home / xSEO
Pear (Nashpati) Fruit in Hindi - नाशपाती के फायदे - Nashpati Khane ke Fayde

जानिए नाशपाती के फायदे और नुकसान – Nashpati Ke Fayde Aur Nuksan

नाशपाती सेब की तरह रसदार लेकिन कुरकुरे फल हैं, फलों के शौकीन लोगों को काफी पसंद आते हैं। भारी मात्रा में फाइबर से भरपूर और एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटीऑक्सिडेंट फ्लेवोनोइड्स और कॉपर और विटामिन सी की उचित मात्रा सहित फाइटोन्यूट्रिएंट्स से भरपूर, नाशपाती सभी मौसमों में उपलब्ध एक सुपर फ्रूट है। नाशपाती का दूसरा नाम बब्बूगोशा भी है। इसे अंग्रेजी में पियर (pear fruit in hindi) भी कहते हैं। हम यहां आपको नाशपाती के फायदे (nashpati ke fayde) और नाशपाती के नुकसान के बारे में बता रहे हैं। स्टीम लेने के फायदे

नाशपाती के पौष्टिक तत्व – Nutritional Benefits of Pear in Hindi 

नाशपाती के पौष्टिक तत्व - Nutritional Benefits of Pear in Hindi

अगर आप नाशपाती खरीदने जा रहे हैं तो ऐसे नाशपाती चुनें जो ठोस हों, मगर ज्यादा सख्त न हों। इनकी त्वचा चिकनी होनी चाहिए। भूरे रंग के धब्बे या जिन पर काले धब्बे हो गए हैं ऐसे नाशपाती खरीदने से बचना चाहिए। अब आप सोच रहे होंगे ये तो बाकि फलों की तरह एक फल है ऐसे नाशपाती खाने से क्या होता है? तो इस सवाल के जवाब के लिए आपको नाशपाती के पौष्टिक तत्व (Nutritional Benefits of Pear in Hindi) पता होने बेहद जरूरी हैं। नाशपाती में हमारे शरीर के लिए आवश्यक पोषक तत्व और खनिज होते हैं। 100 ग्राम नाशपाती में 57 कैलोरी, 15 ग्राम कार्बोहाइड्रेट, 0.1 ग्राम कुल वसा, 0.4 ग्राम प्रोटीन, और 3.1 ग्राम आहार फाइबर होता है। यह सभी स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं। पनीर के फूल के फायदे 

नाशपाती खाने के फायदे – Benefits of Eating Pear in Hindi 

प्राचीन काल से ही लोग nashpati khane ke fayde लेते आये हैं। बेल के आकार के ये फल थोड़े खट्टेपन के साथ मीठे होते हैं, जिन्हें नरम या कुरकुरा खाया जा सकता है। विज्ञान और चिकित्सा द्वारा नाशपाती के कई स्वास्थ्य लाभ भी गिनाये गए हैं। हम यहां आपको बता रहे हैं कि नाशपाती खाना आपकी सेहत के लिए कैसे फायदेमंद होता है। जानिए नाशपाती खाने के फायदे (nashpati ke fayde)। काला जीरा के फायदे 

नाशपाती खाने के फायदे - Benefits of Eating Pear in Hindi

हड्डियां मजबूत करे – Pear for Stronger Bones in Hindi 

नाशपाती में तांबा, कैल्शियम, फास्फोरस, मैंगनीज और मैग्नीशियम महत्वपूर्ण मात्रा में होते हैं, जो सभी हड्डियों के स्वास्थ्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इन खनिजों की बहुत कम मात्रा में आवश्यकता हो सकती है लेकिन हड्डियों को मजबूत रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। ऑस्टियोपोरोसिस जैसी स्थितियों वाले लोगों को अपने आहार में नाशपाती को शामिल करने की सलाह दी जाती है। नाशपाती यह सुनिश्चित करता है कि आपकी हड्डियों को बढ़ने और सूजन और अन्य स्थितियों से बचाने के लिए पर्याप्त खनिज मिल रहे हैं।

