logo
Logo
User
home / Natural Care
ग्लोइंग और हेल्दी स्किन पाने के लिए अपने डाइट में शामिल करें ये 5 जरूरी विटामिन्स

ग्लोइंग और हेल्दी स्किन पाने के लिए अपने डाइट में शामिल करें ये 5 जरूरी विटामिन्स

 

 

अगर आप तरह-तरह के घरेलू उपाय और स्किन केयर प्रोडक्ट्स आजमा कर थक चुके और आपको निराशा ही हाथ लगी है तो आपको अपनी डाइट में विटामिन्स शामिल करना चाहिए। जी हां, रिसर्च में भी यह बात साबित हुई है की अगर आप विटामिन्स से भरपूर डाइट लेते हैं, तो वे आप की स्किन की हेल्थ के लिए काफी फायदेमंद साबित होती है। स्किन को पोषण देने और एंजिग, एक्ने  जैसी समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए आप अपनी डाइट बदल सकते हैं। इसके लिए बस आपको अपने खान-पान व लाइफस्टाइल में कुछ जरूरी विटामिन्स शामिल करने की जरूरत है। तो आइए जानते हैं कौन-से हैं वो विटामिन्स, जिनकी मदद से पा सकते हैं आप भी ग्लोइंग और हेल्दी स्किन –

विटामिन ए (Vitamin A)

Vitamin A

 

ऑयली स्किन और एंजिग की समस्या से छुटकारा पाना है तो अपने खान-पान में विटामिन ए (Vitamin A) को भी शामिल करना बेहद जरूरी है। खाने में पर्याप्त मात्रा में विटामिन ए शामिल करने से स्किन की इलास्टिसिटी इम्प्रूव होती है, जिससे आपकी स्किन जवां नजर आती है। इसके साथ ही विटामिन ए (Vitamin A) ऑयली स्किन वालों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है। क्योंकि ये विटामिन ऑयल प्रोडक्शन को नॉर्मल करके स्किन को बैलेंस प्रदान करता है। किस विटामिन की कमी से नींद नहीं आती है
विटामन ए के सोर्स
विटामिन ए (Vitamin A) के कई सोर्स हैं जैसे कि अंडा, फोर्टिफाइड अनाज, हरी पत्तेदार सब्जियां, नारंगी, पीली सब्जियां, गाजर, खीरा, चुकंदर, शलजम और ब्रोकल आदि में पाया जाता है।

विटामिन बी 3 (Vitamin B-3) 

Vitamin B-3

विटामिन बी 3 आपकी स्किन की रंगत सुधारने यानि कि उसे इवन टोन करने में बेहद कारगर होता है। इसके अलावा दाग-धब्बों व मुंहासों के प्रभाव को कम कर उससे छुटाकारा दिलाने में मदद करता है। दरअसल विटामिन बी 3 (Vitamin B-3) में एंटी ऑक्सीडेंट गुण होते हैं, जिसकी वजह से ये एजिंग से भी लड़ने में भी सक्षम होता है। ये रोमछिद्रों को बंद होने से रोकने का काम भी करता है, साथ ही स्किन को हाईड्रेट भी रखता है। इससे स्किन हमेशा सॉफ्ट, स्मूद और ग्लोइंग नजर आती है। इसे नियासिन के नाम से भी जाना जाता है।
विटामिन बी 3 के सोर्स
यह विटामिन (Vitamin B-3) फलों सहित सभी पत्तेदार सब्जियों में पाया जाता है। अण्डे की जर्दी, बादाम, अखरोट, चावल, नारंगी, अंगूर, दूध, मक्खन, खमीर, आलू, दही, चना आदि विटामिन बी का मुख्य स्त्रोत है।

विटामिन सी (Vitamin C) 

