home / Care
कम उम्र में बाल झड़ने के कारण

Hair Fall Solution in Hindi – जानिए कम उम्र में बाल झड़ने के कारण 

बढ़ती उम्र, मीनोपॉज, प्रेगनेंसी, जेनेटिक्स, लंबी बीमारी और अन्य कई कारण बाल झड़ने में अहम भूमिका अदा करते हैं। बालों को लंबा और घना बनाए रखने के लिए लोग क्या-क्या नहीं करते। हेयर ट्रांसप्लांट से लेकर विग तक, सभी कुछ ट्राई करते हैं, लेकिन कभी-कभी सिर्फ नेचुरल तरीके ही, जो कि न केवल आसान होते हैं, बल्कि सस्ते भी होते हैं, आपको इस समस्या से छुटकारा दिला सकते हैं। ऐसे बहुत से नेचुरल तरीके हैं, जिनसे बिना केमिकल्स के प्रयोग के बालों को तेजी से बढ़ाया जा सकता है और साथ ही मजबूत भी बनाया जा सकता है। मगर इससे पहले ये जान लेना भी बहुत जरूरी है कि बालों के झड़ने और पतला होने के बीच क्या अंतर है। इससे इलाज और भी बेहतर तरीके से किया जा सकता है। वैसे तो बालों का झड़ने के लिए मैजिकल हेयर ऑयल आते हैं। इसके अलावा बालों के लिए टी ट्री ऑयल के फायदे भी हैं लेकिन झड़ते हुए बालों को रोकने का उपाय करना भी बहुत जरूरी है। यहां दिए गए घरेलू उपाय के जरिए न सिर्फ आपके बाल मज़बूत होंगे, बल्कि उनकी प्राकृतिक चमक भी लौट आएगी। यकीन मानिए, ये घरेलू उपाय बेहद ही सरल हैं। जानिए बाल झड़ने के कारण व उपाय।

बाल झड़ने के कारण – Baal Jhadne ke Karan

बालों से जुड़े मिथक हम अक्सर लोगों से सुनते रहते हैं। मगर लगातार baal jhadne ke karan बाल झड़ने का कारण कई हो सकते हैं। आजकल की लाइफस्टाइल को देखते हुए कम उम्र में बाल झड़ने के कारण भी बढ़ने लगे हैं। उनमें से प्रमुख कारणों के बारे में हम यहां ज़िक्र कर रहे हैं, जो हमारी रोज़मर्रा की ज़िंदगी से जुड़े हैं, लेकिन हम उन्हें नज़रअंदाज़ कर देते हैं। तो आइए जानते हैं हेयर फॉल रीज़न के बारे में।

Baal Jhadne ke Karan

1- खान-पान में सावधानी न बरतने से भी बाल कम उम्र में ही कमज़ोर होकर गिरने लगते हैं। यह समस्या ज़्यादातर उन लोगों के साथ होती है, जो जंक फूड खाना पसंद करते हैं। जंक फूड में ऐसा कोई पोषक तत्व नहीं होता, जो हमारी सेहत व बालों के लिए अच्छा हो। इसके अलावा यह समस्या उन्हें भी होती है, जो खान-पान में संतुलन नहीं बनाकर रखते, यानी नियमानुसार भोजन नहीं करते।

2- गर्भावस्था की स्थिति में या थायराइड होने पर शरीर में हार्मोनल बदलाव होने लगते हैं। इसके अलावा डिलीवरी भी कम उम्र में बाल झड़ने के कारण बन सकती है।

3- कम उम्र में बाल झड़ने का एक प्रमुख कारण आनुवंशिक भी है, जिसे एंड्रोजेनेटिक एलोपेसिया कहा जाता है। बाल झड़ने के पीछे सबसे बड़ा कारण यही होता है। अगर आपके परिजनों को यह समस्या रह चुकी है तो आपको भी इसका सामना करना पड़ सकता है।

4- इससे कोई इनकार नहीं कर सकता कि इस समस्या की जड़ तनाव है। जो शख़्स तनाव की गिरफ्त में आया, उसे विभिन्न स्वास्थ्य समस्याएं शुरू हो जाती हैं। तनाव के चलते हमारे बाल भी कमजोर होकर टूटने लगते हैं।

