घी के फायदे, सौंदर्य से लेकर सेहत तक - Ghee Khane ke Fayde

Ghee Khane ke Fayde

भारत में खान-पान के मामलों में घी के फायदे को नकारा नहीं जा सकता है। जहां एक तरफ घी के तड़के मात्र से दाल और कढ़ी का स्वाद बढ़ जाता है, वहीं दूसरी तरफ यही घी कई तरह की स्वास्थ्य व सौंदर्य समस्याओं का निदान भी करता है। घी के सेवन को लेकर कई तरह की भ्रांतियां भी फैली हुई हैं, जिसकी वजह से आज की जेनरेशन कई बार इसके सेवन से बचने लगती है। जहां कुछ लोग घर में घी desi ghee बनाते हैं तो वहीं कुछ लोग गाय का घी (cow ghee) फायदेमंद मानते हैं। इस आर्टिकल में हम आपको घी के सभी फायदों से लेकर उसके नुकसानों के बारे में भी बताएंगे, जिससे आप अपने स्वास्थ्य का बेहतर ख्याल रख सकें। 

Table of Contents

    सेहत के लिए घी के फायदे - Health Benefit of Ghee in Hindi

    आयुर्वेद की दुनिया में घी को औषधि के बराबर दर्जा दिया गया है। खान-पान के अलावा पूजा-पाठ में भी इस्तेमाल किए जाने वाले घी को काफी सात्विक माना जाता है। आपकी रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के साथ ही घी दिमाग को शांत रखने और पाचन क्रिया को सुचारु बनाए रखने के काम भी आता है। कुछ लोगों के मन में सवाल होता है कि क्या घी खाने से सेहत को लाभ पहुंचता है (is ghee good for health)? जानिए, अच्छी सेहत के लिए घी के फायदे (ghee ke fayde)।

    वजन बढ़ाने में सहायक

    घी दुर्बल लोगों के लिए विशेष रूप से काफी फायदेमंद माना जाता है। घी में कुछ ऐसे तत्व पाए जाते हैं, जो आपका वज़न बढ़ाने में कारगर साबित हो सकते हैं।

    पाचन के लिए

    पेट की परत को ठीक कर घी आपकी पाचन क्रिया को सुचारु बना सकता है। यह आंतों की कोशिकाओं को पोषण देता है और सूजन को भी कम करता है, जिससे व्यक्ति के शरीर की पाचन क्रिया ठीक रहती है।

    गठिया दूर भगाए

    किसी भी तरह के सूजन वाले रोग से ग्रस्त लोगों को अपनी डाइट में घी ज़रूर शामिल करना चाहिए। इसमें ब्यूटिरिक एसिड पाया जाता है, जो सूजन को कम कर सकता है। सख्त जोड़ों पर घी की मालिश करने से सूजन और गठिया की कठोरता से बचा जा सकता है।

    ठीक होता मुंह का अल्सर

    मौखिक यानि मुंह में होने वाले अल्सर और जलन में राहत पहुंचाने के लिए ऑयल पुलिंग विधि का इस्तेमाल किया जाता है। इसमें घी से व्यक्ति के गले को साफ किया जा सकता है।

    हर्बल धूम्रपान के लिए

    कुछ लोगों को अक्सर कफ की शिकायत होती है। आयुर्वेद हर्बल स्मोकिंग प्रोसेस में घी का इस्तेमाल एक घटक के तौर पर किया जाता है, जिससे कफ की परेशानी से निजात पाई जा सकती है।

    रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाए

    घी में प्रचुर मात्रा में विटामिन ए पाया जाता है, जो कि एक बेहद शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट है। इसका सेवन करने से रोग प्रतिरोधक क्षमता मज़बूत होती है।

    हड्डियां बनें मजबूत

    विटामिन के 2 (K 2) से समृद्ध घी हड्डियों को मजबूत बनाता है। विटामिन के हड्डियों के चयापचय को नियंत्रित कर सकता है।

    ऊर्जा का संचार

    ऊर्जा और सहनशक्ति को बढ़ाने के लिए घी का सेवन करने की सलाह दी जाती है। एथलीट्स व ऊर्जा व्यय करने वाले क्षेत्रों से जुड़े लोगों को घी का सेवन ज़रूर करना चाहिए।

    घी खाने के फायदे - Ghee Khane ke Fayde

    ऊपर बताए गए फायदों के अलावा भी घी का सेवन सेहत के लिए काफी लाभदायक माना जाता है। इसे अपनी रोज़ाना की डाइट में ज़रूर शामिल किया जाना चाहिए। जानिए, घी खाने के फायदे (ghee khane ke fayde)।
    1. अगर आपको धूल से एलर्जी होती हो और किसी काम से घर से बाहर निकलना पड़े तो नाक के भीतरी हिस्से पर घी की एक परत लगाकर निकलें।

