home / xSEO
जानिए कौन सी फिल्में चल रही है

जानिए कौन सी फिल्में चल रही है

कोरोना वायरस जैसे महामारी के चलते एक बड़ा नुकसान फिल्म इंडस्ट्री को भी हुआ है। साल 2020 से कभी सिनेमा खुलते है तो कभी कोविड के चलते फिर से बंद हो जाते हैं। हालांकि महाराष्ट्र की राज्य सरकार द्वारा 22 अक्टूबर, 2021 को सिनेमा हॉल खोलने की घोषणा के बाद कुछ बड़ी फिल्में पर्दे पर जरूर नजर आईं मगर इसके बावजूद उन्हें मुश्किल से दर्शक प्राप्त हुए। दरअसल, कोविड के चलते कई बड़े फिल्म मेकर्स ने अपनी फिल्में डिजिटल प्लेटफॉर्म पर रिलीज करनी शुरू कर दीं। ये सिलसिला अभी तक थमने का नाम नहीं ले रहा है। इनमें जहां कुछ छोटे बजट और स्टार्स की फ़िल्में हैं तो वहीं बड़े स्टार्स की फिल्मों के नाम भी इस लिस्ट में शामिल हैं। हम आपको यहां बताने जा रहे हैं कि साल 2021 से अब तक कौनसी फिल्में चल रही है। उम्मीद है आपको हमारी यह लिस्ट पसंद आएगी। फनी डायलॉग

जानिए 2021-22 में कौनसी फिल्मे चल रही है

  • सूर्यवंशी
  • सरदार उधम सिंह
  • शेरनी
  • हसीन दिलरुबा
  • थलाइवी

साल 2021 और 2022 की शुरुआत में अब तक कई बड़ी फिल्में दर्शकों का मनोरंजन कर चुकी हैं। कहना गलत नहीं होगा कि अब दर्शकों का टेस्ट फिल्मों के मामलों में काफी बदल चुका है। आज का दर्शक फिल्म किसी बड़े स्टार के लिए नहीं बल्कि उसकी कहानी और प्लॉट के लिए देखता है। फिर चाहे उसमें काम करने वाला एक्टर कोई भी हो। हम आपके लिए यहां पिछले साल से अब तक बॉलीवुड की सबसे अच्छी मूवी की लिस्ट लेकर आये हैं। 

1- सूर्यवंशी

रोहित शेट्टी ने पिछली फिल्मों ‘सिंघम’ और ‘सिम्बा’ के माध्यम से कार चेज़ और पुलिस ड्रामा के अपने फॉर्मूले को इस फिल्म में फिर से आजमाया है। 2011 की तमिल फिल्म की रीमेक, सिंघम में अजय देवगन ने एक ईमानदार पुलिस वाले की भूमिका निभाई, जो इसे बनाए रखने के लिए नियमित रूप से कानून तोड़ता है।फिर सिम्बा (2018) में उसी विचार को दोहराया गया, जिसमें अभिनेता रणवीर सिंह ने मुख्य भूमिका निभाई। ‘सूर्यवंशी’ में दांव और भी ऊंचा है, जिसमें अक्षय कुमार ने मुख्य भूमिका निभाई हैं। वे फिल्म में इस्लामिक आतंकवाद से लड़ते हुए दिखे। फिल्म काफी मनोरंजक है और बार- बार देखी जा सकती है। 

2- सरदार उधम

क्रांतिकारी ‘सरदार उधम सिंह’ की इस बायोपिक को फिल्माते समय विक्की कौशल को चेहरे पर 13 टांके लगाने पड़े। फिल्म में कुछ अविश्वसनीय पल भी थे। जनरल ओ’डायर से उनके बदला लेने के लिए बिल्ड-अप, दिल दहला देने वाला जलियांवाला बाग सीक्वेंस और एक इंटेंस क्लाइमेक्स ने इसे एक दुर्लभ बायोपिक बना दिया। विक्की का 20 साल के बच्चे में परिवर्तन अभूतपूर्व था, और शूजीत सरकार का निर्देशन भी ऐसा ही था।

