कीवी फ्रूट के फायदे और नुकसान - kiwi ke Fayde or Nuksan

कीवी फ्रूट के फायदे और नुकसान - kiwi ke Fayde or Nuksan

भारत में हमेशा से फलों को सेहत का खजाना माना गया है क्योंकि उनमें ऐसे गुण होते हैं, जो शरीर को स्वस्थ और तंदुरुस्त बनाए रखते हैं। उन फलों में एक ऐसा खास फल भी है, जो आपकी सेहत के साथ ही खूबसूरती बढ़ाने में भी बहुत अहम भूमिका निभाता है। उस फल को खाने से स्किन ऐसे चमकने लगती है जैसे कोई चमत्कार हुआ हो। यह फल है कीवी (kiwi fruit in hindi)। बाहर से भूरे रंग का दिखने वाला यह फल दूसरे फलों की तरह आकर्षक नहीं लगता लेकिन इसके फायदे अनेक हैं। इसे काटने पर यह अंदर से हरा दिखता है और उसमें काले बीजों की बनावट नजर आती है।

पहले लोग कीवी के फायदों (kiwi ke fayde) से अनजान थे लेकिन इसके गुणकारी फायदों के बाद अब इसकी मांग बहुत बढ़ गई है। कीवी फ्रूट के फायदे (kiwi benefits in hindi) कई सारे हैं। कीवी को अपनी डाइट में शामिल कर आप भी इसके गुणों का लाभ उठा सकते हैं। कीवी का स्वाद दूसरों फलों की अपेक्षा अलग होता है। यह स्वाद में हल्का खट्टा होता है, जो उसमें मौजूद विटामिन- सी का सबूत है। इस वजह से यह स्किन के लिए भी काफी अच्छा है। वजन कम करने के लिए भी इसे काफी फायदेमंद माना जाता है। आइए जानते हैं किवी फल के फायदे, आखिर किस तरह से यह शरीर पर जादू कर उसे निरोगी, फिट और खूबसूरत बनाता है।

Table of Contents

    कीवी के स्वास्थ्य लाभ - Kiwi Fruit Benefits in Hindi

    भूरे रंग की पर्त में अंडाकार दिखने वाला कीवी एंटीऑक्सीडेंट्स का पावर हाउस है। इसे मात्र कुछ दिन खाने से ही स्वास्थ्य में लाभ दिखने लगता है। कीवी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स शरीर को स्वस्थ रखकर बीमारियों को दूर करते हैं। अध्ययन में पाया गया है कि कीवी में नींबू और संतरे से भी ज्यादा विटामिन सी होता है। इसलिए हेल्थ एक्सपर्ट अपनी डाइट में रोजाना कीवी को शामिल करने की राय देते हैं। आपको बता दें कि 100 ग्राम कीवी में 154% विटामिन सी होता है, जो विटामिन के स्त्रोत नींबू और संतरे से कहीं ज्यादा होता है। इसके साथ ही इसमें शरीर को स्वस्थ बनाने के लिए सबसे जरूरी विटामिन ए भी होता है। ये दोनों ही विटामिन्स बेहतरीन एंटीऑक्सीडेंट्स हैं और इनसे स्वस्थ तन और मन पाने में मदद मिलती है। कीवी में विटामिन सी की मौजूदगी की वजह से हमारा इम्यून सिस्टम मजबूत बनता है और इससे शरीर में होने वाले इंफेक्शन्स से बचा जा सकता है। बदलते मौसम में पनपन वाले बैक्टीरिया से फैलने वाले इंफेक्शन्स से भी कीवी बचाता है। अगर आप रोज अपने खाने में एक कीवी शामिल करते हैं तो यह आपके डाइजेस्टिव सिस्टम को मजबूत बनाकर रोगों से लड़ने के लिए मजबूती देता है। इससे शरीर से टॉक्सिंस बाहर निकल जाते हैं। कीवी में फाइबर भी होता है और फाइबरयुक्त पदार्थों का सेवन करने से कार्डियोवास्कुलर डिजीज, सीवीडी और कोरोनरी हार्ट डिजीज का खतरा काफी कम हो जाता है। हाई फाइबरयुक्त होने के कारण कीवी ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रॉल और ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में हेल्प करता है।

