logo
Logo
User
home / xSEO
स्टीम लेने के फायदे और नुकसान - Steam Lene ke Fayde

जानिए भाप यानी स्टीम लेने के फायदे और नुकसान

स्टीम इनहेलेशन नाक के मार्ग को शांत करने और खोलने और सर्दी या साइनस संक्रमण के लक्षणों से राहत पाने के लिए सबसे व्यापक रूप से उपयोग किए जाने वाले घरेलू उपचारों में से एक है। मगर भाप लेने के फायदे (bhap lene ke fayde) बस यहीं तक सीमित नहीं हैं। चेहरे पर स्टीम लेने के फायदे (steam lene ke fayde for skin) भी कई हैं। हम यहां आपको स्टीम लेने का सही तरीका बताने से लेकर भाप लेने के फायदे और नुकसान बता रहे हैं। 

स्टीम लेने के फायदे – Steam Lene ke Fayde

भाप लेने को स्टीम थेरेपी भी कहा जाता है, इसमें जल वाष्प का सांस लेना शामिल है। माना जाता है कि गर्म, नम हवा नाक के मार्ग, गले और फेफड़ों में बलगम को ढीला करके काम करती है। यह आपके नाक मार्ग में सूजन, सूजी हुई रक्त वाहिकाओं के लक्षणों को दूर कर सकता है। भाप लेना सर्दी या फ्लू जैसे संक्रमण में भी बेहतर महसूस कराने में मदद कर सकता है। जानिए भाप लेने के फायदे (steam lene ke fayde)।

त्वचा के लिए स्टीम लेने के फायदे

Steam Lene ke Fayde

स्टीम लेने से आपकी त्वचा के रोम छिद्र खुलते हैं और त्वचा गहराई से साफ़ होती है। रोमछिद्र खुलने से ब्लैकहेड्स नरम हो जाते हैं, जिससे उन्हें निकालना आसान हो जाता है। गर्म भाप का संयोजन और पसीने में वृद्धि आपकी रक्त वाहिकाओं को फैलाती है और सर्कुलेशन को बढ़ाती है। रक्त प्रवाह का यह बढ़ावा आपकी त्वचा को पोषण देता है और ऑक्सीजन प्रदान करता है। यह मुंहासे पैदा करने वाले बैक्टीरिया और कोशिकाओं को मुक्त करता है। रोमछिद्र खुलने से मृत त्वचा कोशिकाओं, बैक्टीरिया और अन्य अशुद्धियों को बाहर निकलने में मदद मिलती है, जो छिद्रों को बंद कर देते हैं और मुंहासों को बढ़ावा देते हैं। भाप तेल के उत्पादन को बढ़ाने में मदद करके त्वचा को हाइड्रेट करती है, चेहरे को प्राकृतिक रूप से मॉइस्चराइज़ करती है। 

जुकाम में स्टीम लेने के फायदे

भाप लेने के फायदे ज़ुकाम व साइनस कंजेशन में भी देखने को मिलते हैं। भाप साइनस कंजेशन और अक्सर इसके साथ होने वाले सिरदर्द को दूर करने में मदद कर सकती है। अपनी भाप में कुछ इसेंशियल तेल मिलाने से इसका प्रभाव और भी बढ़ सकता है। भाप में सांस लेने से गले की मांसपेशियों को आराम मिलता है, जो बदले में खांसी की प्रतिक्रिया को काफी कम कर सकता है। भाप नैसल कंजेशन को कम करने में मदद कर सकती है। भाप से फेफड़ों को नुकसान होने की संभावना नहीं है। नम हवा बलगम को कम करने और जमाव और खांसी को कम करने में मदद कर सकती है। इसके लिए एक चौड़े पैन में पानी को तब तक उबालें जब तक कि भाप न बनने लगे। अब सिर को पैन के ऊपर रखें (कम से कम एक फुट की दूरी पर) और नाक से गहरी सांस लें। आप चाहें तो इसके लिए रेडीमेड स्टीमर का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। 

स्टीम वाले कमरे के फायदे 

Bhap Lene ke Fayde

स्टीम रूम वह स्थान हैं, जिसे स्टीम जनरेटर से गर्म किया जाता है। स्टीम रूम आमतौर पर कसरत के बाद और स्पा में विश्राम और वसूली के लिए उपयोग किए जाते हैं। स्टीम रूम एक बहुत पुरानी प्रथा है, जिसका प्रयोग विभिन्न देशों में कई संस्कृतियों द्वारा किया जाता है। स्टीम रूम के विशिष्ट स्वास्थ्य लाभ हैं। इसमे शामिल है:

