खरबूजा खाने के फायदे सेहत और त्वचा के लिए - Kharbuja Khane ke Fayde

Kharbuja ki Taseer Kaisi Hoti Hai

फल अगर खाने के साथ- साथ खूबसूरत भी हो, तो उसे देखते ही भूख बढ़ जाती है। फलों में अपनी खूबसूरती के लिए विख्यात खरबूजा, एक ऐसा ही फल है, जिसका पीला- खूबसूरत रंग अपनी ओर खूब आकर्षित करता है। तरबूज और खरबूजा के नाम एक- दूसरे से काफी मिलते- जुलते हैं, इसलिए आमतौर पर इन दोनों को एक ही परिवार का माना जाता है। लेकिन स्वाद ही नहीं, बल्कि गुणों के मामले में भी दोनों एक- दूसरे से बिल्कुल अलग हैं।

खरबूजा, जिसे अंग्रेजी में मस्कमेलन (Muskmelon) कहते हैं, गर्मी से निजात दिलाने वाला एक शानदार फल है। इसमें भरपूर मात्रा में पानी, खनिज, विटामिन और फाइबर होते हैं। खरबूजे से बनी आइसक्रीम, शेक्स और स्वीट डिशेज़ को भी काफी पसंद किया जाता है। केंटालूप भी खरबूजे का ही एक रूप है। खरबूजा अपनी खुशबू से काफी आकर्षित करता है। यह स्वाद में मीठा होता है। खरबूजा और खरबूजे के बीज की तासीर ठंडी होती है। भारत में खरबूजे का उत्पादन सबसे अधिक उत्तर प्रदेश में होता है। इसके अलावा पंजाब और आंध्र प्रदेश में भी खरबूजा बहुतायत मिलता है। इसके उत्पादन के लिए अधिक तापमान की आवश्यकता होती है। पोषक तत्वों के साथ ही यह स्वास्थ्यवर्धक तो है ही, कई रोगों से निजात पाने में भी इससे मदद मिलती है। तो आइए, आज हम आपको खरबूजा और उसके गुणों (kharbuje ke fayde) से अवगत कराते हैं। साथ ही उससे बनने वाली स्वादिष्ट डिश के बारे में भी बतायेंगे।

Table of Contents

    खरबूजे के पोषक तत्व - Muskmelon Nutrients in Hindi

    खरबूजे में प्रचुर मात्रा में विटामिन ए और विटामिन सी होता है। इसके अलावा इसमें कॉपर, आयरन, पोटैशियम, मैग्नीशियम, कैल्शियम और विटामिन बी के साथ थायमिन, नियासिन, फोलेट, पायरोडॉक्सिन भी पाये जाते हैं, जो कि काफी पौष्टिक होते हैं। यही नहीं, तरबूज की तरह इसमें भी सिटरुलिना नामक तत्व होता है, जो मांशपेशियों के लिए बेहतरीन माना जाता है। इसमें फैट या कोलेस्ट्रॉल बिल्कुल भी नहीं होता है। सिर्फ खरबूजा ही नहीं, इसके बीज में भी कई प्रकार के खनिज और विटामिन होते हैं। खरबूजे के बीज के फायदे अत्यंत लाभकारी हैं। बीज में विशेषकर ओमेगा 3 फैटी एसिड होते हैं। आइए स्वास्थ्य के लिए खरबूजे के फायदे जानें।

    खरबूजे के स्वास्थ्य संबंधी लाभ - Kharbuje ke Fayde

    वजन नियंत्रण - Control Weight

    खरबूजे की यह खासियत होती है कि इस फल में बिल्कुल भी फैट या कोलेस्ट्रॉल नहीं होता है। इसकी वजह से इसमें कैलोरी काफी कम होती है। साथ ही इसमें पाये जाने वाले फाइबर, पानी, खनिज, विटामिन इसे उचित आहार बनाते हैं, जिसके उपयोग से पोषक तत्व तो भरपूर मिलते हैं लेकिन वजन बिल्कुल नहीं बढ़ता है।

    ऐसे में डायटीशियन भी सलाह देते हैं कि अगर आप वजन कम करने की कोशिश कर रहे हैं तो इसे बेफिक्र होकर खा सकते हैं। खरबूजा खाने के फायदे (kharbuja khane ke fayde) में से एक यह है कि इसे खाने के बाद जल्दी भूख नहीं लगती है और वजन कम करने में भी मदद मिलती है। इसमें मौजूद पोटैशियम भी वजन कम करने में सहायक होता है।

