home / अपनी मदद करें
Home Pregnancy Test in Hindi

Home Pregnancy Test in Hindi | घर पर कैसे पता करें कि प्रेग्नेंट हैं या नहीं

लाइफ के एक खास पड़ाव पर पहुंच कर लगभग हर दूसरी महिला को प्रेगनेंसी टेस्ट की जरूरत पड़ती ही है। पहले के समय में बड़े-बुजुर्ग अपने तजुर्बे से ही इस बात का अंदाजा लगा लेते थे कि महिला प्रेगनेंट है या नहीं। कुछ समय बाद डॉक्टरों से यही जानकारी ली जाने लगी। लेकिन अब हर मेडिकल स्टोर पर ऐसी प्रेगनेंसी टेस्ट किट की मदद से बड़ी आसानी से मिल जाती हैं, जो मिनटों में बता सकती हैं कि आप प्रेगनेंट हैं या नहीं। वहीं अगर आप चाहें तो  घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट के लिए घरेलू तरीके भी अपना सकती हैं। घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें ये सोच रही हैं तो हम आपको बता दें कि इस मामले में, पीरियड मिस होने के 10 दिन बाद से कभी भी शैम्पू, नींबू, नमक, बेकिंग सोडा और इसके अलावा दूसरी चीजों के जरिए भी आप आसानी से प्रेगनेंसी टेस्ट ( pregnancy test at home in hindi) कर सकती है। यदि एक महिला ने गर्भधारण किया है, तो लगभग 10 दिनों के बाद, शरीर में इस हार्मोन का स्तर बढ़ना शुरू हो जाता है, जो घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट का सही रिजल्ट दे सकता है। घरेलू उपाय के अलावा आजकल मार्केट में प्रेगनेंसी टेस्ट किट भी उपलब्ध है। आइए जानते हैं घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें (ghar pe pregnancy test kaise kare)- प्रेगनेंसी में क्या पढ़ना चाहिए

घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें – Pregnancy Test at Home in Hindi

आजकल तो मार्केट में आसानी से प्रेगनेंसी टेस्ट किट मिल जाती है, जिससे आप मिनटों में जान सकती हैं कि आप गर्भवती है या फिर नहीं। वहीं पहले जब ऐसी सुविधाएं नहीं तो घरेलू चीजों से ही प्रेग्नेंसी टेस्ट (gharelu pregnancy test) कर लिया करते थे। यहां हम आपको ऐसे ही कुछ DIY प्रेगनेंसी टेस्ट करने के तरीके बता रहे हैं जिनकी मदद से घर बैठे आसानी से यह पता लगाया जा सकता है कि आप गर्भवती हैं या नहीं। आप प्रेग्नेंसी टेस्ट घर पर उपलब्ध चीजों के साथ ही कर सकती हैं, जैसे कि साबुन से प्रेगनेंसी टेस्ट, कोलगेट से प्रेगनेंसी टेस्ट, नींबू से प्रेगनेंसी टेस्ट, बेकिंग सोडा से प्रेगनेंसी टेस्ट और भी इसके अलावा आप कई ऐसी चीजें हैं जिनकी मदद से आप घर पर ही प्रेगनेंसी टेस्ट (how to check pregnancy at home in hindi) कर सकती हैं। तो आइए जानते हैं प्रेग्नेंसी कंफर्म करने के पुराने घरेलू तरीके –

Pregnancy Test at Home in Hindi

नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें

पहले के समय लोग नमक से गर्भवती होने की जांच करते थे और आज भी जहां प्रेगनेंसी टेस्ट किट उपलब्ध नहीं है वहां नमक से पता लगाया जाता है कि महिला गर्भवती है कि नहीं। नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट करने के लिए सबसे पहले एक साफ डिब्बे में यूरिन का सैंपल लें। फिर इसमें तीन चौधाई सफेद नमक मिलाएं। थोड़ा इंतजार करें और नमक में होने वाले रिएक्शन को देंखे। दरअसल, प्रेग्नेंट होने पर यूरीन में मौजूद HCG हार्मोन नमक के साथ मिलकर झाग छोड़ता है। अगर आप प्रेगनेंट नहीं है तो नमक पर कोई असर नहीं दिखाई देगा।

