माइग्रेन के लक्षण और उपाय - Migraine Symptoms in Hindi

Migraine Symptoms in Hindi

आज की भागदौड़ वाली जिंदगी में लोगों में तनाव की समस्या काफी हद तक बढ़ गई है। हर छोटी- बड़ी बात की टेंशन लेने का सीधा असर स्वास्थ्य पर पड़ता है। इसी वजह से हर उम्र के लोगों में सिरदर्द की समस्या काफी आम हो गई है। सिर में रहने वाला दर्द अक्सर कई बार माइग्रेन (migraine) का विकराल रूप ले लेता है। यह एक न्यूरोलॉजिकल (neurological) समस्या है, जिसमें सिर के आधे हिस्से में तेज़ दर्द होने के साथ ही उल्टी भी आने लगती है। माइग्रेन की समस्या (mygrain problem in hindi) आमतौर पर पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं में ज्यादा देखी जाती है। जानें, माइग्रेन के असहनीय दर्द की वजह, लक्षण, माइग्रेन में परहेज, माइग्रेन के लिए योग व माइग्रेन दूर करने के सभी उपाय (migraine treatment at home in hindi)।


माइग्रेन क्यों होता है - Causes of Migraine in Hindi


माइग्रेन के लक्षण - Symptoms of Migraine in Hindi


माइग्रेन के घरेलू उपाय - Home Remedies of Migraine in Hindi


माइग्रेन में ये तरीके भी आज़माएं - Other Migraine Treatment in Hindi


माइग्रेन से बचने के उपाय - Sir Dard ka Ilaj


माइग्रेन में ऐसी हो आपकी डाइट - Migraine Diet in Hindi


योगा टिप्स से करें माइग्रेन का इलाज - Yoga for Migraine in Hindi


माइग्रेन के दर्द को बढ़ाते हैं ये आहार - Food to avoid in Migraine in Hindi 


माइग्रेन क्या होता है? - What is Migraine in Hindi?


माइग्रेन सिरदर्द (headache) की ऐसी बीमारी है, जिसमें आमतौर पर सिर के आधे हिस्से में दर्द होता है। यूं तो यह दर्द आता- जाता है पर कभी- कभी पूरे सिर में भी हो सकता है। यह दर्द कुछ मिनटों से लेकर कुछ दिनों तक जारी रह सकता है। माइग्रेन को एक न्यूरोलॉजिकल स्थिति माना जाता है, जिसमें व्यक्ति को उलटी आती है, जुकाम हो जाता है और चेहरे के आसपास हलचल महसूस होती है।


डिप्रेशन के लक्षण, इलाज और बचाव के तरीके


कई बार सामान्य स्थिति से अचानक तनाव भरे माहौल में पहुंचने से सिर में दर्द होने के साथ ही ब्लड प्रेशर भी हाई हो जाता है। ऐसे में डॉक्टर से परामर्श लेने के बाद ही ढंग से पता चल सकता है कि यह माइग्रेन है या नहीं क्योंकि हर सिरदर्द माइग्रेन नहीं होता है। माइग्रेन की समस्या का कारण हर किसी के लिए अलग होता है। माइग्रेन को आनुवांशिक माना जाता है और यह किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकता है। माइग्रेन दो तरह का होता है, क्लासिकल माइग्रेन और नॉन क्लासिकल माइग्रेन। क्लासिकल माइग्रेन होने की स्थिति में व्यक्ति को सिरदर्द शुरू होने से पहले कुछ चेतावनी भरे लक्षण दिखने लगते हैं। वहीं, नॉन क्लासिकल माइग्रेन में समय- समय पर बहुत तेज़ सिरदर्द होने लगता है पर इसके कोई दूसरे लक्षण नज़र नहीं आते हैं। हालांकि, दोनों ही प्रकार के माइग्रेन में डॉक्टर के परामर्श अनुसार दवाइयां लेना उचित होता है। माइग्रेन के दर्द में अपनी मर्ज़ी से कोई भी पेन किलर लेने से बचना चाहिए।


migraine symptoms, treatments, causes, home remedies


माइग्रेन क्यों होता है - Causes of Migraine in Hindi


माइग्रेन में होने वाले सिरदर्द के कई कारण हो सकते हैं। कई बार यह दर्द तेज़ रोशनी, कोई खास तरह की खुशबू, अत्यधिक तनाव या शोर के कारण भी उठ सकता है। जानें, माइग्रेन के दूसरे कारण।


