Advertisement

वेलनेस

जानिए हेल्थ से जुड़े शहद के फायदे, नुकसान और उपयोग – Shahad ke Fayde

Archana ChaturvediArchana Chaturvedi  |  May 21, 2021
शहद के फायदे, नुकसान और उपयोग - Shahad ke Fayde

Advertisement

शहद एक ऐसा पदार्थ है जो हम सभी के घर में देखने को मिलता है। शहद के कई फायदे हैं। खूबसूरती से लेकर सेहत तक शहद के कई फायदे हैं। दरअसल शहद हर किसी का पसंदीदा खाना होता है। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि शहद के कई स्वास्थ्य लाभ (shahad ke fayde) हैं। खांसी से लेकर वजन घटाने तक हर चीज में शहद (honey khane ke fayde) का इस्तेमाल किया जा सकता है। शहद में कई ऐसे पोषक तत्व होते हैं जो आपकी सेहत के लिए अच्छे होते हैं। आयुर्वेद से ही शहद का उपयोग औषधि के रूप में किया जाता रहा है। लगभग 100 ग्राम शहद में 304 कैलोरी होती है। इसमें कोई फैट नहीं होता है। कोलेस्ट्रॉल और सोडियम भी 0% हैं। इसलिए शहद शरीर के लिए बहुत ही उपयोगी पदार्थ माना जाता है। हमेशा याद रखें कि दिन में एक चम्मच शहद आपके शरीर पर अच्छा प्रभाव डालता है। लेकिन इससे ज्यादा नुकसान भी कर सकता है।
आयुर्वेद में शहद के फायदे अनादि काल से बताए गए हैं। शहद न सिर्फ आपकी खूबसूरती बल्कि आपकी सेहत को भी बढ़ाता है। शहद आपको कई तरह की बीमारियों से दूर रखता है। तो शहद आपको हर घर में जरूर मिल जाएगा। आइए जानते हैं शहद के फायदे और नुकसान क्या-क्या हैं और इसका इस्तेमाल कैसे किया जाता है।

शहद खाने के फायदे  और उपयोग – Honey ke Fayde

शहद में विटामिन ए, बी, सी, आयरन, कैल्शियम, सोडियम, फास्फोरस और आयोडीन होता है। रोजाना शहद खाने से शरीर में रोगों से लड़ने की शक्ति बढ़ती है। आयुर्वेद में शहद को संपूर्ण गुणों से युक्त आहार का दर्जा दिया गया है। शहद एक स्वादिष्ट खाद्य पदार्थ है जिसे हम आसानी से अपने आहार में शामिल कर सकते हैं। बहुत से लोग दूध और शहद को मिलाकर इसका सेवन करते हैं। कुछ तो अपने व्यंजनों में शहद भी शामिल करते हैं। शहद में स्वाद (shahad khane ke fayde) के अलावा कई ऐसे पोषक तत्व होते हैं जो शरीर के लिए फायदेमंद होते हैं। शहद का सही मात्रा में सेवन करने से चमत्कारी स्वास्थ्य लाभ होते हैं। शहद का उपयोग आयुर्वेदिक चिकित्सा में भी किया जाता है। इसमें मौजूद पोषक तत्व शरीर को शुद्ध करने में मदद करते हैं। तो आइए जानते हैं शहद के फायदे (shahad ke fayde) के बारे में –

Honey ke Fayde

रात में शहद का सेवन करने के फायदे

रात को सोने से पहले शहद का सेवन करने से आपके स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। जो स्वस्थ रहने में मदद करता है। रात को अच्छी नींद लेने के लिए शहद फायदेमंद हो सकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि शहद में वृद्धि के लिए लाभकारी हार्मोन होते हैं। अगर आप सोने से पहले शहद का सेवन करते हैं तो इससे आपकी नींद की समस्या कम हो जाएगी।

हृदय रोगों के लिए रामबाण उपचार है शहद

दिल की बीमारियों से दूर रहने के लिए शहद का सेवन करें। इसके लिए रोजाना सुबह में एक गिलास गुनगुने पानी में शहद मिलाकर इस मिश्रण को पी लें। शहद (shahad khane ke fayde) फेनोलिक यौगिकों से भरपूर होता है। जो एक प्राकृतिक एंटी-ऑक्सीडेंट के रूप में कार्य करता है। यह तत्व हृदय रोग के रोगियों के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

