home / वेलनेस
Vitamin ki Kami se Hone Wale Rog

Vitamin ki Kami se Hone Wale Rog | जानिए विटामिन की कमी से होने वाले रोग और कुछ उपाय

विटामिन की जरूरत हमारे शरीर को भले ही कम मात्रा में पड़ती है, लेकिन अगर इसमें थोड़ी सी भी कमी हो जाए तो इसके परिणाम बहुत अच्छे नहीं होते हैं। विटामिन की कमी से होने वाले रोग में ज्यादा नींद  आना से लेकर हड्डी की गंभार बिमारी तक शामिल है। कभी सोचा है कि किस विटामिन की कमी से पैर में दर्द होता है या किस विटामिन की कमी से नींद ज्यादा आती है। कई लोग खाने में इतने सिलेक्टिव होते हैं कि वो कई तरह के पोषक तत्वों को खाने से ठुकरा देते हैं। ऐसा इसलिए कि ये जानते ही नहीं हैं कि Vitamin C ki Kami se Kya Hota Hai या विटामिन डी लेना क्यों जरूरी है। ये भी बता दें कि विटामिन सिर्फ सेहत के लिए नहीं बल्कि ग्लोइंग और हेल्दी स्किन के लिए विटामिन्स जरूरी हैं। अगर आप भी ये जानना चाहते हैं कि विटामिन क्या है, विटामिन के कितने प्रकार होते हैं और इनकी कमी से हम किस तरह के रोग से पीड़ित हो सकते हैं तो ये लेख जरूर पढ़े- 

Vitamin Kya Hai | विटामिन क्या है

Vitamin Kya Hai

अगर आपके मन में भी ये सवाल है कि विटामिन क्या होता है (vitamin kya hota hai) तो बता दें विटामिन वो ऑर्गेनिक कम्पाउंड होते हैं जिनकी लोगों को कम मात्रा में आवश्यकता होती है। अधिकांश विटामिनों को भोजन से ही प्राप्त करने की आवश्यकता होती है क्योंकि शरीर या तो उनका उत्पादन नहीं करता है या बहुत कम उत्पादन करता है।

साथ ही ये भी जानें कि शरीर में विटामिन क्यों जरूरी है। विभिन्न विटामिन शरीर में अलग-अलग भूमिका निभाते हैं, और एक व्यक्ति को स्वस्थ रहने के लिए प्रत्येक विटामिन की अलग-अलग मात्रा की आवश्यकता होती है। दूसरे विटामिन की तरह विटामिन डी शरीर को भोजन से पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध नहीं होता है। सूर्य के प्रकाश के संपर्क में आने पर मानव शरीर विटामिन का संश्लेषण करता है और यह विटामिन डी का सबसे अच्छा स्रोत है। अभी शरीर में 13 तरह के विटामिन की जानकारी है।

Vitamin Kitne Prakar ke Hote Hai | विटामिन कितने प्रकार के होते हैं

Vitamin Kitne Prakar ke Hote Hai

शरीर में 13 तरह के विटामिन होने की जानकारी है। इन सभी विटामिन को दो प्रकार में बांटा गया है जिसनें से कुछ फैट सॉव्यूबल यानि की वसा में घुलनशील हैं और कुछ वॉटर सॉल्यूबल होते हैं।

ADVERTISEMENT

विटामिन के 13 प्रकार में विटामिन ए (रेटिनॉल), विटामिन बी1 (थायमिन), विटामिन बी2 (राइबोफ्लेविन), विटामिन बी3 (नियासिन), विटामिन बी5 (पैंटोथेनिक एसिड), विटामिन बी6 (पाइरिडोक्सीन), विटामिन बी7 (बायोटिन), विटामिन बी9 (फोलेट या फोलिक एसिड), विटामिन बी12 (स्यानोकोबलामीन), विटामिन सी (एसकोर्बिक एसिड), विटामिन डी (कैल्सिफेरॉल), विटामिन ई (टोकोफेरोल), विटामिन के (फिलोक्विनोन) शामिल हैं।