  • हाई ब्लड प्रेशर

  • नींद पूरी न होना

  • ज्यादा तनाव लेना

  • पेन किलर यानि कि दर्द निवारक दवाइयों का अधिक सेवन

  • मौसम में बदलाव

  • किसी विशेष चीज़ से एलर्जी

  • धुआं

  • हॉर्मोनल चेंज या अनियमित पीरियड्स

  • बर्थ कंट्रोल पिल्स का नियमित सेवन

  • मछली, मूंगफली, खट्टे फल या अचार का सेवन


हर किसी में माइग्रेन का दर्द उठने का कारण अलग होता है। इलाज शुरू करवाने से पहले बेहतर रहेगा कि आप उस दर्द की वजह को जान लें।


कैल्शियम के स्रोत


Girl suffering from migraine pain


माइग्रेन के लक्षण - Symptoms of Migraine in Hindi


ज्यादातर बीमारियों में बीमारी के शुरू होने से पहले उसके लक्षण नज़र आने लगते हैं, जिससे उसके बचाव के तरीके और निवारण के उपाय समझ में आने लगते हैं। जानिए, माइग्रेन के लक्षण और उपाय।


  • भूख कम लगना

  • किसी काम में मन न लगना

  • पूरे या आधे सिर में तेज़ दर्द

  • पसीना अधिक आना

  • उल्टी आना या जी मिचलाना

  • तेज़ आवाज़ या रोशनी से घबराहट होना

  • कमज़ोरी महसूस होना

  • आंखों में दर्द होना

  • धुंधला दिखाई पड़ना

  • खाने की कुछ चीज़ों से एलर्जी होना


मानसिक तनाव दूर करने के उपाय


माइग्रेन के घरेलू उपाय - Home Remedies of Migraine in Hindi


वैसे तो माइग्रेन का दर्द उठने की स्थिति में डॉक्टर को दिखा लेना बेहतर होता है पर अगर आप कुछ होम रेमेडीज फॉर माइग्रेन को भी ध्यान में रखना चाहते हैं तो इसमें कोई बुराई नहीं है। जानें, माइग्रेन का दर्द दूर करने के घरेलू उपाय (migraine treatment in hindi at home)।


Home remedies for migraine pain


1. देसी घी


माइग्रेन के असहनीय दर्द को दूर भगाने के लिए रोज़ाना शुद्ध देसी घी की 2- 2 बूंदें नाक में डालें।


2. लौंग पाउडर


सिर में बहुत तेज़ दर्द हो रहा हो तो लौंग पाउडर में नमक मिलाकर दूध के साथ पिएं।


3. सेब


माइग्रेन से जल्दी छुटकारा पाने के लिए रोज़ सुबह खाली पेट सेब का सेवन करें।


4. पालक और गाजर का जूस


दर्द को मिनटों में गायब करने के लिए पालक और गाजर का जूस पिएं।


5. नींबू का छिलका


नींबू के छिलके को धूप में सुखाकर उसका पेस्ट बना लें। अब इस पेस्ट को माथे पर लगा लें, दर्द में जल्दी आराम मिलेगा।


Lemon for migraine treatment


6. अदरक


1 चम्मच अदरक के रस में शहद मिला लें। इस मिक्सचर को पीने से जल्दी फायदा मिलता है। माइग्रेन के दर्द को दूर करने के लिए चाय में अदरक डालकर पिएं या अदरक का टुकड़ा मुंह में रख लें। अदरक का किसी भी रूप में सेवन करने से फायदा मिलता है।


7. खीरा


खीरे की स्लाइस को सिर पर रगड़ने या सूंघने से भी माइग्रेन के दर्द में आराम मिलता है।


