मजदूर दिवस (श्रमिक दिवस) पर कुछ कोट्स और नारे - Quotes on Labour Day (May Day) in Hindi

मजदूर दिवस (श्रमिक दिवस) पर कुछ कोट्स और नारे - Quotes on Labour Day (May Day) in Hindi

अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस (international labour day) या लेबर डे ( labor day)भारत सहित अधिकांश देशों में कामकाजी आदमी और महिलाओं के सम्मान में मनाया जाता है। मौजूदा समय में भारत समेत दुनिया भर के देशों में मजदूरों के आठ घंटे काम करने का संबंधित कानून बना हुआ है, इसी की मांग को लेकर कई सालों पहले मजदूरों ने आंदोलन किया था। इसी का नतीजा है कि आज देश में बंधुआ मजदूरों जैसी कुप्रथा नहीं रह गई है।
दिहाड़ी मजदूरों, कारीगरों से लेकर दफ्तर में बैठा हर कर्मचारी तक मजदूर कहलाता है। हमारे समाज, देश, संस्था और उद्योग में मज़दूरों, कामगारों और कड़ी मेहनत करने वालो की अहम भूमिका होती है। यही वो लोग है जो किसी कंपनी, संस्था या देश को सफलता की ऊंचाइयों पर ले जाते है। इनके बिना हम किसी भी उद्योग या कंपनी की कल्पना भी नहीं कर सकते। यहां हम आपके साथ शेयर कर रहे हैं कुछ बेहतरीन लेबर डे कोट्स (Labour day quotes in hindi), शायरी ( shayari on Labour in hindi) अनमोल विचार और साथ ही लेबर डे (Labor Day 2020) से जुड़े कुछ रोचक और जरूरी तथ्य भी। 

Table of Contents

    मजदूर दिवस पर नारे - Labour Day Slogans in Hindi

    हमारे देश में शुरू से गरीबों और मजदूरों पर अत्याचार होते आए हैं। लेकिन जैसे-जैसे समय बदला लोगों की सोच में भी काफी बदलाव आया। आज लोग अपने हक और अपने ऊपर हो रहे अत्याचारों के खिलाफ आवाज उठाना जानते हैं। ऐसे में आप उन लोगों की भी आवाज बन सकते हैं जिन पर आज भी जाने-अनजाने जूलूम हो रहा है। लेबर डे (Labour Day 2020) के मौके पर इन मजदूर दिवस (majdur diwas) के नारे (Labour Day Slogans in Hindi) से उठाइए मजदूरों के हक की आवाज -

    • मजदूरों के भी अधिकार है हमारे समान,
      उन्हें परेशान कर ना करो उनका अपमान।
    • ईश्वर मुझे तब तक काम दे जब तक जीवन सामाप्त न हो
      और जीवन दे जब तक मेरा काम समाप्त न हो।
    • जब श्रमिको का होगा विकास,
      तब देश में तरक्की का होगा प्रकाश।
    • मैं मजदूर हूं मजबूर नहीं,
      यह कहने में मुझे कोई शर्म नहीं।
    • जो बनाते इमारतें भव्य हैं,
      उन्हें सम्मान देना हमारा कर्तव्य है।
    • मजदूरों की होती है बस एक इच्छा,
      अपने परिवार की खुशी और बच्चों की शिक्षा।
    • मजदूर है वो पर इंसान है,
      उसके भी हक में सम्मान है।

    • हमारा काम ही हमारी पूजा है...
    • वो भी किसी का भाई किसी की बहन होगी, 
      मजदूरों की बेइज्जती अब और न सहन होगी।
    • जो कड़ी मेहनत करना जानता है वह कभी भी भूखा नहीं रह सकता।
      आलस को छोड़ दो और परिश्रम करने पर जोर दो।
    • समाज के हर निर्माण की जरुरत हैं,
      मजदूर मेहनत और ईमानदारी की मूरत हैं।
    • मजदूर दिवस मनाओ, 
      मजदूरों को उनके अधिकारों के प्रति जागरुक बनाओ।
    • मजदूर दिवस पर हाथ मिलाएं, 
      खुशियां उनके साथ मनाएं।
    • मजदूरों के संग निर्दयी व्यवहार होते हैं, 
      और हम भूल जाते हैं की उनके भी संसार होते हैं
    • मजदूरों को उनका पूरा हक दें, 
      उन्हें सताने वाले को अच्छा सबक दें।

