Diet

जानिए इम्यूनिटी क्या है और इसे बढ़ाने के उपाय – Immunity Kaise Badhaye

Archana ChaturvediArchana Chaturvedi  |  Mar 24, 2021
Immunity Meaning in Hindi
कोरोनावायरस जैसी बीमारियों ने बता दिया कि हमें इनसे लड़ने के लिए आपके पास एक मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली यानि कि इम्यून सिस्टम होनी ही चाहिए। तभी तो हमें अब अपनी लाइफस्टाइल को बदलने और अपने आहार को अधिक पौष्टिक बनाने की आवश्यकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि दैनिक आहार में सामग्री स्वाभाविक रूप से इम्यूनिटी को बढ़ावा देने के लिए काम करती है। विशेषज्ञों का कहना है कि इम्यून सिस्टम (immunity kya hai) का मुख्य काम विभिन्न रोगों और कुछ हानिकारक तत्वों से शरीर की रक्षा करना है।
कई सारे विटामिन और खनिज पदार्थ हमारे शरीर को पोषण मूल्य प्रदान करने के लिए सहयोग करते हैं। इसलिए, स्वस्थ आहार में विटामिन और खनिजों को आहार में शामिल किया जाना चाहिए। इम्यूनिटी हमारे शरीर की टॉक्सिन्स से लड़ने की क्षमता होती है। यहां आज हम जानेंगे कि इम्यूनिटी किसे कहते हैं, इम्यूनिटी बढ़ाने वाले फूड क्या-क्या होते हैं, इम्यूनिटी बढ़ाने के उपाय (immunity badhane ke liye gharelu nuskhe) और भी बहुत कुछ जो स्वस्थय रहने के लिए हमें जानना जरूरी है।

इम्यूनिटी क्या है – Immunity Kya Hai

बहुत से लोगों ये नहीं पता होता है कि इम्यूनिटी किसे कहते हैं (immunity kya hai)? तो आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इसे रोग प्रतिरोधक क्षमता भी कहते हैं। इम्यून सिस्टम का काम शरीर को किसी बाहरी तत्व जैसे वायरस बैक्टीरिया परजीवी या बीमार करने वाले कारकों से बचाव करना होता है। ये दो तरह की होती है पहला प्राकृतिक इम्यूनिटी और दूसरा अडॉप्टिव इम्यूनिटी। इसके अलावा यह शरीर की स्वस्थ कोशिकाओं को संक्रमित कोशिकाओं से अलग करने का काम करता है। 

इम्यूनिटी कैसे चेक करें – Apni immunity kaise check kare

आमतौर पर अगर किसी का इम्यून सिस्टम मजबूत होता है वो बाहरी संक्रमणों से बेहतर तरीके से मुकाबला करते हैं। वो जल्दी बीमार नहीं पड़ते हैं। इसके अलावा अगर किसी पता करना है कि हमारी प्रतिरोधक क्षमता कैसी है इस बारे में ब्लड रिपोर्ट से पता कर सकते हैं। मगर इसके अलावा भी शरीर में कई तरह के लक्षण दिखने लगते हैं जिससे आप पता कर सकते हैं कि आपका इम्यूनिटी लेवल कमजोर हो रहा है। वो लक्षण हैं –

immunity kaise check kare

इम्यूनिटी बढ़ाने के उपाय – Immunity Badhane ke Upay

आयुर्वेद में ऐसी कई जड़ी-बूटियां हैं जो आसानी से हमारे घरों व बाजार में उपलब्ध होती है और हमारे शरीर पर उनका स्वास्थ्य लाभ होता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि उनमें मौजूद प्राकृतिक और औषधीय तत्व हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने में उपयोगी होते हैं। तो आइए जानते हैं इम्यूनिटी बढ़ाने के उपाय (immunity badhane ke liye gharelu nuskhe) के लिए किन-किन चीजों का सेवन फायदेमंद होता है

giloy Immunity Badhane ke Upay

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए गिलोय

गिलोय को गुडुची और अमृता नाम से भी जाना जाता है। क्योंकि इसमें एंटीऑक्‍सीडेंट्स भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं जो कि फ्री-रेडिकल्‍स से लड़ने में मदद करते हैं और कोशिकाओं को स्‍वस्‍थ एवं बीमारियों से दूर रखते हैं। इम्यूनिटी पॉवर बढ़ाने के लिए गिलोय (immunity badhane ke tarike) सबसे आसान एवं असरकारी तरीका है।

