Advertisement

वेलनेस

कैमोमाइल टी के फायदे और नुकसान – Chamomile in Hindi

Supriya SrivastavaSupriya Srivastava  |  Nov 23, 2018
Chamomile Tea in Hindi, Chamomile in Hindi

अपने लेमन टी और ग्रीन टी के बारे में तो जरूर सुना होगा, उनके फायदे और नुकसान भी पता होंगे। मगर क्या आप जानते हैं कि आयुर्वेद के खजाने में ग्रीन टी और लेमन टी के अलावा कैमोमाइल टी भी मौजूद है। असल में कैमोमिल क्या है (what is chamomile in hindi)? यह एक तरह का फूल होता है जिसकी पत्तियों से चाय बनाई जाती है। इसकी खास बात ये है कि इसके पौधे दुनिया भर में कई जगह मिलते हैं इसलिए किसी एक हिस्से में मिलने वाली यह चाय किसी दूसरे हिस्से में मिलने वाली कैमोमाइल टी के समान नहीं सकती। इसमें स्वास्थ्य, खूबसूरती व रोगों से लड़ने संबंधित कई गुण मौजूद हैं। कैमोमाइल टी त्वचा को संवारने, तनाव को कम करने, नींद को नियंत्रित करने और पीरियड के दौरान होने वाली ऐंठन को शांत करने में बी पूरी तरह सक्षम है। मगर किसी गंभीर बीमारी के उपचार या फिर प्रेगनेंसी के दौरान इसका सेवन नहीं करना चाहिए। यदि आप इसे नियमित रूप से पीना चाहते हैं तो पहले किसी अच्छे डॉक्टर की सलाह जरूर ले लें। 

खूबसूरती के लिए

कैमोमाइल टी के नुकसान

कैमोमाइल टी से जुड़े सवाल-जवाब

 

Chamomile Tea in Hindi

त्वचा को निखारने के लिए बेहद असरदार हैं ये 20 आयुर्वेदिक उपाय

कैमोमाइल क्या है? – What is Chamomile in Hindi?

ये कैमोमाइल फूल से बनी हर्बल टी है (chamomile flower in hindi)। इसका पौधा Asteraceae परिवार का सदस्य है। इस चाय का नाम स्‍पेनिश में Manzanilla tea है। इसके फूलों को कई हर्बल और प्राकृतिक उपचार के लिए इस्तेमाल किया जाता है। दुनिया के हर हिस्से में अलग- अलग प्रजाति होने के बाद भी इनमें पोषक तत्व एक समान ही होते हैं। जर्मन और रोम में पाई जाने वाली कैमोमाइल टी में सबसे ज्‍यादा पोषक तत्‍व होते हैं। इसे स्वास्थ्य लाभ के लिए औषधि की तरह भी उपयोग किया जाता है। ये स्वाभाविक रूप से कैफीन रहित होती है। कैमोमाइल चाय में कैलोरी, कार्बोहाइड्रेट, कैल्शियम, मैग्‍नीशियम, पोटेशियम, फ्लोराइड, फोलेट और विटामिन ए की थोड़ी सी मात्रा होती है। इन पोषक तत्‍वों की उपस्थिति के कारण कैमोमाइल चाय के फायदे स्‍वास्‍थ्‍य के नजरिये से बहुत ज्यादा बढ़ जाते हैं। ग्रीन टी की ही तरह कैमोमाइल टी भी सैशे में उपलब्ध है।

कैमोमाइल टी के फायदे – Chamomile Tea ke Fayde

 सेहत के लिए – Health Benefits of Chamomile Tea in Hindi

Chamomile Tea benefits in hindi

कई रिसर्च में ये साबित हुआ है कि कैमोमाइल टी ना सिर्फ बीमारियों को छूमंतर कर देती है बल्कि ये इम्यून सिस्टम को भी स्ट्रांग करती है। माना जाता है कि हफ्ते में 5 से 6 बार कैमोमाइल टी पीने से संक्रमण से लड़ने के लिए शरीर की क्षमता में तेज़ी से सुधार होता है। इसके अलावा अगर आप पेट की जलन, आंतों में सूजन और मरोड़ से पीड़ित हैं तो कैमोमाइल चाय का सेवन करना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। साथ ही ये ब्‍लड प्रेशर और कोलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर को कम करने में भी मदद करती है, जो आपके दिल के स्‍वास्‍थ्‍य के लिए खतरा बनते हैं। उम्रदराज लोगों को कैमोमाइल टी सबसे ज्यादा फायदा करती है। ज्यादातर मामलों में मांसपेशियों के दर्द को कम करने के लिए भी कैमोमाइल चाय का उपयोग किया जा सकता है। अगर आपको बहुत ज्यादा कोल्ड है तो कैमोमाइल टी का सेवन करें। इससे आपको जल्द ही फायदा मिलेगा। इसके अलावा कैमोमाइल टी में और भी अनेक चिकित्‍सीय गुण मौजूद होते हैं। कैमोमाइल चाय को पीने से मामूली घाव जल्‍द भरने लगते हैं।