    गुर्दे की पथरी - Kidney Stone

    खरबूजा के बारे में कम लोगों को ही यह जानकारी होगी, कि अगर आपके गुर्दे में पथरी है (किडनी स्टोन) तो आपको निश्चित तौर पर खरबूजा खाना चाहिए। इसमें मौजूद पानी और लाभदायक खनिज की अच्छी मात्रा होने के कारण यह किडनी को स्वस्थ रखता है। हां, यह सच है कि खरबूजा खाने से आपको लगातार शौच के लिए जाना पड़ सकता है। लेकिन शौच के माध्यम से ही गुर्दे की सफाई होती है। इससे शरीर से विषैले तत्व तो निकलते ही हैं, पथरी की परेशानी भी खत्म हो जाती है। यह फल इतना लाभकारी है कि यह यूरिन इन्फेक्शन से भी बचाता है।

    ब्लड प्रेशर - Blood Pressure

    खरबूजे में पाया जाने वाला पोटैशियम इलेक्ट्रोलाइट बैलेंस बनाये रखने में सहायक होता है। इस वजह से ब्लड प्रेशर नियमित बना रहता है।

    खुबानी के स्वास्थ्य लाभ (Health Benefits of Apricot)

    हृदय रोग - Heart Disease

    खरबूजा एक ऐसा बेहतरीन फल है कि हर तरह की बीमारियों के मरीज इसका सेवन कर सकते हैं। दरअसल, खरबूजा में पाये जाने वाला तत्व खून में होने वाले जमाव (क्लॉट) को रोकता है। क्लॉट बनने के कारण हृदय को नुकसान पहुंच सकता है। खरबूजे से ब्लड प्रेशर कंट्रोल में होता है, जिसकी वजह से आपका दिल भी हेल्दी रहता है। यह आर्टरी को लचीला बनाये रखने में भी सहायक होता है।

    मधुमेह - Diabetes

    मधुमेह के मरीजों के साथ सबसे बड़ी परेशानी यह आती है कि उनके डाइट में कई चीजें उन्हें खाने से रोकी जाती है। ऐसे में उनके लिए भी खरबूजा किसी वरदान से कम नहीं है। इसमें मौजूद फाइबर के कारण मधुमेह में यह फल लाभदायक है। यह शुगर की वजह से किडनी को होने वाले नुकसान से बचाता है। इसमें जो मिठास होती है, वह आसानी से पचने वाली होती है, जो मधुमेह के रोगियों के लिए नुकसानदेह नहीं होती है। इसका ग्लाइसेमिक इंडेक्स भी कम होता है। लेकिन फिर भी जरूरी है कि इससे पहले डॉक्टर से सलाह ले ली जाये।

    जानिए अश्वगंधा कैसे रखता है आपके स्वास्थ्य का ख्याल

    कब्ज और अल्सर - Constipation and Ulcer

    फाइबर और पानी से युक्त होने के कारण खरबूजा कब्ज मिटाने में भी मददगार होता है। गर्मी के दिनों में इसका सेवन जरूर करना चाहिए। यह शरीर को ठंडक देता है। पेट के अल्सर होने पर भी इसका उपयोग लाभकारी है। साथ ही खरबूजा एसिड रिफ्लक्स की समस्या से भी निदान पाने के लिए लाभदायक होता है। खरबूजा खाने से एसिडिटी की परेशानी कम हो जाती है।

    गर्भावस्था - Pregnancy

    गर्भवती महिलाएं अपने खान- पान के प्रति बेहद सचेत रहती हैं। ऐसे में खरबूजा में पाये जाने वाला आयरन मां और बच्चे, दोनों के लिए जरूरी होता है। इसकी वजह यह है कि इसे खाने से शरीर से सोडियम की मात्रा को कम करने में मदद मिलती है। इसमें पाये जाने वाले विटामिन बच्चे को जन्म के समय होने वाली परेशानियों से बचाते हैं। गर्भावस्था में खरबूजे का सेवन मॉर्निंग में होने वाले आलस्य को भी दूर भगाने में सहायक होता है। इसलिए प्रेगनेंसी में खरबूजे का सेवन करना (pregnancy me kharbuja khana chahiye) अति लाभदायक है।

    नींद की बीमारी दूर भगाने में सहायक

    खरबूजे में मिलने वाले तत्व दिमाग की नसों में होने वाले तनाव को कम कर अनिद्रा जैसी समस्या को दूर करने में सहायक होते हैं। खरबूजा खाने से दिमाग को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन मिलती है। इससे दिमाग शांत और तनाव मुक्त होता है। यह दिमाग की शक्ति और स्मरण शक्ति में वृद्धि करता है।