चीनी से प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें

जी हां आपने सही पढ़ा कि चीनी से प्रेगनेंसी टेस्ट के बारे में। क्योंकि आप चीनी के साथ होम प्रेगनेंसी टेस्ट कर सकती हैं और परिणाम भी सही पा सकती हैं। चीनी का उपयोग करके घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें (ghar pe pregnancy test kaise kare), यह जानने के लिए एक कटोरी में एक चम्मच चीनी लें और एकत्रित मूत्र के नमूने को चीनी पर डालें। फिर आपको कुछ देर इंतजार करना होगा। गर्भवती महिलाओं के यूरिन में हार्मोन एचसीजी होता है और यह शुगर को घुलने से रोकता है। अगर चीनी आसानी से नहीं घुलती है, बल्कि गुच्छे बनाती है, तो यह एक संकेत है कि आप गर्भवती हैं। वहीं अगर  चीनी पूरी तरह से घुल जाती है, तो इसका मतलब है कि आप गर्भवती नहीं हैं क्योंकि एचसीजी मौजूद नहीं है।

साबुन से प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें 

अगर आप साबुन से प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें ये नहीं पता है तो जान लीजिए कि इसके लिए आपको चाहिए होगा एक प्लास्टिक या कांच का बर्तन और 1 कंटेनर में एकत्रित की गई सुबह की पहली पेशाब। अब बर्तन में अपने पेशाब लें और उसमें साबुन मिलाएं। अगर साबुन में बुलबुले उठ रहे हैं या फिर झाग दिख रहा है तो इसका मतलब है कि आप गर्भवती हैं।

शैंपू से प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें 

घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें ये जानने के लिए शैंपू से प्रेगनेंसी टेस्ट कर सकती हैं। इसके लिए एक डिस्पोज़ल गिलास या किसी बर्तन में थोड़ी मात्रा में सुबह का पहला पेशाब लें। पेशाब के नमूने में शैंपू की थोड़ी मात्रा मिलाकर कुछ समय तक इंतज़ार करें। अगर थोड़ी देर बाद पेशाब के नमूने में बुलबुले बनते हैं, तो यह आपके गर्भवती होने का संकेत है।

Pregnancy test via toothpaste in hindi

कोलगेट से प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करते हैं

टूथपेस्ट हम सभी के घरों में होता है और उसका इस्तेमाल हम दांत साफ करने के लिए रोज करते हैं। लेकिन बहुत से लोगों को नहीं पता होगा कि टूथपेस्ट से घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें। इसके लिए आपके के पास सफेद टूथपेस्ट होना चाहिए। दूसरे रंग या फ्लेवर के टूथपेस्ट से प्रेगनेंसी टेस्ट सही नहीं मिलेगा। घर पर कोलगेट से प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करते हैं इसके लिए इसके लिए एक साफ कटोरी लें और उसमें दो चम्मच सफेद टूथपेस्ट लें और उसमें सुबह का पहला यूरिन मिलाएं। अगर आप गर्भवती हैं, तो 2 मिनट के अंदर ही टूथपेस्ट यूरिन पर प्रतिक्रिया करेगा और यह नीला हो जाएगा। यह झागदार भी हो सकता है। वहीं अगर आप गर्भवती नहीं हैं, तो टूथपेस्ट यूरिन के साथ बिल्कुल भी प्रतिक्रिया नहीं करेगा, वो ज्यों का त्यों ही रहेगा।

नींबू से प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करते हैं

नींबू मूत्र में इस हार्मोन की उपस्थिति की जांच करता है। पेशाब से नींबू की प्रतिक्रिया से इस बात का पता चलता है कि यूरिन में एचसीजी हार्मोन है या नहीं। अगर यूरिन में एचसीजी है, तो आप गर्भवती हैं। नींबू से घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करते हैं ये जानने के लिए एक प्लास्टिक के कटोरी में अपना पेशाब लें और उसमें नींबू का रस डाल दें। अगर कुछ देर बाद नींबू के रस का रंग बदलने लगता है तो इसका मतलब है कि टेस्ट पॉजिटिव है और आप मां बनने वाली हैं।

बेकिंग सोडा से प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें

पहले के समय में बेकिंग सोडा (khane ka soda) से भी प्रेगनेंसी टेस्ट किया जाता था। बेकिंग सोडा से प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें इसके लिए, एक कटोरे में दो चम्मच बेकिंग सोडा लें और इसमें यूरीन सैंपल मिलाएं। अगर इसमें आपको बुलबुले दिखाई देते हैं तो आप गर्भवती हो सकती हैं।