– क्लियर कंजेशन 

– त्वचा के स्वास्थ्य में सुधार

– रक्तचाप कम करना

– परिसंचरण में सुधार

– ब्रोंकाइटिस के लक्षणों को कम करना

– वर्कआउट रिकवरी 

– रिलैक्सेशन

– जॉइंट्स की स्टिफनेस को कम करना

अस्थमा में स्टीम लेने के फायदे

स्टीम लेना अक्सर नाक और छाती की भीड़ को कम करने के लिए उपयोग किया जाता है। वैसे तो भाप उपचार अस्थमा का इलाज नहीं है लेकिन निश्चित रूप से आपकी स्थिति में सुधार कर सकता है। स्टीम बाथ आपके वायुमार्ग को नमी प्रदान कर सकता है, आपको कंजेशन से छुटकारा दिला सकता है, आपको बलगम से छुटकारा पाने में मदद करता है और आपको अधिक स्वतंत्र रूप से सांस लेने देता है।  

कोरोना में भाप लेने के फायदे

कोरोना नाम की महामारी ने साल 2020 से पूरी दुनिया में आतंक मचा रखा है। इस दौरान जाने कितने लोग अकाल मौत के मुंह में चले गए तो कई इस बीमारी से लड़ने में सफल भी हुए। कोरोना से लड़ने के लिए एक के बाद एक कई घरेलू उपचार सामने आये। इन्हीं में से एक था, स्टीम लेने के फायदे। यहां तक की आयुष मंत्रालय ने भी कोरोना हो जाने पर स्टीम लेने की सलाह दी थी। उनके अनुसार, अगर गले में खराश या सूखा कफ है तो दिन में एक बार स्टीम ले सकते हैं। किसी बर्तन में गर्म पानी करके उसमें पुदीने की कुछ पत्तियां और अजवाइन को मिलाकर इसे भाप के रूप में सांस में भरें। 

स्टीम लेने का सही तरीका – Steam Lene ka Tarika

Steam Lene ka Tarika

स्टीम लेने के लिए आपको स्टीम लेने का सही तरीका पता होना बेहद जरूरी है। हम आपको यहां बता रहे हैं कि भाप कैसे लेनी चाहिए (bhap kaise le)। यहां बताये गए तरीके के अनुसार भाप लेने से उसके फायदे कई गुना हो जाते हैं। इसके लिए आपको, जो सामग्री चाहिए उसमें शामिल हैं-

– एक बड़ा कटोरा

– पानी

– पानी गर्म करने के लिए एक बर्तन या केतली और एक स्टोव या माइक्रोवेव

– तौलिया

भाप लेने का तरीका-

– पानी को उबालने के लिए गर्म करें।

– गरम पानी को बड़े कटोरे में सावधानी से डालें।

– तौलिये को सिर के पिछले हिस्से पर लपेटें।

– एक टाइमर चालू करें।

– अपनी आंखें बंद करें और धीरे-धीरे अपने सिर को गर्म पानी की ओर तब तक नीचे करें जब तक कि आप पानी से लगभग 8 से 12 इंच दूर न हो जाएं। 

– पानी के सीधे संपर्क में आने से बचने के लिए बेहद सावधान रहें।

– कम से कम दो से पांच मिनट के लिए अपनी नाक से धीरे-धीरे और गहराई से सांस लें।

स्टीम लेने के नुकसान – Steam Lene ke Nuksan

अगर सही तरीके से किया जाए तो स्टीम लेना एक सुरक्षित घरेलू उपाय माना जाता है, लेकिन अगर आप सावधान नहीं हैं तो steam lene ke nuksan भी भुगतने पड़ सकते हैं। जैसे अनजाने में खुद को चोट पहुंचाना बहुत संभव है। अगर आप गर्म पानी के संपर्क में आते हैं तो अपने आप को झुलसाने का खतरा होता है। सबसे बड़ा जोखिम गलती से गर्म पानी के कटोरे को आपके पैर या गोद में गिरा लेना है, जिससे संवेदनशील क्षेत्रों में गंभीर जलन हो सकती है। सुनिश्चित करें कि गर्म पानी का कटोरा एक समतल, मजबूत सतह पर है और इसे गिराया नहीं जा सकता है। इसके अलावा भाप को अपनी आंखों से संपर्क में लाने से बचें। आपकी आंखें बंद होनी चाहिए और भाप से दूर होनी चाहिए। गर्म पानी के कटोरे को बच्चों या पालतू जानवरों की पहुंच से दूर रखें।

21 Dec 2021

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text