Advertisement

ब्यूटी

क्या होता है एसिड स्किनकेयर, जानें इसके बारे में सबकुछ

Megha SharmaMegha Sharma  |  Jul 26, 2021
Skin Care Routine for Dry Skin, ड्राई स्किन का ख्याल

आज के समय में स्किनकेयर गेम पूरी तरह से बदल गया है। आमतौर पर विदेशों में जो ट्रेंड हुआ करता था वो भारत में 2-3 साल बाद पहुंचता था और आज के समय में लेटेस्ट ट्रेंड है एसिड्स और सीरम। हालांकि, जब हम एसिड के बारे में सुनते हैं तो हम थोड़ा घबरा जाते हैं लेकिन आप बिल्कुल भी परेशान मत होइए क्योंकि बहुत से अलग-अलग स्किन केयर एसिड आज के समय में आपको मार्केट में मिल जाएंगे और आज हम इसके बारे में आपको विस्तार से बताने वाले हैं। 

अपने स्किनकेयर रूटीन में कैसे करें एसिड को शामिल

Skincare

एसिड का मुख्य रूप से त्वचा को एक्सफोलिएट करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है और यदि आप इसे सही तरह से करते हैं तो शायद आपकी त्वचा पर दोबारा एक्ने की समस्या नहीं होगी क्योंकि इससे आपके स्किन पोर्स स्मूद होंगे और साफ भी होंगे। हालांकि, यदि आप एसिड को गलत तरीके से लेयर करती हैं तो इसके नकारात्मक प्रभाव हो सकते हैं। ऐसे में एक्सफोलिएट करने के दो तरीके होते हैं, एक केमिकल और एक मैनुअल। 

मैनुअल में आप अपने सामान्य स्क्रब से एक्सफोलिएट करते हैं। हालांकि, आज के समय में केमिकल जैसे कि AHAs, BHAs, PHAs आदि केमिकल ने इनकी जगह ले ली है और इन्हें इस्तेमाल करना भी आसान है लेकिन कई बार ये थोड़ा ट्रिकी होता है।

स्किन के लिए कौन-कौन से एसिड होते हैं

एसिड को अलग-अलग स्किन प्रॉब्लम जैसे कि ब्लैकहेड्स, व्हाइटहेड्स, हाइपरपिगमेंटेशन, ब्रेकआउट और ब्लॉक पोर्स आदि के लिए डिजाइन किया जाता है। इनमें से सबसे अधिक स्किन फ्रेंडली एसिड AHAs और BHAs होते हैं। 

अल्फा हाइड्रोक्सी एसिड AHAs

ये एक्सफोलिएंट्स त्वचा की बाहरी परत के लिए होते हैं। ये डेड स्किन सेल्स को हटाने में मदद करता है। ये वॉटर सॉल्यूबल होते हैं और ड्राई, फ्लेकी या फिर एजिंग त्वचा पर काम करते हैं। ये पोर्स को साफ करते हैं और हाइपर पिगमेंटेशन होने से बचाते हैं। ये प्रोसेस आपकी त्वचा को ब्राइटन करता है और साथ ही त्वचा को साफ भी करता है। 

बेटा हाइड्रोक्सी एसिड BHAs

ये ऑयल सॉयल्यूबल्स होते हैं और इस वजह से त्वचा को अंदर तक अच्छी तरह से एक्सफोलिएट करते हैं। ये आपकी त्वचा को ब्रेकआउट से भी बचाता है और साथ ही इंफ्लामेशन को भी घटाता है। इनमें से कुछ BHAs में सैलिक्लिक एसिड और बीटेन सैलिलाइट भी होता है। 

BHAs और AHAs का साथ में करें इस्तेमाल

हां, इनका एक साथ इस्तेमाल किया जा सकता है लेकिन ये अलग-अलग त्वचा पर अलग-अलग असर कर सकता है। कुछ त्वचा पर दोनों का साथ में इस्तेमाल करने से आपको इरिटेशन महसूस हो सकती है। ऐसे में यदि आपकी स्किन ड्राई हो जाए, या सेंसिटिव हो जाए या फिर लाल हो जाए तो आपको केवल एक ही केमिकल का इस्तेमाल करना चाहिए। 

हालांकि, यदि आपकी स्किन ऑयली है तो आप दोनों का साथ में इस्तेमाल कर सकती हैं और ये आपकी स्किन पर बहुत ही अच्छे से काम करेगा।

ऐसे करें लेयर

Skin Care Routine for Dry Skin, ड्राई स्किन का ख्याल

केमिकल को लेयर करना पूरी तरह से pH लेवल पर निर्भर करता है। यदि आपके प्रोडक्ट का pH लेवल कम है तो अंत में आपको कुछ ऐसा चाहिए जिसका pH लेवल ज्यादा हो। यदि आप इसका उलट करते हैं तो पहले आपकी त्वचा का pH लेवल बढ़ जाएगा और जिसका pH लेवल कम है वो आपकी स्किन के pH लेवल को सामान्य करने में मदद करेगा। ये आपकी त्वचा को बेहतर नहीं बनाएगा और इस वजह से इसका इस्तेमाल करने का कोई फायदा नहीं है। 

इस वजह से हमेशा BHA के साथ शुरू करें और फिर AHA का इस्तेमाल करें। BHAs का pH लेवल 3.5 होता है और AHAs का pH लेवल 4 होता है। 

AHA/BHA का विटामिन सी के साथ इस्तेमाल करना

ऐसा कभी भी ना करें। विटामिन सी खुद एक एक्सफोलिएटिंग एजेंट होता है और इस वजह से आपको इसे किसी एसिड के साथ मिक्स नहीं करना चाहिए। इससे आपकी स्किन पर इरिेटेशन हो सकती है और साथ ही ये विटामिन सी के असर को खत्म कर सकता है। साथ ही यदि आप सही में इनका इस्तेमाल करना चाहते हैं तो आपको ऐसा सीक्वेंस में करना चाहिए। सबसे पहले विटामिन सी, BHA और अंत में AHA।