home / xSEO
Black Tea Benefits in Hindi

जानिए ब्लैक टी पीने के फायदे – Black Tea Benefits in Hindi

दुनिया भर में ‘चाय’ पानी के बाद दूसरा सबसे ज्यादा पिया जाने वाला पेय पदार्थ है। चाय की सभी अलग-अलग किस्में एक ही पौधे, कैमेलिया सिनेसिस से आती हैं। इस पौधे को विभिन्न तरीकों से काटा और संसाधित किया जाता है, जिससे विभिन्न प्रकार की चाय का उत्पादन होता है, काली चाय यानि ब्लैक टी उनमें से एक है। ब्लैक टी को अक्सर अन्य पौधों के साथ मिश्रित किया जाता है जैसे कि इंग्लिश ब्रेकफास्ट और अर्ल ग्रे इसे एक विविध स्वाद और सुगंध देते हैं। इसमें ग्रीन टी व व्हाइट टी की तुलना में अधिक कैफीन होता है। मगर यह स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छी मानी जाती है। हम यहां आपको काली चाय के फायदे (black tea benefits in hindi) के बारे में बता रहे हैं। 

ब्लैक टी क्या है?

Black Tea Kya Hai

काली चाय चाय की किस्मों में से एक है, इस प्रकार की चाय कैमेलिया सिनेंसिस नामक पौधे से निकाली जाती है। इस पौधे की पत्तियों से सफेद चाय, काली चाय से लेकर हरी चाय तक सभी प्रकार की चाय निकाली जाती है। ऑक्सीकरण नामक प्रक्रिया के कारण पौधे की पत्तियां काली हो जाती हैं। ऑक्सीकरण का मतलब है कि पत्तियां नम, ऑक्सीजन युक्त हवा के संपर्क में आती हैं। चाय निर्माता ऑक्सीकरण की मात्रा को नियंत्रित कर सकते हैं। ब्लैक टी पूरी तरह से ऑक्सीकृत चाय है। ग्रीन टी एक ही पौधे से आती है, लेकिन ऑक्सीकृत नहीं होती है। काली चाय का अर्क कभी-कभी हर्बल सप्लीमेंट के रूप में भी बेचा जाता है।जाहिर है, काली चाय किसी भी अन्य प्रकार की चाय की तुलना में अधिक स्ट्रॉन्ग होती है, क्योंकि इसमें कैफीन की मात्रा अच्छी होती है। अमेरिका में बहुत से लोग इसे गर्म या ठंडा पीते हैं। ठंडा होने से पहले इसे हमेशा गर्म पानी में डुबो कर रखना चाहिए।

ब्लैक टी पीने के फायदे – Black Tea ke Fayde

आयुर्वेद में गुड़ की चाय के फायदे और गुलाब चाय के फायदे के बारे में बताया गया है। मगर बात जब काली चाय पीने के फायदे (black tea benefits in hindi) की आती है तो सबसे पहले जेहन में एक ही सवाल उठता है कि यह ब्लैक कॉफी के फायदे से कितनी अलग है। आपको बता दें कि ब्लैक टी में कैफीन की मात्रा कॉफी की तुलना में काफी कम होती है। काली चाय कई तरह के स्वास्थ्य लाभ प्रदान करती है क्योंकि इसमें एंटीऑक्सिडेंट और यौगिक होते हैं, जो शरीर में सूजन को कम करने में मदद कर सकते हैं। 

Black Tea ke Fayde

कैंसर का खतरा कम करे

नेशनल कैंसर इंस्टीट्यूट (NCI) द्वारा किए गए हालिया अध्ययनों से पता चलता है कि ब्लैक टी में मौजूद पॉलीफेनोल्स ट्यूमर के विकास के जोखिम को कम कर सकते हैं। विशेष रूप से, यह त्वचा, स्तन, फेफड़े और प्रोस्टेट कैंसर के खतरे को कम करता है। ब्लैक और ग्रीन टी कैंसर कोशिका वृद्धि को नियंत्रित करने और नए कोशिका विकास पर विजय प्राप्त करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है। 

ब्लड प्रेशर कम करे

उच्च रक्तचाप दुनिया भर में लगभग 1 अरब लोगों को चिंतित करता है और गुर्दे की विफलता, दिल का दौरा, दृष्टि की हानि और यहां तक कि स्ट्रोक के जोखिम को बढ़ा सकता है। ब्लैक टी डायस्टोलिक और सिस्टोलिक रक्तचाप को कम कर सकती है। ब्लैक टी का सेवन रक्तचाप पर उच्च वसा वाले भोजन के प्रभाव को रद्द करने के लिए भी जाना जाता है। 

डायबिटीज़ से बचाए

चीनी और मीठे पेय पदार्थों का सेवन रक्त शर्करा के स्तर में वृद्धि दर्शाता है और टाइप 2 मधुमेह के खतरे को बढ़ाता है। जैसा कि हम जानते हैं ब्लैक टी एक मीठा पेय नहीं है और यह आपके शरीर में इंसुलिन को बढ़ाने में मदद करती है। एक अध्ययन से पता चला है कि काली चाय के सेवन से इंसुलिन गतिविधि में 13 गुना से अधिक की वृद्धि हुई है।