प्याज के जरिए प्रेग्नेंसी टेस्ट

पहले प्याज घर पर बिना किट के प्रेगनेंसी टेस्ट (how to check pregnancy at home without kit in hindi) करने का सबसे प्रचलित तरीका हुआ करता था। प्याज से प्रेगनेंसी टेस्ट करने के लिए कटे हुए प्याज को रात भर महिला अपनी योनि में रख लेती थी। अगर प्याज में बदबू न आए, तो महिला को गर्भवती समझना चाहिए। हालांकि इस तरह का टेस्ट अब कोई नहीं करता है क्योंकि पहले के लोग इंफेक्शन के बारे में इतना नहीं सोचते थे। लेकिन आजकल वैजाइना हेल्थ पर बहुत ध्यान दिया जाता है।

pregnancy test through mustard seeds in hindi

सरसों के पाउडर से प्रेग्नेंसी टेस्ट

सरसों एक ऐसी आम सामग्री है जो लगभग हर घर में मिल जाती है। लेकिन घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट (home pregnancy test in hindi) के लिए सरसों के पाउडर की जरूरत पड़ती है। टेस्ट के लिए एक कटोरी में सरसों का पाउडर लें और एक गर्म पानी से भरा बाथटब लें। बाथटब में 1 बाउल सरसों का पाउडर डाल दें। इसे अच्छी तरह से हाथ से मिला लें। अब 40 मिनट तक इस बाथटब में खुद को भिगा लें। सरसों पीरियड्स आने में मदद करती है। यदि आपके पास अगले दो से तीन दिनों में पीरियड नहीं आया है, तो सबसे अधिक संभावना है कि आप गर्भवती हैं।

सिरका के जरिए प्रेग्नेंसी टेस्ट

अगर ये सोच रही हैं कि घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें तो इसके लिए आप सिरके की भी मदद ले सकती हैं। इसके लिए सबसे पहले एक बाउल में सिरका डालें। दूसरे बाउल सुबह का सबसे पहले यूरीन लें। इसके बाद सिरके में यूरिन मिलाएं और कुछ देर के लिए उसे वैसे ही छोड़ दें। कुछ समय बाद इस मिश्रण में बुलबुले आने लगेंगे। फिर इसे ध्यान से देखें अगर इसका रंग बदलता है, तो इसका मतलब है कि महिला गर्भवती है।

ब्लीच के जरिए प्रेग्नेंसी टेस्ट

सफेद ब्लीच के जरिए प्रेग्नेंसी टेस्ट करने के लिए 2 चम्मच ब्लीच, 2 चम्मच यूरिन और एक छोटी कटोरी लें। कटोरी में ब्लीच और यूरिन एक साथ लें। अगर आप नोटिस कर रहें हैं कि यह मिश्रण फोम बन रहे हैं तो आप प्रेग्नेंट हैं, अगर ऐसा नहीं है तो परिणाम निगेटिव है। लेकिन ब्लीच के जरिए प्रेग्नेंसी टेस्ट हमेशा खुली जगह पर ही करें। क्योंकि बंद जगह में इससे सांस लेने में दिक्कत महसूस हो सकती है।

होममेड प्रेगनेंसी टेस्ट की सटीकता कैसे बढ़ाएं

 

गर्भावस्था परीक्षण या होममेड प्रेगनेंसी टेस्ट के लिए ये सभी घरेलू उपचार महिला की यूरिन में एचसीजी निर्धारित करने का एक अच्छा तरीका है और इनकी सटीकता को बढ़ाने के लिए कुछ सावधानियों और सुझावों को ध्यान में रखा जा सकता है। क्योंकि कई बार घर पर पेशाब के नमूने का परीक्षण करते समय कुछ गलतियां हो जाती है, जिसकी वजह से परिणाम सही नहीं आ पाता है। तो आइए जानते हैं होममेड प्रेगनेंसी टेस्ट की सटीकता कैसे बढ़ाएं –

checking accuracy of pregnancy test in hindi

 

  • आप जो कोई भी कंटेनर या फिर बाउल प्रेगनेंसी टेस्ट के लिए उपयोग कर रहे हैं वो एकदम साफ और कीटाणु रहित होना चाहिए।
  • हमेशा याद रखें कि प्रेगनेंसी टेस्ट के लिए सुबह का पहला यूरिन ही सही परिणाम देता है। दरअसल इसमें HCG की मात्रा सबसे ज्‍यादा होती है इसलिए इसी से प्रेगनेंसी टेस्‍ट करना चाहिए।
  • कोशिश करें कि सुबह उठते ही टेस्ट करें।
  • जब आप परिणामों की प्रतीक्षा कर रहे हों तो नमूने को हिलाएं या छेड़े नहीं।
  • धातु के कंटेनरों का उपयोग न करें क्योंकि यह रासायनिक प्रतिक्रिया करके परिणाम गलत दिखा सकते हैं। बेहतर रहेगा कि प्लास्टिक या फिर कांच के कंटेरनर का इस्तेमाल करें।
  • आप चाहें तो परिणाम सुनिश्चित करने के लिए विधि दोबारा दोहरा सकती हैं यह देखने के लिए कि परिणाम सही है या नहीं।