5- सैलून में जाकर विभिन्न प्रकार के हेयर ट्रिटमेंट करवाना फैशन का हिस्सा बन गया है। हम सोचते हैं कि अगर बालों की स्ट्रेटिंग या फिर कलर नहीं करवाया तो हम सुंदर नहीं दिखेंगे, लेकिन हम यह भूल जाते हैं कि इस प्रकिया में केमिकल युक्त उत्पादों का प्रयोग किया जाता है। ये उत्पाद किसी भी लिहाज़ में हमारे बालों के लिए सही नहीं हैं और इनसे बहुत बाल गिरते हैं।

6- रोज नए लुक की चाह में हेयर स्टाइलिंग टूल का अधिक इस्तेमाल भी बालों को नुकसान पहुंचा सकता है। इन्हें कम से कम ही इस्तेमाल करें। 

7- आजकल के युवाओं के पास हमेशा समय की कमी रहती है। यहां तक की उनके पास बालों को प्राकृतिक रूप से सुखाने का समय भी नहीं रहता। इसके लिए वे अक्सर और बार-बार हेयर ड्रायर का इस्तेमाल करते हैं। स्कैल्प में अधिक गर्मी जाने की वजह से बाल टूटने लगते हैं। 

8- कम उम्र में बाल झड़ने के कारण खासतैर पर पुरुषों में बाल झड़ने के कारण पोषक तत्वों की कमी भी हो सकती है। पहले की तुलना में आज लोग रेडीमेड आटा, चीनी और रिफाइंड तेल का इस्तेमाल काफी ज्यादा करने लगे हैं, जो सेहत के लिए हेल्दी नहीं माना जाता है। इनके सेवन से शरीर में पोषक तत्वों की कमी होने लगती है। इस कारण बाल कम उम्र में ही झड़ने लग सकते हैं। इसके अलावा शरीर में आयरन की कमी, विटामिन सी, कैल्शियम और प्रोटीन की कमी के कारण भी कम उम्र में बाल झड़ने की शिकायत हो सकती है।  

Baal Jhadne ke Gharelu Upay – बाल झड़ना रोकने के घरेलू उपाय

1- गर्म पानी से न धोएं बाल
2- गीले बालों के साथ बर्ते सावधानी
3- स्कैल्प को रखें साफ
4- सही कंघी का करें चुनाव
5- गर्म तेल की मालिश करें
6- हर्बल तरीके हैं फायदेमंद
7- बालों पर हीटिंग प्रोडक्ट का इस्तेमाल कम करें
8- मेथी है कारगर
9- रोजमेरी ऑयल करे कमाल
10- शहद लगाएं
11- दही भी है असरदायक
12- मेंहदी लगाएं
13- ग्रीन टी है फायदेमंद
14- प्याज का रस रोके बाल झड़ना
15- एलोवेरा जैल लगाएं
16- लहसुन और नारियल का तेल

हम सभी अपने बालों से बेहद प्‍यार करते हैं और इन्हें लंबे, चमकीले और खूबसूरत बनाए रखने के लिए कई तरीकों का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन छोटी-छोटी बातों को नजरअंदाज कर देते हैं। यहां हम आपके साथ शेयर कर रहे हैं हेयर फॉल को लेकर वो बातें जो बहुत ही कम लोग जानते हैं, जिनकी मदद से आप बालों का झड़ना रोक सकते हैं। हम आपके लिए लाए हैं बाल झड़ने के कारण व उपाय व  hair fall solution in hindi हेयर फॉल रोकने के कुछ आसान नुस्खे ताकि आपके बाल घनघोर घटाओं जैसे लहराएं। यहां जानिए बालों का झड़ना कैसे रोकें। 

गर्म पानी से न धोएं बाल

सबसे पहले तो ये बात जान लें कि बालों के लिए गर्म पानी बेहद नुकसानदायक है। क्योंकि गर्म पानी से आपके बाल डीहाइड्रेट होते हैं और कमज़ोर होकर जल्दी टूटने लगते हैं। इसलिए आप भले ही गर्म पानी से नहाती हों पर जब बात बालों की हो तो जितना हो सके ठंडे पानी से ही धोएं। सर्दियों में बाल धोने के लिए पानी हल्का गुनगुना ही रखें।

