home / Fitness
Times When You Should Not Workout In Gym

फिटनेस लवर हैं, तो जान लें कि कब-कब रहना चाहिए वर्कआउट से दूर 

हाल ही में एक्टर सिद्धांत सूर्यवंशी का जिम में वर्कआउट करते हुए कार्डियक अरेस्ट की वजह से निधन हो गया। कार्डियक अरेस्ट का मतलब है दिल का अचानक काम करना बंद कर देना। सिद्धांत जब जिम में कोलैप्स हुए उस वक्त बेंच प्रेस कर रहे थे। जानकारी के अनुसार सिद्धांत की तबियत खराब थी। सुबह 11 बजे जिम में अचानक इस तरह से 46 वर्षीय सिद्धांत के जाने से एक बार फिर इस ओर ध्यान देने की जरूरत समझ में आती है कि जिम के लिए किना बातों का ध्यान रखना चाहिए और किन हालातों में जिम से दूर रहना ही सही होता है।

इस लेख में हम उन पलों के बारे में बताएंगे जब आप सेल्फ केयर के नाम पर जिम में पसीना बहाने की जगह घर पर ज्यादा रिलैक्स करेंगे तो आपकी बॉडी आपको थैंक्यू कहेगी। 

अगर हो फीवर तो न करें वर्कआउट

कई हेल्थ रिपोर्ट के मुताबिक फीवर के समय मांसपेशियां पहले से ही कमजोर हो जाती हैं और ऐसे में वर्कआउट करने से इंजरी होने की संभावना अधिक रहती है। साथ ही शरीर की तापमान अधिक होने की वजह से इस समय वर्कआउट करने से शरीर में डिहाइड्रेशन भी अधिक होता है। वर्कआउट करने में आता है आलस तो अपनाएं ये 5 आदतें

कफ हो तो रहें वर्क आउट से दूर

कफ की शिकायत हो रही हो तो जिम जाने से दूर रहना सबसे अच्छा उपाय है। ऐसा इसलिए कि पहला तो कफ या खांसी के समय बंद जिम में ये संक्रमण दूसरों तक पहुंच सकता है, दूसरा खांसी या कफ में किसी भी तरह का एक्सरसाइज बहुत असहज होता है। साथ ही इस समय चोट लगने का डर भी बना रहता है।

पेट की परेशानियों में भी रहें वर्कआउट से दूर

उल्टी, जी मिचलाना या डायरिया जैसी स्थिति में भी किसी भी तरह के एक्सरसाइज से दूर रहे।  किसी भी तरह की पेट से जुड़ी परेशानी के दौरान शरीर काफी कमजोर रहता है और मांसपेशियां भी कमजोर होती हैं। ऐसे समय में हेवी वर्कआउट बॉडी को ज्यादा डिहाइड्रेट कर देते हैं और ये शरीर को मुकसान पहुंचाने के लिए काफी होता है।

बिना वॉर्म अप के न करें स्ट्रैन्यूअस एक्ससरसाइज

कोई भी हेवी वर्कआउट या जिसमें ज्यादा स्ट्रेंथ लगे ऐसे एक्सरसाइज के पहले वॉर्म अप करना सबसे जरूरी है और इसके बिना कोई भी भारी या अधिक ताकत लगने वाले एक्सरसाइज से बचना चाहिए। डिप्रेशन के लक्षणों को मैनेज करने के लिए ये आसान वर्कआउट टिप्स आएंगी काम

फिटनेस के लिए काम करते हुए अपनी बॉडी के लक्षणों को ध्यान से समझने की कोशिश करें और उसी हिसाब से एक्सरसाइज की इंटेंसिटी का निर्णय लें। और फीवर जैसे हालात में आराम करना ही बेस्ट होगा।

14 Nov 2022

Read More

read more articles like this

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text