Advertisement

xSEO

जानिए ओवेरियन सिस्ट के लक्षण और इसके घरेलू उपचार – Ovarian Cyst Symptoms & Home Treatment in Hindi

Supriya SrivastavaSupriya Srivastava  |  Nov 25, 2021
Ovarian Cyst in Hindi | ओवेरियन सिस्ट के लक्षण और उपचार

Advertisement

क्या आप अपने गर्भाशय या अंडाशय में सेंसेशन महसूस करती हैं? अगर हां तो आपको ओवेरियन सिस्ट (Ovarian Cyst in Hindi) हो सकता है। फंक्शनल सिस्ट हर महीने आपके मासिक धर्म चक्र के सामान्य भाग के रूप में विकसित हो सकते हैं। ये सिस्ट अपेक्षाकृत सामान्य हैं और आमतौर पर चिंता का कारण नहीं होते हैं। मगर ओवेरियन सिस्ट होने पर आपको तुरंत डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। हालांकि घर पर भी ओवेरियन सिस्ट के उपचार हो सकते हैं मगर इसके लिए आपको कुछ घरेलू उपाय अपनाने पड़ेंगे। मगर इन्हें जानने से पहले जान लेते हैं कि आखिर ओवेरियन सिस्ट है क्या? ओवेरियन सिस्ट के लक्षण (ovarian cyst ke lakshan) क्या हैं और किस कारण यह हो जाता है। 

ओवेरियन सिस्ट क्या है? – What is Ovarian Cyst in Hindi 

ओवेरियन सिस्ट क्या है? - What is Ovarian Cyst in Hindi

ओवेरियन सिस्ट (ovarian cyst in hindi) आपके अंडाशय में या उसके ऊपर ठोस या तरल पदार्थ से भरे पॉकेट होते हैं। यह उन महिलाओं में काफी आम हैं, जो गर्भवती हैं या जो अभी तक रजोनिवृत्ति से नहीं गुजरी हैं। ज्यादातर समय, वे दर्द रहित और हानिरहित होते हैं। इन्हें आप अपने मासिक धर्म चक्र के हिस्से के रूप में हर महीने प्राप्त कर सकती हैं और इसे कभी नहीं जान सकतीं। ये सिस्ट आमतौर पर बिना इलाज के अपने आप चले जाते हैं। मगर यह तब बड़ी समस्या बन सकते हैं, जब ये अपने आप नहीं जाते या फिर आकार में बड़े हो जाते हैं। काफी मामलों में यह दर्दनाक हो सकता है। इससे कैंसर की संभावना भी हो सकती है, लेकिन यह दुर्लभ है। जैसे-जैसे आप बड़े होते जाते हैं, इसकी संभावनाएं भी बढ़ती जाती हैं। 

ओवेरियन सिस्ट के लक्षण – Ovarian Cyst Symptoms in Hindi  

अधिकांश ओवेरियन सिस्ट छोटे होते हैं और किसी भी समस्या का कारण नहीं बनते हैं। ओवेरियन सिस्ट के लक्षण में आपके पेट के निचले हिस्से के एक तरफ दबाव, सूजन, सूजन या दर्द हो सकता है। यह दर्द तेज या धीमा हो सकता है, और यह आ-जा सकता है। अगर आपको यहां दिए गए (ovarian cyst ke lakshan in hindi) नजर आ रहे हैं तो इन्हें हल्के में कतई न लें। 