गीले बालों के साथ बर्ते सावधानी

नहाने के बाद तौलिए से बालों को न रगड़ें, आराम से पोछें। गीले बाल बहुत ही नाज़ुक होते हैं जो आसानी से टूटते हैं इसलिए गीले बालों में कंघी न करें। उन्हें सूखने का मौका दें।

स्कैल्प को रखें साफ

समय की कमी और कभी-कभी आलस की वजह से आप शैम्पू नहीं करतीं, पर ऐसे नहीं चलेगा। आपके गंदे बाल और ईची स्कैल्प से ड्रैंडफ होने की संभावना बढ़ जाती है। ये रूसी आपके हेयर फॉलिक्ल्स पर अवधोर बन जाती है जिससे आपके बालों का विकास रुक जाता है। इसलिए हफ्ते में 3 बार शैम्पू करें ताकि आपके बाल साफ रहें और रूसी को स्कैप्ल पर आने का मौका न मिले।

सही कंघी का करें चुनाव

ध्यान रखें कि जब भी बालों पर कंघी करें तो साफ कंघी से ही करें, क्योंकि गंदी कंघी में धूल, कीटाणु और पुराने टूटे हुए बाल होते हैं, जो कि बालों को नुकसान पहुंचा सकते हैं। हालांकि यह छोटी बात लगती है, पर इसका बड़ा नुकसान कुछ ही समय में बालों की सेहत पर साफ दिखने लगता है। कई लोग की स्कैल्प बहुत ज्यादा सेंसटिव होती है। ऐसे लोगों के लिए लकड़ी की कंघी का इस्तेमाल करना बहुत फायदेमंद रहता है। साथ ही लकड़ी की कंघी एंटी स्टेटिक होती हैं, जोकि हेयर फॉल (hair fall in hindi) को रोकने में मदद करती हैं।

गर्म तेल की मालिश करें

अच्छे और मजबूत बालों के लिए हॉट ऑयल मसाज एक बेहतरीन तरीका है। यह सिर्फ बाल ही नहीं सुलझाता, बल्कि स्कैल्प के रक्त-संचार को भी दुरुस्त करता है, जिससे बालों में मज़बूती आती है और बालों का झड़ना कम (hair fall solution in hindi) होता है। साथ ही सिर की मालिश जो सुकून देती है, उसके तो क्या कहने! एक अच्छे हेयर ऑयल जैसे पैराशूट एडवांस्ड कोकोनट हेयर ऑयल या मोरोकन ऑयल ट्रीटमेंट से डीप मसाज करें।

हर्बल तरीके हैं फायदेमंद

आप ने अपनी मां या दादी मां की सलाह तो खूब सुनी होगी- केमिकल्स से फायदा कम और नुकसान अधिक होता है, इसलिए केमिकल छोड़ो, हर्बल अपनाओ। बालों में केमिकल्स कुछ समय के लिए अच्छा असर दिखाते हैं, पर बाद में बालों को रूखा और बेजान बना देते हैं। नतीजा- बालों का टूटना तो क्यों न दादी मां के हर्बल खज़ाने से कुछ ट्राई करें। मेथी के बीज रात में भिगो दें और सुबह उन्हें पीसकर पेस्ट बना लें। इस पेस्ट से अपने बालों और स्कैल्प पर मसाज करें और 15-20 मिनट के लिए छोड़ दें। आपको जल्द ही बालों का झड़ना कम (hair fall kaise roke) होता नज़र आयेगा।

बालों पर हीटिंग प्रोडक्ट का इस्तेमाल कम करें

हेयर ड्रायर, आयरन और तमाम हीट स्टाइलिंग से आपके बाल थोड़ी देर के लिए तो खूबसूरत हो जाते हैं पर लंबे समय के लिए ये उन्हें रूखा और बेजान बना देते हैं। इसलिए इनका इस्तेमाल बहुत कम ही करें तो बेहतर होगा। अगर इनका इस्तेमाल करते हैं तो पहले हेयर प्रोटेक्शन सीरम या एलोवेरा जैल बालों पर लगाना न भूले। ये आपके बालों को हीट के नुकसान से बचाएगा, जिससे वो नहीं टूटेंगे।