    माहवारी - Menstruation

    खरबूजे में पाये जाने वाला विटामिन सी माहवारी के समय होने वाली तकलीफ को कम करता है। इसका पोटैशियम शरीर से अतिरिक्त सोडियम को कम करता है। इससे अधिक रक्तस्राव में कमी आती है और क्लॉट की भी परेशानी नहीं होती है।

    कैंसर - Cancer

    चूंकि खरबूजे में प्रचुर मात्रा में विटामिन सी होता है, यह एक बेहतरीन एंटीऑक्सीडेंट भी है, जो हानिकारण फ्री रैडिकल्स के दुष्प्रभाव से रक्षा करता है। फ्री रैडिकल कैंसर जैसे गंभीर रोग का कारण बनते हैं। इसमें पाये जाने वाले फ्लेवोनॉइड्स और केराटिनॉइड कैंसर विरोधी तत्व भी होते हैं, जो कैंसर से बचाते हैं।

    आंखों के लिए बेस्ट - Good for Eyes

    खरबूजा में पाया जाने वाला विटामिन ए आंखों के लिए अच्छा होता है। यह आंखों के मेक्यूला को नष्ट होने से बचाता है। इसके सेवन से नजर कमजोर नहीं होती है और मोतियाबिंद जैसी समस्या को भी यह दूर रखता है।

    प्रतिरोध क्षमता

    विटामिन सी की प्रचुर मात्रा होने के कारण खरबूजे का सेवन प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि करता है। यह संक्रमण से भी बचाता है।

    बालों के लिए बादाम के फायदे

    थकान भगाए दूर

    जी हां, खरबूजे की यह खासियत होती है कि इसमें मौजूद विटामिन बी शरीर में ऊर्जा बनाये रखने में महत्वपूर्ण होता है और वह आपके जीवन से थकान को खत्म कर आपको ऊर्जावान बना देता है।

    त्वचा निखर उठेगी

    खरबूजे में इतने प्राकृतिक और पोषक तत्व हैं कि यह त्वचा के लिए भी काफी अच्छा होता है। यही वजह है कि इसका इस्तेमाल कई ब्यूटी प्रोडक्ट्स में होता है। खरबूजे में त्वचा को निखारने वाले सभी प्रकार के तत्व मौजूद होते हैं, जो त्वचा को प्राकृतिक सुंदरता देते हैं और ग्लोइंग भी बनाते हैं। यह त्वचा को बढ़ती उम्र के प्रभाव से भी बचाता है। इससे त्वचा का रूखापन मिटता है और दाग- धब्बों व मुंहासों से भी निजात मिलती है। फेस मास्क बनाने के लिए भी खरबूजे का इस्तेमाल किया जाता है।

    बालों की खूबसूरती - Beautiful Hair

    प्रोटीन और विटामिन होने के कारण खरबूजा न सिर्फ बालों को, बल्कि नाखूनों को भी मजबूत बनाता है। यह सिर की त्वचा और बाल, दोनों को हेल्दी बनाये रखता है। इसका नियमित सेवन करने से बाल गिरने कम हो जाते हैं। खरबूजे के गूदे को पीस कर सिर और बालों पर कंडीशनर के तौर पर लगाया जा सकता है।

    खरबूजा खाते वक्त इन बातों का रखें ख्याल

    यह भी सच है कि हर फल की अपनी खूबी होती है लेकिन कुछ नुकसान भी होते हैं। खरबूजे के साथ भी यह बात लागू होती है। डॉक्टर हमेशा सलाह देते हैं कि खरबूजे को एक बार में अधिक मात्रा में नहीं खाना चाहिए। जब भी खरबूजा को काटा जाये, उसे धोकर ही काटना चाहिए वरना छिलके की गंदगी गूदे को खराब कर सकती है। एक बात का खास ख्याल रखना भी जरूरी है कि जरूरत से ज्यादा पका हुआ, पिलपिला खरबूजा नुकसानदेह भी हो सकता है। इसे नहीं खाना चाहिए। खरबूजे के सेवन को लेकर इस बात का भी ख्याल रखें कि खरबूजा भोजन करने के लगभग दो घंटे बाद ही खाएं।