    मजदूर दिवस पर शायरी - May Day Quotes in Hindi

    जो लोग दूसरों का ख्वाब पूरा करने में अपना पूरी जीवन लगा देते हैं, उन मजदूरों (May Day in Hindi) का कोई नाम नहीं होता है। मजदूरों की दशा उनकी मनोदशा को बखूबी बताती हैं ये शायरियां। पढ़िए मजदूरों के जीवन को समर्पित ये मजदूर दिवस (majdoor divas) पर शायरी (majdoor divas par shayari) कलेक्शन -

    • 1 मई को लोगों ने आराम किया और छुट्टी पूरी की,
      मगर इस दिन भी मजदूरों ने अपनी मजदूरी पूरी की।
    • पहले भी मयस्सर न था मजदूरों को छप्पर, 
      अब नाम पे दीवार के इक टाट रहा है।
    • माथे पर पसीना है पैरों में छाले हैं, 
      उस मजदूर को देख कर यूं लगा कि हम किस्मत वाले हैं।
    • इस शहर में मजदूर जैसा दर-बदर कोई नहीं, 
      जिसने बनाएं सबके घर उसका कोई पक्का घर नहीं।
    • सो जाते हैं फुटपाथ पर अखबार बिछा कर, 
      मजदूर कभी नींद की गोली नहीं खाता।
    • अगर इस जहां में मजदूर को नामों निशां न होता, 
      फिर न होता हवामहल और न ही ताजमहल होता।
    • मजदूर जिसे बनाने में अपना चैन सुकून खोता है, 
      उस मकान में अमीर बड़े चैन से सोता है।
    • जिनकी वजह से रहते हैं ऐश-ओ-आराम से पैसे वाले, 
      नियत सच्ची होती है उनकी और हाथों में होते हैं छाले।
    • जिसका हर लम्हा किसी जंग से आसान नहीं होता, 
      वो मजदूर ही होता है जो कभी बेईमान नहीं होता।

    • कोई खेत में है कोई दफ्तर में, 
      कोई नौकर में कोई अफसर में, मजदूर हैं सब मजदूर यहां, 
      कोई हर दिन है कोई अवसर में।
    • हालातों से मजबूर हैं सब, 
      इस जिंदगी के मजदूर हैं सब।
    • जो देखा मां को तन्हाई में सूखी रोटियां खाते,
      तो बच्चे फेंक कर बस्ता कमाई पर उतर आए।
    • कभी धागा बनाता हूं, कभी कपड़ा बनाता हूं..
      मैं हूं मजदूर जो घर के लिए ईंटा बनाता हूं।
      लहू मेरा पसीना बनके माथे से टपकता है,
      मई की धूप में जब धूप से रिश्ता बनाता हूं।

    श्रमिक दिवस पर कुछ कोट्स - Labour Day Wishes in Hindi

    ऐसा नहीं है कि मजदूर सिर्फ ईंट-पत्थर ढोने वाले लोग ही होते हैं। मजदूर हर वो व्यक्ति है जो अपने जीवनयापन के लिए मेहनत-मजदूरी करता है। शेयर कीजिए लेबर डे पर कोट्स (Labour day quotes in hindi) अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर और गर्व कीजिए कि आप मेहनत का पैसा कमा रहा हैं - 