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए कच्ची हल्दी

हल्दी को कई बीमारियों को ठीक करने के लिए माना जाता है। मौसम में बदलाव आने के कारण सर्दी या खांसी होने पर हल्दी वाला दूध या चाय लेने की सलाह दी जाती है। इसी तरह, हल्दी में आयुर्वेदिक गुण होते हैं और हल्दी के अर्क में भी इसका उपयोग किया जाता है। कच्ची हल्दी आपके इम्यून सिस्टम को बूस्ट करती है। कच्ची हल्दी का सेवन निश्चित रूप से फायदेमंद है जो बीमारी से दूर रहने के लिए एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर है।

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए लौंग

सर्दी-खांसी होने पर लौंग को मुंह में रखने की सलाह दी जाती है। ऐसा इसलिए है क्योंकि लौंग खांसी की गंभीरता को कम करती है। लौंग में एंटीमाइक्रोबियल और एंटीऑक्सीडेंट होते हैं। यह एंटी वायरल भी है इसलिए यह आपको वायरल बुखार से बचा सकता है। ये पोषक तत्व आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देते हैं और आपके लिए बीमारी से लड़ना आसान बनाते हैं। 

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए काली मिर्च

काली मिर्च में विभिन्न प्रकार के खनिज और विटामिन भी होते हैं। यह विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन ई, विटामिन के और विटामिन बी 6 से भरपूर है। इन विटामिनों के अलावा, इसमें राइबोफ्लेविन, थायमिन, पोटेशियम, सोडियम, फोलेट, विटामिन और नियासिन भी होते हैं। इन कारणों से, स्वाद के साथ-साथ काली मिर्च आपके स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद है। ये सभी पोषक तत्व आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं। 

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए तुलसी

तुलसी में कई औषधीय तत्व होते हैं। इसीलिए तुलसी को अमूल्य पौधे या पवित्र पौधे का दर्जा मिला है। तुलसी के पत्तों में विटामिन, कैल्शियम, आयरन, फेरोफिल, जिंक, ओमेगा 3. मैग्नीशियम, मैंगनीज होता है। जो आपके शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने में मदद करता है। तुलसी के पत्तों में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं। यह निश्चित रूप से संक्रमण के जोखिम को कम करता है। तुलसी के पत्तों को नियमित रूप से चबाने या इसका रस निकालने से आपका शरीर स्वस्थ रहता है।

honey for immunity booster in hindi

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए शहद

शहद के रोगाणुरोधी गुणों के कारण, इसे कीटाणुओं को मारने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। यह शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने में भी मदद करता है। आप चाय में शहद का उपयोग कर सकते हैं या सर्दी और खांसी के लिए दवा के रूप में चाट सकते हैं। 

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए मुनक्का

मिठास और कई तरह के पौष्टिक तत्व से भरपूर मुनक्का (munakka in hindi) शरीर में ऊर्जा बढ़ाने से लेकर हाजमा तक ठीक करने में मददगार होता है। आयुर्वेद में मुनक्का के लाभ के बारे में काफी कुछ बताया गया है। इसमें कहा गया है कि मुनक्का कई गंभीर बीमारियों को जड़ से खत्म करने का काम करता है। अगर आप कोई ऐसी चीजें खा रहे हैं जिसकी तासीर गर्म होती है तो उसके साथ मुनक्का खाने से संतुलन बन जाता है।

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए दालचीनी

दालचीनी न केवल खाने का स्वाद बढ़ाती है बल्कि स्वास्थ्य के लिए भी वरदान है। दालचीनी कई बीमारियों के लिए अच्छा है। इसलिए डॉक्टर भी दालचीनी खाने की सलाह देते हैं। दालचीनी में जीवाणुरोधी गुण होते हैं। ये आपको बैक्टीरिया से दूर रखते हैं। इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए दालचीनी को चाय में उपयोग करने के लिए भी कहा जाता है। इसलिए, संक्रमण को रोकने के लिए दालचीनी को आयुर्वेदिक काढ़े में होना ही चाहिए।

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए गुड़

गुड़ स्वाद में जितना अच्छा लगता है सेहत में उतना ही लाजवाब होता है। गुड़ खाने से इम्यूनिटी बूस्ट होती है, जिससे सर्दी के मौसम में बीमार पड़ने की संभावना कम हो जाती है। इसीलिए काढ़े या चाय में भी चीनी की जगह गुड़ का ही सेवन करना चाहिए।