ओवेरियन सिस्ट के लक्षण - Ovarian Cyst Symptoms in Hindi

– अचानक, गंभीर पेट दर्द

– बुखार और उल्टी के साथ दर्द

– चक्कर आना, कमजोरी, या बेहोशी महसूस करना

– तेजी से सांस लेना

– पेडू में दर्द

– दर्दनाक माहवारी

– संभोग के दौरान कठिनाई

– मतली

– उल्टी

– ब्रेस्ट टेंडरनेस 

– पेट भरा हुआ लगना या भारीपन

– बार-बार पेशाब आना और पेशाब करने में कठिनाई होना

– पेट के निचले हिस्से में हल्का दर्द

ओवेरियन सिस्ट के कारण – Reasons for Ovarian Cyst in Hindi

अधिकांश सिस्ट “फंक्शनल” होते हैं और वे आपके मासिक चक्र का हिस्सा भी होते हैं। हालांकि सिस्ट होने के कुछ कारण हो सकते हैं, जो हम आपको यहां बता रहे हैं। 

ओवेरियन सिस्ट के कारण - Reasons for Ovarian Cyst in Hindi

फॉलिकल सिस्ट

आपके अंडाशय आमतौर पर हर महीने एक अंडा छोड़ते हैं। यह एक छोटी थैली के अंदर बढ़ता है जिसे फॉलिकल कहा जाता है। जब अंडा तैयार हो जाता है, तो फॉलिकल टूट कर खुल जाता है और उसे छोड़ देता है। यदि थैली नहीं खुलती है, तो यह एक फॉलिकल सिस्ट का कारण बनता है। ये अक्सर 1 से 3 महीने में चले जाते हैं।

कॉर्पस ल्यूटियम सिस्ट

एक बार जब अंडा निकल जाता है, तो खाली सिस्ट आमतौर पर सिकुड़ जाता है और अगले अंडे के लिए तैयार होने में मदद करता है। जब यह बैक अप बंद हो जाता है और द्रव अंदर जमा हो जाता है तो यह एक सिस्ट बन जाता है। यह कुछ हफ्तों में दूर हो सकता है। लेकिन इसमें खून बह सकता है या सिस्ट बढ़ने पर दर्द हो सकता है। 

अन्य नॉन फंक्शनल हैं। कुछ महिलाओं में, उनके अंडाशय बहुत सारे छोटे-छोटे सिस्ट बनाते हैं। इस स्थिति को पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (पीसीओएस) कहा जाता है। इससे गर्भवती होने में मुश्किल हो सकती है। अन्य नॉन फंक्शनल सिस्ट कैंसर के कारण हो सकते हैं। रजोनिवृत्ति के बाद महिलाओं में ओवेरियन सिस्ट के कम उम्र की महिलाओं की तुलना में कैंसर बनने की संभावना अधिक होती है।

ओवेरियन सिस्ट के घरेलू उपचार – Ovarian Cyst Home Treatment in Hindi 

जब तक कोई सिस्ट बहुत बड़ा न हो या तेजी से बढ़ रहा हो, डॉक्टर आमतौर पर उसकी निगरानी रखने की सलाह देते हैं। इसका मतलब यह देखने के लिए इंतजार करना है कि क्या इलाज के बिना सिस्ट दूर हो जाती है। सिस्ट की निगरानी के लिए और यह सुनिश्चित करने के लिए कि यह गायब हो जाए या बड़ा न हो जाए, डॉक्टर कुछ महीनों में कई अल्ट्रासाउंड भी कर सकते हैं। घरेलू उपचार से सिस्ट गायब नहीं हो सकता। मगर इसमें आराम जरूर मिल सकता है। हम यहां आपको ओवेरियन सिस्ट के उपचार (ovarian cyst treatment in hindi) बता रहे हैं। 

ओवेरियन सिस्ट के घरेलू उपचार - Ovarian Cyst Home Treatment in Hindi

कैमोमाइल टी पिएं – Chamomile Tea for Ovarian Cyst in Hindi 

कैमोमाइल एक जड़ी बूटी है जिसका उपयोग प्राचीन काल से किया जाता रहा है। इसमें ऐंठन दूर करने के लिए एंटी इंफ्लेमेटरी गुण हैं इतना ही नहीं, कैमोमाइल टी पीने से आपको रात में बेहतर नींद भी आती है। स्टोर से खरीदी गई कैमोमाइल टी बनाने के लिए बस पानी उबाल लें और अपने टी बैग को मग में कुछ मिनट के लिए रख दें। वहीं आप कैमोमाइल के फूलों का उपयोग करके भी ताजी चाय बना सकते हैं। इसके लिए आपको चाहिए 3-4 बड़े चम्मच कैमोमाइल फूल, पुदीना की एक टहनी और एक कप उबलता पानी बस। सभी सामग्री को एक मग में मिलाएं और पांच मिनट के बाद चाय का आनंद लें।

