home / लाइफस्टाइल
Expert Advice: कम उम्र में अचानक कार्डियक अरेस्ट आने के बारे में आपको जरूर पता होनी चाहिए ये बातें

Expert Advice: कम उम्र में अचानक कार्डियक अरेस्ट आने के बारे में आपको जरूर पता होनी चाहिए ये बातें

युवाओं में अचानक कार्डियक अरेस्ट आना सामान्य नहीं है, लेकिन आज के समय ऐसे कई केस सामने आ रहे हैं। हमारे देश में 25 साल से कम उम्र के कई युवा, स्वस्थ दिखने वाले लोग हर साल अचानक कार्डियक अरेस्ट से मर जाते हैं। इस तरह से कम उम्र में दुनिया से चले जाना उनके परिवार और जानकारों के साथ-साथ हम आम लोगों पर भी बुरा प्रभाव छोड़ती है। लेकिन ऐसे जोखिम कारकों को पहचानने के तरीके हैं जो सडन कार्डिकयक अरेस्ट और हार्ट अटैक को रोकने में मदद कर सकते हैं। आइए जानते हैं डॉ. अपर्णा जसवाल (डायरेक्टर, कार्डियक पेसिंग और इलेक्ट्रोफिजियोलॉजी, फोर्टिस एस्कॉर्ट्स हार्ट इंस्टीट्यूट) से अचानक कार्डियक अरेस्ट और हार्ट अटैक से जुड़ी जरूरी जानकारी के बारे में – 

सडन कार्डियक अरेस्ट क्या है?

सडन कार्डिएक अरेस्ट (SCA) बिना किसी संकेत के होता है, जिससे हमारा दिल पूरी तरह से रुक जाता है। यह एक विद्युत खराबी से उत्पन्न अनियमित दिल की धड़कन के कारण होता है जो हृदय को शरीर में रक्त पंप करने से रोकता है। इस तरह के केस में अगर मिनटों में इलाज न किया जाए तो सडन कार्डियक अरेस्ट जानलेवा साबित हो सकता है। 

सडन कार्डियक अरेस्ट के चेतावनी संकेत क्या हैं?

स्वस्थ युवा लोगों आमतौर पर सडन कार्डिएक अरेस्ट का किसी तरह की चोट या चिकित्सा कारण नहीं होता है जिसके बारे में रोगी या परिवार को पता हो। कुछ युवा जिन्हें सडन कार्डियक अरेस्ट आया हो, उन्हें पहले दिल से संबंधित लक्षणों का अनुभव हो सकता है, जैसे कि सांस लेने में तकलीफ, सीने में दर्द या बेहोशी। ज्यादातर सडन कार्डियक अरेस्ट के केस में पीड़ितों को कभी भी दिल की समस्याओं का कोई लक्षण नहीं दिखा था।

अचानक सडन कार्डियक अरेस्ट कब आ सकता है?

युवा एथलीटों में अचानक कार्डियक अरेस्ट होना मौत का एक प्रमुख कारण माना जाता है, लेकिन यह उन युवाओं को भी प्रभावित करता है जो इस तरह के खेलों में शामिल नहीं हैं। यह जिम में एक्सरसाइज, रनिंग के दौरान या आराम के दौरान या नींद के दौरान भी हो सकता है। 

सडन कार्डियक अरेस्ट को रोकने में मददगार तरीके 

युवा लोगों में सडन कार्डियक अरेस्ट के जोखिम को कम करने के लिए ये कुछ कदम उठा सकते हैं –

  • युवा लोगों को नियमित रूप से चेकअप के लिए डॉक्टर के पास जाना चाहिए।
  • यदि किसी के परिवार में सडन कार्डियक अरेस्ट का मेडिकल हिस्ट्री है तो उन्हें अधिक सावधान रहना चाहिए।
  • नियमित रूप से एक्सरसाइज करना चाहिए। न की कभी-कभी और जरूरत से ज्याद एक्सरसाइज करनी चाहिए।
  • एक स्वस्थ जीवन शैली का पालन करना चाहिए।
  • ज्यादा तनाव नहीं लेना चाहिए।
  • अत्यधिक धूम्रपान और शराब से बचना चाहिए।

COVID-19 आपके दिल को कर रहा है प्रभावित? रिकवरी के बाद जरूर कराएं दिल का चेकअप
हार्ट अटैक के खतरे को कम करने के लिए अपने आहार में इन चीजों को जरूर से करें शामिल
हार्ट अटैक के खतरे को कम करने के लिए अपने आहार में इन चीजों को जरूर से करें शामिल

21 Oct 2022

Read More

read more articles like this

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text