घर के लिए यूज करें पीबडी प्रेग आरएक्स प्रेगनेंसी स्ट्रिप्स इन फनेल

सिरोना का पीबडी प्रेग आरएक्स प्रेगनेंसी स्ट्रिप्स इन फनेल दुनिया का पहला ऐसा प्रोडक्ट है जिसमें एच सी जी इंटीग्रेटेड है और इसकी वजह से घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट के प्रोसेस को ये हैसल फ्री, बेहद आसान बनाता है।

फनेल लगे इस प्रेगनेंगी टेस्ट स्ट्रिप को यूज करने के पहले यूरीन स्टोर करने के लिए अलग से किसी कप या कंटेनर की जरूरत नहीं पड़ती है। सीधे इसमें यूरीन पास करना होता है और 90 सेकेंड के अंदर ही ये समझ आजाता है कि आप प्रेगनेंट हैं या नहीं।

इस प्रोडक्ट को यूज करने के लिए न तो आपको किसी कप की जरूरत पड़ती है और न ही किसी ड्रॉपर की। इस किट को यूज करने में किसी तरह की उलझन नहीं होती है। आपको सिर्फ यूरीन पास करना है और देखना है।

घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट करने से जुड़े सवाल-जवाब

घर पर प्रेग्नेंसी टेस्ट करना कितना ठीक होता है?

घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट मेडिकल किट के अलावा नैचुरल तरीके से भी किया जाता है। आजकल ज्यादातर लोग प्रेगनेंसी किट के जरिए ही गर्भाधारण की जांच करना सुगम मानते हैं। लेकिन पहले के समय में बिना टेस्ट किट के ही प्रेगनेंसी टेस्ट (how to check pregnancy at home without kit in hindi)किये जाते हैं, ज्यादातर में परिणाम सटीक ही मिलत थे। 

गर्भ ठहरने के कितने दिन बाद पता चलता है?

महिला के यूरिन में मौजूद एक हॉर्मोन HCG की मौजूदगी से पता चलता है कि महिला गर्भवती है या नहीं। यह हॉर्मोन शरीर में तभी पैदा होता है, जब निषेचित अंडाणु गर्भाशय की दीवार से खुद को जोड़ लेता है। इसीलिए पीरियड्स मिस होने के एक हफ्ते बाद या दूसरे हफ्ते के दौरान ही टेस्ट करना चाहिए।

प्रेग्नेंट हैं या नहीं कैसे पता करें?

प्रेग्नेंट हैं या नहीं ये पता करने के लिए महिला के पेशाब और हार्मोन में ह्यूमन कोरियोनिक गोनाडोट्रोफिन (एचसीजी/HCG) की मौजूदगी और उसके स्तर का पता लगाया जाता है। इसके लिए आप बाजार में मिलने वाली प्रेगनेंसी टेस्ट किट घरेलू तरीकों (homemade pregnancy test in hindi) का भी सहारा ले सकती हैं। प्रेगनेंसी टेस्ट करने के कई घरेलू तरीके हैं। 

सुबह, दोपहर या शाम, प्रेगनेंसी टेस्ट के लिए सही समय क्या है?

प्रेगनेंसी टेस्ट के लिए सुबह का समय सही होता है। क्योंकि प्रेगनेंसी टेस्ट के लिए सुबह का पहला यूरिन ही सही परिणाम देता है। दरअसल इसमें HCG की मात्रा सबसे ज्‍यादा होती है इसलिए इसी से प्रेगनेंसी टेस्‍ट करना चाहिए। दिन या शाम का यूरिन आपको गलत परिणाम भी दिखा सकता है।

ये भी पढ़े-

पीरियड के कितने दिन बाद प्रेगनेंसी टेस्ट करें– पीरियड मिस होना ही आपके प्रेगनेंसी का पहला संकेत या फिर इंडिकेशन होता है, लेकिन हर बार पीरियड न आने का कारण प्रेगनेंसी नहीं होता है।

Pregnancy Kit Use in Hindi- बहुत से लोगों के मन में ये सवाल रहता है कि क्या प्रेगनेंसी किट सही बताता है? इसके लिए ये जरूरी है कि आपको ये पता हो कि प्रेगनेंसी टेस्ट किट कैसे यूज़ करते है।
प्रेगनेंसी के लक्षण कितने दिन में दिखते है

20 Sep 2022

Read More

read more articles like this

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text