logo
Logo
User
home / Diet
पपीता खाने के फायदे और नुकसान, Papita Khane ke Fayde, Benefits of Papaya in Hindi

जानिए पपीता खाने के फायदे और नुकसान – Papita Khane ke Fayde

 

प्रकृति में कई तरह के फल होते हैं जो पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं। इनमें से सबसे लोकप्रिय फलों में से एक मीठा पपीता है। पपीता सेहत के लिए तो बहुत अच्छा होता है लेकिन इसके फायदे भी अच्छे होते हैं। पपीते के गर्म गुणों के कारण इसके बारे में कई भ्रांतियां हैं। पपीता क्या है ये तो हम सभी जानते हैं। पपीता वजन घटाने से लेकर त्वचा की क्षति को रोकने और पाचन में सुधार से लेकर सूजन को रोकने तक हर चीज के लिए फायदेमंद माना जाता है। पपीते के पत्ते का रस भी डेंगू से लड़ने में मदद करता है और प्लेटलेट्स काउंट बढ़ाता है। आमतौर पर जो लोग ऑफिस जाते हैं और फल खाना पसंद करते हैं वे दोपहर के भोजन में पपीता खाते हैं। डॉक्टर भी पपीता खाने की सलाह देते हैं, क्योंकि यह न केवल पेट की बीमारियों को बल्कि कई बीमारियों को भी दूर करता है। पपीते के नियमित सेवन से स्वास्थ्य पर अच्छा प्रभाव पड़ सकता है। लेकिन क्या आप इस पपीते को रोज खाते हैं? पपीता खाने के फायदे और नुकसान क्या हैं ? यहां हम आपको आज इसी बारे में विस्तारपूर्वक बताने जा रहे हैं …                                                                                                             जानिए मौसमी जूस के फायदे और नुकसान

पपीता क्या है – Papaya in Hindi

 

पपीता एक बेहद फायदेमंद फल है। पपीता का कच्चा फल थोड़ा कड़वा तथा मधुर होता है और पका पपीता बेहद स्वादिष्ट होता है। पपीता प्रकृति से कड़वा, गर्म, तीखा, कफ और वात कम करने वाला और जल्दी हजम होने वाला (papita in hindi) होता है। इसका क्षीर या कच्चे पपीते को काटने से जो दूध निकलता है वह पाचक होता है। पपीता अपने उच्च पोषक तत्व और फाइबर सामग्री के लिए जाना जाता है। पपीता विटामिन से समृद्ध है जैसे कि प्रो-विटामिन ए, सी, और फाइटो विटामिन के। इसके अलावा, इसमें फास्फोरस, मैग्नीशियम और बीटा जैसे अन्य पदार्थ भी होते हैं। आम के फायदे

पपीता खाने के फायदे – Papita ke Fayde

 

बहुत कम लोग होंगे जिन्हें पपीता पसंद नहीं है, क्योंकि इसका स्वाद बहुत ही स्वादिष्ट होता है। साथ ही इसके बीज कम होते हैं, साथ ही यह काटने और खाने में भी आसान होता है, इसलिए यह भारतीयों के पसंदीदा फलों में से एक है। पपीता एक ऐसा फल है जो हर मौसम में मिलता है और विटामिन और कई पोषक तत्व से भरपूर होते हैं, इसलिए ये स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभकारी है। आइए जानते हैं पपीता खाने के फायदे (papita khane ke fayde) के बारे में –

Papita ke Fayde

वेटलॉस के लिए पपीता के फायदे

 

पपीता पोषक तत्वों और फाइबर से भरपूर होता है और कैलोरी में बहुत कम होता है। इससे आपका पेट लंबे समय तक भरा रहेगा। पपीते से जल्दी भूख नहीं लगती और यह शरीर के पोषण के लिए अच्छा होता है। पपीता खाने से न सिर्फ आपका पाचन बेहतर होता है बल्कि आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है। जो आपके शरीर के स्वास्थ्य को प्रभावित करता है और आपके वजन को नियंत्रण में रखता है। इसलिए अगर आप वजन कम करने की सोच रहे हैं तो नियमित रूप से पपीते का सेवन करें। नाशपाती के फायदे