इम्यूनिटी बढ़ाने वाले फूड – Immunity Badhane Wale Food

मौसम बदलने के साथ तरह-तरह की बीमारियां भी पांव पसारने लगती हैं। ऐसे में शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए खान-पान का विशेष ध्यान रखने की जरूरत है। क्योंकि अगर आपका शरीर अंदर से स्ट्रॉन्ग रहेगा तो बीमारियां आपको बिल्कुल भी तंग नहीं करेगी। इसीलिए यहां हम आपको इम्यूनिटी बढ़ाने वाले फूड (immunity power badhane ke upay) यानि कि उन चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनका सेवन करने से आप अपने इम्यून सिस्टम को मजबूत रख सकते हैं –

 broccoli - Immunity Badhane Wale Food

ब्रोकली

ब्रोकली में कई विटामिन्स, एंटीऑक्सिडेंट और फाइबर भी पाए है। ये इम्यूनिटी बढ़ाने वाले फूड में से एक है। इसके सेवन से शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता का विकास होता है। 

अदरक

अदरक का सेवन करने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है जो रोगों से लड़ने में सहायता करती है। क्योंकि अदरक में एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण पाये जाते हैं जो कि सेहत के सही रखने में मदद करते हैं।

लहसुन

लहसुन इम्यूनिटी बूस्टर माना जाता है। रोजाना भुना हुआ लहसुन खाने से इम्यूनिटी बूस्ट होने के साथ और भी फायदे मिलते हैं। लहसुन में भी कई तरह के एंटी वायरल तत्व पाए जाते हैं।

शकरकंद

स्वीट पोटैटो यानि कि शकरकंद खाने में जितना स्वादिष्ट होता है उतना शरीर के लिए भी फायदेमंद होता है।  के नाम से भी जानते हैं। शकरकंद में विटामिन डी भी भरपूर होता है, जो कि शरीर में होमोसिस्टीन नाम के अमीनो एसिड के स्तर को कम करने में सहायक होता है।

Chilgoja in Hindi

चिलगोजा

चिलगोजा एक तरह का नट्स होता है। इसमें एंटीबैक्टीरियल और एंटीवायरल गुण होते हैं, जिसके कारण ये शरीर में मौजूद हानिकारक केमिकल्स से रक्षा करता है और इसमें मौजूद एंटीऑक्सिडेंट्स शरीर के इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है।

लाल शिमला मिर्च

एक्सपर्ट्स का मानना है कि खट्टे फलों की तुलना में लाल शिमला मिर्च में दोगुना विटामिन सी पाया जाता है। इसमें प्रचुर मात्रा में बीटा कैरोटीन भी पाया जाता है, जोकि इम्यून सिस्टम बढ़ाने के अलावा और भी कई तरह से शरीर के लिए फायदेमंद है।

पालक

अच्छी सेहत के लिए हरी पत्तेदार सब्जियां बहुत फायदेमंद होती हैं। उनमें से पालक में कैल्शियम, मैग्नीशियम और भरपूर आयरन पाया जाता है, जोकि आपके इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने में सहायक होती है।

दही

रोजाना दही खाने से शरीर की इम्यूनिटी बढ़ती है। क्योंकि दही मांसपेशियों के खिंचाव में भी आराम पहुंचाता है। दही खाने से बहुत तेजी से रिकवरी होती है।

इम्यूनिटी बढ़ाने वाले फ्रूट – Immunity Badhane Wale Fruits

अगर आप बिना किसी तरह की दवाई या काढ़ा पिएं अपनी इम्यूनिटी पावर बढ़ाना चाहते हैं तो अपने आहार में कुछ फलों को शामिल कर सकते हैं। तो आइए जानते हैं कि कौन से फूड शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने (immunity kaise badhaye) का काम करते हैं –

Immunity Badhane Wale Fruits

खट्टे फल

जितने भी खट्टे फल होते हैं उसमें विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इन्हें सिट्रस फ्रूट भी कहते हैं। अधिकतर रोगों में डॉक्टर मरीज को सिट्रस फ्रूट्स यानी खट्टे फल खाने की सलाह देते हैं। क्योंकि विटामिन सी इम्यून सिस्टम बढ़ाता है और सर्दी-जुकाम व अन्य बीमारियों से लड़ने में मदद करता है। सिट्रस फ्रूट्स में अंगूर, संतरे, कीनू, नींबू, आदि आते हैं।  