मेथी है कारगर

एक कप पानी में कुछ चम्मच मेथी के दानों को पीस कर मिला लें। इस मिश्रण को अपने बालों में लगा कर चालीस मिनट तक छोड़ दें। (hair fall solution in hindi) फिर सादे पानी से बालों को धो लें। इस प्रक्रिया को महीने भर दोहराने से आपको असर साफ दिखेगा। झड़ते बालों से बचने के लिए रात में मेथी के बीजों को पानी में भिगो देना चाहिए। सुबह उठने पर इन्हें पीसकर लेप बनाकर बालों पर लगाना चाहिए। ऐसा कुछ दिनों तक करने से बाल झड़ने रुक जाते हैं। (baal girna rokne ke upay)

रोजमेरी ऑयल करे कमाल

बालों का गिरना रोकने और बालों की वृद्धि के लिए सप्ताह में एक बार अपने बालों की रोजमेरी ऑयल से मसाज कीजिए। इससे बाल मजबूत होते हैं। (hair fall solution in hindi) जवाकुसुम की पत्तियों को थोड़े से पानी में मिलाकर पेस्ट बना लीजिए। इस पेस्‍ट को सिर की त्वचा और बालों पर लगाइए। इससे बाल बढ़ते हैं और घने भी होते हैं।

शहद लगाएं

शहद कई बीमारियों को दूर करने में सक्षम है। शहद के प्रयोग से बालों का झड़ना भी रोका जा सकता है। (baal girna rokne ke upay) शहद को बालों में लगाने से बालों का गिरना बंद हो जाता है। दालचीनी भी बालों की समस्या को दूर करने का कारगर उपाय है। दालचीनी और शहद को मिलाकर बालों में लगाइए। इससे बालों का झड़ना बंद होगा। जैतून के गर्म तेल में एक चम्मच शहद और एक चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाकर उनका पेस्ट बनाइए। नहाने से पहले इस पेस्ट को सिर पर लगाइए और कुछ समय बाद सिर को धो लीजिए। इससे बालों का गिरना कम होगा।

दही भी है असरदायक

झड़ते बालों को रोकने के लिए दही बहुत कारगर घरेलू नुस्‍खा है। (hair fall kaise roke) दही से बालों को पोषण मिलता है। इसके लिए धोने से कम से कम 30 मिनट पहले बालों में दही लगाना चाहिए। दही में नींबू का रस मिलाकर भी प्रयोग किया जा सकता है। आप घर पर ही पांच बड़े चम्मच दही, एक बड़ा चम्मच नींबू का रस और दो बड़े चम्मच कच्चे चने का पाउडर मिला कर पेस्ट बना सकते हैं। नहाने से पहले इस पेस्‍ट को बालों में लगाइए और 30 मिनट बाद बालों को धो लीजिए। बालों का गिरना कम हो जाएगा।

मेंहदी लगाएं

ताजी तैयार की गई मेंहदी एक अंडे और दही के साथ मिलाकर अपने बालों पर लगाएं। वह आपके सिर की त्वचा पर सभी जगह पहुंची है, यह सुनिश्चित करें। 30 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर सादे पानी के साथ धो दें। अगले दिन बालों को शैम्पू कर लें। 15 दिनों के भीतर इस नुस्खे से बालों का झड़ना बंद हो जाएगा (baal jhadne se kaise roke) और बाल भी अधिक घने हो जाएंगे।

ग्रीन टी है फायदेमंद

ग्रीन टी में एंटी-ऑक्सिडेंट्स होते हैं, जो बालों का झड़ना रोक सकते हैं (hair fall treatment in hindi) और उनके बढ़ने में भी सहायक हो सकते हैं। एक कप पानी में दो ग्रीन टी बैग मिलाकर चाय तैयार करें। चाय को थोड़ा ठंडा होने दें और उसके बाद उसे बालों में लगाएं। इसे एक घंटे तक लगा रहने दें। उसके बाद बालों को अच्छे से धो लें।