ब्लड प्रेशर को संतुलित रखने में पपीता के फायदे

 

ब्लड प्रेशर को नॉर्मल बनाए रखने के लिए जिस विशेष तत्व की आवश्यकता होती है उसे मैग्नीशियम कहते हैं। यह एक खनिज है जो पपीते में प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। इसलिए जो लोग हाई ब्लड प्रेशर से पीड़ित हैं उन्हें अपने आहार में पपीते का सेवन करना चाहिए। वहीं, हाई ब्लड प्रेशर से होने वाली परेशानी को कम करने के लिए भी पपीते का इस्तेमाल (papaya khane ke fayde) किया जाता है। गोंद कतीरा के फायदे

इम्यूनिटी बूस्ट करे पपीता

 

पपीता इम्यून सिस्टम को बूस्ट करने के लिए कीवी की तरह हा एक उपयोगी फल है। ऐसा इसलिए है क्योंकि पपीते में एक इम्यूनोमॉड्यूलेटरी तत्व होता है। यह एक ऐसा पदार्थ है जो शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को अधिक कुशल बनने में मदद करता है। तो स्वाभाविक रूप से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता काफी बढ़ जाती है। पपीते के बीज के फायदे

डायबिटीज में फायदेमंद पपीता

 

डायबिटीज के मरीजों को कौन से फल खाने चाहिए इस बात को लेकर हमेशा कंफ्यूजन रहता है। इसलिए मधुमेह के रोगी फल नहीं खाते। हालांकि पपीता एक मीठा फल है, लेकिन इसमें विटामिन सी की मात्रा अधिक होती है, जिससे ब्लड शुगर नहीं बढ़ता है। इसके लिए डायबिटीज के मरीज पपीता खाने (papita khane ke labh) से गुरेज नहीं करते। पपीता खाने से डायबिटिक शरीर को पर्याप्त प्राकृतिक शुगर मिलती है। जिससे उनका लगातार मीठा खाने का मन नहीं करता है। इसके अलावा, यह पोषक तत्वों से भरपूर होता है और मधुमेह रोगियों के शरीर पर सकारात्मक प्रभाव डालता है। यह मधुमेह रोगियों के लिए एक बेहतरीन घरेलू उपाय है।

Papita Khane ke Fayde

कैंसर की रोकथाम में पपीता

 

पपीता कैंसर से दूर रहने के लिए सबसे अच्छा फल है। एनसीबीआई की एक रिपोर्ट के अनुसार, पपीते में कैंसर रोधी गुण पाए गए हैं। यह नियमित रूप से पपीते का सेवन करने वाले लोगों के शरीर में कैंसर प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है। यानी कैंसर से बचाव के लिए सभी को पपीते का सेवन करना चाहिए।

प्लेटलेट्स में वृद्धि के लिए पपीता

अगर आप प्लेटलेट्स बढ़ाना चाहते हैं तो विशेषज्ञ आमतौर पर कीवी फल खाने की सलाह देते हैं। लेकिन कीवी की तरह पपीता भी प्लेटलेट्स बढ़ाने में काफी अहम भूमिका निभाता है। पपीते में कई तरह के एसिड होते हैं जो प्लेटलेट्स को बढ़ाने की क्षमता रखते हैं। इसलिए अगर आप प्लेटलेट्स बढ़ाना चाहते हैं तो आपको पपीता जरूर खाना चाहिए। अक्सर डेंगू के कारण मरीज के प्लेटलेट्स बढ़ जाते हैं या गिर जाते हैं। ऐसे में बेहतर है कीवी या पपीते का सेवन करें।

दिल से जुड़ी बीमारी दूर करने में फायदेमंद पपीता

अगर आप दिल से जुड़ी किसी भी बीमारी से दूर रहना चाहते हैं तो आपको रोजाना पपीते का सेवन करना चाहिए। पपीते में एक खास गुण होता है जो दिल को स्वस्थ रखता है और दिल को किसी भी बीमारी से दूर रखने का काम करता है। साथ ही पपीता (papaya benefits in hindi) दिल में टॉक्सिन्स को पनपने नहीं देता है। इसलिए अगर आप अपने दिल को स्वस्थ रखना चाहते हैं तो आपको रोजाना कम से कम 4 पपीते के टुकड़े खाने चाहिए।

