home / पैरेंटिंग
प्रेगनेंसी में खुजली

प्रेगनेंसी में खुजली क्यों होती है? कहीं ये किसी बीमारी का संकेत तो नहीं!

प्रेग्नेंसी भगवान का वो वरदान होता है जब नारी को पूर्णता मिलती है। लेकिन जैसा कि कहते हैं कि हर गुलाब के साथ कुछ कांटे भी होते है, ठीक उसी तरह माँ बनने के सुखद एहसास के साथ प्रेग्नेसी के दौरान शरीर में हॉर्मोनल बदलाव होते हैं। इस बदलाव के कारण प्रेगनेंसी में खुजली की समस्या होती है।

खुजली की समस्या ऐसी समस्या है जो सुनने में तो बड़ी समस्या नहीं लग रही है, पर जब आपकी उंगली खुजलाते-खुजलाते थक जाती है तब बात गंभीर हो जाती है। तो चलिए पहले जानते हैं कि यह दर्दनाक खुजली की समस्या होती क्यों है?

सबसे पहले यह समझने की जरूरत है कि खुजली शरीर के किस अंग में हो रही है। कभी-कभी हल्की खुजली महसूस होना सामान्य है, लेकिन पेट, हाथ और पैरों में तेज खुजली इस बात का संकेत हो सकती है कि आपके शरीर को कुछ ध्यान देने की जरूरत है। कुछ लोगों को गर्भावस्था के दौरान योनि में खुजली का भी अनुभव होता है, जिसके लिए उपचार की आवश्यकता हो सकती है। इसके अलावा, कभी-कभी गर्भावस्था की खुजली से जुड़े चकत्ते भी हो सकते हैं।

वैसे तो कभी-कभी हल्की खुजली महसूस होना सामान्य है, लेकिन पेट, हाथ और पैरों में तेज खुजली इस बात का संकेत हो सकती है कि आपके शरीर को कुछ ध्यान देने की जरूरत है। कुछ लोगों को गर्भावस्था के दौरान योनि में खुजली का भी अनुभव होता है, जिसके लिए उपचार की आवश्यकता हो सकती है। इसके अलावा, कभी-कभी गर्भावस्था की खुजली से जुड़े चकत्ते भी हो सकते हैं। अब समय आ गया है कि खुजली होने के कारणों के बारे में जान लें।

प्रेगनेंसी में खुजली क्यों होती है? (Causes of Itching during Pregnancy in Hindi)

गर्भावस्था के दौरान खुजली होने के कई कारण हो सकते हैं, जो कुछ इस प्रकार हैं:

प्रेगनेंसी में खुजली
गर्भावस्था में खुजली की शिकायत
  1. परफ्यूम या सिंथेटिक कपड़े- नायलोन या सिंथेटिक कपड़ों से त्वचा में घर्षण हो सकता है।  किसी-किसी परफ्यूम की महक से भी समस्या हो सकती है।
  1. शरीर का आकार बढ़ने के कारण त्वचा में खिंचाव- पहले गर्भधारण करने के कारण पेट और ब्रेस्ट के आकार में बढ़ोत्तरी हो जाती है।
  1. ड्राईनेस- गर्भावस्था में हार्मोन में बदलाव से त्वचा में खुजली, परतदार और त्वचा में रूखापन हो सकता है।
  1. प्रुरिटिक अर्टिकेरियल पैपुल्स एंड प्लाक ऑफ प्रेग्नेंसी (PUPPP)- इसके कारण जो दाने निकलते हैं,वह बहुत खुजलीदार होते हैं। जो स्ट्रेच मार्क्स के आस-पास ज्यादा होते हैं।
  1. प्रुरिगो- हाथ, पैर या पेट पर पपड़ीदार, खुजलीदार उभार के रूप में दिखाई देते हैं।
  1. कोलेस्टेसिस यह लिवर की समस्या होती है जिसके परिणामस्वरूप रक्त में पित्त एसिड बनता है, जो खुजली की भावना पैदा करता है।
  1. हार्मोन- गर्भावस्था में हार्मोनल परिवर्तन मूड को बहुत प्रभावित करते हैं। हाँ, खुजली तक सब कुछ प्रभावित कर सकते हैं।

ज्यादातर प्रेगनेंसी में खुजली वाली जगह में पेट और स्तन शामिल होते हैं क्योंकि इन क्षेत्रों में त्वचा बहुत सारे बदलावों से गुजर रही होती है।

गर्भावस्था में खुजली के घरेलू उपाय (Home Remedies of Itching during Pregnancy in Hindi)

प्रेगनेंसी में  खुजली की परेशानी से राहत पाने के लिए कुछ घरेलू चीजों को ट्राई किया जा सकता है-

प्रेगनेंसी में खुजली
प्रेग्नेंसी में ड्राई स्किन
  1. नारियल का तेल- प्रेग्नेंसी के कारण त्वचा में रूखापन आता है साथ में त्वचा में खिंचाव भी उत्पन्न होता है। इसलिए त्वचा को मॉइश्चाइज करने के लिए नारियल तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। नारियल तेल का एंटी इंफ्लामेटोरी गुण संवेदनशील त्वचा से राहत दिलाने में मदद करती है।
  1. एलोवेरा-  खुजली से राहत पाने के लिए नहाने के एलोवेरा जेल प्रभावित जगह पर 15-20 मिनट तक लगाकर रखने के बाद धो दें। 
  1. मॉइश्चराइजर- त्वचा की नमी को बनाए रखने के लिए नॉर्मल मॉइश्चराइजर का इस्तेमाल कर सकती हैं। 
  1. ओटमील-  ओटमील का एंटी प्रायोटिक और एंटी इंफ्लामेटरी गुण संवेदनशील त्वचा को खुजली से राहत दिलाने में मदद करती है। इसके लिए नहाने के टब में थोड़ी मात्रा में ओटमील डालकर पानी में कुछ देर बैठने से बहुत आराम मिलता है।
  1. बर्फ से सिंकाई– आप बर्फ को गलने के बाद उसमें कपड़े को भिगोंकर उससे पेंट को सहलाने से भी आराम मिलता है।

आशा करते हैं कि आपके मन में जो प्रेग्नेसी के दौरान खुजली को लेकर जो भी सवाल है उसका जवाब मिल गया होगा।

चित्र स्रोत: Freepik

28 Mar 2022

Read More

read more articles like this
good points

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text