8. अंगूर का जूस


ताज़े अंगूर को पानी के साथ पीस लें। दर्द से राहत पाने के लिए इस जूस को दिन में दो बार पिएं। इसमें फाइबर, विटामिन ए, विटामिन सी के साथ कार्बोहाइड्रेट भी काफी मात्रा में पाया जाता है।


9. दालचीनी


यह एक ऐसा मसाला है, जो खाने का टेस्ट बढ़ाने के साथ ही माइग्रेन का सफल इलाज (how to cure migraine permanently in hindi) भी करता है। दालचीनी को पानी के साथ पीसकर आधे घंटे तक माथे पर लगाए रखें। जल्दी आराम मिलेगा।


10. मसाज


तेल को हल्का गर्म कर लें। सिर के जिस हिस्से में दर्द हो रहा हो, वहां पर हल्के हाथों से मालिश करवा लें। हेड मसाज के साथ ही हाथ- पैर, गर्दन व कंधे की मालिश भी करवाएं।


अरंडी के तेल के इन फायदों को जानकर हैरान रह जाएंगे आप


माइग्रेन में ये तरीके भी आज़माएं - Other Migraine Treatment in Hindi


ऊपर बताए गए घरेलू उपायों के अलावा कुछ और भी माइग्रेन से बचने के उपाय हैं (migraine ka ilaj in hindi), जिनसे माइग्रेन के दर्द से छुटकारा पाया जा सकता है।


1. आइस पैक - एक साफ तौलिए पर बर्फ के कुछ टुकड़े रखें और उससे सिर, माथे और गर्दन के पीछे 10- 15 मिनट तक सिकाई करें। आप बर्फ पर पेपरमिंट ऑयल की कुछ बूंदें भी डाल सकते हैं।


2. तिल का तेल - माइग्रेन के दर्द को दूर करने के लिए तिल के तेल में एक टुकड़ा दालचीनी और 1- 2 इलायची डालकर गर्म कर लें। इस तेल से मालिश करने पर सिरोटोनिन बढ़ता है, जिससे दर्द कम होता है।


sesame oil beneficial for migraine


सौंदर्य और सेहत की कुंजी है तिल का तेल


3. पेपरमिंट - इसका फायदा है कि यह सूजन को कम करके शांति और स्थिरता का भाव देता है। माइग्रेन के दर्द में पेपरमिंट की चाय पिएं या आधे ग्लास पानी में पेपरमिंट ऑयल की कुछ बूंदें और शहद मिलाकर भी पी सकते हैं। पेपरमिंट ऑयल से 20- 25 मिनट तक सिर और माथे की मालिश भी की जा सकती है।


4. सेब का सिरका - एक ग्लास पानी में एक छोटा चम्मच सेब का सिरका (एपल लाइडर विनेगर) और एक चम्मच सहद मिलाकर पिएं। जब भी माइग्रेन का दर्द हो या लगे कि दर्द शुरू होने वाला हो तो इस 2- 3 चम्मच पी लें।


5. माइग्रेन अटैक - दर्द शुरू हो जाने की स्थिति में मरीज को बेड पर लिटा दें। सिर के जिस भाग में दर्द हो रहा हो, उस तरफ की नाक में सरसों के तेल की कुछ बूंदें डालें और मरीज को ज़ोर से सांस को ऊपर की ओर खींचने को कहें।


6. कपूर - गाय के दूध से बने देसी घी में थोड़ा सा कपूर मिलाकर सिर की मालिश करने से भी सिरदर्द कम हो जाता है


7. पानी - माइग्रेन होने की स्थिति में व्यक्ति को ज्यादा से ज्यादा पानी पीना चाहिए।


8. बंदगोभी - माइग्रेन का दर्द शुरू होने पर बंदगोभी की पत्तियों को पीसकर उसका पेस्ट अपने माथे पर लगाएं।


9. भूखे न रहें - माइग्रेन का दर्द होने की स्थिति में ज्यादा देर तक भूखे रहने से बचना चाहिए। थोड़ी- थोड़ी देर में कुछ- कुछ खाते रहें।


10. भरपूर नींद - माइग्रेन का दर्द होने पर किसी खाली कमरे में लेट कर शांत मन से सोने की कोशिश करें।