हीट थैरिपी अपनाएं – Heat Therapy for Ovarian Cyst in Hindi

हीटिंग पैड एक और विकल्प है जो सिस्ट के दर्द और मासिक धर्म में ऐंठन को कम करने में मदद कर सकता है। अपने पेट के निचले हिस्से में गर्म पानी की बोतल या हीटिंग पैड लगाना ओटीसी दवाओं के उपयोग जितना ही प्रभावी है। आप एक हाथ के तौलिये को पानी में डुबोकर, उसे एक बड़े प्लास्टिक ज़िप-क्लोज़ बैग में रखकर और दो मिनट के लिए माइक्रोवेव करके भी अपना हीटिंग पैड भी बना सकते हैं। माइक्रोवेव में बैग को खुला ही रहने दें। माइक्रोवेव से सावधानी से निकालने के बाद, बैग को सील कर दें और इसे दूसरे नम तौलिये में लपेट दें। इसकी गर्माहट 20 मिनट तक चलनी चाहिए।

नमक के पानी से नहाएं – Bath with Salt Water for Ovarian Cyst in Hindi

गर्मी अल्सर या ऐंठन से दर्द को कम कर सकती है। अपने स्नान में एप्सम साॅल्ट मिलाने से यह राहत अगले स्तर तक पहुंच सकती है। मांसपेशियों और अन्य दर्द को कम करने के लिए एप्सम साॅल्ट का इस्तेमाल सालों से किया जा रहा है। आप अपनी फार्मेसी या ऑनलाइन पर एप्सम साॅल्ट के पैकेज पा सकते हैं। बस नहाला के पानी में दो कप एप्सम सॉल्ट मिलाएं। इसे नहाने से पहले लगभग 20 मिनट तक पूरी तरह से घुलने दें। 

बादाम का सेवन करें –  Almonds for Ovarian Cyst in Hindi

बादाम में उच्च स्तर का मैग्नीशियम होता है, जो ओवेरियन सिस्ट के लक्षण में मदद कर सकता है। कच्चे बादाम में प्रति 100 ग्राम में लगभग 270 मिलीग्राम मैग्नीशियम होता है। मैग्नीशियम के साथ अपने आहार को पूरक करने से पुराने दर्द में मदद मिलती है।

अदरक की चाय पिएं – Ginger Tea for Ovarian Cyst in Hindi

दर्द और ऐंठन से प्राकृतिक राहत के लिए अदरक की चाय एक और हर्बल विकल्प है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट और एंटीकार्सिनोजेनिक दोनों गुण होते हैं। एक अध्ययन में पाया गया कि, अदरक ने ओवेरियन के कैंसर कोशिकाओं के विकास को रोक दिया। अदरक का सेवन ओवेरियन के कैंसर का इलाज और रोकथाम कर सकता है। कैमोमाइल टी की तरह, इसे भी आप किराने की दुकान या ऑनलाइन स्टोर पर पा सकते हैं। आपको बस एक बैग को उबलते पानी में कुछ मिनट के लिए डुबाना है और आनंद लेना है। यदि आपको स्वाद पसंद नहीं है, तो इसमें एक नींबू का रस भी निचोड़ कर मिला सकते हैं। घर पर ताजा अदरक की चाय बनाने के लिए अदरक के 2 इंच के टुकड़े को छीलकर काट लें। अदरक को 2 कप पानी में 10 मिनट तक उबालें। फिर, इसे छान लें और स्वाद के लिए नींबू का रस और शहद मिलाएं। 