वजन घटाए – Nashpati for Weight Loss in Hindi 

नाशपाती में कैलोरी की मात्रा कम और फाइबर की मात्रा अधिक होती है, जिससे वजन कम करने की कोशिश कर रहे लोगों के लिए यह फलों का एक आदर्श विकल्प है। एक मध्यम आकार का नाशपाती आपको 6 ग्राम फाइबर प्रदान करता है, जो आपकी फाइबर की दैनिक आवश्यकताओं को पूरा करने में मदद करता है।

कैंसर से बचाए – Pear Protects from Cancer in Hindi 

नाशपाती में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण हमारे शरीर में कैंसर पैदा करने वाली कोशिकाओं को मारने की क्षमता रखते हैं। एंटीऑक्सिडेंट अपनी एंटी-कार्सिनोजेनिक गतिविधियों के लिए प्रसिद्ध हैं जो कैंसर की रोकथाम से जुड़े हुए हैं। नाशपाती में पाए जाने वाले फ्लेवोनोइड्स और सिनामिक एसिड जैसे फाइटोन्यूट्रिएंट्स कैंसर के खतरे को कम करने में मदद करते हैं।

दिल का रखे ख्याल – Nashpati for Healthy Heart in Hindi 

नाशपाती उन फलों में से एक है जिनका स्ट्रोक के जोखिम के साथ विपरीत संबंध होता है। चूंकि नाशपाती के फल में पोटेशियम की मात्रा अधिक होती है, इसका मतलब यह है कि फल हृदय के स्वास्थ्य पर महत्वपूर्ण प्रभाव डालता है। इसके अलावा, फाइबर कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करता है और दिल को अच्छी काम करने की स्थिति में रखता है।

ब्लड सर्कुलेशन बेहतर करे – Pear for Better Blood Circulation in Hindi 

एनीमिया जैसे खनिजों की कमी से पीड़ित रोगियों के लिए नाशपाती बहुत फायदेमंद हो सकती है, क्योंकि इनमें आयरन और कॉपर की मात्रा अधिक होती है। शरीर में आयरन का बढ़ा हुआ स्तर लाल रक्त कोशिकाओं के संश्लेषण को बढ़ावा देता है। यही कारण है कि डॉक्टर बच्चों और बड़ों को समान रूप से कॉपर और आयरन से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन करने की सलाह देते हैं। नाशपाती के साथ, आप अपने आहार में इन आवश्यक खनिजों का एक महत्वपूर्ण प्रतिशत सुनिश्चित कर सकते हैं।

घाव ठीक करने में मदद करे – Pear Helps to Heal Wound in Hindi  

नाशपाती विटामिन सी का एक अच्छा स्रोत है और इस प्रकार घावों को भरने में मदद करता है। एस्कॉर्बिक एसिड शरीर की सेलुलर संरचनाओं और विभिन्न अंगों में नए ऊतकों को संश्लेषित करने में मदद करता है। इसलिए, जब भी कोई जलन या कट होता है, तो यह सुनिश्चित करता है कि प्रभावित जगह जल्दी ठीक हो जाए। अगर आप चोटिल हैं तो जल्दी ठीक होने के लिए अपने आहार में नाशपाती को शामिल कर सकते हैं।

इम्यूनिटी बढ़ाए – Pear Boost Immunity in Hindi 

नाशपाती में पाए जाने वाले विटामिन सी और विटामिन ए रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करते हैं। नाशपाती विटामिन सी खनिजों का एक समृद्ध स्रोत है जो एक बेहतरीन एंटीऑक्सीडेंट के रूप में काम करता है। एंटीऑक्सिडेंट सफेद रक्त कोशिकाओं के उत्पादन को प्रोत्साहित करने में मदद करते हैं, जो प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए महत्वपूर्ण हैं। 

डायबिटीज करे कंट्रोल – Nashpati Control Diabetes in Hindi 

नाशपाती की लाल किस्में डायबिटीज के खतरे को कम करने में मदद करने के लिए जानी जाती हैं। नाशपाती एंथोसायनिन से भरपूर फल है, जिसका सीधा संबंध डायबिटीज से है। नाशपाती के छिलके में एंथोसायनिन होता है जो एंटी- इंफ्लेमेटरी और एंटी-डायबिटीज दोनों में प्रभावी रूप से काम करता है। 