    2. घी को काफी शुभ माना जाता है। हिंदू रीति-रिवाज में कई घरों में भोजन परोसने से पहले उस पर घी छिड़का जाता है।
    3. घी खाने के फायदे में मानसिक शांति से जुड़े फायदे भी शामिल हैं। सिर में घी की मालिश करने से मन को शांत रखने में काफी मदद मिलती है। 
    4. शरीर के किसी भी हिस्से की पियर्सिंग करवाने के बाद उस जगह की जलन और दर्द को कम करने के लिए वहां घी लगाने की सलाह दी जाती है।  सिर्फ इतना ही नहीं, पियर्सिंग की प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए प्रोसेस शुरू करने से पहले भी वहां घी लगाया जाना फायदेमंद रहता है।
    5. अगर शरीर में कहीं घाव हो गया हो तो उसे तुरंत भरने, ठंडक देने और खून का रिसाव रोकने के लिए भी घी का इस्तेमाल किया जा सकता है। 

    चेहरे पर घी लगाने के फायदे - Benefits of Ghee for Face in Hindi

    स्वास्थ्य के लिए घी के फायदों के बारे में तो हम सभी जानते हैं और अपनी रोज़ाना की डाइट में उसका इस्तेमाल भी करते हैं। हालांकि, क्या आप जानते हैं कि शरीर को स्वस्थ रखने के साथ ही घी हमारी त्वचा की सेहत को भी दुरुस्त रखता है। चेहरे की नमी बरकरार रखने के साथ ही घी का इस्तेमाल त्वचा के लिए कई मायनों में फायदेमंद साबित हो सकता है। चेहरे से लेकर होंठों तक के लिए घी काफी लाभदायक माना जाता है। इसका इस्तेमाल ड्राई स्किन वालों के लिए खासतौर पर काफी हितकर रहता है। जानिए, घी के सौंदर्य संबंधी सभी फायदे।

    चेहरे पर घी कैसे लगाएं

    चेहरे का सौंदर्य बढ़ाने के लिए त्वचा पर कई तरह से घी लगाया जा सकता है। जानिए, त्वचा पर घी लगाने से आपको क्या-क्या फायदे मिल सकते हैं।
    1. त्वचा होगी रिफ्रेश
    त्वचा की चमक बढ़ाने के लिए नहाने से पहले शुद्ध घी की 2 बूंदों से चेहरे की मसाज करें। चेहरे पर घी की मालिश करने से उसकी चमक बढ़ जाती है।

    2. डार्क सर्कल्स हों खत्म
    नींद पूरी न हो पाने और अत्यधिक तनाव लेने की स्थिति में आंखों के नीचे काले घेरे बन जाना स्वाभाविक है। डार्क सर्कल्स की समस्या से बचने के लिए रात को सोने से पहले शुद्ध देसी घी की कुछ बूंदों से अपनी आंखों के आस-पास की त्वचा पर मालिश करें और सुबह उठने के बाद साफ पानी से धो लें।

    3. लिप बाम का सब्सटिट्यूट
    अगर आपके होंठ ड्राई हों या उनके फटने की समस्या हो तो रात में होंठों पर देसी घी की कुछ बूंदें लगाएं। इससे होंठ मुलायम हो जाते हैं और उनमें नमी भी बरकरार रहती है।

    4. बेहतरीन मॉइश्चराइज़र है घी
    हम सभी बाज़ार में मिलने वाले मॉइश्चराइज़र का इस्तेमाल करते हैं। अगर आप चाहें तो उस मॉइश्चराइज़र के बजाय घी का प्रयोग भी कर सकते हैं। रोज़ सुबह नहाने से पहले आधा चम्मच घी से त्वचा की मालिश करें। इससे त्वचा मुलायम होगी और उसे नमी भी प्रदान होगी।
    5. घी से बनाएं फेस पैक
    एक चम्मच बेसन में घी की कुछ बूंदें और दूध मिलाकर फेस पैक बना लें। इसे अपने चेहरे पर लगाएं और लगभग 15 मिनट बाद चेहरा धो लें।

    6. झुर्रियां दूर भगाए
    घी में पाया जाने वाला विटामिन ई झुर्रियों को दूर भगाने में मदद करता है। 

    बालों के लिए घी के फायदे - Benefits of Ghee for Hair in Hindi

    घी के स्वास्थ्य और सौंदर्य संबंधी फायदों की तरह ही बालों के लिए भी घी के फायदों को नकारा नहीं जा सकता है। आज के समय में जब हर चीज़ में मिलावट पाई जाती है तो हमें कोशिश करनी चाहिए कि हम ज्यादा से ज्यादा नैचुरल चीज़ों से युक्त चीज़ों का इस्तेमाल करें। अगर आप बालों संबंधी किसी भी समस्या से परेशान हैं और उनकी सेहत को लेकर चिंतित भी तो जानिए कि घी से बालों को किस तरह से फायदा मिल सकता है।