3- शेरनी

‘शेरनी’ प्रकृति की प्रधानता और मानवीय लालच की अनूठी कहानी थी। फिल्म न्यूटन फेम अमित मसूरकर द्वारा निर्देशित इसमें विद्या बालन ने अभिनय किया और कम से कम कहने के लिए इसमें दो बाघिनें थीं। अपने जंगल और चार पैर वाले जानवरों के बीच, विद्या सबसे जोर से दहाड़ती थी। वह सहज और शक्तिशाली थी, और उनके सहायक कलाकारों का अभिनय भी फिल्म में बेहद उम्दा है। अगर अपने अभी तक इस फिल्म को नहीं देखा है तो इसे देखने से चूकियेगा मत। 

4- हसीन दिलरुबा

‘हसीन दिलरुबा’ को एक गूढ़ क्राइम थ्रिलर के रूप में दिखाया गया है, जिसकी कहानी मुख्य अभिनेत्री तापसी पन्नू के इर्द-गिर्द घूमती है। वह एक नवविवाहित महिला रानी की भूमिका निभा रही हैं, जो अपने पति के घर में अपनी जगह बनाने की कोशिश कर रही है। रानी ऋषभ से शादी करती है क्योंकि वह एक अच्छे लड़के की तरह लगता है। भोला ऋषभ रानी से शादी करता है, उसकी मां के विरोध के बावजूद कि रानी उसके लिए बहुत चालाक है। मगर दोनों की शादी काफी बोरिंग है, इसी बीच फिल्म में एंट्री होती है ऋषभ के कजिन की, जिसे रानी अपना दिल दे बैठती है। मगर एन मौके पर वह रानी को धोखा देकर भाग जाता है। फिर शुरू होता है नफरत का एक खूनी खेल। अब किसने किसका खून किया, कौन मरा ये सब जानने के लिए आपको फिल्म देखनी पड़ेगी।  

5- थलाइवी

तमिल फिल्म स्टार से राजनेता बनी जयललिता की बायोपिक थलाइवी देखने का मुख्य कारण कंगना रनौत हैं। ऐसे कई कारण हैं कि वह उस भूमिका के लिए एकदम सही है। थलाइवी, जयललिता नामक एक प्रतिभा के उदय की कहानी कहता है, जो खुद को करिश्माई अभिनेता से नेता बने एमजीआर (अरविंद स्वामी) से जोड़ लेती है और फिर अपना पदभार संभाल लेती है। जयललिता की कहानी को करीब से जानने के लिए इस फिल्म को जरूर देखें। 

सबसे ज्यादा पसंद की जाने वाली फिल्में 

  • चंडीगड़ करे आशिकी
  • शेरशाह
  • राम प्रसाद की 13वीं और पगलैट
  • पुष्पा
  • गहराइयां

साल 2021 और 2022 में रिलीज़ हुई कुछ फ़िल्में ऐसी भी हैं, जिन्हें दर्शकों ने बेहद पसंद किया। इन फिल्मों की लोकप्रियता इतनी बढ़ी कि हर किसी की ज़ुबान पर बस इन्हीं फिल्मों का नाम बस गया। खास बात यह है कि ये सभी फ़िल्में एकदम अलग हटकर कांसेप्ट पर आधारित हैं। इनकी स्टोरी लाइन कभी चर्चा का विषय बनी तो कभी इनके स्टार्स की एक्टिंग ने दर्शकों का दिल जीत लिया। जानिए ऐसी कौनसी फिल्में चल रही है। 

1- चंडीगड़ करे आशिकी

हिंदी सिनेमा LGBTQ+ समुदाय के इर्द-गिर्द कहानी बनाने में धीमा कदम उठा रहा है, चंडीगढ़ करे आशिक़ी भी इसी में से एक है। मनु (आयुष्मान खुराना) एक जिम का मालिक है। एक दिन, ज़ुम्बा प्रशिक्षक मानवी (वाणी कपूर) उसके जिम और जीवन में उतरती है। दोनों को प्यार होता है और आपस में सेक्स भी होता है। फिर मनु को पता चलता है कि मानवी एक ट्रांस महिला है, जिसकी सेक्स रिअसाइनमेंट सर्जरी हुई है। फिल्म ट्रांस मुद्दों के बारे में कुछ जागरूकता दिखाती है। वहीं कई गंभीर क्षण भी हैं जो इस बारे में रूढ़िवादी विचार रखते हैं। अंत में, फिल्म मनु के व्यक्तिगत विकास के लिए मानवी की कहानी का उपयोग करती है।