प्याज का रस रोके बाल झड़ना

स्कैल्प पर लहसुन, प्याज़ या अदरक का रस आजमाएं। इन्हें आपस में न मिलाएं, बल्कि एक बार में किसी एक ही का प्रयोग करें। (hair fall treatment in hindi) रात भर रस को स्कैल्प पर लगा रहने दें और सुबह उसे धो डालें।

एलोवेरा जैल लगाएं

दो चम्मच एलोवेरा जेल में एक चम्मच तिल का तेल मिला लें। अब इस मिश्रण को बालों की जड़ों में लगा लें। लगभग 2 घंटे बाद बालों को शैम्पू से धो लें। बेहतर परिणामों के लिए इसे हफ्ते में दो से तीन बार बालों पर लगाएं। एक हफ्ते बाद ही आपको बाल झड़ने की समस्या से छुटकारा मिल जाएगा।

लहसुन और नारियल का तेल

लहसुन की दो तीन कलियों को पीस लीजिए। अब उसमें तीन बड़ा चम्मच नारियल तेल मिला लीजिए। इस मिश्रण को कुछ मिनट के लिए माइक्रोवेव में रखकर गरम कर लीजिए। आप इस पेस्ट से 30 मिनट तक अपने बालों की जड़ों में मसाज करिए। उसके बाद बालों को ठन्डे पानी से धो लीजिए।

Yoga for Hair Fall Control in Hindi – बालों के लिए योग

1- अधो मुखो सवासना
2- उत्थानासन
3- कपालभाती
4- भस्त्रिका प्राणायाम
5- नाखूनों को रगड़ना
6- वज्रासन

जो लोग बालों से जुड़ी समस्याओं से परेशान हैं उनके लिए योग काफी मददगार साबित होता है। हमारे बालों को ज़रूरत है एक ऐसी देखभाल की जो बिना दवा या केमिकल के इस्तेमाल के हमारे बालों का ख्याल रखे। इसके लिए भला योग से बेहतर और क्या हो सकता है। Hair care tips in Hindi में योग के पास हर समस्या का समाधान छिपा होता है। जानेमाने योग गुरु, बाबा रामदेव की मानें तो योग के पास मानव शरीर की लगभग सभी समस्याओं का समाधान है। योग के जरिए कई लोगों ने अपनी बालों से जुड़ी तमाम समस्याओं से छुटकारा पाया है। आजकल जहां एक तरफ बालों का झड़ना आम हो गया है ऐसे में योग किसी चमत्कार से कम नहीं हैं। हम यहां आपको ऐसे ही कुछ योगों के बारे में बता रहे हैं।

  

 

 

 
 
 

अधो मुखो सवासना

डॉग पोजीशन में सभी चार अंगों से शुरू करें। कोहनी और घुटने सीधे होने चाहिए। अब कूल्हों को बाहर की ओर धकेलें और पेट को अंदर की ओर खींचे जिससे शरीर उल्टा ‘V’ आकार बना ले। पैर कूल्हे चौड़े होने चाहिए और हाथों के बीच में कंधे की दूरी होनी चाहिए। गर्दन को लंबा करें और हथेलियों को जमीन पर दबाएं। कुछ सांसों के लिए इस स्थिति में रहें। यह आसन आपके सिर में रक्त संचार को बढ़ाता है। साथ ही कम उम्र क्स्क्स बालों को झड़ने से रोकता है। 

उत्थानासन

अगर आप सोचते हैं कि योग के जरिये बालों का झड़ना कैसे रोकें तो हम आपको बता दें कि इसमें उत्थानासन आपकी काफी मदद कर सकता है। इसे करने के लिए सिर के ऊपर या ताड़ासन (पर्वत मुद्रा) में हाथ रखकर खड़े हों। पैरों को कुछ इंच अलग रखते हुए रीढ़ सीधी होनी चाहिए। श्वास लें और रीढ़ को लंबा करें। सांस छोड़ें, कूल्हों को टिकाएं और हाथों को फर्श की ओर ले जाने के लिए शरीर के ऊपरी हिस्से को आगे की ओर झुकाएं। पैरों और पीठ के निचले हिस्से पर किसी भी तरह के खिंचाव से बचने के लिए घुटनों को थोड़ा मोड़ा जा सकता है। यदि संभव हो तो फर्श को छूने के लिए उंगलियों को नीचे लाएं। शरीर का भार पैरों  पर डालने का प्रयास होना चाहिए। इस स्थिति में कुछ देर सांस लें और फिर आराम करें।