    बालों में घी कैसे लगाएं

    प्रदूषण और केमिकल युक्त पदार्थों का लगातार इस्तेमाल हमारे बालों को रूखा और बेजान बना देता है। इसकी वजह से बालों में रूसी, उनके दोमुंहे होने जैसी समस्याएं भी होने लगती हैं। जानिए, बालों में घी लगाने के फायदे।
    1. बालों में रूसी हो जाने की स्थिति में बालों की जड़ों में घी और बादाम के तेल से मालिश करने से रूसी को खत्म किया जा सकता है। 
    2. अगर दोमुंहे बालों की समस्या से परेशान हों तो एक चम्मच घी को गर्म करें और दोमुंहे बालों पर लगा लें, फिर 1 घंटे बाद बाल धो लें।

    3. घी में अनरिफाइंड फैट पाया जाता है, जो बालों को चमकदार बनाता है। 
    4. बालों के रूखेपन को खत्म करने के लिए जैतून के तेल की कुछ बूंदों में ज़रा सा देसी घी मिलाकर मिश्रण बना लें। इस मिश्रण से सिर की मसाज करें और लगभग 15 मिनट बाद बाल धो लें। इससे वे मुलायम भी बनते हैं। 
    5. बालों की लंबाई बढ़ाने के लिए घी में आंवला या प्याज का रस मिला लें और फिर उससे बालों की मालिश करें। 15 दिनों में एक बार ऐसा करने से बाल लंबे और खबसूरत बन सकते हैं।

    6. अगर आप बालों को प्राकृतिक चमक प्रदान करना चाहते हैं तो घी को हल्का गुनगुना करें और 20 मिनट तक उससे बालों की मसाज करने के बाद उनमें नींबू का रस लगाकर कुछ देर के लिए छोड़ दें। 10 मिनट बाद बाल धो लें। 

    गर्भावस्था में घी के फायदे - Benefits of Ghee during Pregnancy in Hindi

    9 महीनों की गर्भावस्था के दौरान होने वाली मां अपनी सेहत को लेकर खासतौर पर चिंतित रहती है। किसी भी चीज़ को खाने-पीने या लगाने से पहले उसके दिमाग में यही सवाल होता है कि कहीं उसका इस्तेमाल उसे या उसके गर्भ में पल रहे शिशु को किसी तरह का नुकसान तो नहीं पहुंचाएगा। जानिए, गर्भावस्था में घी खाने के फायदे।

    मखाना के फायदे और नुकसान

    1. घी में एंटी वायरल गुण पाए जाते हैं, जो पाचन प्रणाली को मजबूत बनाते हैं। 
    2. घी में उचित कैलोरी पाई जाती है। प्रेगनेंसी के दूसरे और तीसरे सेमेस्टर में बच्चे के विकास के लिए 300 अतिरिक्त कैलोरी की ज़रूरत पड़ती है। घी में पाई जाने वाली कैलोरी होने वाले बच्चे के विकास में मदद करती है।
    3. अगर गर्भावस्था में सीमित मात्रा में घी का सेवन किया जाए तो शरीर को ज़रूरी पोषण मिलता रहता है। यह मूड को ठीक रखकर तनाव को भी दूर भगाता है।

    4. गर्भावस्था के दौरान घी कब्ज से राहत दिलाने में मदद करता है। 
    5. सीमित मात्रा में घी का सेवन करने से होने वाले बच्चे के मस्तिष्क का उचित विकास होता है और बच्चे को सही पोषण भी मिलता है।  

    घी खाने के तरीके - How to Eat Ghee in Hindi

    घी को तेल और मक्खन से अधिक फायदेमंद और स्वादिष्ट माना जाता है। कई घरों में रोज़ाना के नाश्ते से लेकर खाने तक में घी का इस्तेमाल किया जाता है। अगर आपको घी का सेवन करने के तरीके पता चल जाएंगे तो आप उससे मिलने वाले फायदों का सही इस्तेमाल उठा सकते हैं। जानिए, घी खाने के तरीके।

    1. अगर आप दाल या सब्ज़ी का स्वाद बढ़ाने के लिए उसमें मक्खन डालते हैं तो अब से उसकी बजाय घी डालना शुरू कर दीजिए।
    2. गर्म सूप में घी डाल कर लेने से उसका स्वाद दोगुना हो जाता है।
    3. अगर आप चाहें तो सुबह चाय या कॉफी पीने से पहले एक चम्मच घी का सेवन कर सकते हैं।