2- शेरशाह

एक और बायोपिक, शेरशाह ने युद्ध नायक कैप्टन विक्रम बत्रा की भूमिका निभाने के लिए सिद्धार्थ मल्होत्रा ​​करियर में एक बड़ी फिल्म जोड़ दी। सैनिक की कहानी के प्रति ईमानदार रहने और देशभक्ति की कहानी को वास्तविक रखने के लिए फिल्म की सराहना की गई। सिद्धार्थ और कियारा आडवाणी के लिए एक गेम चेंजर, इसने हमें युद्ध के मैदान में बत्रा के नाजुक पलों और डिंपल चीमा के साथ उनकी कम जानकारी वाली और गहरी भावनात्मक प्रेम कहानी दिखाई। इस फिल्म का गाना ‘ले राता लंबियां’ आज भी लोगों के सिर चढ़कर बोलता है। 

3- राम प्रसाद की 13वीं और पगलैट

राम प्रसाद की 13वीं और पगलैट ये दोनों फ़िल्में काफी हद तक एक जैसी हैं। यहां तक कि दोनों फिल्मों की शूटिंग भी एक ही घर में हुई है। दोनों ही फ़िल्में किसी प्रियजन के मरने के बाद उसकी 13वीं पर आधारित है। इस दौरान परिवार में आये बदलाव और रोचक मोड़ आपको फिल्म से बांधे रखने का काम करते हैं। जहां ‘राम प्रसाद की 13वीं घर के मुखिया के मरने के बाद की कहानी है वहीं पगलैट एक युवा विधवा पर केंद्रित है, जिसके पति की शादी के पांच महीने बाद ही मृत्यु हो जाती है। 

4- पुष्पा

फिल्म एक बहिष्कृत पुष्पा राज की कहानी कहती है। विवाह से बाहर पैदा हुए, पुष्पा को बहुत कम उम्र में सम्मान से वंचित कर दिया गया और उसकी पहचान को लूट लिया गया। अब, उनके नाम का पहाड़ी शहर शेषचलम में कोई महत्व नहीं है। इस अपमान से प्रेरित, पुष्पा ने प्रतिज्ञा की कि उसके नाम का अर्थ उसके पिता के परिवार के समर्थन के बिना कुछ होगा। ऐसे में वो लाल लकड़ी स्मगल करने वाला बन जाता है, जो कभी किसी के आगे नहीं झुकता। फिल्म का क्रेज लोगों के सिर चढ़कर बोलता है। 

5- गहराइयां

अलीशा (दीपिका पादुकोण), एक योग प्रशिक्षक और ज़ैन (सिद्धांत चतुर्वेदी), एक रियल एस्टेट हॉटशॉट, मिलते ही एक-दूसरे के प्रति तुरंत आकर्षित हो जाते हैं। जुनून का एक प्रमुख चरण दोनों को तब तक खा जाता है जब तक कि वास्तविकता उनके चेहरे पर न आ जाए। रिश्ते की गहराइयां तब फिसल कर धरातल पर आ जाती हैं, जब दोनों का सामना अपनी वास्तविकता से होता है। ज़ैन अलीशा की चचेरी बहन टिया (अनन्या पांडे) का मंगेतर है वहीं अलीशा अपने छह साल के साथी करण (धैर्या करवा) के साथ लिव-इन रिलेशनशिप में रहती है। फिल्म के आखरी 35 मिनट सबसे रोचक है। इस फिल्म के ज़रिये बॉलीवुड ने लीक से हटकर फिल्म की कहानी को आजमाने की कोशिश भी की है। 

अगर आपको यहां दी गई बॉलीवुड की सबसे अच्छी मूवी की लिस्ट पसंद आई तो इन्हें अपने दोस्तों व परवारजनों के साथ शेयर करना न भूलें। 

ये भी पढ़ें 

बॉलीवुड के फेमस मोटिवेशन डायलॉग

Latest Bollywood songs in Hindi

ज़रूर देखें ये शॉर्ट फिल्म और यूट्यूब वीडियो

Comedy Movies in Hindi

Om Shanti Om Dialogue in Hindi

शोले फिल्म के दमदार डायलॉग

Best Horror Movies on Netflix in hindi

17 Feb 2022

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text