सर्दी-खांसी में शहद के फायदे

सर्दी-खांसी से छुटकारा पाने के लिए शहद का सेवन अमृत माना जाता है। शहद का सेवन सुबह उठने के बाद और सोने से पहले करना चाहिए। एक गिलास गर्म पानी में दो चम्मच शहद या शहद मिलाकर पिएं। शहद में एंटीबायोटिक गुण होते हैं। यह घटक गले के संक्रमण को कम करने में मदद करता है। गले में खराश, गले में खराश, तेज सर्दी और खांसी से छुटकारा पाने के लिए डॉक्टर की सलाह के अनुसार शहद का सेवन करना चाहिए।

सिर दर्द में शहद के फायदे

हर उम्र के लोगों को सिरदर्द की समस्या का सामना करना पड़ता है। अत्यधिक काम का तनाव, अवसाद, अपर्याप्त नींद और कई अन्य कारण सिरदर्द का कारण बनते हैं। कभी-कभी दर्द असहनीय होता है। एक शोध के अनुसार शहद के सेवन से सिर दर्द में आराम मिलता है। इसमें मौजूद पोषक तत्व शरीर में शारीरिक और मानसिक तनाव को कम करते हैं। गुनगुने पानी में शहद मिलाकर पीने से सिर दर्द में आराम मिलती है।

शरीर की ताकत बढ़ाने में शहद के फायदे

शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए भी शहद का सेवन करना चाहिए। एक कप गर्म पानी में शहद और आधा नींबू का रस मिलाकर इस मिश्रण को पी लें। शहद में एंटी-ऑक्सीडेंट गुण होते हैं। जो पाचन क्रिया को बेहतर बनाता है और रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाता है। यह शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में भी मदद करता है।

honey for weight loss in hindi

वेट लॉस के शहद के फायदे

अगर आप रोज सुबह खाली पेट गर्म पानी में एक चम्मच कच्चा शहद मिलाकर पिएंगे तो यह आपके शरीर की चर्बी को कम करने में मदद करेगा। डॉक्टर भी आपके वजन को नियंत्रण में रखने के लिए इस उपाय की सलाह देते हैं। इतना ही नहीं अगर आप जिम जा रहे हैं तो आपको वहां जाने की सलाह भी दी जाती है। शहद सबसे महत्वपूर्ण स्वास्थ्य लाभों में से एक है।

पाचनशक्ति बढ़ाने के लिए शहद के फायदे

बहुत से लोगों को पाचन संबंधी बड़ी समस्या होती है। शहद के नियमित सेवन से शरीर पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है और यह आपके पाचन को नियमित करने में मदद करता है। शहद कब्ज और सूजन के लिए एक अच्छा उपाय है। शहद में मौजूद बिफीडोबैक्टीरिया पेट की इस परेशानी से निजात दिलाने में आपकी मदद करता है।

ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल करने में शहद के फायदे

अगर आप रोजाना शहद का सेवन करेंगे तो आपका ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल में रहेगा। चीनी के सेवन से आपके शरीर पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। लेकिन अगर आप रोजाना सही मात्रा में शहद का सेवन करते हैं तो इससे कोई साइड इफेक्ट नहीं होता है। शहद में डेक्सट्रिन नाम का फाइबर होता है जो आपके शरीर में शुगर लेवल को कंट्रोल करने में मदद करता है।

जायफल और शहद के फायदे

आयुर्वेद में जायफल और शहद के फायदे से संबंधित बहुत सारी जानकारी दी गई है। गठिया का दर्द दूर करने से लेकर शहद के फायदे चेहरे पर लगाने की भी हैं। जी हां, जायफल को पीसकर शहद मिला लें। इसे चेहरे पर लगाने से चेहरे के दाग और धब्बे मिटते हैं।

दूध हल्दी और शहद के फायदे

इम्युनिटी बढ़ाने से लेकर डाइजेशन दुरुस्त बनाने तक हल्दी दूध बेहद फायदेमंद होता है। लेकिन दूध हल्दी और शहद के फायदे साथ में मिलकर और भी तेजी से अपना असर दिखाते हैं। यदि किसी का ब्लड शुगर लेवल हाई रहता है तो उसे रोजाना रात में दूध हल्दी और शहद इन तीनों को एक साथ लेना है। कहने का मतलब है कि हल्दी वाले दूध में चीनी की जगह शहद डालकर पीने से ज्यादा लाभ होते हैं।

milk and honey benefits in hindi

दूध और शहद के फायदे पुरुषों के लिए

रात में सोने से पहले गुनगुने दूध में शहद डालकर पीने से नींद अच्छी आती है और पाचन क्रिया भी दुरुस्त रहती है लेकिन इसी के साथ दूध और शहद के फायदे पुरुषों के लिए हिंदी भी देखने को मिलते हैं। इसका सेवन करने से पुरुषों को प्रोस्टेट कैंसर होने का खतरा कम हो जाता है।  