    कीवी और वेटलॉस - Kiwi helps in Weight Loss

    किवी फल के फायदे (kiwi fruit benefits in hindi) अनेक हैं। यह एक ऐसा फल है, जिसमें वसा की मात्रा बिलकुल भी नहीं होती। इसके साथ ही इसमें ज्यादातर कार्बोहाइड्रेट फाइबर के रूप में होते हैं। कीवी में घुलनशील फाइबर होने के कारण आसानी से भूख नहीं लगती और मन बार- बार खाने की तरफ नहीं जाता। उससे वजन कम करने में सहायता मिलती है। आजकल लोग अपने स्वास्थ्य के प्रति काफी सचेत रहते हैं और फिट रहना चाहते हैं। इसके लिए कई बार वे दवाओं और सप्लीमेंट्स जैसे आसान तरीकों को भी अपनाते हैं। लेकिन फिट होने के लिए बाजार में मौजूद दवाइयां और सप्लीमेंट्स कुछ समय के लिए तो बॉडी को फिट बनाती हैं लेकिन लंबे समय में शरीर को नुकसान भी पहुंचाती हैं। शरीर पर इसके कई साइड इफेक्ट होते हैं। हालांकि, कीवी खाने से कोई साइड इफेक्ट नहीं होता बल्कि कीवी में मौजूद पोषक तत्व अनचाही चर्बी से भी निजात दिलाते हैं। यह आपके शरीर को स्वस्थ तो रखता ही है, साथ में वजन को भी कम करने में मदद करता है। अक्सर लोग वजन कम करने के लिए वर्कआउट के बाद कीवी स्मूदी पीते हैं। विशेषज्ञों के अनुसार, कीवी में विटामिन ई, फोलेट, विटामिन सी और पोटैशियम के साथ- साथ कई और गुण भी होते हैं, जिनका शरीर पर सीधा प्रभाव पड़ता है। ये सब चीजें मिलकर कीवी को सेहत के लिए फायदेमंद (Health Benefits of Kiwi) बनाती हैं। कीवी में एसटिनिडेन नामक एंजाइम मौजूद होता है, जिसकी वजह से यह प्रोटीन को पचाने और वसा के अणुओं को तोड़ने में मदद करता है। इसका सबसे बड़ा लाभ यह होता है कि इससे पेट भरा रहता है और कई बीमारियां भी दूर होती हैं। कीवी न सिर्फ मेटाबॉलिज्म को बढ़ाता है, बल्कि पाचन में भी सुधार लाता है।

    मोटापा घटाने के लिए बेस्ट हैं ये बाबा रामदेव के घरेलू नुस्खे

    कीवी की स्मूदी बनाने के लिए सामग्री - Kiwi Smoothie Recipe

    • कीवी
    • शहद
    • बादाम
    • दही
    • कंटेनर

    स्मूदी बनाने का तरीका - How to Make Smoothie

    स्टेप 1: कीवी की स्मूदी बनाने के लिए कुछ ताजे कीवी को धो कर रख लें।

    स्टेप 2: स्मूदी के लिए उपयोग होने वाली सामग्री, जैसे दही, शहद और बादाम को इकट्ठा कर लें और एक साथ एक ही बर्तन मे रख लें।

    स्टेप 3: अब सभी को एक साथ मिलाकर एक कंटेनर में डालें। इससे आपकी स्मूदी तैयार हो जाएगी। कीवी स्मूदी को हेल्दी बनाने के आप उसमें अपनी पसंद की चीजें भी डाल सकते हैं। इस स्मूदी से लंबे समय तक पेट भरा रहता है।

    स्टेप 4: अगर आप इसे और भी ज्यादा हेल्दी बनाना चाहते हैं तो इसे बादाम के दूध के साथ तैयार कर सकते हैं। बाद में बादाम पीसकर स्मूदी को गार्निश भी कर सकते हैं।

    कैसे करें कीवी का प्रयोग - Kiwi Fruit Uses in Hindi

    सभी जानना चाहते हैं कि कीवी से होने वाले लाभ का उपयोग करने के लिए किस तरह से कीवी का इस्तेमाल (kiwi khane se kya hota hai) किया जाए। आपकी इसी जिज्ञासा को शांत करने के लिए हम बता रहे हैं कि कैसे करें कीवी का प्रयोग (Kiwi Fruit Uses)।