सौंदर्य, स्वास्थ्य और सेक्स के लिए जानें रेड वाइन के फायदे

खूबसूरती के लिए – Benefits of Chamomile Tea for Skin

Chamomile Tea for skin

आप अपनी त्‍वचा को स्‍वस्‍थ्‍य और चमकदार बनाने के लिए कैमोमाइल टी का उपयोग कर सकते हैं। कैमोमाइल चाय को न सिर्फ पीने के लिए बल्कि त्‍वचा के ऊपर लगाने के लिए भी इस्तेमाल किया सकता है। कैमोमाइल टी आपके चेहरे से दाग- धब्बे व झुर्रियों को कम करने में मदद करती है। साथ ही यह आपकी त्‍वचा को स्‍वस्‍थ बनाने में मदद करती है। इसमें एंटीआक्‍सीडेंट की अच्‍छी मात्रा होने के कारण यह मुंहासों के उपचार के लिए भी फायदेमंद होती है। यह बैक्‍टीरिया की रोकथाम करने में सक्षम होती है, जो कि मुंहासों का प्रमुख कारण होते हैं। कैमोमाइल टी में उपस्थित एंटीऑक्‍सीडेंट गुण त्‍वचा के छिद्रों को साफ करने और बैक्‍टीरिया को हटाने में मदद करता है। इसके लिए आप इस चाय को मुंहासों के ऊपर लगा सकते हैं। इसके अलावा कभी भी कैमोमाइल टी बैग को इस्तेमाल कर के फेंकना नहीं चाहिए। क्योंकि इसकी मदद से आप अपनी आंखों के नीचे होने वाले काले घेरों को दूर कर सकते हैं। इसके लिए कैमोमाइल टी बैग को इस्तेमाल करने के बाद ठंडा कर लें और डार्क सर्कल्स वाली जगह पर रखकर धीरे- धीरे मालिश करें। इससे जल्द ही आपके डार्क सर्कल्स दूर हो जाएंगे।

इन 15 हेयर मास्क से रूखे और बेजान बालों को बनाएं चमकदार 

बालों के लिए – Chamomile Tea for Hair

सिर्फ सेहत और त्वचा के लिए ही नहीं, कैमोमाइल टी बालों से संबंधित समस्याओं को भी दूर करती है। ये बालों को बढ़ाने और उन्हें मजबूत बनाने में मदद करती है। इसके अलावा कैमोमाइल टी रूसी की समस्या से भी छुटकारा दिलाती है। ये ना सिर्फ रूसी को दूर भगाती है बल्कि इससे बचाती भी है। रूसी दूर करने के लिए बालों को धोने के बाद आखिर में कैमोमाइल टी लगाएं। इससे आपके बाल मजबूत होने के साथ मुलायम व शाइनी भी होंगे। अगर आपके बाल दोमुंहे हो गए है तो इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए एक बाउल में दो अंडों की जर्दी निकल लें, अब इसमें थोड़ा सा दही,1 चम्मच अरंडी का तेल,1 चम्मच नारियल तेल और 1 चम्मच जोजोबा ऑयल डालकर अच्छे से मिला लें। अब इस पेस्ट को अपने बालों में लगा लें और फिर शॉवर कैप से सिर को ढक लें। 1 घंटे के बाद बालों को धो लें, इससे रूखे और दो मुंहे बालों से छुटकारा मिलता है।

अच्छी नींद के लिए

आजकल के समय में नींद न आने की समस्या लोगों में काफी बढ़ चुकी है। नींद न आए, इसके लिए आपने खूब चाय और कॉफी पी होगी, लेकिन अगर आपको नींद नहीं आती है तो क्या- मोबाइल पर वीडियो देख लेंगे, टीवी देखेंगे या फिर ले लेंगे नींद की गोली ? ये आसान उपाय जरूर हैं, मगर सेहत के लिए काफी हानिकारक हैं। नींद की गोली का अत्यधिक सेवन आपकी जान भी ले सकता है। इस समस्या में कैमोमाइल टी आपकी मदद कर सकती है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक, कैमोमाइल टी नर्व्स को रिलैक्स करती है और नर्व्स सिस्टम को स्मूथ करती है। इससे बेहतर नींद आती है। ये कैफीन के एडिक्शन को खत्म करने में भी मददगार है। नींद नहीं आ रही है तो कैमोमाइल टी लेने से आपको जरूर फायदा होगा । सोने से 30- 40 मिनट पहले इसे एक कप पीने से ही आपको जल्दी नींद आ जाएगी। अब नींद की दवा लेने से तो ये कई गुना बेहतर है।