Vitamin ki Kami se Hone Wale Rog | किस विटामिन की कमी से पैर में दर्द होता है

अगर आप भी हमेशा पैर में दर्द या ऐठन से परेशान रहती हैं तो आपके लिए ये जानना जरुरी है कि किस विटामिन की कमी से पैर में दर्द होता है। पैर में दर्द की शिकायत मूलरूप से विटामिन डी की कमी,से होता है। इससे पैर में दर्द के अलावा हड्डियों में दर्द, फ्लू और रोग प्रतिरोधक क्षमता पर भी असर पड़ता है।

Kis Vitamin ki Kami se Neend aati Hai | किस विटामिन की कमी से नींद ज्यादा आती है

अगर आप खुद को बार-बार सोता हुआ पाते हैं तो आपके लिए ये जानना जरूरी है कि किस विटामिन की कमी से नींद ज्यादा आती है। कई शोध में ये बात सामने आई है कि विटामिन डी की कमी से नींद ज्यादा आती है यानि यदि शरीर में विटामिन डी की कमी होने लगती है तो ज्यादा नींंद आने लगती है। इसके साथ ही कुछ रिसर्च के मुताबिक अगर शरीर में विटामिन बी12 की कमी है तो भी ज्यादा नींद आने लगती है। इसके अलावा कुछ विटामिन जैसे विटामिन सी, विटामिन बी2 इत्यादी की कमी से भी नींद पर प्रभाव पड़ता है।

 Kis Vitamin ki Kami se Neend aati Hai

Sharir mei Fode kis Vitamin ki Kami se Hota Hai | शरीर में फोड़े-फुंसी किस विटामिन की कमी से होते हैं

यूं तो त्वचा में दाग, लाल रैशेज आदि विटामिन डी की कमी से भी होते हैं, लेकिन फोड़े फुंसी होने के पीछे विटामन बी3 की कमी को मुख्य कारण माना जाता है। इसके अलावा विटामिन ए और विटामिन ई की कमी से भी फोड़े होने की शिकायत होती है।

ADVERTISEMENT

Migrain Kis Vitamin ki Kami se Hota Hai | माइग्रेन किस विटामिन की कमी से होता है 

माइग्रेन को विशेषज्ञ दो विटामिन की कमी से जोड़ कर देखते हैं। अगर आपके मन में ये सवाल है कि माइग्रेन किस विटामिन की कमी से होता है तो बता दें कि शोध इसे विटामिन डी और विटामिन बी2 यानि राइबोफ्लेविन की कमी से जोड़ कर देखते हैं। 

माइग्रेन का कारण शरीर में एंटीऑक्सीडेंट्स और फ्री रैडिकल्स के असंतुलन की वजह से होता है और ऐसे में विटामिन बी2 का सेवन इस दर्द की तीव्रता को कम करने में बहुत फायदेमंद दिखता है। माइग्रेन मस्तिष्क के सूजन की वजह से भी होता है और ये विटामिन डी की कमी से जुड़ा हुआ है। इसके अलावा माइग्रेन की समस्य मैग्नीजियम की कमी से भी होती है और इसके अब्जॉर्बशन के लिए विटामिन डी की जरूरत होती है।

Kis Vitamin ki Kami se Jodo mei Dard Rahta Hai | किस विटामिन की कमी से जोड़ों में दर्द होता है।

Kis Vitamin ki Kami se Jodo mei Dard Rahta Hai

विटामिन बी 12 की कमी को जोड़ों में दर्द और कमर दर्द का मुख्य कारण माना जाता है। कम डेयरी प्रोडक्ट्स और कम हरी सब्जियां खाने की वजह से शरीर में विटामिन बी 12 की कमी होने लगती है और इससे जोड़ों की दर्द, हाथ पैर में झनझनाहट जैसी समस्याएं भी शुरू होने लगती हैं। शरीर में अगर विटामिन डी की कमी होने लगती है तो भी बिटामिन बी 12 घटने लगता है। खान-पान से इसकी भरपाई की जा सकती है।