आंत के स्वास्थ्य को बढ़ाए – Pear for Better Gut Health in Hindi 

एक नाशपाती में लगभग 6 ग्राम फाइबर होता है, जो आपके दैनिक फाइबर की जरूरत का 22% है। इसलिए रोजाना एक नाशपाती खाने से आप अपने पाचन तंत्र को दुरुस्त रख सकते हैं। नाशपाती अघुलनशील और घुलनशील फाइबर का एक उत्कृष्ट स्रोत है जो पाचन स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है। इसके अलावा, घुलनशील फाइबर स्वस्थ आंत बैक्टीरिया को खिलाने के लिए जिम्मेदार होते हैं। स्वस्थ आंत बैक्टीरिया का मतलब है बेहतर प्रतिरक्षा और स्वस्थ उम्र बढ़ना। 

सूजन को कम करने में मदद करे – Nashpati Reduces Inflammation in Hindi 

नाशपाती फ्लेवोनोइड्स और एंटीऑक्सीडेंट घटकों से भरपूर होती है। नाशपाती के एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण सूजन और सूजन से जुड़े दर्द को कम करने में मदद करते हैं। गठिया के लक्षणों से पीड़ित लोगों को इसके लक्षणों को कम करने के लिए नाशपाती खाना चाहिए। साथ ही विटामिन सी और के जैसे पोषक तत्व, जो नाशपाती में प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं, सूजन को कम करने में मदद करते हैं।  

नाशपाती खाने के नुकसान – Pear Side Effects in Hindi

नाशपाती खाने के नुकसान - Pear Side Effects in Hindi

बब्बूगोशा खाने के फायदे यानी नाशपाती के फायदे हैं तो नाशपाती के नुकसान भी हैं। नाशपाती का नियमित सेवन सेहत के लिए फायदेमंद होता है। हालांकि बहुत अधिक सेवन हानिकारक हो सकता है। नाशपाती आहार फाइबर का अच्छा स्रोत है। लेकिन बहुत अधिक फाइबर पाचन स्वास्थ्य के लिए खराब है क्योंकि यह शरीर में विटामिन के अवशोषण में हस्तक्षेप करता है। विटामिन सी का अत्यधिक स्तर दस्त, मतली, नाराज़गी, पेट में सूजन और सिरदर्द जैसी जटिलताओं को जन्म दे सकता है। नाशपाती में एलर्जेनिक प्रतिक्रियाओं की संभावना कम होती है। लेकिन ऐसे उदाहरण हैं जिनमें रोगियों को एलर्जेनिक प्रतिक्रियाएं विकसित करने का उल्लेख किया गया था।

नाशपाती खाने को लेकर पूछे जाने वाले सवाल-जवाब – FAQ’s on Pear Fruit in Hindi 

सवाल- एक दिन में कितनी नाशपाती खानी चाहिए?

जवाब- एक दिन में 1-2 नाशपाती खा सकते हैं। सभी फलों की तरह, नाशपाती में भी फ्रुक्टोज या फलों की चीनी अधिक होती है और अधिक मात्रा में सेवन से पाचन संबंधी समस्याएं हो सकती हैं।

सवाल- क्या नाशपाती खाने से गैस बनती है?

जवाब- नाशपाती की उच्च फाइबर सामग्री कुछ लोगों में सूजन और गैस का कारण बन सकती है। गैस बनने से रोकने के लिए इसे ठीक से चबाकर खाएं।

सवाल- क्या प्रगनेंसी के दौरान नाशपाती खा सकते हैं?

जवाब- नाशपाती में बहुत सारे आवश्यक विटामिन और खनिजों के साथ-साथ अच्छे फाइबर भी होते हैं जो स्वस्थ प्रगनेंसी के लिए अच्छे हो सकते हैं।

अगर आपको यहां दिए गए नाशपाती के फायदे nashpati ke fayde पसंद आए तो इन्हें अपने दोस्तों और परिवारजनों के साथ शेयर करना न भूलें। 

ये भी पढ़ें –
जानिए सुहागा के फायदे, उपयोग और नुकसान

22 Nov 2021

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text