अगर बात-बात पर खाते हैं 'पेनकिलर' तो हो जाएं सावधान

अगर बात-बात पर खाते हैं 'पेनकिलर' तो हो जाएं सावधान

आजकल की लाइफस्टाइल में हमारा शरीर दिन-भर मशीन की तरह सिर्फ चलता ही रहता है। रात को 8 घंटे की भरपूर नींद मिले, इस बात की भी कोई गारंटी नहीं है। ऐसे में कभी सिर दर्द, पेट दर्द तो कभी शरीर में दर्द होना एक आम बात हो गई है। पहले जहां इस तरह के दर्द से छुटकारा पाने के लिए लोग घरेलू उपचारों का ही सहारा लेते थे, वहीं अब उन सब उपायों की जगह ले ली है एक पेनकिलर (Pain Killer) ने। ज़िंदगी की तेज़ रफ़्तार में हम दर्द को भी तेज़ी से खत्म कर देना चाहते हैं। ऐसे में पेनकिलर सबसे आसान रास्ता लगता है, मगर क्या आप जानते हैं, इसकी आदत आपके लिए कितनी घातक साबित हो सकती है?

पेनकिलर के आदी हैं तो हो जाएं सावधान

एक पेनकिलर हर दर्द की दवा होती है। सिर दर्द से लेकर, कमर दर्द, पेट दर्द, पीठ दर्द, पैर दर्द या किसी भी तरह के दर्द से तुरंत छुटकारा पाने के लिए ज़ेहन में सबसे पहले पेनकिलर का ख्याल ही आता है। हैरान करने वाली बात तो ये है कि मेडिकल स्टोर से पेनकिलर खरीदने के लिए आपको किसी डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन की ज़रूरत भी नहीं पड़ती, मगर ज़रा-ज़रा से दर्द में भी पेनकिलर खाने की आदत आपके लिए बेहद नुकसानदायक हो सकती है। यहां तक कि आपको इसके कुछ घातक परिणाम भी भुगतने पड़ सकते हैं। 

हम आपको यहां ऐसे ही कुछ नुकसानों (Side Effects) के बारे में बता रहे हैं, जिन्हें जानकर आप पेनकिलर खाना कम कर देंगे और इसे सिर्फ ज़रूरत बनाएंगे, आदत नहीं। 

पेट दर्द की शिकायत

आमतौर पर महिलाएं पीरियड्स में होने वाले दर्द से छुटकारा पाने के लिए पेनकिलर का सहारा लेती हैं। कभी-कभी के लिए तो यह ठीक है, लेकिन हर महीने इसकी आदत बना लेना सही नहीं है। पेनकिलर का सेवन ज्यादा करने से पेट में गैस की समस्या हो सकती है। सीने में जलन, खट्टी डकारें और उलटी आने की आशंका भी बढ़ जाती है।

Shutter Stock

लिवर पर प्रभाव

पेनकिलर की आदत हमारे लिवर पर भी बुरा प्रभाव डालती है। अधिक मात्रा में इसका सेवन करने से लिवर के सेल्स टूटने की दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है। इसका सबसे बड़ा लक्षण है, भूख कम लगना। अगर आपको भी भूख कम लगने की समस्या से दो-चार होना पड़ रहा है तो तुरंत डाॅक्टर से सलाह लें।  

वज़न बढ़ने की समस्या

पेनकिलर का ज़रूरत से ज्यादा सेवन आपके वज़न को भी बढ़ा सकता है। अगर आप इसका सेवन करते हैं और अपने वज़न में फर्क महसूस कर रहे हैं तो तुरंत पेनकिलर लेना कम कर दें। साथ ही डॉक्टर से सलाह लेना न भूलें। 

कॉन्सटपिशन या लूज मोशंस

जी हां, ज़रूरी नहीं कि हर बार जिस पेनकिलर को आप खाते हैं, वह आपको हमेशा सूट ही करे। कई बार इसकी वजह से आपको कॉन्सटपिशन या लूज मोशंस का सामना भी करना पड़ सकता है। 

खाली पेट तो कभी नहीं

खाली पेट पेनकिलर लेने से शरीर में गैस या एसिडिटी बहुत अधिक बढ़ सकती हैं, जिससे तबियत और ज्यादा बिगड़ने की आशंका रहती है, इसलिए हमेशा पेनकिलर लेने से पहले थोड़ी डाइट जरूर लें।  

Shutter Stock

(आपके लिए खुशखबरी! POPxo शॉप आपके लिए लेकर आए हैं आकर्षक लैपटॉप कवर, कॉफी मग, बैग्स और होम डेकोर प्रोडक्ट्स और वह भी आपके बजट में! तो फिर देर किस बात की, शुरू कीजिए शॉपिंग हमारे साथ।) .. अब आएगा अपना वाला खास फील क्योंकि Popxo आ गया है 6 भाषाओं में ... तो फिर देर किस बात की! चुनें अपनी भाषा - अंग्रेजीहिन्दीतमिलतेलुगूबांग्ला और मराठी.. क्योंकि अपनी भाषा की बात अलग ही होती है।