home / xSEO
पपीता के बीज

पपीते के बीज के फायदे

अभी तक अपने पपीता खाने के फायदे के बारे में तो बहुत सुना और पढ़ा होगा। मगर क्या अपने कभी papita ke beej ke fayde के बारें में सुना है? पपीते के बीज में एंजाइम होते हैं, जो कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करते हैं। ये आमतौर पर कई लोगों को पता नहीं होते हैं। पपीते के बीज के सेवन से प्राप्त होने वाले कई प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष लाभों में बेहतर पाचन है। पपीते के बीज में मौजूद कारपेन नामक पदार्थ आंतों के परजीवियों को नष्ट करने की क्षमता रखता है और यह सुनिश्चित करता है कि आंत स्वस्थ रहे। यह अपने आप शरीर के भीतर कई विकारों को दूर रख सकता है। पपीते के बीज के अन्य स्वास्थ्य लाभों में स्वस्थ लीवर और स्वस्थ किडनी शामिल हैं, जो शरीर के दो महत्वपूर्ण अंग हैं। नियमित रूप से इसका सेवन करने वाले व्यक्ति के लिए पपीते के बीज के फायदे और अन्य स्वास्थ्य लाभ होते हैं। सूरजमुखी बीज के फायदे

पपीते के बीज क्या होते हैं?

पपीता के बीज

पपीता का बीज आम तौर पर काले रंग  का होता है। हालांकि बाजार में बीज रहित पपीते भी हो सकते हैं, मगर जिनके अंदर बीज होते हैं उन्हें बेहतर और अधिक प्रामाणिक माना जाता है। पपीते के बीजों को धूप में सुखाकर इस्तेमाल करना होता है। पपीते के बीजों के पोषण मूल्य को इसमें मौजूद खनिजों और विटामिनों की प्रचुरता से नापा जा सकता है, इसके अलावा बीज फाइबर से भरपूर होते हैं। खनिजों में फॉस्फोरस, लोहा और कैल्शियम और कुछ अन्य शामिल हैं। इनमें से कई मानव प्रतिरक्षा प्रणाली को बेहतर बनाने में सीधे तौर पर उपयोगी हैं। इसमें से कुछ बेहतर पाचन और आंतों के कार्यों के माध्यम से प्राप्त किया जाता है। पपीते के बीज इसे काफी कुशलता से कर सकते हैं। सोआ के बीज के फायदे

पपीते के बीज के फायदे

  • पाचन में फायदेमंद
  • लीवर का रखे ख्याल
  • प्राकृतिक बर्थ कंट्रोल
  • डायबिटीज में फायदेमंद
  • किडनी के लिए फायदेमंद
  • वजन कम करे
  • डेंगू के बुखार से बचाए

पपीता कैरिका पपीते के पौधे का फल है। इसकी उत्पत्ति मध्य अमेरिका और दक्षिणी मेक्सिको में हुई थी लेकिन अब इसे दुनिया के सभी हिस्सों में उगाया जाता है। आज, वे पूरे वर्ष बाजारों में पाए जा सकते हैं। पपीते के पौधे के लगभग सभी भाग अपने फायदे के कारण उपयोग में आते हैं। उन्हीं में से एक है पपीते के बीज, जिनमें कई तरह के जरूरी सूक्ष्म पोषक तत्व होते हैं। एक मिथक है कि पपीते के बीज खाने योग्य नहीं होते हैं, यह गलत है, इन्हें खाना ठीक है और सीमित मात्रा में सेवन करने पर ये हमारे स्वास्थ्य के लिए अच्छे होते हैं। जानिए पपीते के बीज के फायदे (papaya seeds benefits in hindi)।

पपीते के बीज के फायदे

पाचन में फायदेमंद

पपीते के बीज के नियमित सेवन से पाचन तंत्र मजबूत और बेहतर होता है। स्वस्थ लाभ पाने के लिए आप इसे अपने दैनिक आहार का हिस्सा बना सकते हैं। अन्य बीजों की तरह पपीते के बीज भी फाइबर का अच्छा स्रोत होते हैं। फाइबर का सेवन करने से कब्ज वाले लोगों में मल की आवृत्ति बढ़ जाती है। 

लीवर का रखे ख्याल

पपीते के बीज के नियमित सेवन से आप एक स्वस्थ लीवर प्राप्त कर सकते हैं। पपीते के बीज के सेवन से लीवर के सिरोसिस का इलाज होने के मामले सामने आए हैं। इसके बीज को पीसकर पाउडर बना सकता है और खाने वाले किसी भी भोजन में मिला सकता है। इसे एक दैनिक दिनचर्या में शामिल किया जा सकता है। बीजों में मौजूद पोषक तत्व लीवर सिरोसिस को ठीक करने में मदद कर सकते हैं। कहना गलत नहीं होगा कि लीवर को डिटॉक्स करने के लिए पपीते के बीज बेहद फायदेमंद हो सकते हैं। 