पाचन में सुधार के लिए पपीता

गलत खान-पान से पाचन संबंधी समस्याएं हो सकती हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि अस्वास्थ्यकर पदार्थ पाचन तंत्र पर दबाव डालते हैं। इसके लिए नाश्ते में पपीते के टुकड़े या शाम को एक कटोरी खाएं। यह आपके पेट में पर्याप्त फाइबर जाने देगा और आपके पाचन तंत्र में सुधार करेगा। पपीता पानी और फाइबर से भरपूर होता है। जिसका आपके पाचन पर अच्छा प्रभाव पड़ता है। पाचन तंत्र को मजबूत करने के लिए नियमित रूप से पपीता खाना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है।

आंखों के अच्छे स्वास्थ्य के लिए पपीता

पपीता विटामिन ए से भरपूर होता है। आंखों के अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए शरीर को विटामिन ए की आवश्यकता होती है। विटामिन ए आंख के कॉर्निया की रक्षा करता है, जबकि एंटीऑक्सिडेंट रेटिना की रक्षा करते हैं। संक्षेप में कहें तो पपीता खाना आंखों के संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है। इसलिए रतौंधी या अन्य नेत्र विकारों से बचाव के लिए आपको अपने आहार में पपीते को शामिल करना चाहिए।

एंटी ऑक्सीडेंट्स के लिए पपीता

पपीते का स्वाद मीठा होता है लेकिन इसमें भरपूर मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट गुण भी होते हैं। इसे नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन द्वारा भी प्रमाणित किया गया है। पपीता खाने से न सिर्फ त्वचा में निखार आता है बल्कि ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस भी कम होता है। तो इन सभी लाभों को ध्यान में रखते हुए हममें से प्रत्येक को रोजाना कम से कम 4-5 टुकड़े पपीते का सेवन करना चाहिए।

सूजन कम करें

शरीर में सूजन तब होती है जब कोई चोट या किसी खास प्रकार की बीमारी होती है। इस सूजन को कम करने के लिए पपीता खाने से बेहतर कोई उपाय नहीं है। ऐसा इसलिए संभव है क्योंकि पपीते में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो सूजन को कम करने में मदद करते हैं। तो अगर आप घर पर इलाज कर शरीर के किसी भी हिस्से की सूजन से छुटकारा पाना चाहते हैं तो पपीते का सेवन (papaya khane ke fayde) जरूर करें!

मासिक धर्म के दर्द को कम करने में मददगार पपीता

मासिक धर्म ऐंठन एक ऐसी चीज है जिसे महिलाओं को हर महीने सहना पड़ता है। हार्मोनल बदलाव, कुपोषण, तनाव और कई अन्य चीजों के कारण यह समस्या दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है। लेकिन अगर आप नियमित रूप से पपीते का सेवन करेंगे तो आपको मासिक धर्म की समस्या से निजात जरूर मिल जाएगी। यह भी कहा जाता है कि पपीते के बीज में मासिक धर्म दर्द निवारक गुण होते हैं।

पपीता खाने के नुकसान – Papita Khane ke Nuksan

पपीते का सही मात्रा में सेवन करने से कई बीमारियों को दूर करने में मदद मिलती है। लेकिन इसका अधिक मात्रा में सेवन करना सेहत के लिए हानिकारक होता है। पपीते में मौजूद पपैन और बीटा कैरोटीन अस्थमा और पीलिया को बढ़ाते हैं। इसका अधिक मात्रा में सेवन करने से खून पतला हो जाता है। सर्जरी के बाद कुछ ही हफ्तों में पपीता खाने से घाव जल्दी नहीं भरता। आज हम बहुत अधिक पपीता खाने के नुकसान (papita khane ke nuksan) के बारे में बता रहे हैं –

