home / Diet
हर महिला को स्वस्थ्य रहने के लिए अपनी डाइट में ज़रूर शामिल करने चाहिए ये 5 फूड

हर महिला को स्वस्थ्य रहने के लिए अपनी डाइट में ज़रूर शामिल करने चाहिए ये 5 फूड

हम महिलाएं दिनभर में क्या कुछ नहीं करतीं। ऑफिस के साथ पूरे घर की ज़िम्मेदारी हम महिलाओं पर होती हैं। सबका ध्यान रखते-रखते कहीं न कहीं हम खुद का ध्यान रखना भूल जाते हैं। या फिर खुद के बारे में हम सबसे आखिर में सोचते हैं। जबकि घर की महिला स्वस्थ रहेगी तो पूरा परिवार स्वस्थ और खुश रहेगा। हर महिला को स्वस्थ व संतुलित आहार लेना चाहिए। कुछ ऐसे फूड हैं, जिन्हें हर महिला को अपने आहार में शामिल करना चाहिए। ये फूड न सिर्फ आपके स्वास्थ्य ले लिए अच्छे हैं बल्कि आपको हर तरह की बीमारियों से भी दूर रखते हैं। 

पालक

 

हो सकता है पालक खाने में सबसे स्वादिष्ट न हो लेकिन पालक में इतने तरह के मिनरल्स और विटामिन होते हैं कि इसे नहीं खाना एक बड़ी गलती होगी। यह मैग्नीशियम से भरपूर है, जो कि पीएमएस PMS के लक्षणों को कम करता है। इसके अलावा पालक हड्डियों को मजबूत बनाता है, ब्लड शुगर कंट्रोल रखता है और अस्थमा के दौरे के खतरे को कम करता है।

फ्लैक्स सीड्स

 

ओमेगा-3 के गुणों से भरपूर फ्लैक्स सीड्स आपके दिल और ब्लड शुगर का ख्याल रखता है। एंटी इन्फ्लेमेट्री प्राॅपर्टीज़ के साथ फ्लैक्स सीड्स रोजाना खाने से आपके स्वास्थ्य के लिए भी बेहतर रहेगा। उसके साथ ही इसमें फाइबर, विटामिन बी कॉम्प्लेक्स, प्रोटीन, पोटैशियम, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, मैंग्नीज, थायामिन और फाइटोएस्ट्रोजन जैसे मिनरल्स भी पाए जाते हैं।

क्रैनबेरी

 

स्वादिष्ट होने के अलावा, क्रैनबेरी वास्तव में आपको हृदय रोग और दांतों की सड़न और एक हद तक यूरिन इन्फेक्शन से बचा सकती है। ऐसा इसलिए क्योंकि यह फाइटोन्यूट्रिएंट्स से भरे होते हैं और उनके एंटीऑक्सिडेंट और एंटी इन्फ्लेमेट्री गुण आपको बीमारियों से बचाते हैं। 

टमाटर

 

भारत में लगभग हर घर में टमाटर खाया जाता है। टमाटर में प्रोटीन, विटामिन, मिनरल्स और फाइबर की भरपूर मात्रा पाई जाती है। यह विटामिन A , विटामिन C, विटामिन E और विटामिन K का बहुत अच्छा स्रोत है। टमाटर को लाल रंग प्रदान करती है, इसमें पाई जाने वाली लाइकोपीन की मात्रा। लाइकोपीन के अलावा इसमें बहुत से एंटीऑक्‍सीडेंट भी होते हैं जो त्‍वचा पर उम्र बढ़ने के निशानों को बढ़ने से रोकते हैं। इन्हीं गुणों के कारण टमाटर एक प्राकृतिक त्‍वचा चिकित्‍सक के रूप में भी काम करता है 

ओट्स

 

आपके दिल के लिए अच्छा होने के अलावा, पाचन में सुधार और रक्तचाप को नियंत्रण में रखते हुए, ओट्स पीएमएस से जुड़े मूड स्विंग को रोकने में भी मदद करता हैं। इसके अलावा यह कोलेस्ट्रॉल को भी कम करता है। 

यह भी पढ़ें
ओट्स और दलिया में क्या फर्क है

POPxo की सलाह: MYGLAMM के ये शनदार बेस्ट नैचुरल सैनिटाइजिंग प्रोडक्ट की मदद से घर के बाहर और अंदर दोनों ही जगह को रखें साफ और संक्रमण से सुरक्षित!

ADVERTISEMENT
06 Feb 2021

Read More

read more articles like this
good points

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text