डाइट में बदलाव लाएं – Change Diet Ovarian Cyst in Hindi 

अपनी डाइट में बदलाव लाकर भी आप ओवेरियन सिस्ट में राहत पा सकते हैं। आप अपने आहार में चीनी की मात्रा कम करके भी ओवेरियन सिस्ट को कम कर सकते हैं। चीनी कई तरह के खाद्य पदार्थों में होती है, जिसमें ब्रेड और पास्ता जैसे कार्बोहाइड्रेट शामिल हैं। यही वजह है कि डाइट में थोड़े बदलाव लाकर आप ओवेरियन सिस्ट के लक्षण में राहत पा सकती हैं। 

मसाज भी है बेहतर उपाय – Massage is Better Remedy for Ovarian Cyst in Hindi

ओवेरियन सिस्ट का दर्द आसपास की मांसपेशियों को तनावग्रस्त कर सकता है। यह एक अवधि के दौरान विशेष रूप से असहज हो सकता है। पीठ के निचले हिस्से, जांघों, नितंबों और पेट की मालिश करने से तनावग्रस्त मांसपेशियों को ढीला करने और दर्द को कम करने में मदद मिल सकती है।

अपना वजन कम करें – Weight Control is Helpful for Ovarian Cyst in Hindi 

यदि एक महिला अधिक वजन वाली है, तो वजन कम करने से उसके शरीर को हार्मोन को बेहतर ढंग से नियंत्रित करने, अधिक सिस्ट के विकास को रोकने और दर्द और थकान के लक्षणों में सुधार करने में मदद मिल सकती है। पीसीओएस के साथ वजन कम करना मुश्किल है, इसलिए कोशिश करें कि निराश न हों, क्योंकि इसमें समय लग सकता है।

तनाव कम लें – Relieve from Stress for Ovarian Cyst in Hindi 

तनाव और चिंता दर्द को बदतर बना सकते हैं। ध्यान, योग और गहरी सांस लेने जैसी तकनीकें चिंता को दूर करने और दर्द की तीव्रता को कम करने में मदद कर सकती हैं। ये तकनीकें किसी व्यक्ति को लंबे समय तक दर्द का प्रबंधन करने और सामान्य स्वास्थ्य में सुधार करने में भी मदद कर सकती हैं।

ओवेरियन सिस्ट को लेकर पूछे जाने वाले सवाल-जवाब – FAQ’s on Ovarian Cyst in Hindi 

सवाल- ओवरी में गांठ कैसे बनती है?

जवाब- ओवरी में गांठ आप अपने मासिक धर्म चक्र के हिस्से के रूप में हर महीने प्राप्त कर सकती हैं और इसे कभी नहीं जान सकतीं। ये सिस्ट आमतौर पर बिना इलाज के अपने आप चले जाते हैं। मगर यह तब बड़ी समस्या बन सकते हैं, जब ये अपने आप नहीं जाते या फिर आकार में बड़े हो जाते हैं।

सवाल- ओवरी का साइज कितना होना चाहिए?

जवाब- ओवरी का साइज 3 से.मी x 2.5 से.मी x 1.5 से.मी होना चाहिए। 

सवाल- ओवरी सिस्ट को हिंदी में क्या कहते हैं?

ओवरी सिस्ट को हिंदी में ओवरी में गांठ के नाम से जाना जाता है। 

सवाल- ओवरी सिस्ट में क्या नहीं खाना चाहिए?

जवाब-  कार्बोहाइड्रेट, जंक फूड, चीनी और अम्लीय खाद्य पदार्थों से समृद्ध भोजन को ओवरी सिस्ट में नहीं खाना चाहिए।

अगर आपको यहां दिए गए ओवेरियन सिस्ट के लक्षण (ovarian cyst ke lakshan) पसंद आए तो इन्हें अपनी परिवार की महिलाओं के साथ शेयर करना न भूलें।