    आप कीवी की स्मूदी बनाकर पी सकते हैं, जिससे शरीर में एनर्जी बनी रहेगी। इसके साथ ही इसका पवलोवा भी तैयार कर सकते हैं। यह एक डेज़र्ट है, जिसमें पिस्ता और बादाम के साथ कीवी भी डाली जाती है। नॉन- वेजिटेरियंस के लिए यह एक खास डिश है। इसके अलावा आप कीवी का कस्टर्ड भी बना सकते हैं। अगर आप कैलोरीज से बचना चाहते हैं तो कीवी का सूप बनाकर पी सकते हैं। कीवी से ग्रीन सूप बनाया जा सकता है। यह पानी की कमी को पूरा करने में मददगार होता है। साथ ही इसे पीने से आपके शरीर में एनर्जी बनी रहेगी और थकावट भी दूर होगी।

    सलाद के रूप में हम अक्सर खीरा, टमाटर या प्याज़ ही खाते हैं लेकिन अब आप अपने पसंदीदा फ्रूट कीवी का सलाद भी ट्राई कर सकते हैं। यही नहीं, कीवी का जूस बनाकर भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए कीवी को हरे पालक, नाशपाती और सेब के साथ मिलाकर मिक्सर में डालें और जूस निकाल लें। गर्मी के दिनों में राहत पाने के लिए कीवी को पीसेस में काटकर फ्रिज में रखें। उसके बाद ठंडा होने पर उसे खा लें। इससे गर्मी से निजात मिलेगी।

    कीवी के सौंदर्य संबंधी फायदे - Beauty Benefits of Kiwi in Hindi

    कीवी में वे सारे गुण मौजूद (kiwi benefits in hindi) होते हैं, जो ग्लोइंग स्किन के लिए जरूरी होते हैं। इसके साथ ही कीवी में स्किन को हील करने के सारे तत्व भी मौजूद हैं। इसके इस्तेमाल से स्किन की कई समस्याएं दूर हो जाती हैं। इसमें विटामिन ई भी पाया जाता है, जो सूरज की किरणों, प्रदूषण आदि से स्किन को हुए नुकसान को ठीक करने में सहायक है। कीवी को नियमित डाइट में शामिल करने से झुर्रियां भी दूर हो जाती हैं। इसलिए झुर्रियों से निपटने और यंग लुक बनाए रखने के लिए मार्केट से महंगी क्रीम्स खरीदने के बजाय वहां कीवी पीस कर लगाएं। इसमें मौजूद कोलेजन स्किन को लाइट करने के साथ ही उसे सॉफ्ट व फर्म बनाने में मदद करता है। इसके साथ ही कीवी से आंखें भी तेज होती हैं। इसमें ल्यूटिन पाया जाता है, जो हमारी त्वचा और टिशूज को स्वस्थ रखता है। ल्यूटिन वाली चीजों के सेवन से आंखों की कई गंभीर बीमारियां दूर रहती हैं क्योंकि ये आंखों की बेहद नाजुक और संवेदनशील टिशूज को पोषण देता है। आपको बता दें कि किसी भी अन्य फल की अपेक्षा कीवी में सबसे ज्यादा ल्यूटिन पाया जाता है। एक बड़े कीवी में लगभग 171 मिलीग्राम ल्यूटिन पाया जाता है।

    कीवी फैसपैक बनाने के तरीके

    कीवी से बने फेस पैक का इस्तेमाल करने से स्किन स्वस्थ और मुलायम होती है। आइए जानते हैं कि घर पर कीवी फेस पैक बनाने का तरीका।

    स्टेप 1: कीवी के पाउडर में चार बूंद बादाम का तेल मिला लीजिए। फिर उसमें आधा चम्मच आटा मिलाकर रख दें।

    स्टेप 2: इस सामग्री को अच्छी तरह से मिलाने के बाद लेप की तरह चेहरे पर लगा लें। 15 मिनट तक लेप को चेहरे पर लगा रहने दें और फिर गुनगुने पानी से चेहरे को धो लें।

    स्टेप 3: अगर आप चाहें तो कीवी को दही के साथ पीसकर भी चेहरे पर लगा सकते हैं। आधे घंटे के बाद गुनगुने पानी से चेहरा धो लें। यह किसी भी कॉस्मेटिक क्रीम से बेहतर काम करेगा।

    घर पर कैसे बनाएं कीवी स्किन टोनर

    कीवी टोनर त्वचा पर जादुई असर करता है। इसके इस्तेमाल से त्वचा पर होने वाली जलन और सूजन कम होती है और त्वचा ग्लो करने लगती है। आइए जानते हैं कीवी टोनर को घर पर कैसे बनाया जा सकता है।

