home / Fitness
कोरोनावायरस : मरीज़ों में नज़र आ रहे हैं अलग-अलग लक्षण, पहचानिए अंतर

कोरोनावायरस : मरीज़ों में नज़र आ रहे हैं अलग-अलग लक्षण, पहचानिए अंतर

पूरी दुनिया में तबाही मचा रहे कोरोनावायरस (coronavirus) की रफ्तार थमने का नाम ही नहीं ले रही है। जहां अभी तक इसे सर्दी, खांसी, बुखार और शरीर में दर्द से जोड़कर ही देखा जा रहा था, वहीं हाल ही में कुछ लोगों के पॉज़िटिव पाए जाने के बाद इसके अन्य लक्षणों का भी खुलासा हुआ है। सिर्फ यही नहीं, कुछ मामलों में तो ऐसे लोगों की रिपोर्ट भी पॉज़िटिव आई है, जिनमें कोई लक्षण ही नज़र नहीं आ रहा था। जांच के लिए जाने से पहले इन लक्षणों (symptoms) पर गौर फरमाएं।

मामूली लक्षण

कुछ लोगों की इम्युनिटी स्ट्रॉन्ग होने पर कोरोनावायरस उन्हें उस तरह से हिट नहीं करता है, जैसे दूसरे लोगों को करता है। कुछ संक्रमित मरीज़ों में वायरस के बेहद मामूली लक्षण देखने को मिल रहे हैं। ज्यादातर संक्रमित लोगों में कोरोनावायरस के मामूली लक्षण ही देखने को मिले हैं। 

ऐसे लोगों को बुखार आने से पहले सर्दी, खांसी, जुकाम और बदन दर्द की समस्या होती है। मामूली लक्षणों वाले संक्रमितों को हॉस्पिटल में एडमिट करवाने की ज़रूरत नहीं पड़ती है। घर में ही सेल्फ आइसोलेट होकर दवाइयां लेने से ये ठीक हो जाते हैं।

सामान्य लक्षण

जब मरीज़ के लक्षण मामूली से उठकर सामान्य की स्थिति में पहुंचते हैं तो सर्दी, खांसी, शरीर में दर्द के साथ ही बुखार 100 डिग्री से ऊपर तक जा सकता है। ऐसी स्थिति में भी हॉस्पिटल जाने की ज़रूरत नहीं पड़ती है, अगर वह सांस ठीक से ले पा रहा हो। 

कई बार लोगों को सांस लेने में तकलीफ़ महसूस होने लगती है, निमोनिया हो जाता है या डिहाइड्रेशन भी हो सकता है। ऐसी हालत में उन्हें सांस लेने के लिए मदद की ज़रूरत होती है और डिहाइड्रेशन होने पर पानी पीते रहना चाहिए वर्ना बैक्टीरियल इन्फेक्शन भी हो सकता है।

गंभीर लक्षण

अभी तक के आंकड़ों की मानें तो 5 में से एक व्यक्ति के लक्षण गंभीर पाए जा रहे हैं। जहां लगभग 14 प्रतिशत मरीज़ों को सांस लेने के लिए ऑक्सीजन या वेंटिलेटर की ज़रूरत पड़ती है तो वहीं कुल 6 प्रतिशत मामलों में संक्रमित व्यक्ति को सेप्टिक शॉक हो सकता है।

ऐसे में ब्लडप्रेशर लो हो जाता है, जिससे स्ट्रोक पड़ सकता है या हृदय व लीवर समेत अन्य अंग फेल हो सकते हैं। गंभीर लक्षणों वाला इन्फेक्शन व्यक्ति की मृत्यु का कारण बन सकता है और यह कुछ घंटों से लेकर कुछ दिनों तक में हो सकता है।

त्वचा संबंधी परेशानी

हाल ही में कोरोनावायरस संक्रमितों के कुछ ऐसे मामले भी देखे गए, जिनमें संक्रमित व्यक्ति के शरीर पर लाल चकत्ते जैसे निशान थे। हालांकि डॉक्टर्स ने अभी तक अपनी तरफ से इस मामले में सहमति नहीं दी है मगर इसे भी एक सामान्य लक्षण माना जा रहा है। ऐसे मरीज़ों में कोरोनावायरस के अन्य लक्षण स्पष्ट तौर पर नज़र नहीं आ रहे थे। अगर आपके शरीर के किसी भी हिस्से पर अचानक से लाल चकत्ते नज़र आ रहे हों तो बिना देरी किए किसी अच्छे डर्मटोलॉजिस्ट को ज़रूर दिखा लें।

15 Apr 2020

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text