कपालभाती

सुखासन (क्रॉस लेग्ड पोज़) या वज्रासन में बैठें। अपनी दाहिनी हथेली को नाभि पर रखें और आराम करें। फिर, अपने पेट को अंदर की ओर जोर दें और नाक से हवा का एक झोंका निकालें। पेट की मांसपेशियों को शिथिल होने दें और हवा को वापस शरीर में लाएं और फिर जोर-जबरदस्ती से सांस छोड़ने को दोहराएं। इसे 15-20 बार जारी रखें और फिर आराम करें। इसे दो से तीन राउंड तक दोहराएं। इस प्राणायाम में मस्तिष्क की कोशिकाओं को अधिक ऑक्सीजन प्राप्त होती है। यह तंत्रिका तंत्र के लिए फायदेमंद है, मोटापा, मधुमेह को ठीक करता है और शरीर के विषाक्त पदार्थों को निकालता है।

भस्त्रिका प्राणायाम

सुखासन में बैठें। हल्की मुट्ठियां बनाएं और उन्हें कंधों के पास लाएं, कोहनियों को बगल में टिकाएं। शरीर सीधा और शिथिल होना चाहिए। जोर से सांस अंदर लेते हुए हाथों को ऊपर उठाएं और मुट्ठियां खोलें। जोर से सांस छोड़ते हुए हाथों को शुरुआती स्थिति में आने दें और हथेलियां फिर से सामने की ओर मुट्ठियों में बदल लें। इसे दो से तीन राउंड तक 12-15 बार दोहराएं। प्रत्येक दौर के बाद आराम करें। यह प्राणायाम शरीर से अतिरिक्त पित्त, वायु और कफ को दूर करने के साथ-साथ तंत्रिका तंत्र को भी शुद्ध करता है।

नाखूनों को रगड़ना

अपने नाखूनों को आपस में रगड़ने की प्रक्रिया को बालयम योग के रूप में जाना जाता है। यह बालों का झड़ना कम करने का सबसे आसान तरीका है। आपको बस इसे रोजाना 5-10 मिनट के लिए अभ्यास करने की आवश्यकता है। जब आप अपने नाखूनों को रगड़ते हैं, तो इसके नीचे एक तंत्रिका समाप्त होती है जो आपके मस्तिष्क को मृत और क्षतिग्रस्त बालों के रोम को पुनर्जीवित करने के लिए संकेत भेजने के लिए उत्तेजित करती है। बालयम योग आपके स्कैल्प में रक्त के प्रवाह को प्रोत्साहित करने में मदद करता है, जिससे बालों की समस्या जैसे रूसी और समय से पहले सफेद होना कम होता है।

वज्रासन

यह एकमात्र ऐसा आसन है जिसका अभ्यास भोजन के बाद किया जाता है। यह पाचन में मदद करता है, रीढ़ को सीधा रखता है और पीठ को आराम देता है। अनुचित पाचन से कब्ज हो सकता है और बालों की कोशिकाओं को पोषक तत्वों की कम आपूर्ति हो सकती है, जो बदले में टूटने और क्षति का कारण बनती है। वज्रासन के नियमित अभ्यास से पाचन क्रिया में सुधार होता है। वज्रासन की मदद से आप अल्सर और एसिडिटी से भी बचा सकते हैं। यह तनाव को भी कम करता है, जो बालों के झड़ने के प्रमुख कारणों में से एक है। इसे करने के लिए सीधे फर्श पर बैठ जाएं। अपने पैरों को स्ट्रेच करें और अपनी रीढ़ को सीधा रखें। आपकी एड़ी एक साथ होनी चाहिए। अब अपने हाथों की हथेलियों को जमीन की ओर रखें। अपने दोनों पैरों को अपनी जांघों के नीचे रखते हुए मोड़ें। पहले बायां पैर और फिर दायां। अपने हाथों को अपनी ऊपरी जांघों पर रखें। आराम की स्थिति में बैठें और गहरी सांस लें और छोड़ें। पैरों को फैलाकर बैठने की अपनी मूल मुद्रा में वापस लौट आएं। अगर आप डिलीवरी के बाद हेयर फॉल से परेशान है तो यह आसान सा आसन इसमें आपकी काफी मदद कर सकता है। 

