home / लाइफस्टाइल
5 साल से छोटे बच्चों के लिए मास्क जरूरी नहीं, केंद्र सरकार ने जारी की नई कोरोना गाइडलाइंस

5 साल से छोटे बच्चों के लिए मास्क जरूरी नहीं, केंद्र सरकार ने जारी की नई कोरोना गाइडलाइंस

देशभर में कोरोना का कहर जारी है। यह एक ऐसा संक्रमण बन गया है जिसके नये-नये वैरिएंट आ रहे हैं और जल्दी खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। ऐसे में कोरोना से बचने के लिए खुद की सेफ्टी बेहद जरूरी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने नई गाइडलाइंस में खासतौर पर बच्चों के मास्क प्रोटोकॉल को स्पष्ट किया है। इस नई गाइडलाइन के तहत पांच साल से कम उम्र के बच्चों के लिए मास्क अनिवार्य नहीं है और 18 साल से कम उम्र के बच्चों को कोरोना का इलाज करते समय एंटीवायरल या मोनोक्लोनल एंटीबॉडी का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की नई गाइडलाइंस में अहम सुझाव दिए गए हैं। मंत्रालय ने साफतौर पर कहा है कि 5 साल से छोटे बच्चों को मास्क पहनाने की जरूरत नहीं है, लेकिन 12 साल या उससे ज्यादा उम्र के बच्चों को हर हाल में व्यस्कों की तरह ही मास्क पहनना चाहिए। 

ADVERTISEMENT

बच्चों के लिए नई गाइडलाइंस के मास्क प्रोटोकॉल Center Issues Revised Covid Guidelines For Children in hindi

  • 5 साल या उससे कम उम्र के बच्चों को मास्क नहीं पहनाना चाहिए।
  • 6 से 11 साल तक की उम्र के बच्चों को मास्क पहनाया जा सकता है।
  • ऐसे बच्चों को मास्क पहनाना है या नहीं ये पेरेंट्स जरूरत के हिसाब से तय करेंगे।
  • 12 साल से बड़ी उम्र के बच्चों को व्यस्कों की तरह ही मास्क का इस्तेमाल करना चाहिए। 

ओमिक्रॉन कोई गंभीर बीमारी नहीं है

हालांकि, 12 साल और उससे अधिक उम्र के लोगों को मास्क पहनना अनिवार्य है। यह गाइडलाइन विशेषज्ञों द्वारा तय की गई है क्योंकि ओमिक्रॉन के कारण मरीजों की संख्या बढ़ रही है। अन्य देशों के आंकड़ों के मुताबिक ओमिक्रॉनसे होने वाली बीमारी ज्यादा गंभीर नहीं है। हालांकि, सावधानी बरतनी चाहिए क्योंकि संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है।

बच्चों के इलाज के लिए इस्तेमाल न हों स्टेरॉयड्स

मंत्रालय ने कहा है कि ओमिक्रॉन वैरिएंट के कारण संक्रमित होने वालों की संख्या बढ़ी है, लेकिन इसके कारण गंभीर बीमार होने वालों की संख्या बेहद कम है। मंत्रालय के मुताबिक, 18 साल से कम उम्र के बच्चों की कोरोना संक्रमण के कारण कितनी भी गंभीर हालत क्यों न हो, उन्हें किसी भी तरह का एंटीवायरल स्टेरॉयड या मोनोक्लोनल एंटीबॉडी नहीं दिया जाना चाहिए। खासतौर पर बिना लक्षण और हल्के लक्षण वाले कोरोना मरीजों के लिए स्टेरॉयड्स का इस्तेमाल बिल्कुल भी नहीं करने की सलाह दी है।

ADVERTISEMENT
21 Jan 2022

Read More

read more articles like this
good points

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text