    • जो हर बाधा को करता है दूर,
      उसका नाम है मजदूर। 
    • उनकी गैरमौजूदगी में मंजिल हमेशा दूर है, 
      जो आपके ख्वाबों को पूरा करता है वो मजदूर है।
    • अमीरी में अक्सर अमीर अपने सुकून को खोता है, 
      मजदूर खा के सूखी रोटी बड़े आराम से सोता है।
    • मेहनत उनकी लाठी है, मजबूती उनकी काठी है, 
      विकास की वो नींव हैं, उनका जीवन सीख है।
    • कठोर परिश्रम का कोई दूसरा विकल्प नहीं होता है।
    • यदि किसी देश में मजदूर को पूरे अधिकार नही मिलते, 
      तो उस देश की प्रगति रुक जाती है।

    • मजदूर अपने मेहनत के बल पर मिट्टी से भी सोना उगा लेते हैं।
    • अगर आप अपनी पूरी जिन्दगी में सुखी और खुश रहना चाहते हैं तो कार्य करते रहें।
    • कोई भी व्यक्ति बेकार नहीं होता.. 
      कोई दिखाई देने वाला काम करता है 
      तो कोई न दिखाई देने वाला काम।
    • जिस रास्ते पर राही बेझिझक चलता जाता है, 
      उसे बनाने के लिए मजदूर ही पसीना बहाता है।
    • मजदूर ...देश का गुरूर, मजदूर अपना कर्म करता जरूर हैं, 
      इसलिए देश को उस पर गुरूर हैं।

    पिता पर सुविचार (पितृ दिवस), कोट्स, शायरी  

    मजदूर दिवस क्या है - About May Day in Hindi

    क्या आपको वीकेंड पर वर्क ऑफ मिलता है? दोपहर में लंच ब्रेक मिलता है? आपको कुछ सवेतन (Paid) अवकाश मिले हुए हैं? काम करने के आठ-नौ घंटे ही बंधे हुए हैं? सामाजिक सुरक्षा का लाभ मिला हुआ है? यदि आपने इनमें से किसी भी प्रश्न के लिए "हां" कहा है, तो आप श्रमिक संघों और भारतीय श्रम आंदोलन (labor day india) को धन्यवाद दे सकते हैं। वर्षों की कड़ी मेहनत और अन्याय के खिलाफ लड़ी लड़ाई के बाद हमें आज के रोज़गार में मिलने वाले कई बुनियादी लाभ मिले हुए हैं। मजदूर दिवस इन्हीं बलिदानों की देन है ताकि देश का हर मजदूर (labour day 2020) सम्मान से अपना जीवनयापन कर सके।  

    मजदूर दिवस कब मनाया जाता है - When is Labour Day in Hindi

    भारत सहित अधिकांश देशों में 1 मई को मजदूर दिवस (majdoor divas) मनाते हैं। इन दिन को लेबर डे, मई दिवस, श्रमिक दिवस और मजदूर दिवस भी कहा जाता है। इस दिन भारत समेत कई देशों में मजदूरों की उपलब्धियों को और देश के विकास में उनके योगदान को सलाम किया जाता है। ये दिन मजदूरों के सम्मान, उनकी एकता और उनके हक के समर्थन में मनाया जाता है। इस दिन दुनिया के 80 से अधिक देशों में सार्वजनिक अवकाश होता है। 

