लॉकडाउन में एक्ट्रेस बिदिता बाग से सीखिए रसगुल्ले बनाने की आसान रेसिपी

लॉकडाउन में एक्ट्रेस बिदिता बाग से सीखिए रसगुल्ले बनाने की आसान रेसिपी

कोरोनावायरस के कहर से निपटने के लिए देशभर में 40 दिन के लॉकडाउन की घोषणा की गई है। जहां कुछ लोग लॉकडाउन, सेल्फ आइसोलेशन और क्वारंटाइन जैसे शब्दों को सुनकर ही घबरा रहे हैं, वहीं कुछ ऐसे भी लोग हैं जो इस समय अपनी क्रिएटिविटी में चार चांद लगा रहे हैं।

द स्ट्रॉन्ग शोले गर्ल

बॉलीवुड एक्ट्रेस बिदिता बाग (Bidita Bag) ने पीरियड ड्रामा फिल्म ‘द शोले गर्ल’ में इंडिया की फर्स्ट स्टंट वुमन रेशमा पठान का किरदार निभाया था। इस किरदार ने उन्हें ‘बाबूमोशाय बंदूकबाज’ से भी ज्यादा लोकप्रिय बना दिया था, जिसमें वे नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी के साथ नज़र आई थीं। एक्ट्रेस बिदिता बाग पिछले 10 सालों से मुंबई के अंधेरी वेस्ट इलाके में स्थित अपने अपार्टमेंट में अकेले रह रही हैं।

जहां सभी लॉकडाउन से घबरा रहे हैं, वहीं वे इस समय को अपनी आर्टिस्टिक स्किल्स को शार्प करने में गुज़ार रही हैं। सभी की तरह घबराहट उन्हें भी बेशक हो रही है क्योंकि किसी को भी फिलहाल अगले पल का अंदाज़ा नहीं है मगर वे खुद को बखूबी संभाल रही हैं।

व्यस्त रहने के बहाने हज़ार

इन दिनों बिदिता बाग को देखकर लगता है कि अगर सभी इनकी तरह खुद को व्यस्त रख लें तो शायद यह समय बहुत जल्दी और आराम से कट जाएगा। कुछ दिनों पहले ग्रॉसरी आइटम्स खत्म हो जाने पर उन्होंने दाल-चावल खाकर भी अपना काम चलाया था पर अब वे फिर से न सिर्फ अपने किचन में नए एक्सपेरिमेंट्स कर रही हैं, बल्कि अपने सोशल मीडिया फॉलोअर्स को डिशेज़ बनाने का आइडिया भी दे रही हैं।

हाल ही में उन्होंने बंगाली नववर्ष के मौके पर रसगुल्ले बनाए थे। रसगुल्ले बनाने की सामग्री बताने के साथ ही उन्होंने फोटोज़ के द्वारा स्टेप बाई स्टेप उसकी रेसिपी भी समझाई थी।

गार्डनिंग और एक्सरसाइज़ है ज़रूरी

बिदिता बाग अंधेरी वेस्ट के अपने खूबसूरत अपार्टमेंट की सजावट का खास ध्यान रखती हैं। वे खुद को प्रकृति के करीब महसूस करना पसंद करती हैं और इसीलिए अपने घर पर कई वरायटी के पौधे लगा रखे हैं। वे खुद ही इनका ख्याल रखती हैं और इसके लिए उन्होंने दिन का कुछ समय गार्डनिंग (gardening) के लिए नियत कर रखा है।

गार्डनिंग और कुकिंग के अलावा वे खुद को फिट बनाए रखने में भी कोई कसर नहीं छोड़ रही हैं।

रोज़ाना एक्सरसाइज़ करने के साथ ही वे ‘आज’ में रहने की भरपूर कोशिश कर रही हैं। उन्होंने बताया कि इतने सालों से फोकस सिर्फ फ्यूचर पर था, मगर अब मैंने आज में रहना शुरू कर दिया है।