हर्बल टी पीने के फायदे


माइग्रेन से बचने के उपाय - Sir Dard ka Ilaj


माइग्रेन से पीड़ित व्यक्ति को कभी भी इसका अटैक पड़ सकता है। ऐसी स्थिति में हमेशा उन उपायों (maigren ke upay) पर गौर फरमाना चाहिए, जिनसे आप माइग्रेन के अटैक से अपना बचाव कर सकते हैं।


1. तेज़ धूप होने की स्थिति में घर से बाहर निकलने से बचें।


2. तेज़ खुशबू वाले परफ्यूम या डियो न लगाएं।


3. तेज़ रोशनी से दूर रहें। सोते समय भी कमरे की लाइट बंद करके सोएं।


4. अपनी नींद में किसी तरह की कमी या खलल न पड़ने दें। शांत वातावरण में पर्याप्त नींद लेने की कोशिश करें।


migraine headache treatment at home in hindi


5. तनाव के कारण भी माइग्रेन हो सकता है। माइग्रेन से बचने के लिए मेडिटेशन, योग व एक्सरसाइज़ को अपनी नियमित दिनचर्या में शामिल करें।


6. कहीं रोशनी कम होने की स्थिति में किसी भी तरह का बारीक काम करने से बचें।


7. हर रोज़ 12- 15 ग्लास पानी पिएं। रात को तांबे के बर्तन में पानी रखें और सुबह खाली पेट पी लें।


एचआईवी एड्स क्या है, जानें इसके कारण, लक्षण और बचने के उपाय


8. तापमान में तेज़ बदलाव से बचें, मसलन एसी से अचानक गर्म माहौल में न जाएं या धूप से आकर ठंडा पानी न पिएं।


9. बरसात या उमस के मौसम में ऐसी चीज़ों का सेवन करने से बचें, जिनसे पसीना ज्यादा निकलता हो, मसलन चाय या कॉफी।


10. गर्भनिरोधक गोलियां लेने से बचें क्योंकि ओरल पिल्स में प्रोजेस्टेरॉन (projesterone) की मात्रा अधिक होती है, जिससे हॉर्मोन असंतुलित हो जाते हैं। हॉर्मोन (hormone) के असंतुलित होने से माइग्रेन की आशंका बढ़ जाती है।


माइग्रेन में ऐसी हो आपकी डाइट - Migraine Diet in Hindi


माइग्रेन व किसी भी बीमारी का इलाज डाइट में सुधार करके किया जा सकता है। दवाइयों पर निर्भर रहने के बजाय हमेशा पहले उन उपायों पर ध्यान देना चाहिए, जिन्हें हम खुद अपनी सहूलियत के हिसाब से आज़मा सकते हैं। माइग्रेन के लक्षण (migraine symptoms in hindi) नज़र आने या घर में किसी को माइग्रेन होने की स्थिति में ऐसी होनी चाहिए आपकी डाइट।


इन 5 खास टिप्स से रखें लीवर को स्वस्थ


1. डाइट में ज्यादा से ज्यादा लिक्विड शामिल करें, जैसे कि सूप, नींबू पानी, छाछ, लस्सी, नारियल पानी आदि।


2. नमक की मात्रा कम से कम कर दें।


3. डाइट में फल और हरी पत्तेदार सब्ज़ियां बढ़ा दें।


Leafy vegetables for migraine treatment


4. चाय, कॉफी व कोल्ड ड्रिंक ज्यादा लेने से माइग्रेन बढ़ सकता है।


5. माइग्रेन होने की स्थिति में ज्यादा तला- भुना खाने से बचें।


6. माइग्रेन में व्रत रखना भी काफी कष्टदायी हो सकता है।


7. कुछ विशेष तरह के चीज़, प्रोसेस्ड मीट और बहुत ज्यादा नमक वाला खाना खाने से भी माइग्रेन होने की आशंका बढ़ती है।


8. प्रोसेस्ड व डिब्बाबंद फूड आइटम्स खाने से बचें।


9. पिज्जा, बर्गर, भटूरे व कुकीज़ जैसे खमीर वाले कुछ फूड आइटम्स भी नुकसान कर सकते हैं।