    मजदूर दिवस क्यों मनाया जाता है - Why is Labor Day Celebrated in Hindi

    मजदूर दिवस (Labour Day) उन लोगों का दिन है जो इस देश और दुनिया के विकास में एक अहम भूमिका निभाते हैं। अपनी मेहनत और खून पसीने से ये देश को तरक्की की राह दिखलाते हैं। दरअसल, किसी भी देश, समाज, संस्था और उद्योग में मजदूरों, कामगारों और मेहनतकशों की अहम भूमिका होती है। इन्हीं के कारण कोई देश बेहतर बनता है। भारत में लेबर डे मनाने की शुरुआत सबसे पहले चेन्नई में 1 मई 1923 को हुई थी। उस समय इसको मद्रास दिवस के तौर पर प्रामाणित कर लिया गया था। लेकिन बाद में कई प्रदर्शन और विरोध के बाद 1 मई के दिन को संपूर्ण भारत में  मजदूर दिवस (आंतरराष्ट्रीय श्रम दिवस) के तौर पर मनाये जाने और इस दिन पर सार्वजनिक छुट्टी (Labour Day Holiday) का ऐलान कर दिया गया है। इस जीत का श्रेय दत्तात्रेय नारायण सामंत उर्फ डॉक्टर साहेब और जॉर्ज फर्नांडिस को जाता है, जिन्होंने भारत में मई दिवस यानि कि मजदूर दिवस (International Labor Day) की शुरूआत की।

    मजदूर दिवस का इतिहास - Labor Day History in Hindi

    अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस (labor day history) की शुरुआत 1886 में शिकागो में उस समय शुरू हुई थी, जब मजदूर मांग कर रहे थे कि काम की अवधि आठ घंटे हो और सप्ताह में एक दिन की छुट्टी हो। इस हड़ताल और विरोध प्रदर्शन के दौरान शिकागो की हेमार्केट में बम धमाका हुआ था। हालांकि ये नहीं पता चला कि बम किसने फेंका था लेकिन पुलिस ने तत्काल एक्शन लेते हुए गोलियां चला दी और कई मजदूर मारे गए। इसके बाद शिकागो में इस दिन को उन निर्दोष मजूदरों की शहादत के रूप में मनाया गया। पेरिस में 1889 में अंतर्राष्ट्रीय समाजवादी सम्मेलन में ऐलान किया गया कि हेमार्केट नरसंघार में मारे गये निर्दोष लोगों की याद में 1 मई को अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस (rigin of labor day) के रूप में मनाया जाएगा। साथ ही ये भी घोषणा की गई कि इस दिन सभी कामगारों और श्रमिकों का अवकाश रहेगा। इस ऐलान के बाद से ही भारत सहित दुनिया के अधिकांश देशों में मजदूर दिवस को राष्ट्रीय अवकाश के रूप में मनाया जाने लगा।

    लेबर डे / मजदूर दिवस FAQ’s

    मजदूर दिवस और मई दिवस (1 मई) में क्या अंतर है ?
    दोनों ही दिवस मनाने का उद्देश्य एक ही है। मजदूर दिवस को ही मई दिवस भी कहा जाता है।19 वीं सदी के अंत में, समाजवादियों ने 1 मई को अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस के रूप में संदर्भित किया। ... इस दिन न केवल भारतीयों श्रमिकों, बल्कि दुनिया भर के सभी कामकाजी लोगों के संघर्ष और योगदान को याद किया जाता है।
    मजदूर दिवस कब है ?
    मजदूर दिवस ( Labour Day 2020) हर साल 1 मई को मनाया जाता है। जिसे श्रमिक दिवस (Labor Day) और किसी जगह पर 'मई दिवस' (May Day) के नाम से भी जाना जाता है।
    मनरेगा / MNREGA क्या है ?
    मनरेगा का पूरा नाम महात्मा गाँधी राष्ट्रीय रोजगार गारण्टी योजना है, इससे पूर्व इस योजना को राष्ट्रीय रोजगार गारण्टी योजना (एनआरईजीए) नरेगा के नाम से जाना जाता था। यह केंद्र सरकार के द्वारा चलायी गयी प्रमुख योजना है, इस योजना का मुख्य उद्देश्य ग्राम का विकास और ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को रोजगार प्रदान करना है।
    श्रम दिवस एक राष्ट्रीय अवकाश है ?
    मई दिवस 2020 (श्रम दिवस अवकाश 2020) मई दिवस या अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस 1 मई को भारत सहित पूरे विश्व में मनाया जाता है। अधिकांश देशों की तरह, मई दिवस पर, सार्वजनिक और सरकारी कार्यालय, स्कूल और कॉलेज बंद रहते हैं।