Vitamin C

यूं तो विटामिन सी पूरे शरीर के लिए लाभदायक होता है लेकिन सबसे ज्यादा फायदेमंद यह त्वचा के लिए होता है। विटामिन सी (Vitamin C) की मदद से त्वचा के डार्क स्पॉट्स, फाइन लाइंस और रिंकल्स न सिर्फ ठीक हो जाते हैं बल्कि जड़ से भी खत्म हो जाते हैं। इसलिए अक्सर डर्मेटोलॉजिस्ट खूबसूरत त्वचा पाने के लिए विटामिन सी सीरम का इस्तेमाल करने के लिए कहते हैं। इसके इस्तेमाल से स्‍किन के काले दाग- धब्‍बे, एक्‍ने, झाइयां, झुर्रियां और निशान दूर हो जाते हैं। यही वजह है कि बहुत सारी एंटी एजिंग क्रीम्स में विटामिन सी होता है। यह सूर्य की अल्ट्रा वायलेट किरणों से भी स्किन की रक्षा करता है। साथ ही ये एजिंग को भी रोकता है। क्योंकि ये कोलाजेन के उत्पादन में सहायक होता है।
विटामिन सी के सोर्स 
विटामिन सी (Vitamin C) पानी में घुलने वाला विटामिन है, जोकि प्राकृतिक रूप से कुछ खाद्य पदार्थों में पाया जाता है। खासतौर पर खट्टे फलों नींबू, संतरा, मौसमी, आंवला, टमाटर आदि। इसके अलावा केला, बेर, सेब, अमरूद, कटहल, पालक, मुनक्का आदि भी विटामिन सी के मुख्य सोर्स हैं।

विटामिन डी (Vitamin D)

Vitamin D

ये बात बहुत कम ही लोग जानते हैं कि यदि शरीर में विटामिन डी की कमी है तो इसका असर आपके स्किन पर भी पड़ता है। जी हां, इस विटामिन की कमी से स्किन बेहद ड्राई हो जाती है और एक्ने व मुंहासे जैसे भी समस्याएं होने लगती हैं। विटामिन डी में एंटी इन्फ्लैमटरी गुण होने के कारन यह स्किन इंजरीज के साथ स्ट्रेच मार्क्स से भी लड़ता है। इसलिए अधिकांश क्रीम्स व लोशन्स में इसका प्रयोग किया जाता है। स्किन से रिलेटेड सोरायसिस नाम की बीमारी में भी विटामिन डी बेहद कारगर है, ये स्किन पर होने वाली जलन, व रेड रैशेज से राहत दिलाता है।
विटामिन डी के सोर्स
विटामिन डी का सबसे मुख्य स्त्रोत धूप है। जी हां, इसीलिए रोजाना 10  से 12  मिनट धूप जरूर से लें। इसके अलावा संतरे का जूस, टुना फिश व डेयरी प्रोडक्ट्स से भी विटामिन डी की कमी पूरी होती है।

विटामिन ई (Vitamin E) 

Vitamin E

विटामिन ई में एंटीऑक्सीटेंड्स पाया जाता है, जो स्किन के लिए बहुत ही ज्यादा जरूरी होता है। त्वचा पर इसका असर किसी जादू से कम नहीं होता। स्किन की ऊपरी परत को पोषण और सुरक्षा देने का काम विटामिन ई (Vitamin E) का होता है। जो लोग अपनी डाइट में नियमित रूप से विटामिन ई के सोर्स को शामिल करते हैं। उनकी स्किन काफी अच्छी होती है। विटामिन ई स्किन में रूखापन आने ही नहीं देता और साथ में झुर्रिर्यो की समस्या को भी दूर करता है। त्वचा के जो टिशू डैमेज हो चुके होते हैं, वे उनकी रिपेयर करता है और नए टिशू पैदा करता है। इसके साथ् ही विटामिन ई सूरज की यूवी किरणों के प्रभाव को रोकता है और स्किन को नुकसान नहीं होने देता। इसी के चलते बाजार में विटामिन ई के कैप्सूल (Vitamin E) भी मिलते हैं, जिन्हें क्रीम में लगाकर इस्तेमाल किया जाता है। अगर त्वचा अत्यधिक रूखी है तो विटामिन ई लगाने और खाने से गजब का बदलाव नजर आएगा। 
विटामिन ई के सोर्स –
बाजार में मौजूद हरी शाक-सब्जियों के साथ यदि आप शाकाहारी भोजन करते हैं तो उससे भी विटामिन ई मिलता है। इसके अलावा विटामिन ई (Vitamin E) बादाम, एवोकैडो, ऑलिव ऑयल, कीवी और टमाटर में भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इसके लिए आप नट्स, विटामिन ई सप्लीमेंट्स ले सकते हैं। 

POPxo की सलाह : सॉफ्ट स्मूद स्किन पाने के लिए ट्राई करें  MYGLAMM  ये शनदार स्किन केयर प्रोडक्ट्स –

20 Oct 2020

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text