    खरबूजे से बनने वाली स्वादिष्ट रेसिपी - Muskmelon Recipes in Hindi

    खरबूजे का हलवा

    यूं तो आमतौर पर खरबूजा पूरी तरह से फ्रेश भी खाया जा सकता है लेकिन इससे बनने वाली डिशेज़ भी काफी स्वादिष्ट होती हैं। खरबूजा का उपयोग शेक, आइसक्रीम और उसका हलवा बनाने में भी किया जा सकता है। यहां आपको खरबूजा के हलवा की रेसिपी बताते हैं। 

    सामग्री :
    आधा कप सूजी, दो कप खरबूजा (टुकड़ों में कटा हुआ), आधा कप नारियल का बूरा, एक टेबलस्पून इलायची पाउडर, बारीक कटा हुआ काजू, बादाम और किशमिश, चार बड़े चम्मच बूरा शक्कर, 100 ग्राम घी

    विधि :
    धीमी आंच पर एक गहरी कड़ाही में सूजी को सुनहरा होने तक भून लें। फिर इसमें खरबूजे के टुकड़े, नारियल का बूरा, इलायची पाउडर और चीनी डाल कर अच्छी तरह से चलाते हुए मिक्स करें, जब तक कि खरबूजे का पानी पूरी तरह से सूख न जाये। पानी के पूरी तरह से सूख जाने पर इसमें घी मिलाएं और फिर चलाते हुए पकाएं। हलवा जब घी छोड़ने लगे, तब समझ जायें कि यह तैयार हो चुका है और आंच बंद कर दें। खरबूजे के हलवे को एक बर्तन में निकाल कर इसे काजू, बादाम और किशमिश से गानिश कर सर्व करें। लोग उंगलियां चाटते रह जायेंगे। 

    जानिए खरबूजे के उपयोग को लेकर पूछे जाने वाले सवाल - FAQ's

    मुझे जानना है कि क्या मधुमेह में खरबूजा का सेवन किया जा सकता है, कई लोग कहते हैं कि इसमें मीठा अधिक होता है?

    मधुमेह के मरीजों को इसे खाने की राय दी जाती है। इसमें गुड शुगर होता है और कैलोरी तो बिल्कुल भी नहीं होती है।

    क्या वजन कंट्रोल करने के लिए इसे खाया जा सकता है?

    डायटीशियन तो फलों में खरबूजा को बहुत लाभदायक मानते हैं। उनका मानना है कि इससे वजन कंट्रोल हो सकता है क्योंकि इसमें फाइबर होता है। 

    मैंने सुना है कि प्रेग्नेंसी के दौरान इसका अधिक सेवन नहीं किया जाना चाहिए?

    इस सवाल का जवाब यही है कि अति किसी भी चीज की बुरी होती है। ऐसा नहीं है कि इसका सेवन प्रेग्नेंसी में नहीं कर सकते। इसमें मौजूद विटामिन बच्चे को जन्म के समय होने वाली परेशानियों से बचाते हैं। हालांकि इस दौरान आपको अपने डॉक्टर की सलाह पर ही चलना चाहिए। कुछ डॉक्टर्स सलाह देते हैं कि खरबूजा अगर हजम न हो तो इसे प्रेग्नेंसी के दौरान नहीं खाना चाहिए।

    खरबूजे का फेस मास्क कैसा होता है?

    यह बेहतरीन होता है और इसके इस्तेमाल से चेहरे की नमी बनी रहती है। चेहरा खिला- खिला और खूबसूरत नजर आता है। घर पर भी आप इसका गूदा निकाल कर हनी के साथ मिला कर मास्क बना सकती हैं।

    खरबूजा खाने का सबसे सही वक्त क्या है और इसे खाने से पहले किन बातों का ख्याल रखना चाहिए?

    यह बेहद जरूरी है कि आप इस बारे में जानें। खरबूजा खाली पेट नहीं खाना चाहिए। खाने के बीच के वक्त में इसे खाना अच्छा होता है, मतलब दो मील के अंतराल में। खाली पेट खरबूजा खाने से आपको एबडोमन में पित्त संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। खाने से दो घंटे पहले इसका सेवन करें। रात में खरबूजा न ही खाएं। 

     

    ... अब आयेगा अपना वाला खास फील क्योंकि Popxo आ गया है 6 भाषाओं में ... तो फिर देर किस बात की! चुनें अपनी भाषा - अंग्रेजी, हिन्दी, तमिल, तेलुगू, बांग्ला और मराठी.. क्योंकि अपनी भाषा की बात अलग ही होती है।

    बेर के ब्यूटी बेनिफिट्स