दालचीनी और शहद के फायदे इन हिंदी

इन दोनों (दालचीनी और शहद के फायदे इन हिंदी) के फायदे साथ में मिलकर और भी तेजी से असर दिखाते हैं। दालचीनी और शहद को गुनगुने पानी में डालकर पीने से हार्ट अटैक के जोखिम से बचा जा सकता है। वहीं दालचीनी और शहद को मिलाकर रोज खाने से गठिया रोग के दर्द में भी राहत मिलती है। इसके अलावा इन दोनों का साथ में सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल लेवल भी कम रहता है। कई अध्ययनों से तो ये भी यह पता चला है कि दालनीची पाउडर और शहद के नियमित सेवन से पॉलीसिस्टिक ओवरियन सिंड्रोम (PCOS) में राहत मिलती है।

कलौंजी और शहद के फायदे

कलौंजी और शहद के फायदे भी बहुत से हैं। इन्हें साथ में लेने से सेहत अच्छी रहती हैं औऱ स्मरण शक्ति भी बढ़ती है। कलौंजी के साथ, थोड़ा शहद मिला कर खाने से काफ़ी फ़ायदा होता है, अगर इसे गर्म पानी में पिया जाए, तो यह और लाभदायक होता है।

अदरक और शहद के फायदे

अदरक और शहद के फायदे के बारे में ज्यादातर लोग जानते हैं कि इसके सेवन से कैसी भी खांसी हो जल्द ठीक हो जाती है। NCBI ने भी खुद इस बात की पुष्टि की है कि अदरक और शहद में ऐसे औषधीय गुण मौजूद हैं जो सर्दी, खांसी और जुकाम की समस्या से राहत दिला सकते हैं और इसके जोखिम को भी कम कर देते हैं।

शहद को कैसे खाना चाहिए

हम में से ज्यादातर लोगों को शहद खाना पसंद करते है, इसका स्वाद बहुत अच्छा होता है और यहां तक की बच्चे शहद खाना बहुत पसंद करते है। लेकिन शहद को कैसे खाना चाहिए, इसे खाने का सही तरीका और कितनी मात्रा में खाना चाहिए? ये नहीं जानते हैं। वैसे इसके बारे में हर किसी को जानकारी होनी ही चाहिए क्योंकि शहद के फायदे और नुकसान (shahad ke fayde) दोनों ही होते हैं। तो आइए जानते हैं कि शहद को कैसे खाना चाहिए –

shahad khane ke fayde

  • एक साल से कम उम्र के बच्चों को शहद कभी नही देना चाहिए क्योकि कभी-कभी यह उनके पेट में हानिकारक बैक्टीरिया बनाता है जो की उनके लिए बहुत खतरनाक हो सकता है। 
  • 1 साल के पूरे होने के बाद ही बच्चों को शहद खिला सकते हैं ये उनके लिए सुरक्षित होता है।
  • वयस्क या फिर बुजुर्ग दूध में चीनी की जगह शहद ले सकते हैं।
  • सलाद में मिलाकर आप इसे सर्व कर सकते है।
  • आप चाहें तो रोजाना 1 से 2 चम्मच शहद को सीधे तौर पर भी खा सकते हैं।
  • खाली पेट 1 गिलास गुनगुने पानी में शहद और नींबू मिलाकर पी सकते हैं, इससे वजन नियंत्रित रहता है।
  • ब्लैक या लेमन टी में आप चीनी की जगह शहद का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • इसके अलावा आप चीनी की जगह बहुस सी स्वीट डिश शहद डालकर बना सकते हैं, ये नुकसान नहीं करता है।

शहद के नुकसान – Side Effects of Honey in Hindi

 

इसमें तो कोई दो राय नहीं है कि शहद के फायदे और नुकसान दोनों ही हैं। अगर आप सही मात्रा में शहद का सेवन करते हैं तो यह आपकी सेहत को नुकसान नहीं पहुंचाता है। शहद आयुर्वेद में सबसे प्रभावी उपचारों में से एक है। लेकिन कुछ चीजों के साथ इसे कभी नहीं खाना चाहिए। ऐसा करने से यह फायदा पहुंचाने के बजाय नुकसानदायी हो सकता है. आयुर्वेद के अनुसार यहां जानिए किन चीजों के साथ शहद का सेवन कभी नहीं करना चाहिए। तो आइए जानते हैं ऐसी कौन सी चीजें हैं जिनके साथ शहद खाने से शरीर को नुकसान पहुंच सकता है।

