकार के फल फायदेमंद होते हैं। इस वजह से आप किसी भी प्रकार के फल खा सकते हैं।

सब्जियां- यूरिक एसिड होने पर आपको सब्जियों में भी परहेज करने की जरूरत नहीं है। आप इसमें सभी प्रकार की सब्जियों का सेवन कर सकते हैं।

सूखे मेवे- आप इस समस्या में सभी प्रकार के सूखे मेवे खा सकते हैं।

साबुत अनाज- साबुह अनाज में आप ओट्स या फिर ब्राउन राइस का ही सेवन करें।

डेयरी उत्पाद- आप इस समस्या में कम वसा वाले सभी डेयरी उत्पाद खा सकते हैं।

अंडा- यूरिक एसिड के मरिजों को अंडा भी खाना चाहिए।

पेय पदार्थ- केवल कॉफी, चाय जा ग्रीन टी का सेवन करें।

Uric Acid Badne se Nuksan | यूरिक एसिड बढ़ने के नुकसान 

Uric Acid Badne se Nuksan
यूरिक एसिड बढ़ने के नुकसान

शरीर में यूरिक एसिड के बढ़ने के कारण कई तरह की परेशानियां हो सकती हैं। इस वजह से यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ना बहुत ही नुकसानदायक होता है। यूरिक एसिड बढ़ने से निम्न नुकसान हो सकते है-

– गाउट

– जोड़ों में क्रिस्टल इक्ट्ठा होना

– जोड़ों में दर्द होना

Uric Acid Medicine in Hindi | यूरिक एसिड की दवा

Uric Acid Medicine
यूरिक एसिड की दवा

यदि आपके रक्त में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ गई है तो आपको डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही किसी भी दवाई का सेवन करना चाहिए। यदि आपका डॉक्टर आपको किसी दवाई (यूरिक एसिड की दवा) खाने की सलाह नहीं देता है तो उसका सेवन भूल कर भी ना करें। हम यहां आपको यूरिक एसिड में दी जाने वाली अलग-अलग दवाइयों के बारे में बताने वाले हैं।

यूरिक एसिड की आयुर्वेदिक दवा – Uric Acid Ayurvedic Medicine

पुनर्नवा गुग्गुलु- बढ़े हुए यूरिक एसिड को कम करने के लिए पुनर्नवा गुग्गलु का इस्तेमाल किया जाता है। इस आयुर्वेदिक दवा (यूरिक एसिड की देसी दवा) में डायूरेटिक प्रॉपर्टीज होती हैं जो बढ़े हुए यूरिक एसिड के स्तर को कम करने में मदद करती हैं और उसे शरीर से बाहर निकालती हैं।

चंद्रप्रभा वटी- यूरिक एसिड की इस दवा के सेवन से दर्द और सूजन आदि समस्याओं में आराम मिलता है। साथ ही इसके सेवन से मूत्र आते वक्त होने वाली जलन भी कम होती है। यह यूरिक एसिड में दी जाने वाली एक प्रभावशाली दवा है और यह बच्चों और बुजुर्ग दोनों के लिए सुरक्षित है। 

गोक्षुरादि गुग्गुलु- यूरिक एसिड के इलाज के लिए गोक्षुरादि गुग्गुलु को भी काफी प्रभावी माना जाता है। इस दवाई के अंदर गुग्गुलु, त्रिफला, पिप्पली, मरिचा आदि हर्ब्स होती हैं। यह यूरिन स्टोन को तोड़ने में और उसे बाहर निकालने में मदद करता है। 

यूरिक एसिड की एलोपैथिक दवा – Uric Acid Allopathic Medicine

यूरिकोसुरिक दवाइयां- इन दवाइयों ये यूरेट के पुर्नअवशोषण अवरुद्ध होते हैं, जो यूरिक एसिड क्रिस्टल को उतकों में जमा होने से रोकने में मदद करते हैं। यूरिकोसुरिक ड्रग्स (यूरिक एसिड की अंग्रेजी दवा) उदाहरणों में सल्फाइन पायराजोन और प्रोबेनेसिड शामिल है।

जेनथिन ऑक्सीडेज इनहिबिटर- एलोप्यूरिनॉल जैसी दवाइयां गाउट से बचाने में मदद करती हैं। हालांकि, इनके सेवन से जोड़ों में दर्द और सूजन की समस्या बढ़ सकती है। एलोप्यूरिनॉल, कीमोथेरेपी और ट्यूमर आदि बीमारियों को रोकने के लिए दी जाती है।

यूरिक एसिड की होम्योपैथिक दवा – Uric Acid Homeopathic Medicine

हाई यूरिक एसिड होने पर मरीजों को नीचे दी गई होम्योपैथिक दवाएं दी जाती हैं।

– कोलचिमक आटमनेल

– यूरिक एसिडम

– लिडम पैलस्टर

– एसिडम बेंजोइकम

– लाइकोपोडियम क्लैवाटम

यूरिक एसिड से जुड़े सवाल और जवाब- FAQ’s

Uric Acid FAQ's
FAQ’s

1- शरीर में यूरिक एसिड का सामान्य स्तर कितना होना चाहिए?

जवाब- महिलाओं में यूरिक एसिड (uric acid kitna hona chahiye) का सामान्य स्तर 2.4 से 6.0 एमजी होता है और पुरुषों में इसका सामान्य स्तर 3.4 से 7.0 एमजी होता है।

2- क्या खाने से यूरिक एसिड कम होता है?

जवाब- हरी सब्जियां, कम वसा वाले डेयरी प्रोडक्ट्स, फल आदि खाने से यूरिक एसिड कम होता है।

3- यूरिक एसिड बढ़ने पर कौन सी सब्जियां खानी चाहिए?

जवाब- यूरिक एसिड का स्तर बढ़ने पर हरी सब्जियों का सेवन करना चाहिए।

4- क्यों यूरिक एसिड बढ़ जाती है?

जवाब- जब किडनी किसी कारण से सही प्रकार से रक्त को साफ नहीं कर पाती है तो उसमें यूरिक एसिड का स्तर बढ़ जाता है।

5- यूरिक एसिड कितनी होनी चाहिए?

जवाब- महिला के शरीर में यूरिक एसिड की सामान्य मात्रा 2.4 से 6.0 एमजी होनी चाहिए और पुरुष के शरीर में यूरिक एसिड की सामान्य मात्रा 3.4 से 7.0 एमजी होनी चाहिए।

6- यूरिक एसिड कब बढ़ता है?

जवाब- यूरिक एसिड तब बढ़ता है, जब किडनी सही प्रकार से अपना कार्य नहीं कर पाती और रक्त में से यूरिक एसिड को साफ नहीं कर पाती।

7- क्या दही खाने से यूरिक एसिड बढ़ता है?

जवाब- यदि आपको पहले से यूरिक एसिड की समस्या है तो आपको दही नहीं खाना चाहिए। इसे खाने से आपके शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा और भी बढ़ सकती है।

ये भी पढ़ें 

Ajwain ke Fayde aur Nuksan

अजवाइन खाने के कई फायदे हैं लेकिन यह किसी समस्या का सटीक हल नहीं है। साथ ही अजवाइन के आमतौर पर कोई नुकसान नहीं है।

POPxo की सलाह : MYGLAMM के ये शानदार बेस्ट नैचुरल सैनिटाइजिंग प्रोडक्ट की मदद से घर के बाहर और अंदर दोनों ही जगह को रखें साफ और संक्रमण से सुरक्षित!

15 Jan 2021

Read More

read more articles like this

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text