बेरीज 

बेरी में एंटी ऑक्सीडेंट, एंटी बैक्टीरियल और एंटी वायरल गुण होते हैं, जोकि संक्रमण को रोकने में मदद करते हैं। इम्यूनिटी को मजबूत बनाए रखने के लिए आप अपने शेक या फ्रूट सैलेड में ब्लू बेरी, ब्लैक बेरी और स्ट्राबेरी का इस्तेमाल कर सकते हैं।

पपीता

पपीपा औषधीय गुणों से भरपूर होता है। आप अगर इसका रोजाना सेवन करते हैं तो ये कई बीमारियों से आपको बचाए रख सकता है। पपीते में इम्यूनोमोड्यूलेटरी एक्टिविटी पाई जाती है। इनका प्रभाव इम्यून सेल्स को मजबूत करके आपकी इम्यूनिटी मजबूत बनाने में मदद करता है।

कीवी

कीवी खाने से आपके शरीर का इम्यून सिस्टम तेज हो जाता है और वायरस को अटैक करने से रोकता है। कीवी फल को खाने की सलाह अक्सर आपने डॉक्टरों के द्वारा सुनी होगी जो आमतौर प्लेटलेट्स को बढ़ाने के लिए बहुत उपयोगी माना जाता है। लेकिन आप इसका एक इम्यूनिटी बूस्टर फ्रूट के रूप में भी सेवन कर सकते हैं।

अमरूद

अगर आपको अमरूद अच्छा लगता है तो ये भी जान लीजिए कि ये आपके इम्यूनिटी सिस्टम के लिए भी बेहद फायदेमंद फ्रूट है। संतरे के मुकाबले अमरूद में चार गुना ज्यादा विटामिन सी होता है। इससे खांसी, जुकाम जैसे छोटी-मोटी इंफेक्शन से बचाव रहता है।

बच्चों की इम्यूनिटी बढ़ाने के उपाय – Bacho Ki Immunity Kaise Badhaye

बच्चों की इम्यूनिटी पावर बड़े लोगों के मुकाबले कमजोर होती है। वो बड़ी आसानी से इंफेक्शन की चपेट में आ जाते हैं। इसीलिए जरूरी है कि शुरूआत में ही उनके ऊपर ध्यान दें और उनकी लाइफस्टाइल में कुछ ऐसी चीजों को शामिल करें जिससे उनकी इम्यूनिटी (immunity power badhane ke upay) अच्छी हो जाये। तो आइए जानते हैं बच्चों की इम्यूनिटी बढ़ाने के उपाय के बारे में  –

Bacho Ki Immunity Kaise Badhaye

  • बच्चों को खुली हवा और मिट्टी में खेलने दें।
  • बच्चों को शुरूआत से एक्सरसाइज व योग की आदत डलवाएं।
  • हरी सब्जियों और सिट्रस फ्रूट उनके आहार में शामिल करें।
  • अपने बच्चे को करीब 6 माह तक स्तनपान जरूर करवाएं।
  • बच्चों को सही और संतुलित आहार दें।
  • बच्चों के जन्म के बाद से टीकाकरण जरूर करवाएं।
  • बच्चों की नींद पूरी हो इस बात का जरूर ख्याल रखें।

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए काढ़ा- Immunity Badhane ke Liye Kadha

कोरोना वायरस से सुरक्षित रहने के लिए आयुर्वेदिक काढ़ा पीने से निश्चित रूप से वृद्धि हुई है। भारत में इम्यूनिटी बढ़ाने के घरेलू उपाय में यह घर का बना काढ़ा निश्चित रूप से उपयोगी है। यही नहीं, भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषणों में इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए काढ़ा (immunity badhane ka tarika) की उपयोगिता कई बार बताई है। तो यह आयुर्वेदिक काढ़ा न केवल आपकी सर्दी, खांसी को ठीक करता है। यह आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को भी कोरोना से बचाता है। यहां हम आपके साथ काढ़ा बनाने और इसकी सामग्री के लाभों के लिए कुछ सरल रेसिपी को शेयर कर रहे हैं। जो निश्चित रूप से आपको काढ़ा पीने के महत्व का एहसास कराएगा। तो आइए जानते हैं इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए काढ़ा बनाने की रेसिपी के बारे में – 