 

 

बाल झड़ना FAQs

बाल झड़ने पर क्या लगाएं?

बाल ज्यादा झड़ रहे हैं तो प्याज का रस हफ्ते में 2 बार जरूर लगाएं। प्याज़ की दुर्गंध को दूर करने के लिए, इसमें गुलाब जल मिला सकते हैं। ये झड़ते हुए बालों को रोकने का बेहद कारगर उपाय है।

बाल झड़ने से रोकने के लिए कौन सा तेल लगाएं?

बालों का झड़ना, खराब क्वालिटी का होना हो या फिर ग्रोथ की समस्या हो तो ऐसे में टी ट्री ऑयल तेजी से अपना असर बालों पर दिखाता है। इससे बाल मुलायम, चमकदार तो बनेंगे ही साथ ही तेजी से ग्रोथ भी होगी।

बाल झड़ने की बीमारी किस विटामिन की कमी के कारण होता है?

शरीर में विटामिन-सी की कमी के कारण भी बाल झड़ने (hair fall treatment in hindi) लगते हैं या बढ़ते नहीं है। इसीलिए अपने खान-पान में खट्टी चीजों का सेवन जरूर करें। अगर आपके बाल बहुत झड़ते हैं तो आंवले का सेवन शुरू कर दें। आपको दिन के बार आंवले को किसी भी फॉर्म जैसे – आंवाला कैंडी, जूस, मुरब्बा, आचार के तौर पर ले सकते हैं। इसका असर आपको कुछ ही दिनों में नजर भी आने लगेगा।

बाल झड़ने की होम्योपैथिक दवा कौन सी है ?

ऐसिड-फ्लोर(Acid –Flor), आर्स-ऐल्बम(Ars-Alb), सेलेनियम(Selen), नेट्रम-म्यूर(Nat-mur), थायरोईडीनम(Thyroidinum) ये सब बाल झड़ने की होम्योपैथिक दवा है।

क्या खाने से बाल नहीं झड़ते?

सही खान-पान के बिना स्वस्थ बाल नहीं मिल सकते। इसके लिए आपके भोजन में प्रोटीन की अच्छी मात्रा होनी चाहिए, फैटी एसिड्स और एंटी-ऑक्सीडेंट्स के लिए आप वॉलनट्स और बादाम ले सकते हैं। कम चर्बी वाला मांस, मछली, सोया एवं अन्य प्रोटीन लेने से बालों को झड़ने से रोकने में मदद मिलती है। (hair fall treatment in hindi) बहुत से खाद्य पदार्थ, जिनमें प्रोटीन की मात्रा अधिक होती है, उनमें विटामिन B-12 भी पाया जाता है। अपनी डाइट में इन्हें शामिल करें।

बाल किसकी कमी से झड़ते हैं?

शरीर में प्रोटीन की कमी के कारण बाल ज्यादा झड़ते (hair fall kaise roke) हैं। बालों का कमजोर होना, टूटना या झड़ना भी प्रोटीन की कमी को दर्शाता है। बालों के बनने में चूंकि प्रोटीन का योगदान होता है, ऐसे में बाल इसकी कमी से तकलीफ में आ सकते हैं।

क्या खाने से बाल उगते हैं ?

ऐसी कोई चमत्कारी चीज नहीं है जिसे खाने से बाल उगने लगे। लेकिन संतुलित और पौष्टिक आहार खाने से बालों की न्यू ग्रोथ होती है।

20 Jun 2019

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text