home / Diet
Zinc in Hindi, जिंक के फायदे, Zinc ke Fayde

जिंक क्या है? जानिए शरीर के लिए जिंक के फायदे और नुकसान – Zinc in Hindi

आपका शरीर जिंक का उत्पादन नहीं कर सकता है, इसलिए शरीर को इस पोषक तत्व की आपूर्ति बाहर से करनी पड़ती है। जिंक (Zinc in Hindi) हमारे शरीर में कई कार्यों के लिए आवश्यक है। प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देना, घावों को ठीक करना, चयापचय को बढ़ावा देना आदि। जिंक बच्चे के उचित विकास में मदद करता है और हमारे शरीर में प्रोटीन, डीएनए संश्लेषण के लिए आवश्यक है। आयुर्वेद में भी भस्म या जस्ते की राख को महत्वपूर्ण माना गया है। यह विशेष रूप से मधुमेह के इलाज के लिए प्रयोग किया जाता है। हम प्रतिदिन जो खाद्य पदार्थ खाते हैं उनमें जिंक हो सकता है और नहीं भी। इसीलिए ये पता होना बहुत जरूरी है कि जिंक की कमी के लिए क्या खाएं (Zinc Rich Foods in Hindi), जिंक के फायदे और साथ जिंक के उपयोग क्या हैं? इसीलिए यहां हम आपको आज जिंक या जस्ता से जुड़ी हर वो जरूरी जानकारी दे रहे हैं, जिसे आपको जरूर से जानना चाहिए। 

जिंक क्या है – Zinc in Hindi

जिंक हमारे शरीर के लिए एक महत्वपूर्ण खनिज होता है तथा अच्छे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही आवश्यक है। जिंक यानी की जस्ता हमारे पूरे शरीर की कोशिकाओं में पाया जाता है। जिंक प्रकृति में मुक्त रूप में नहीं पाया जाता है तथा संयुक्त रूप में यह जिंकाइट, जिंक ब्लेण्डी तथा कैलेमाइन के रूप में पाया जाता है। जिंक को हिंदी जस्ता (Zinc in Hindi) कहा जाता है। यह एक खनिज पदार्थ है, जो मानव शरीर के लिए बहुत ही जरूरी है। मनुष्य जस्ते का प्रयोग प्राचीनकाल से करते आये हैं। यह बच्चों से लेकर बड़ों तक की बीमारियों को दूर करने में कारगर होता है। अगर मानव शरीर में जिंक संतुलित मात्रा में उपलब्ध न हो तो जिंक की कमी से कई रोग हो जाते हैं। 

आपको कितना जिंक चाहिए? 

आपको बहुत ज्यादा जिंक की जरूरत नहीं है। लेकिन सामान्य तौर पर जिंक की दैनिक आवश्यकता इस प्रकार है –

  • 6 महीने से 13 साल तक के बच्चे: 2-8 मिलीग्राम 
  • 14 से 18 साल: 9-11 मिलीग्राम 
  • 18 साल और उससे अधिक उम्र के: 8-11 मिलीग्राम
  • गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाएं: 11-12 मिलीग्राम

उम्र के साथ अनुपात बढ़ाना होगा। आप अपने बाल रोग विशेषज्ञ से पूछ सकती हैं कि आपके बच्चे को जिंक की कितनी जरूरत है। जिंक की मात्रा इस बात पर भी निर्भर करती है कि वह महिला है या पुरुष। पुरुषों को महिलाओं की तुलना में रोजाना 2-3 मिलीग्राम से ज्यादा जिंक की जरूरत होती है।

जिंक के मुख्य स्त्रोत – Zinc Rich Foods in Hindi

जिंक भी आयरन और कैल्शियम की तरह शरीर के कार्य के लिए बहुत जरूरी मिनरल है। जिंक से हमें कई तरह के स्वास्थ्य लाभ मिल सकते हैं। जिंक निम्नलिखित खाद्य पदार्थों (Zinc Rich Foods in Hindi) में भरपूर पाया जाता है –

 Zinc Rich Foods in Hindi

  • लाल मांस, सी फूड
  • ड्राईफ्रूट्स (काजू, बादाम, मूंगफली) 
  • बीज (कद्दू, तिल, तरबूज और भांग के बीज) 
  • दूध और अन्य डेयरी उत्पाद
  • गेहूं 
  • अंडा
  • सब्जियां (आलू, काली मटर, शतावरी) 
  • डार्क चॉकलेट
  • जामुन
  • चना, छोला

जिंक की कमी के लक्षण – Zinc ki Kami ke Lakshan

अगर शरीर को जिंक की आवश्यक मात्रा नहीं मिल पाती है, तो यह बच्चों के विकास को प्रभावित करता है। जिंक की कमी (Zinc in Hindi) से भी यौन विकास में देरी हो सकती है और पुरुषों में नपुंसकता हो सकती है। आइए जानते हैं जिंक की कमी होने पर व्यक्ति को कैसे लक्षण महसूस होते हैं?