    4. दाल के साथ ही चावल में भी एक चम्मच घी मिलाने से उसका स्वाद तो बढ़ता ही है, सेहत के लिए भी फायदेमंद साबित होता है। 
    5. अपनी रोटी पर घी लगाएं और चाहें तो परांठे भी घी लगाकर सेंक सकते हैं।
    6. ताज़े पॉपकॉर्न पर पिघला घी डालकर खाने से वे बेहद स्वादिष्ट लगते हैं।

    7. लहसुन व अन्य मसालों को तलने के लिए भी घी का प्रयोग किया जा सकता है।
    8. कई बेकरी प्रोडक्ट्स को बनाने के लिए भी घी का उचित इस्तेमाल किया जाता है।

    9. एक चम्मच शुद्ध घी में एक चम्मच पिसी चीनी और ¼ चम्मच काली मिर्च का पाउडर मिलाकर सुबह खाली पेट और रात को सोने से पहले खाने से आंखों की रोशनी बढ़ती है। इसके बाद गर्म दूध पी सकते हैं।
    10. घी, छिलके सहित पिसा हुआ काला चना और पिसी चीनी को बराबर मात्रा में मिलाकर लड्डू बना लें।

    घी से होने वाले नुकसान - Side Effects of Ghee in Hindi

    जैसे हर सिक्के के दो पहलू होते हैं, उसी तरह हर फायदेमंद चीज़ का अत्यधिक सेवन भी आपको नुकसान पहुंचा सकता है। अगर आप स्वाद के चक्कर में घी का एक्सट्रा सेवन करते हैं या किसी स्वास्थ्य समस्या या एलर्जी के बावजूद घी के सेवन पर रोक नहीं लगाते हैं तो घी के नुकसान हो सकते हैं। जानिए, घी के नुकसान।

    1. कई बार घी का अत्यधिक सेवन कर लेने से पेट में भारीपन होने लगता है। अगर आपके साथ भी ऐसा हो रहा है तो एक कप गर्म पेय या छाछ का सेवन कर लें।
    2. सर्दी या कफ होने की अवस्था में घी का ज्यादा सेवन न करें।

    3. कई बार घी का अत्यधिक सेवन अपच या दस्त की समस्या बन सकता है।
    4. घी खाने से कुछ लोगों का वजन बढ़ने लगता है। अगर आपका वजन ज्यादा है तो घी का सेवन करने के बाद एक कप गर्म पानी पी लें और अगर भोजन में घी डाला गया है तो उसे गर्म ही खाएं।

    5. घी के ज्यादा सेवन से गर्भवती महिला और होने वाले शिशु का वजन सामान्य से अधिक बढ़ सकता है। 
    6. गर्भावस्था के अंतिम हफ्तों में घी के अधिक सेवन या फिजिकल एक्टिविटीज़ में कमी आ जाने से डिलीवरी के समय दिक्कतें हो सकती हैं। इसलिए हल्की-फुल्की फिजिकल एक्टिविटीज़ करते रहें।

    7. जॉन्डिस या लीवर से जुड़ी कोई बीमारी होने पर घी के इस्तेमाल से बचना चाहिए।
    8. गर्भवती महिलाओं के ठंड, अपच या कब्ज होने की स्थिति में उन्हें घी नहीं खाना चाहिए।   

    घी से जुड़े सवाल-जवाब

    घी की तासीर कैसी होती है?

    घी की तासीर आमतौर पर ठंडी होती है। इसीलिए एसिडिटी की समस्या से ग्रस्त लोगों को घी खाने की सलाह दी जाती है।

    सुबह खाली पेट देसी घी खाने के क्या फायदे हैं?

    रोज़ाना सुबह खाली पेट देसी घी खाने से त्वचा की चमक बढ़ती है, नमी बरकरार रहती है, समय से पहले उम्र बढ़ने से रुकती है, यह मोटापा घटाता है और बाल भी मज़बूत होते हैं।

    देसी घी के फायदे (Desi Ghee ke Fayde) क्या हैं?

    देसी घी (desi ghee) का सेवन करने से खाना आसानी से पच जाता है, वजन कम होता है और हॉर्मोन्स संतुलित रहते हैं।

    देसी घी के फायदे (Desi Ghee ke Fayde) क्या हैं?

    देसी घी (desi ghee) का सेवन करने से खाना आसानी से पच जाता है, वजन कम होता है और हॉर्मोन्स संतुलित रहते हैं।

    साइनस में गाय का घी फायदा पहुंचाता है?

    जी, बिल्कुल। गाय के घी के फायदे (cow ghee benefits) होते हैं। साइनस होने की स्थिति में घी का इस्तेमाल किया जाता है।

    ... अब आएगा अपना वाला खास फील क्योंकि POPxo आ गया है 4 भाषाओं में ... तो फिर देर किस बात की! चुनें अपनी भाषा - अंग्रेजी, हिन्दी, बांग्ला और मराठी... क्योंकि अपनी भाषा की बात अलग ही होती है।