आंत के स्वास्थ्य को बनाए रखे

क्या आप जानते हैं कि हमारी आंत में लगभग खरबों बैक्टीरिया होते हैं, जिनमें से कुछ हमारे लिए वास्तव में महत्वपूर्ण हैं? ये बैक्टीरिया सूजन आंत्र रोग, टाइप 2 मधुमेह, हृदय रोग, मोटापा और यहां तक कि कैंसर जैसी बीमारियों से लड़ने में मदद कर सकते हैं। काली चाय का सेवन अच्छे बैक्टीरिया के विकास को उत्तेजित करके और साल्मोनेला जैसे खराब बैक्टीरिया के विकास को रोककर एक मजबूत आंत स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करता है।

ओरल स्वास्थ्य में मदद करता है

बैक्टीरियल ग्रोथ को रोककर, ब्लैक टी न केवल कैविटी और दांतों की सड़न को कम करती है, बल्कि ब्लैक टी में मौजूद पॉलीफेनोल्स कैविटी पैदा करने वाले बैक्टीरिया को भी दबाते हैं, जो बैक्टीरिया एंजाइम के विकास में बाधा डालते हैं और चिपचिपे पदार्थ का निर्माण करते हैं। 

फोकस बनाए रखे

काली चाय में कैफीन और एक प्रकार का अमीनो एसिड होता है जिसे एल-थीनाइन कहा जाता है, वे सतर्कता और फोकस को बेहतर बनाने में मदद कर सकते हैं। एल-थेनाइन और कैफीन के संयोजन वाले पेय मस्तिष्क की अल्फा गतिविधि को बढ़ाते हैं और फोकस और सतर्कता पर अधिक प्रभाव डालते हैं।

एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर

ब्लैक टी एंटीऑक्सीडेंट का अच्छा स्रोत है, जो फ्री रेडिकल्स को दूर करने में मदद करता है। फेनोलिक यौगिक, जिनमें एंटीऑक्सिडेंट प्रभाव होते हैं, हरी और काली चाय के सूखे वजन का 30% तक होते हैं। इस प्रकार, ब्लैक टी शरीर में मुक्त कणों को हटाने और कोशिका क्षति को कम करने में मदद कर सकती है। यह पुरानी बीमारी के जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है।

काली चाय कैसे बनाई जाती है – Black Tea Recipe in Hindi

Black Tea Recipe in Hindi

काली चाय पीने के फायदे (black tea benefits in hindi) पढ़ने के बाद, हमें यकीन है कि आप एक कप गर्म ब्लैक टी जरूर बना कर पीना चाहेंगे। ऐसे में अगर आप ये सोच रहे हैं कि काली चाय कैसे बनाई जाती है तो हम आपके लिए यहां black tea recipe in hindi लेकर आये हैं। 

इंग्रीडिएंट्स- 

काली चाय की पत्तियां

चीनी या शहद (वैकल्पिक)

नींबू (वैकल्पिक)

ब्लैक टी बनाने की विधि- 

स्टेप 1- एक सॉस पैन में थोड़ा पानी उबालें।

स्टेप 2- काली चाय की पत्तियां डालें।

स्टेप 3- इसे ढक्कन से ढक दें और चाय की पत्तियों को 3 मिनट के लिए उबलते पानी में डूबा रहने दें।

स्टेप 4- ढक्कन हटाकर इसे चलाएं।

स्टेप 5- इसके अनुसार चीनी या शहद मिलाएं। अगर आप चाहते हैं कि आपकी काली चाय मजबूत और कच्ची हो तो इस स्टेप को छोड़ दें। 

स्टेप 6- इसके अनुसार नींबू का रस मिलाएं।

स्टेप 7- इसे चलाएं और चाय को छलनी की मदद से कप में डालें।

अगर आप अपनी काली चाय को कच्चे और सादे रूप में लेना चाहते हैं, तो नींबू और चीनी के स्टेप्स को छोड़ दें। कच्ची और सादी काली चाय में एक मजबूत सुगंध के साथ एक मजबूत स्वाद भी होता है। ब्लैक टी में दूध मिलाने से बचें क्योंकि यह इसके मूल सार को बर्बाद कर सकता है।

काली चाय पीने के नुकसान – Black Tea Disadvantages

हर चीज़ के अपने फायदे और नुकसान दोनों होते हैं। अगर आप ब्लैक टी को अधिक मात्रा में लेते हैं तो काली चाय पीने के नुकसान (black tea disadvantages) भी अधिक हैं। हालांकि मध्यम मात्रा में काली चाय पीना आम तौर पर ज्यादातर लोगों के लिए सुरक्षित होता है। काली चाय पीने के नुकसान (अक्सर अधिक मात्रा में) में शामिल हो सकते हैं:

– चिंता और सोने में कठिनाई

– तेजी से सांस लेना

– सिरदर्द

– पेशाब में वृद्धि

– दिल की अनियमित धड़कन

– मतली और उल्टी

– घबराहट और बेचैनी

– उच्च रक्त चाप

– एनीमिया 

ब्लैक टी को लेकर पूछे जाने वाले सवाल-जवाल – FAQ’s

सवाल- रात में काली चाय पीने से क्या होता है?

जवाब- रात में काली चाय पीने से आपके मस्तिष्क को फायदा पहुंचता है और फोकस बना पाने में मदद मिलती है।

सवाल- काली चाय कब पीनी चाहिए?

जवाब- शरद ऋतु और सर्दी का महीना काली चाय पीने के लिए बेहतर माना जाता है।

अगर आपको यहां दिए गए काली चाय के फायदे (black tea ke fayde) पसंद ऐए तो इन्हें अपने दोस्तों व परिवारजनों के साथ शेयर करना न भूलें।

17 Mar 2022

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text