10. उचित व संतुलित खानपान के साथ ही पानी की मात्रा को भी बढ़ा दें।


योगा टिप्स से करें माइग्रेन का इलाज - Yoga for Migraine in Hindi


योग व मेडिटेशन (meditation) करने से मन शांत रहता है और तनाव कम होता है। माइग्रेन होने की स्थिति में रोज़ाना 30 मिनट योगासन और प्राणायाम ज़रूर करें। 10 मिनट मेडिटेशन करना भी काफी कारगर साबित हो सकता है। आप चाहें तो सिर दर्द के लिए योगासन (migraine ke liye yoga) करके भी दर्द से छुटकारा पा सकते हैं।


Shilpa shetty doing yoga for migraine


बॉलीवुड की ये एक्ट्रेस हैं योग क्वीन


  • अनुलोम विलोम प्राणायाम

  • अधो मुखा सवनआसना

  • सेतु बंधा

  • शिशुआसन

  • जानु सिरसासन


माइग्रेन के दर्द को बढ़ाते हैं ये आहार - Food to avoid in Migraine in Hindi


माइग्रेन एक बेहद आम बीमारी हो गई है और इसका दर्द असहनीय होता है। बदलती जीवनशैली व कुछ गलत आदतों के कारण ही हम माइग्रेन से पीड़ित हो जाते हैं। हमारी डाइट (diet) में कुछ ऐसी चीज़ें हैं, जो जाने- अनजाने माइग्रेन के दर्द को बढ़ावा देती हैं। जानें, उनके बारे में।


1. बीन्स (Beans) - मटर की फली, इटैलियन बीन्स, टोफू, सोया सॉस व बीन्स खाने से माइग्रेन का दर्द बढ़ सकता है।


2. पनीर - माइग्रेन होने पर पनीर व उससे बनी कोई भी चीज़ खाने से बचना चाहिए।


3. ऑलिव ऑयल (Olive Oil) - माना जाता है कि माइग्रेन से पीड़ित व्यक्ति को जैतून का तेल इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।


Olive oil- migraine home remedy in hindi


4. अचार - ऐसी स्थिति में अचार या कुछ भी खट्टा खाने से बचें।


5. मिर्ची - माइग्रेन अटैक (Migraine Attack) पड़ने पर ज्यादा तला- भुना या मिर्ची वाला भोजन न खाएं।


6. सूखा मेवा - अखरोट, मूंगफली, बादाम, काजू व किशमिश जैसे सूखे मेवों में सल्फाइट्स पाए जाते हैं, जिनसे माइग्रेन के दर्द को बढ़ावा मिल सकता है।


Walnut- migraine ka ilaj


7. एवोकैडो और आलूबुखारा - माइग्रेन के दौरान लाल आलूबुखारा और एवोकैडो (avocado) भी उसके दर्द को बढ़ा सकते हैं।


8. पिज्जा (Pizza) - कई फास्ट फूड में से पिज्जा भी एक है, जो इस दर्द को बढ़ा सकता है।


9. शराब - माइग्रेन का दर्द होने की स्थिति में शराब (alcohol) पीकर दर्द को कम करने की कोशिश न करें क्योंकि इस दर्द के दौरान शराब का सेवन करने से दिमाग में रक्त का संचार ठीक ढंग से नहीं हो पाता है।


10. खट्टे फल - संतरा जैसे खट्टे फल व केले का सेवन करने से भी बचें।


खुश रहें, स्वस्थ रहें!


ये भी पढ़ें - 


उल्टी रोकने के उपाय


सेक्स के अलावा सौंदर्य और सेहत के लिए भी बेहद फायदेमंद है खजूर


घर में हेयर स्पा करने के आसान तरीके


बालों के लिए चमत्कारी है दही, जानिए उसके सभी फायदे


बहुत फायदेमंद है नारियल का तेल


प्राइमर क्या है और उसे लगाने का सही तरीका


जानिए PCOS PCOD से जुड़ी सभी जानकारी