Side Effects of Honey in Hindi

गर्म पानी में शहद के नुकसान

 

शहद की तासीर वैसे भी गरम होती है। तो इसीलिए इसे ज्यादा गर्म पानी के साथ नहीं लेना चाहिए। गर्म पानी में शहद डालकर पीने से पेट गड़बड़ हो जाता है और दस्त की समस्या होने लगती है।

नॉनवेज के साथ शहद के नुकसान

 

नॉनवेज में खासतौर पर मछली और मीट के साथ शहद का सेवन नहीं करना चाहिए। मांस, मछली के साथ शहद का सेवन करना जहर के समान माना जाता है। इससे सफेद दाग होने की आशंका रहती है। साथ ही ध्यान रखें कि नॉनवेज खाने के 1 घंटे पहले और बाद तक शहद का सेवन न करें।

घी और शहद साथ खाने के नुकसान

 

घी और शहद समान मात्रा में मिलाकर खाने से वो सांप के जहर से भी ज्यादा जहरीला हो जाता है। शहद का गर्म करके खाना भी जहर खाने जैसा ही होता है।

शहद के अन्य नुकसान

 

गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को शहद का बिल्कुल सीमित मात्रा में सेवन करना चाहिए। इसके ज्यादा सेवन से आपको कई तरह की तकलीफें हो सकती है। खासतौर पर गर्भवती महिलाएं को, क्योंकि शहद की तासीर गर्म होती है और इसके ज्यादा सेवन से गर्भपात का खतरा हो सकता है। इसके अलावा ब्लड प्रेशर के मरीज या फिर वो लोग जिनका ब्लड शुगर लेवल अनियंत्रित रहता है उनके लिए भी शहद का ज्यादा सेवन नुकसानदायक साबित हो सकता है।

ये भी पढ़ें – सौ रोगों की एक दवा है नोनी जूस, जानिए इसके फायदे 

शहद से जुड़े सवाल-जवाब FAQs

shahad ke fayd

असली शुद्ध शहद की पहचान कैसे करें?

असली या शुद्ध शहद की पहचान करने का सबसे सरल तरीका है आग से शहद की शुद्धता की चांज करना। इसके लिए माचिस की तीली के मसाले लगे भाग को काट दें और उस पर रूई लपेट कर ऊपर से शहद लगा दें। फिर इस शहद लगी रूई को मोमबत्ती की आंच पर रखें, अगर रुई जलने लगे, तो शहद शुद्ध है। अगर जलने में समय लेती है, तो शहद में पानी की मिलावट हो सकती है।

शहद कब और कैसे खाएं?

शहद का सेवन उस वक़्त नहीं किया जाना चाहिए जब आप गर्म वातावरण में काम कर रहे है या जहां आप अधिक गर्मी के संपर्क में है। शहद को गर्म खाद्य पदार्थों के साथ नहीं मिलाया जाना चाहिए। शहद की दैनिक खुराक एक व्यक्ति के लिए चिकित्सा के दौरान 100 ग्राम, दिन के दौरान 30-35 ग्राम और रात में 25-30 ग्राम होनी चाहिए।

शहद की तासीर कैसी होती है?

शहद की तासीर गर्म होती है इसीलिए इसे अधिक मात्रा में नहीं लेना खाना चाहिए। इसका सेवन बहुत ज्यादा गर्म तासीर वाले खाद्य पदार्थों के साथ भी नहीं करना चाहिए।

शहद कितने साल तक खराब नहीं होता?

शुद्ध शहद की कोई एक्सपायरी डेट होती ही नहीं है। नेशनल हनी बोर्ड के अनुसार, अगर इसे एयरटाइट कंटेनर में सील बंद करके रख दें, तो यह अनंत काल तक खराब नहीं होता है।

शहद को किन चीजों के साथ नहीं खाना चाहिए? 

शहद को गर्म खाद्य पदार्थों के साथ मिलाकर सेवन नहीं करना चाहिए। इसके अलावा शहद को फर्मेन्टेड पेय पदार्थ जैसे व्हिस्की, रम, ब्रांडी, घी और सरसों जैसे पेय पदार्थ के साथ नहीं मिलाना चाहिए। घी, तेल, मक्खन के साथ शहद मिलाकर खाना किसी जहर से कम नहीं है।