प्राकृतिक बर्थ कंट्रोल

गर्भावस्था के दौरान आपने अक्सर घर के बड़े-बुज़ुर्गों को पपीता न खाने की सलाह देते हुए सुना होगा। दरअसल, पपीता एक प्राकृतिक बर्थ कंट्रोल है। अगर गर्भनिरोधक गोली के फायदे हैं तो पपीता भी बर्थ कंट्रोल का काम करता है। यदि दंपति अवांछित गर्भधारण को रोकने के लिए गोलियां लेने में अनिच्छुक महसूस करते हैं, तो पपीते के बीज गर्भनिरोधक के किसी भी अन्य साधन के लिए एक अच्छा और स्वस्थ विकल्प हो सकते हैं। हालांकि, भविष्य में गर्भधारण करने में सक्षम होने के लिए, किसी विशेषज्ञ का मार्गदर्शन प्राप्त करना उचित है। पपीते के बीज का उपयोग नर और मादा दोनों में गर्भ निरोध के लिए किया जाता है। सामान्य खुराक इसे 90 दिनों तक लेना है। 

डायबिटीज में फायदेमंद

पपीते के बीज फ्लेवोनोइड्स से भरपूर होते हैं, एक प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट जिसमें कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स होता है। पपीते का जीआई 60 होता है, जिससे ब्लड शुगर लेवल जल्दी नहीं बढ़ता है। इसलिए पपीते के बीज मधुमेह के रोगियों के लिए रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने के लिए फायदेमंद होते हैं। डायबिटीज़ को कंट्रोल करने के लिए पपीते के बीजों को पीसकर अपने भोजन में मिला सकते हैं।

किडनी के लिए फायदेमंद

पपीते के बीज किडनी को स्वस्थ बनाए रखने में भी मदद कर सकते हैं। इसके लिए 7 बीज, दिन में 7 बार लेने की सलाह दी जाती है। आप बीज को वैसे ही चबाकर खाएं जैसा वो है। विशेषज्ञ सलाह देते हैं कि जहां पपीते के बीजों का नियमित सेवन किडनी से संबंधित किसी भी बीमारी की शुरुआत को रोकने के लिए उपयोगी हो सकता है, वहीं यह पहले से मौजूद किडनी की किसी भी समस्या के इलाज में भी फायदेमंद साबित हो सकता है। 

वजन कम करे

पपीते के बीज नियमित रूप से खाने से वजन प्रबंधन में मदद मिल सकती है। पपीते के बीज शरीर की चर्बी को जला सकते हैं। पपीते के बीज भोजन में मौजूद अतिरिक्त वसा और शर्करा पर काम करते हैं ताकि वे पाचन प्रक्रिया को बायपास कर सकें और मल जमा न हो सके। यह सुनिश्चित करता है कि शरीर का वजन न बढ़े और स्वास्थ्य भी सबसे अच्छा बना रहे। अगर किसी का वजन पहले से ही अधिक है, तो वजन कम करने के लिए अपने वेट लॉस डाइट चार्ट में पपीते के बीज को जोड़ा जा सकता है। 

डेंगू के बुखार से बचाए

बात जब डेंगू की रोकथाम के उपाय की आती है तो पपीते के बीज इसमें एक सहायक भूमिका निभा सकते हैं। पपीते के बीज के सेवन से होने वाला एक अतिरिक्त लाभ डेंगू बुखार को ठीक करना है। यह एक मच्छर जनित रोग है जो साफ पानी में मच्छरों के पनपने से होता है। अगर समय पर इलाज न किया जाए तो डेंगू जानलेवा भी साबित हो सकता है। यदि किसी को डेंगू का पता चलता है और वह पपीते के बीज लेता है, तो यह सिस्टम में रक्त कोशिकाओं के स्तर में सुधार करने में मदद कर सकता है। यह आक्रामक डेंगू वायरस से लड़ेगा और बीमारी को ठीक करेगा। प्लेटलेट्स बढ़ाने के उपाय में भी अक्सर पपीते के बीज को शामिल किया जाता है। 

पपीते के बीज के नुकसान

पपीते के बीज के नुकसान

पपीते के बीज प्राकृतिक रूप से उगाए जाते हैं। पपीते के बीज के नुकसान संभवतः प्रकाश में नहीं आये हैं। हालांकि गर्भावस्था में पपीते के बीज का सेवन बढ़ते भ्रूण के लिए हानिकारक हो सकता है। वहीं पपीते के बीजों का अधिक सेवन करने से पुरुषों में शुक्राणुओं की संख्या प्रभावित होकर प्रजनन क्षमता कम हो सकती है। इसके अलावा पपीते के बीज के अधिक सेवन से दस्त भी हो सकते हैं। स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए बहुत अधिक पपीते के बीज खाने की सलाह नहीं दी जाती है।

पपीते के बीज को लेकर पूछे जाने वाले सवाल-जवाब – FAQ’s

सवाल- पपीते के बीज का इस्तेमाल कैसे करें?

जवाब- पपीते के बीज को धोकर धूप में सुखा लें। इसके बाद मिक्सी में पीसकर इसका पाउडर बना लें। अब पपीते के बीज इस्तेमाल करने के लिए तैयार हैं।

सवाल- पपीते का बीज क्या रेट है?

जवाब- सबसे अच्छी किस्म का पपीते का बीज लगभग 40 हजार रुपए प्रति किलो है।

सवाल- खाली पेट पपीता खाने से क्या होता है?

जवाब- खाली पेट पपीता खाने से पाचन तंत्र दुरुस्त रहता है और वजन भी कम होता है। 

अगर आपको यहां दिए गए पपीते के बीज के फायदे (Papita ke beej ke fayde) पसंद आए तो इन्हें अपने दोस्तों व परिवारजनों के साथ शेयर करना न भूलें।

25 Mar 2022

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text