home / पैरेंटिंग
प्रेग्नेंसी में नारियल पानी

जानिए प्रेग्नेंसी में कब और कितनी मात्रा में पीना चाहिए नारियल पानी

नारियल पानी स्वास्थ्य के लिहाज से कई तरह से फायदेमंद है। खासकर महिलाओं के लिए तो यह हेल्थ बूस्टर का काम करता है। लेकिन, प्रेग्नेंसी में नारियल पानी पीना सुरक्षित है या नहीं, इस बात को लेकर गर्भवती महिलाओं के मन में संशय बना रहता है। ऐसा होना लाजमी भी है। प्रेग्नेंसी के दौरान डॉक्टर से लेकर घरे के बड़े बुजुर्ग खाने पीने को लेकर तमाम हिदायत देते हैं। 

यही वजह है आज इस लेख में हम प्रेग्नेंसी में नारियल पानी पीना कितना ठीक है और और इसके क्या-क्या फायदे हैं। नारियल पानी को कौन-से ट्राइमेस्टर में लेना चाहिए। प्रेग्नेंसी में नारियल पानी से जुड़ी हर जानकारी को लेकर विस्तार से चर्चा करेंगे।

क्या प्रेग्नेंसी में नारियल पानी पीना सुरक्षित है? (Is It Safe To Consume Coconut Water During Pregnancy In Hindi)

प्रेग्नेंसी में नारियल पानी
प्रेग्नेंसी का आठवां महीना

हां, गर्भावस्था के दौरान नारियल पानी पीना सुरक्षित माना जाता है। इस बात की पुष्टी कई अलग-अलग शोधों में की गई है। एक शोध में नारियल पानी को गर्भावस्था के दौरान होने वाली मॉर्निंग सिकनेस से राहत पाने के लिए लाभकारी माना गया है।

वहीं, एक अन्य शोध में गर्भवती महिलाओं में नारियल पानी पीने के सकारात्मक प्रभाव देखे गए। शोध में साफतौर से बताया गया है कि प्रेग्नेंसी में नारियल पानी पीने से काफी हद तक मिसकैरेज का जोखिम कम हो सकता है। हालांकि यह शोध चूहों पर किया गया है। इंसानों पर इसका क्या असर होता है, यह शोध किया जाना बाकी है। 

गर्भावस्था में नारियल पानी पीने के फायदे (Benefits of Drinking Coconut Water During Pregnancy in Hindi)

प्रेग्नेंसी में नारियल पानी
नारियल पानी

नीचे गर्भावस्था के दौरान नारियल पानी पीने के लाभ बता रहे हैं, जो कुछ इस प्रकार हैं:

1. पोषण की पूर्ति के लिए

गर्भावस्था के दौरान महिला को अपने और गर्भ में पल रहे बच्चे के लिए एक्स्ट्रा पोषण की जरूरत होती है। वहीं, सीडीसी के अनुसार, नारियल पानी में सोडियम, प्रोटीन, कैल्शियम, क्लोराइड्स, मैग्नीशियम, इलेक्ट्रोलाइट्स, रिबोफ्लेविन और विटामिन सी की प्रचुर मात्रा पाई जाती है। ऐसे में गर्भावस्था में नारियल पानी पीना लाभकारी हो सकता है। 

2. मधुमेह व उच्च रक्तचाप के जोखिम को कम करता है

कई महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान मधुमेह व उच्च रक्तचाप का खतरा रहता है। मेडलाइन पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार, उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने में नारियल पानी के सकारात्मक प्रभाव पाए गए हैं। साथ ही चूहों पर किए गए एक अन्य शोध में मधुमेह के जोखिम को कम कर करने के लिए नारियल पानी को लाभकारी पाया गया।

3. एमनियोटिक द्रव को बढ़ाने के लिए

एमिनोटिक फ्लुइड की मात्रा बनी रहे, इसके लिए गर्भती महिलाओं को अधिक से अधिक तरल पदार्थ लेने की सलाह दी जाती है। वहीं, नारियल पानी शरीर में पानी की मात्रा को पूरा कर डिहाइड्रेशन के जोखिम को कम करता है।

4. मॉर्निंग सिकनेस से राहत

प्रेग्नेंसी के फर्स्ट ट्राइमेस्टर में ज्यादातर महिलाओं को जी मिचलाना, उल्टी और थकान की शिकायत होती है। नारियल पानी मॉर्निंग सिकनेस के इन लक्षणों से राहत प्रदान कर सकता है।

5. लो कैलोरी

नारियल पानी में नाम मात्र की कैलोरी होती हैं। ऐसे में फाइबर और ओमेगा-3 फैटी एसिड से भरपूर नारियल पानी का सेवन गर्भवती महिलाओं को वजन नियंत्रित रखने में भी सहायक हो सकता है।

6. इंफेक्शन से करे बचाव

नारियल पानी में एंटीमाइक्रोबियल यानी रोगाणुनाशक प्रभाव होते हैं। यह शरीर में किसी भी तरह के संक्रमण से लड़ने में मददगार होते हैं। इस तरह नारियल पानी गर्भावस्था के दौरान संक्रमण से बचाव के लिए भी उपयोगी साबित हो सकता है।

तो ये थे प्रेग्नेंसी में नारियल पानी पीने के फायदे। इतने सारे नारियल पानी पीने के लाभ जानने के बाद आप यकीनन इसे अपने आहार का हिस्सा बनाएंगी। हालांकि, इसको सीमित मात्रा में ही लें। क्योंकि अधिक मात्रा में इसे लेने से शरीर में पोटेशियम की मात्रा बढ़ सकती है। कुछ गर्भवती महिलाओं में यह जरूरत से ज्यादा रक्तचाप को कम कर सकता है। ऐसे में प्रेग्नेंसी के दौरान नारियल पानी पीने के फायदे हासिल करने के लिए इसकी मात्रा का खास ख्याल रखने की जरूरत होती है। हैप्पी प्रेग्नेंसी!

चित्र स्रोत: Freepik/Pexel

11 Apr 2022

Read More

read more articles like this

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text