home / पैरेंटिंग
न्यू मॉम के लिए विटामिन-सी

वर्किंग हो या हाउस वाइफ, न्यू मॉम की साफ और बेदाग त्वचा के लिए विटामिन-सी है अहम

शिशु के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए प्रेग्नेंट और ब्रेस्टफीडिंग कराने वाली महिलाओं को कई तरह के खाने की चीजों से परहेज करना पड़ता है। यही नहीं स्किन केयर प्रोडक्ट्स के प्रति भी इन्हें काफी सजग रहने की जरूरत होती है। विटामिन-सी एक ऐसा इंग्रीडिएंट है, जिसका प्रेग्नेंसी और ब्रेस्टफीडिंग दोनों ही स्थितियों में त्वचा के लिए इस्तेमाल सुरक्षित माना जाता है।  इसलिए, इस लेख में न्यू मॉम के लिए विटामिन-सी की महत्ता के बारे में जानेंगे। 

रेटिनॉल्स, हाइड्रोक्यिनोन, बेलोजिल पैराक्साइड, सैलिसिलिक एसिड आदि ये कुछ ऐसे नाम हैं, जिनसे गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को कोसों दूर रहने के लिए कहा जाता है। ऐसे में प्रेग्नेंट और न्यू मॉम्स को होने वाली  स्किन संबंधित परेशानियों को 

साथ ही जानेंगे कि कैसे इसे अपने स्किन केयर रूटीन का हिस्सा बनाएं। तो चलिए शुरू करते हैं लेख…

न्यू मॉम के लिए विटामिन-सी कैसे फायदेमंद है?

न्यू मॉम के लिए विटामिन-सी
त्वचा के लिए विटामिन-सी

त्वचा के लिए विटामिन-सी के कई सारे फायदे हैं। इसे एल-एस्कॉर्बिक एसिड भी कहा जाता है। यह एक महत्वपूर्ण एंटीऑक्सीडेंट है जो त्वचा में सुधार करने के लिए जाना जाता है। यह त्वचा को हाइड्रेट करने के साथ एजिंग के लक्षणों को कम करने में अहम भूमिका निभाता है।

स्किन केयर रूटीन में विटामिन-सी को शामिल करने से त्वचा जवां और चमकदार होती है। यह त्वचा को सूरज की हानिकारक किरणों व फ्री रेडिकल्स से होने वाले नुकसान से भी सुरक्षा प्रदान करता है। विटामिन-सी के इन फायदों को देखते हुए गर्भवती व न्यू मॉम्स के लिए अपनी त्वचा को पैंपर करने के लिए यह एक बेहतर विकल्प है।

न्यू मॉम्स के लिए विटामिन-सी युक्त प्रोडक्ट्स

जैसा कि लेख में ऊपर आपने जाना कि डिलीवरी के बाद महिलाएं किसी भी स्किन केयर प्रोडक्ट का चयन नहीं कर सकती हैं। उन्हें स्किन केयर प्रोडक्ट्स में मौजूद कई इंग्रिडिएंट्स से दूरी बनाकर रखनी होती है। इसलिए बेहतर होगा कि प्रेग्नेंट और न्यू मॉम उनके लिए तैयार की गई स्किन केयर रेंज का ही इस्तेमाल करें। इससे संबंधित अधिक जानकारी के लिए चाहें तो आप त्वचा विशेषज्ञ से भी कंसल्ट कर सकती हैं। चलिए जानते हैं न्यू मॉम्स के लिए विटामिन-सी प्रोडक्ट्स के बारे में…

1. विटामिन-सी युक्त फेसवॉश

न्यू मॉम के लिए विटामिन-सी
फेस वॉश

चेहरे से गंदगी व ऑयल को साफ करने के लिए फेसवॉश की जरूरत होती है। दिन में दो बार सुबह और रात को सोने से पहले फेसवॉश करने की नसीहत दी जाती है। ऐसे में न्यू मॉम त्वचा को साफ करने के लिए साधारण फेसवॉश की जगह विटामिन-सी युक्त फेसवॉश का इस्तेमाल करें।

न्यू मॉम की त्वचा की जरूरत के हिसाब से ‘द मॉम्स को’ का नेचुरल विटामिन-सी फेसवॉश उपयोगी हो सकता है। डर्मेटोलॉजिस्ट टेस्टेड इस फेसवॉश का इस्तेमाल न्यू मॉम्स के लिए सुरक्षित है। विटामिन-सी के अलावा इस बनाने के लिए इसमें फेरुलिक एसिड, स्कवालेन और संतरे के छिलके का उपयोग किया गया है।

2. विटामिन-सी युक्त फेस सीरम

न्यू मॉम्स की त्वचा पर दाग-धब्बे व पिगमेंटेशन की समस्या काफी आम है। इन्हें हल्का करने व फोटोएजिंग के प्रभाव को कम करने के लिए विटामिन-सी युक्त सीरम को बेहतरीन माना जाता है। यह न सिर्फ त्वचा पर बढ़ती उम्र के लक्षणों से बचाव करता है। साथ ही त्वचा को रिपेयर कर त्वचा की रंगत में सुधार करने में भी अहम भूमिका निभाता है।

न्यू मॉम्स यदि अपने लिए बेहतर विटामिन-सी युक्त सीरम की तालाश कर रही हैं, तो उनके लिए ‘द मॉम्स को’ द्वारा तैयार किया गया नेचुरल एडवांस फेस सीरम बेस्ट चॉइस हो सकता है। इसमें विटामिन-सी के साथ स्कवालेन और लीकोरिस रूट का प्रयोग किया गया है। 

3. मॉइश्चराइजर

विटामिन-सी युक्त फेसवॉश और सीरम के बाद एक प्रोडक्ट ओर है जिसे आप अपने स्किन केयर रूटीन में शामिल कर सकती हैं। ये है मॉइश्चराइज। त्वचा को हाइड्रेट रखने के लिए इसकी खास जरूरत होती है। यह त्वचा की ड्राइनेस को दूर कर सॉफ्ट और ग्लोइंग बनाता है।

न्यू मॉम्स के लिए ‘द मॉम्स को’ की नेचुरल विटामिन फेस क्रीम का चुनाव करना बेहतर होगा। इसे बनाने के लिए टॉक्सिन, सल्फेट, पैराबींस आदि का इस्तेमाल नहीं किया गया है। 

तो हमारे इस लेख में आपने जाना कि न्यू मॉम्स की त्वचा के लिए विटामिन-सी कितना जरूरी है। साथ ही यहां न्यू मॉम अपने स्किन केयर रूटीन में विटामिन-सी युक्त प्रोडक्ट्स को कैसे शामिल करें, यह भी बताया गया है। उम्मीद करते हैं इस लेख को पढ़ने के बाद प्रसव के बाद त्वचा संबंधित होने वाली परेशानियों से आपको राहत मिलेगी।

चित्र स्रोत: Freepik

07 Jun 2022

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text