papita khane ke nuksan

  • पपीते में मौजूद पपैन एक प्रकार का जीव है जो एलर्जी का कारण बन सकता है। अगर आपको अस्थमा या सांस की कोई बीमारी है तो डॉक्टर की सलाह के बिना पपीता न खाएं और न ही कम खाएं। और कच्चा पपीता बिल्कुल ना खाएं। बहुत अधिक पपीता खाने से भी चिंता और सांस लेने जैसी समस्याएं हो सकती हैं।
  • स्वास्थ्य विशेषज्ञ गर्भवती महिलाओं को पपीता नहीं खाने की सलाह देते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि पपीता गर्भ में पल रहे भ्रूण को नुकसान पहुंचाता है। वहीं कच्चा पपीता खाने से गर्भपात का खतरा भी बढ़ जाता है। 
  • पपीते में मौजूद एंजाइम पपैन के कारण सूजन, चक्कर आना, सिरदर्द, मुंहासे और खुजली जैसी समस्याएं पैदा करता है।
  • पपीते में फाइबर की मात्रा अधिक होने के बावजूद इसे कब्ज की समस्या को दूर करने के लिए अमृत माना जाता है। लेकिन ज्यादा पपीता खाने से पेट खराब और डायरिया हो सकता है। पपीते में लेटेक्स भी होता है, जिससे पेट में दर्द और ऐंठन हो सकती है।
  • यदि कोई मरीज पहले से ही ब्लड शुगर की दवाएं ले रहा है, तो उन्हें बिना डॉक्टर की सलाह के पपीता नहीं खाना चाहिए क्योंकि पपीता (papita in hindi) ब्लड शुगर के स्तर को कम कर सकता है जो मधुमेह रोगियों के लिए खतरनाक हो सकता है।
  • दिल की बीमारी वाले लोगों को भी ज्यादा पपीता नहीं खाना चाहिए। बहुत अधिक पपीता खाने से हृदय गति कम हो सकती है।
  • अगर आप ब्लड थिनर ले रहे हैं या पेट दर्द से पीड़ित हैं तो पपीते का सेवन न करें।

पपीता के फायदे से जुड़े सवाल-जवाब FAQs

papita khane ke labh

पपीता और केला एक साथ खाने से क्या होता है?

आयुर्वेद में पपीता और केला साथ में खाना नुकसानदेह (papita khane ke nuksan) माना गया है। इन दोनों फलों को साथ में खाने से ऐसिडोसिस यानी अम्लरक्तता, मिचली आना, पेट में गैस बनना और लगातार सिरदर्द रहना जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

पपीता कब नहीं खाना चाहिए?

पपीता को रात के समय और खाना खाने के बाद नहीं खाना चाहिए। क्योंकि पपीता (papita in hindi) में अत्यधिक फाइबर युक्त होने के कारण इस समय इसे पचाना पाचन तंत्र के लिए थोड़ा मुश्किल काम होता है। साथ ही प्रेगनेंसी के दौरान भी पपीता खाना नुकसानदायक साबित होता है। 

पपीता की तासीर कैसी होती है?

पपीते की तासीर गर्म होती है, इसलिए गर्भवती महिलाओं के लिए इसे वर्जित मानता है। पपीता खाने से शरीर से विषाक्त पदार्थ बाहर निकल जाते हैं। 

सुबह खाली पेट पपीता खाने से क्या होता है?

सुबह खाली पेट पपीता खाना (khali pet papita khane ke fayde) बहुत फायदेमंद माना जाता है। खासकर, जो लोग कब्‍ज की समस्‍या से ग्रसित है उनके लिए पपीता रामबाण है। खाली पेट पपीता खाने से हमारे शरीर में विषाक्त पदार्थों को बाहर करने में मदद कर सकता है।

पपीता खाने का सही समय क्या है?

पपीता एक ऐसा फल है जो कई पोषक तत्वों से भरपूर होता है। पपीता (papita ke fayde in hindi) हमेशा सुबह और शाम को खाना चाहिए। तो आप पपीते को सुबह खाली पेट या शाम को दो बार खाने के बीच जरूर खा सकते हैं। जो आपको तुरंत तरोताजा और ऊर्जावान महसूस कराएगा।

क्या पपीता खाने के तुरंत बाद पानी पी सकते हैं?

कोई भी खाना या फल खाने के तुरंत बाद पानी न पिएं। क्योंकि यह आपके पाचन को प्रभावित करता है। पपीता मूल रूप से पानी से भरपूर होता है। इसके लिए कुछ देर पपीता खाने के बाद पानी पिएं।

22 Jun 2021

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text