पीरियड दर्द के लिए 

महिलाओं में हर महीने होने वाला पीरियड के दौरान होने वाला असहनीय दर्द आम बात है। दर्द कम हो जाए इसके लिए हम कभी हॉट वॉटर बैग लेकर पेट की सिंकाई करते हैं या फिर दर्द की गोली खा लेते हैं। आपको बता दें कि कैमोमाइल टी का सेवन पीरियड के दौरान होने वाले दर्द से भी राहत दिलाती है। ये यूटेरस को रिलैक्स करती है और उन हार्मोंस को बनने से रोकती है, जिनके कारण पीरियड्स का दर्द होता है। ये पीरियड के दौरान होने वाली ऐंठन और मूड स्विंग्स को भी कंट्रोल करती है। साथ ही इस दौरान पेट में होने वाली सूजन को भी कम करती है। अग्लो बार जब भी आपको पीरियड का दर्द सताए तो कैमोमाइल टी पीना बिलकुल न भूलें।   

तिल व मस्से हटाने के लिए अपनाएं ये घरेलू उपाय

बीमारियों के लिए

कैमोमाइल का सेवन कई बीमारियों से लड़ने में भी मदद करता है। इसे पीने से ब्लड शुगर के लेवल को कम करने में मदद मिल सकती है। साथ ही ये ब्लड में इन्सुलिन की मात्रा को भी कंट्रोल करती है। कुछ अध्ययन के अनुसार कैमोमाइल टी कैंसर सेल्स को नष्‍ट करने में मदद करती हैं या उन्‍हें प्रथम स्‍टेज पर ही विकसित होने से रोक सकती है। कैमोमाइल टी का सेवन करने से आप स्‍तन, त्‍वचा आदि के कैंसर को रोकने में मदद कर सकता है।

Chamomile Tea for diseases

तनाव को कम करने के लिए

आज के समय में हर कोई तनाव से गुजर रहा है। ऐसे में कैमोमाइल टी पीना बेहतर होता है क्योंकि ये स्ट्रेस लेवल को कम करती है। कैमोमाइल टी में एंटीऑक्‍सीडेट की मौजूदगी के कारण यह सिरदर्द को दूर करने में मददगार होती है। इसके नियमित सेवन से डिप्रेशन और बैचेनी को भी दूर किया जा सकता है। अगर आपको कोई चिंता सता रही है, तो रिलेक्स रहने के लिए यह चाय बेहतर विकल्प है। कैमोमाइल टी के 1 से 2 कप रोज़ पीने से तनाव दूर होता है। मगर ध्यान रहे कि प्रेगनेंसी के दौरान होने वाले तनाव मन इसका सेवन कभी न करें, क्योंकि इस दौरान कैमोमाइल टी पीने से गर्भपात का खतरा हो सकता है।

कैमोमाइल टी के नुकसान – Side Effects of Chamomile Tea in Hindi

आयुर्वेद के गुणों से भरपूर होने के कारण कैमोमाइल टी के फायदे तो बहुत हैं, लेकिन नुकसान बेहद कम हैं। मगर इसका अधिक सेवन कई मायनों में आपके स्वास्थ्य पर  बुरा असर डाल सकता है…

1- अगर आप किसी गंभीर बीमारी से ग्रस्त हैं और उसके उपचार के लिए दवाओं का सेवन कर रहे हैं तो कैमोमाइल टी से दूर ही रहें। भारी दवाओं के साथ इसका सेवन नुकसान दायक साबित हो सकता है। इसे लेने से पहले एक बार डॉक्टर से सलाह जरूर ले लें।

2- छोटे बच्चों को कैमोमाइल टी का सेवन नहीं करना चाहिए।  

3- प्रेगनेंसी के दौरान होने वाले तनाव मन इसका सेवन कभी न करें, क्योंकि इस दौरान कैमोमाइल टी पीने से गर्भपात का खतरा हो सकता है।

4- कैमोमाइल टी का सेवन ज्यादा करने से उल्टी व जी मिचलाना जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

नींबू में छुपा है खूबसूरती और सेहत का खजाना, जानिए सभी फायदे

कैमोमाइल टी से जुड़े सवाल-जवाब – FAQ’s

सवाल- कैमोमाइल टी पीने का सबसे बेहतर समय कौन सा होता है ?

जवाब- कैमोमाइल टी पीने का सबसे अच्छा समय सुबह या सोने के 30 से 40 मिनट पहले होता है। इससे आपको अच्छी नींद आएगी और सुबह भी तरोताज़ा होकर उठेंगे।

सवाल- क्या कैमोमाइल टी का सेवन रोज़ किया जाना चाहिए ?

जवाब- अति हर चीज़ की बुरी होती है, कैमोमाइल टी की भी। इसके अधिक सेवन के भी साइड इफेक्ट्स होते हैं। इसलिए दिन में एक या दो बार ही इसका सेवन करें, उससे ज्यादा नहीं।

यह भी पढ़ें-

एचआईवी/एड्स से जुड़े मिथक

जानिए क्या होता है PCOS और PCOD

कैसे साफ करें ब्यूटी ब्लेंडर

हरड़ का सेवन करने के उपाय

कीवी खाने के नुकसान