Zinc ki Kami ke Lakshan

  1. भूख में कमी 
  2. बालों का झड़ना 
  3. दस्त 
  4. यौन संबंधी रोग 
  5. नपुंसकता
  6. बार-बार जुकाम होना
  7. इम्यूनिटी कमजोर होना
  8. स्तन कैंसर
  9. कामेच्छा में कमी
  10. सूंघने और स्वाद की शक्ति का कमजोर होना
  11. कद छोटा रह जाना
  12. त्वचा पर धब्बे हो जाना
  13. मुंहासे और अन्य त्वचा की समस्याएं ठीक होने में समय लगता है 
  14. वजन कम होना 
  15. नजर का कमजोर होना
  16. नींद न आना

जिंक के फायदे – Zinc ke Fayde

अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रखने और ठीक से काम करने के लिए शरीर को विभिन्न पोषक तत्व प्राप्त करने की आवश्यकता होती है। आयरन और कैल्शियम की तरह जिंक भी शरीर के लिए जरूरी है। रोग-प्रतिरोधक प्रणाली, स्किन प्रॉब्लम्स और घावों को ठीक के लिए जिंक का उपयोग होता है। चिकित्सा विशेषज्ञों के अनुसार जिंक मधुमेह जैसी गंभीर बीमारियों को भी ठीक कर सकता है। इसके अलावा भी जिंक का संतुलित मात्रा में सेवन करने के कई स्वास्थ्यवर्धक फायदे हैं। आइए जानते हैं कुछ महत्वपूर्ण जिंक के फायदे (Zinc ke Fayde in Hindi) के बारे में –

Zinc ke Fayde

इम्युनिटी के लिए जिंक के फायदे

जिंक आपके इम्यून सिस्टम को बूस्ट करता है। एक अच्छी प्रतिरक्षा प्रणाली होने का मतलब है कि शरीर संक्रामक वायरस और बैक्टीरिया से बेहतर तरीके से लड़ सकता है। जिंक संक्रमित कोशिका व कैंसर कोशिका से लड़ने में जिंक मदद करता है। इसलिये यह बहुत जरुरी है कि जिंक की एक सीमित मात्रा को अपने आहार में शामिल किया जाए।

मुंहासों के लिए जिंक के फायदे  

अध्ययनों से पता चलता है कि जिंक आपकी त्वचा को स्वस्थ रखने में मदद करता है और मुंहासों की समस्या से राहत देता है। यह आपकी त्वचा को गर्मी और ठंड से भी बचाता है। त्वचा की सूजन को कम करने में मदद करता है।

सर्दी-खांसी में जिंक के फायदे

सर्दी जैसी सामान्य समस्या के लिए जिंक (Zinc ke Fayde) काफी कारगर साबित होता है। जब लोगों में सर्दी के लक्षणों की शुरुवात होती है तब जिंक सिरप दिया जाता है। ताकि उनकी सर्दी जल्दी ठीक हो और आराम मिल सके।

जख्म ठीक करने में जिंक के फायदे

अक्सर जख्म यानि घाव को जल्द ठीक करने के लिए जिंक का इस्तेमाल किया जाता है। घाव की जगह पर सूजन और जीवाणु वृद्धि को रोकने में जिंक का ट्यूब लगाया जाता है। घावों या अल्सर वाले मरीजों के उपचार के लिए जिंक सल्फेट एक प्रभावी माध्यम है।

दस्त में जिंक के फायदे

5 साल से कम उम्र के बच्चों में डायरिया जानलेवा होता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, जिंक को पौष्टिक भोजन के रूप में लेने से छोटे बच्चों में दस्त के लक्षण कम हो जाते हैं। जिंक गोलियां दस्त को कम करने में मदद करती हैं।

डायबिटीज में जिंक के फायदे

मेडिकल एक्सपर्ट्स के मुताबिक​, जिंक के सेवन से डायबिटीज की समस्या को ठीक किया जा सकता है। जिंक में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं। जैसे, यह ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करने में मदद कर सकता है, जिसकी वजह से ब्लड शुगर लेवल भी कंट्रोल में रहता है।

शुक्राणु की संख्या बढ़ाने में जिंक के फायदे

शरीर में जिंक की कमी के कारण बांझपन जैसी समस्या हो जाती है। वहीं जिंक सल्फेट और फोलिक एसिड सप्लीमेंट का उपयोग शुक्राणु की संख्या बढ़ाने में उपयोग होता है।

हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए जिंक के फायदे

ऑस्टियोपोरोसिस एक ऐसा रोग है, जिसमें हड्डियां कमजोर और भंगुर हो जाती हैं तथा हड्डियों के फ़्रैक्चर होने का खतरा बढ़ जाता है। लेकिन जिंक का सेवन करने से ये दिक्कत दूर हो सकती हैं और शरीर में जिंक की संतुलित मात्रा बनी रहने से हड्डियां जल्दी कमजोर नहीं होती हैं।