    सामाग्री

    • 1 कीवी
    • 4 चम्मच गुलाब जल
    • 1 चम्मच नींबू का रस
    • 2 चम्मच शहद

    कैसे बनाएं कीवी स्किन टोनर

    स्टेप 1: कीवी को अच्छी तरह से साफ करके उसे छीलकर मैश कर लें और उसका पेस्ट बनाएं। फिर उसे अच्छी तरह से मिलाकर उसमें नींबू का रस डाल दें।

    स्टेप 2: अब उस पेस्ट में ताजगी के लिए गुलाब जल डालिए और फिर उसमें शहद की कुछ बूंदें डाल दीजिए।

    स्टेप 3: फिर उस पेस्ट में जरूरत के हिसाब से पानी मिलाएं। अब आपका कीवी स्किन टोनर तैयार है। रात को सोने से पहले आप इसे चेहरे पर लगा सकती हैं।

    स्किन, बालों और कई रोगों के लिए दवा का काम करते हैं सरसों के बीज

    कीवी खाने के नुकसान - Side Effects of Kiwi in Hindi

    जैसे हर चीज के दो पहलू होते हैं, वैसे ही लाभदायक होने के साथ- साथ कीवी के कुछ साइड इफेक्ट भी होते हैं। कीवी के फायदों के साथ ही उनके बारे में भी जानना जरूरी है।

    • कई लोगों को कीवी से एलर्जी की शिकायत हो जाती है तो इसका इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर की राय ले सकते हैं।
    • कीवी में फाइबर होता है। इसलिए कीवी का अधिक मात्रा में सेवन दस्त का कारण बन सकता है।
    • इसके अधिक इस्तेमाल से किडनी को नुकसान पहुंचने का खतरा भी बन सकता है क्योंकि इसमें कैल्शियम ऑक्सालेट पाया जाता है।

    प्रेग्नेंसी में कीवी खाते वक्त बरतें ये सावधानियां

    प्रेग्‍नेंट महिला को प्रतिदिन 400 से 600 माइक्रोग्राम फोलिक एसिड की आवश्यकता होती है। यह फोलिक एसिड का अच्छा स्रोत है। इसके सेवन से गर्भ में बच्चे के ब्रेन का समुचित विकास होता है। लेकिन कई बार प्रेग्नेंसी में डॉक्टर कुछ चीजों को खाने से रोकते हैं। ऐसे में कीवी खाने से पहले भी एक बार डॉक्टर की राय जरूर लें क्योंकि इसे खाने से दस्त और उल्टी होने का खतरा भी बन जाता है।

    प्रेगनेंसी के दौरान हर कामकाजी महिला को पता होनी चाहिए ध्यान में रखने वाली ये बातें

    कीवी को लेकर अक्सर पूछे जाने वाले आम सवाल- जवाब - FAQ's

    क्या डायबिटीज के रोगी कीवी खा सकते हैं?

    डायबिटीज के रोगियों को बिना डॉक्टर की राय के कुछ नहीं लेना चाहिए। लेकिन टाइप 2 डायबिटीज मैलिटस वाले व्यक्ति प्रतिदिन कम से कम एक कीवी का सेवन कर सकते हैं।

    क्या कीवी खाने से कील- मुहांसे भी दूर होते हैं?

    विटामिन ई से भरपूर होने की वजह से कीवी खाने से स्किन की समस्याएं दूर होती हैं और तनाव भी दूर होता है। इससे कील- मुहांसे, सर्दी- ज़ुकाम जैसी छोटी- मोटी तकलीफों से भी निजात मिलती है।

    स्लीपिंग डिसऑर्डर में कीवी लाभदायक होता है। क्या इसे खाने से अच्छी नींद आ सकती है?

    कीवी फल में कई ऐसे औषधीय कंपाउंड्स पाए जाते हैं, जो एंटी ऑक्सीडेंट्स और सेरोटोनिन स्लीपिंग डिसऑर्डर के इलाज में मदद करते हैं। अगर आपको नींद न आने जैसी समस्या है तो इन्हें शाम के समय खाना काफी लाभदायक रहता है।

    ये भी पढ़ें -

    एच.आई.वी/एड्स के अहम लक्षण - HIV/AIDS Symptoms

    अब आयेगा अपना वाला खास फील क्योंकि Popxo आ गया है 6 भाषाओं में ... तो फिर देर किस बात की! चुनें अपनी भाषा - अंग्रेजीहिन्दीतमिलतेलुगूबांग्ला और मराठी.. क्योंकि अपनी भाषा की बात अलग ही होती है।