Immunity Badhane ke Liye Kadha

हल्दी अदरक का काढ़ा

कोविड 19 में संक्रमण को रोकने के लिए कई लोगों द्वारा इस काढ़ा का उपयोग किया गया है। तो आप इस काढ़ा को बिना किसी हिचकिचाहट के इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए ले सकते हैं।
काढ़ा तैयार करने के लिए आवश्यक सामग्री –
– पांच से छह तुलसी के पत्ते
– एक से दो इलायची
– कच्ची हल्दी
– 5-6 लौंग 
– एक चम्मच काली मिर्च
– दालचीनी का एक टुकड़ा
– अदरक का एक टुकड़ा
– चार से पांच किशमिश
– शहद
काढ़ा बनाने की विधि –
कच्ची हल्दी को धो लें और पीस लें और अदरक का रस निकालें। आधा कप हल्दी का रस और चार से पांच चम्मच अदरक के रस को चार कप पानी में उबालें। हल्दी और अदरक इस पानी को पीला कर देंगे। पांच से छह मिनट के बाद, अन्य सभी सामग्री डाल दें। पंद्रह से बीस मिनट तक पानी उबालने के बाद, मात्रा आधी हो जाएगी और काढ़ा तैयार हो जाएगा। एक कप काढ़े में एक चम्मच शहद मिलाएं और गर्म होने पर काढ़े को पी लें।

आयुष क्वाथ या इम्युनिटी बूस्टर काढ़ा

आयुष क्वाथ या इम्युनिटी बूस्टर काढ़ा स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद है। कोरोना महामारी के दौरान ये किसी संजवीनी बूटी से कम नहीं है। क्वाथ रोगों के खिलाफ शक्तिशाली सुरक्षा कवच तैयार करता है।
काढ़ा तैयार करने के लिए आवश्यक सामग्री –
– तुलसी
– अदरक
– दालचीनी
– काली मिर्च
– सौंठ या अदरक
– गुड़
काढ़ा बनाने की विधि –
आयुष क्वाथ या इम्युनिटी बूस्टर काढ़ा (Ayush Kwath) बनाने के लिए तुलसी, अदरक, दालचीनी और काली मिर्च को सौंठ या अदरक पानी में डाल कर उबाल लें। फिर अच्छी से धीमी आंच पर उबलने दें एवं आधा शेष रहने पर उसे छान लें और गुनगुना होना पर इसे चाय की तरह पी लें। स्वाद के लिए गुड़, मुनक्का व नींबू भी इसमें मिलाया जा सकता है।

इम्यूनिटी बढ़ाने को लेकर पूछे जाने वाले सवाल-जवाब FAQs

इम्यूनिटी बढ़ाने वाले फ्रूट कौन-कौन से होते हैं?

इम्यूनिटी बढ़ाने में सिट्रस फ्रूट्स यानी खट्टे फल बेहद कारगर होते हैं। शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए ताजे फल और सब्जियों का सेवन करना चाहिए (immunity badhane ke upay), क्योंकि इसमें भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट होते है। 

इम्यूनिटी बढ़ाने की होम्योपैथिक मेडिसिन का नाम क्या है?

आयुष मिनिस्ट्री द्वारा प्रचारित इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए होम्योपैथिक दवा आर्सेनिक एलबम 30 (Arsenicum Album 30) काफी कारगर मानी जा रही है।

शरीर का इम्यून सिस्टम कैसे सही होगा?

शरीर में अगर विटामिन डी की मात्रा संतुलित रहेगी तो इम्यून सिस्टम भी मजबूत रहेगा। अगर आपकी ब्लड रिपोर्ट में विटमिन डी की कमी है तो आपको इसका लेवेल सही करने की कोशिश करें।

बच्चों को ताकत के लिए क्या खिलाना चाहिए?

बच्चों को ताकत के लिए घी जरूर खिलाएं, क्‍योंकि घी में ओमेगा 3 फैटी एसिड होते हैं। इसके अलावा हर रोज विटामिन्स, मिनरल्स, फैट और प्रोटीन का संतुलित मात्रा में सेवन करना चाहिए।

इम्यूनाइजेशन क्या है?

इम्यूनाइजेशन (Immunization) ऐसी प्रक्रिया है जिसमें किसी वैक्सीन यानि टीके के जरिए या प्राकृतिक तौर पर शरीर के अंदर इम्यूनिटी सिस्टम विकसित किया जाता है। ताकि शरीर बीमारियों से लड़ने में सक्षम हो सके।

POPxo की सलाह : MYGLAMM के ये शानदार बेस्ट नैचुरल सैनिटाइजिंग प्रोडक्ट की मदद से घर के बाहर और अंदर दोनों ही जगह को रखें साफ और संक्रमण से सुरक्षित!