जिंक के उपयोग – Zinc Uses in Hindi

जिंक का उपयोग जिंक की कमी को नियंत्रित करने, रोकने और इलाज के लिए किया जाता है, प्रतिरक्षा में वृद्धि, बच्चों में तीव्र दस्त, और हल्के घाव भरने के लिए। इसका उपयोग प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने के साथ-साथ निचले श्वसन पथ के संक्रमण को रोकने में मदद करने के लिए भी किया जा सकता है। जिंक का उपयोग अटेंशन डेफिसिट हाइपरएक्टिविटी डिसऑर्डर, हाइपोग्लाइसीमिया, टिनिटस, क्रोहन रोग, अल्जाइमर रोग, डाउन सिंड्रोम, हैनसेन रोग, पेप्टिक अल्सर जैसी बीमारियों के उपचार में किया जा सकता है। इसके अलावा जिंक सल्फेट को ऊसर सुधार के नाम से भी जाना जाता है। जी हां, खेती में भी जिंक के उपयोग है। इससे खेतों की मिट्टी भुरभुरी हो जाती है और खेत की जल धारण क्षमता बढ़ने के साथ ही फसलों का उत्पादन बढ़ जाता है। आइए जानते हैं जिंक के उपयोग के बारे में –

  • लोहे को जंग से बचाने हेतु गेलविनीकरण में 
  • दवाओं के निर्माण में 
  • पेंट के निर्माण में  
  • मिश्र धातु कांसा के निर्माण में 

जिंक के नुकसान

हर किसी चीज को संतुलित मात्रा में लेने से वो फायदा करती है लेकिन उसकी अति करना शरीर को नुकसान पहुंचाती है। इसी तरह जिंक के फायदे और नुकसान (Zinc in Hindi) दोनों ही हैं। जिंक के फायदे  बहुत है लेकिन रोजाना जिंक लेने की आवश्कयता नहीं होती है। अगर आप जरूरत से ज्यादा जिंक का सेवन कर रहे हैं तो ये आपके शरीर को नुकसान पहुंचाने लगती है। तो आइए जानते हैं कि जिंक से होने वाले नुकसान के बारे में –

Zinc in Hindi

  • ज्यादा जिंक का सेवन करने से ब्लड शुगर बढ़ने की संभावना रहती है। इसीलिए मधुमेह की मरीजों का ज्यादा जिंक का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • वहीं ज्यादा जिंक से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन खुजली, चुभन, झुनझुनी का कारण बन सकता है।
  • जिन लोगों को एड्स व एचआईवी की समस्या है, उनको जिंक का उपयोग बेहद सावधानीपूर्वक करना चाहिए। इससे जोखिम बढ़ सकता है।
  • गर्भवती महिला और स्तनपान करने वाली महिला को जस्ते का सेवन कम मात्रा में करना सुरक्षित होता है। 
  • शरीर में जिंक की मात्रा अधिक होने से जी मचलाना, उल्टी और चक्कर आने जैसी दिक्कतें हो सकती हैं।

जिंक के फायदे और नुकसान से जुड़े सवाल-जवाब FAQs

जिंक के लिए क्या खाएं?

शरीर में जिंक की कमी को पूरा करने के लिए अपने आहार (Zinc Rich Foods in Hindi) में मंगूफली, सी फूड, तरबूज के बीज, दही, छोले, लहसुन, अंडे की जर्दी और तिल के बीज का सेवन करें।

जिंक शरीर में क्या करता है?

जिंक भी आयरन और कैल्शियम की तरह शरीर के कार्य के लिए बहुत जरूरी मिनरल है। जिंक हमारे शरीर में हमारी रोग-प्रतिरोधक प्रणाली, नजरों का कमजोर होना, त्वचा के स्वास्थ्य तथा जख्मों के उपचार में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। 

जिंक की कमी से कौन सा रोग होता है?

शरीर में जिंक की कमी से इम्यून सिस्टम कमजोर होने लगता है, हड्डियों पर बुरा असर पड़ता है, त्वचा संबंधी रोग और संघूने-स्वाद का अनुभव करने की क्षमता खराब होने लगती है।

जिंक का सामान्य स्तर क्या है?

मानव शरीर में जिंक का सामान्य स्तर 70 से 290 माइक्रोग्राम होता है। भोजन में आप 8 से 11 मिलीग्राम तक जिंक ले सकते हैं। 

जिंक शरीर में क्या करता है?

जिंक आपको वायरल संक्रमण से लड़ने में मदद करता है इसलिए जिंक का सेवन (Zinc ke Fayde in Hindi) किया जाता है। यह हमारी रोग-प्रतिरोधक प्रणाली, त्वचा के स्वास्थ्य तथा जख्मों के उपचार में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

ये भी पढ़ें –
टमाटर खाने के फायदे और नुकसान

25 Jun 2021

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text