Anemia kis Vitamin ki Kami se Hota Hai | अनीमिया किस विटामिन की कमी से होता है

अनीमिया होने का सबसे पहला कारण है विटामिन बी 12 की कमी होना है। इसके अलावा विटामिन बी9 ( जिसे फॉलिक एसिड भी कहते हैं ) और विटामिन सी की कमी भी अनीमिया का मुख्य कारण होते हैं। विटामिन की कमी से होने वाले अनीमिया के लक्षण दिखमे में लंबा समय लगता है। इसे विटामिन के इंजेक्शन व खानपान से पूर किया जा सकता है।

ADVERTISEMENT

Vitamin ki Kami se Hone wale rog ka chart | विटामिन की कमी से होने वाले रोग का चार्ट

विटामिन का नामविटामिन की कमी से होने वाले रोग
विटामिन ए अंधापन, अनीमिया, पेशाब की नली में इंफेक्शन, कमजोर इम्युनिटी और रेस्पिरेटरी सिस्टम में इंफेक्शन
विटामिन बी थकान, कमजोरी, चिड़चिड़ापन, जीभ में छाले या सूजन, अनीमिया
विटामिन बी 12अनीमिया, हड्डी संबंधित रोग, डिमेंशिया, भूलने की बिमारी, त्वचा संबंधी बीमारी, पेट संबंधी रोग
विटामिन B3जीभ का लाल होना, कब्ज, दस्त और पेलाग्रा ( धूप में आते ही स्किन में चकते हो जाना), डिप्रेशन, सिरदर्द, भूलने की समस्या
विटामिन B5बाल सफेद होना, मंदबुद्धि होना
विटामिन B6अनामिया, स्किन से जुड़ी परेशानियां, होंठ फटना, गले में सूजन, इम्यूनिटी कमजोर होना, थकान, हाथ-पैरों में दर्द, दौरे पड़ना
विटामिन सीस्कर्वी, एनीमिया, स्किन पर जल्दी एजिंग के चिन्ह दिखना, आंखों का रोशनी कम होना 
विटामिन डीरिकेट्स (बचपन में हड्डियों का नरम होना), ऑस्टियोमलेशीया ( व्यस्कों में हड्डी का नरम होना)
विटामिन ईब्रेन हैमरेज, हार्टअटैक, प्रजनन क्षमता पर असर
विटामिन केब्लड क्लॉटिंग न हो पाना, कमजोर हड्डियां
विटामिन ई की कमी से होने वाले रोग

हेल्दी रहने से लेकर फ्लॉलेस स्किन तक विटामिन्स हमारे शरीर की बेसिक जरूरत है और इसलिए इस बात की जानकारी सबको होनी चाहिए कि विटामिन कितने प्रकार के होते हैं, इनकी कमी से किस तरह के रोग होते है, विटामिन b12 के घरेलू उपाय क्या होते हैं या फिर विटामिन डी वाले फल कौन से होते हैं। 

ये भी पढ़े-

विटामिन सी सीरम के लाभ– इसके इस्तेमाल से स्‍किन के काले दाग- धब्‍बे, एक्‍ने, झाइयां, झुर्रियां और निशान दूर हो जाते हैं। अपने इन्हीं गुणों के कारण इन दिनों विटामिन सी सीरम काफी चलन में है।
Vitamin E Sources in Hindi– हम यहां आपको विटामिन ई के फायदे, विटामिन इ फूड्स और विटामिन ई फल और सब्जियों सूची के बारे में बता रहे हैं।

07 Feb 2023

Read More

read more articles like this
good points

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text