home / Acne
Food for Glowing Skin in Hindi | क्या खाने से चेहरे की चमक बढ़ती है

Food for Glowing Skin in Hindi – जानिए क्या खाने से चेहरे की चमक बढ़ती है

इस बात में कोई दो राय नहीं है कि हेल्दी और खूबसूरत स्किन के लिए जितनी बाहरी केयर ज़रूरी है, उससे कहीं ज्यादा ज़रूरी है अंदरूनी केयर। जब तक हम अंदर से स्वस्थ नहीं होंगे तब तक बाहरी मेकअप भी हमें खूबसूरत नहीं बना सकता। इसके लिए सबसे पहले ये पता होना चाहिए कि रोज़ाना की ज़िंदगी में हम किस तरह का फूड कंज़्यूम कर रहे हैं। अगर आप डेली बेसिस पर जंक फूड, प्रोसेस्ड फूड, फास्ट फूड या फिर अधिक शुगर युक्त फूड खा रहे हैं, तो जितने भी कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स या फिर घरेलू ब्यूटी टिप्स ट्राई कर लें, कुछ भी नहीं होने वाला। स्किन अंदर से हेल्दी होगी तभी आपके चेहरे पर रौनक दिखेगी और त्वचा खिली-खिली व दमकती हुई नज़र आएगी। आपकी डाइट का सीधा असर आपकी खूबसूरती पर पड़ता है। अच्छा खाना आपको अंदर से स्वस्थ त्वचा व खूबसूरती प्रदान करता है। ऐसे में ये सवाल उठना वाजिब है कि Face Par Glow Kaise Laye या फिर glowing skin ke liye kya khaye क्या खाने से चेहरे की चमक बढ़ती है? हम आपको ऐसे ही कुछ खाद्य पदार्थों यानि स्वस्थ त्वचा के लिए आहार के बारे में बता रहे हैं, जिनका सेवन आपकी स्किन के लिए किसी वरदान से कम नहीं। ये Healthy Skin Tips in Hindi आपके बहुत काम आएंगे। 

Glowing Skin ke Liye Kya Khaye | 1 सप्ताह के भीतर त्वचा चमक आहार

Glowing Skin ke Liye Kya Khaye
1 सप्ताह के भीतर त्वचा चमक आहार

न्यूट्रिशन स्वास्थ्य के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। एक अस्वास्थ्यकर आहार आपके मेटाबोलिज्म को नुकसान पहुंचा सकता है, वजन बढ़ा सकता है और यहां तक ​​कि आपके दिल और यकृत जैसे अंगों को भी नुकसान पहुंचा सकता है। वहीं आप जो खाते हैं वह दूसरे अंगों को भी प्रभावित कर सकता है, जैसे- आपकी त्वचा। यह बात तो साफ है कि स्पष्ट होता है कि आप जो खाते हैं वह आपकी त्वचा के स्वास्थ्य और उम्र बढ़ने को महत्वपूर्ण रूप से प्रभावित कर सकता है। त्वचा की खूबसूरती बरकरार रखने के लिए आपका आंतरिक स्वास्थ्य उतना ही मायने रखता है जितना कि बाहरी। त्वचा पर चाहे जितना मेकअप लगा लें, या फिर ब्यूटी टिप्स अपना लें वे तब तक बेकार है, जब तक कि आप अपने आहार पर ध्यान न दें और स्वस्थ खाना शुरू न करें। हम यहां आपको बता रहे हैं कि क्या खाने से चेहरे की चमक बढ़ती है? और glow skin ke liye kya khaye हमें त्वचा चमक के लिए क्या खाना चाहिए। 

  • 1- फैटी मछली
  • 2- एवोकोडो
  • 3- अखरोट
  • 4- सरसों के बीज
  • 5- शकरकंद
  • 6- लाल या पीली शिमला मिर्च
  • 7- ब्रॉकली
  • 8- टमाटर
  • 9- सोया
  • 10- डार्क चॉकलेट
  • 11- ग्रीन टी
  • 12- लाल अंगूर
  • 13- खट्टे फल
  • 14- खीरा
  • 15- दही
  • 16- आम
  • 17- गाजर
  • 18- बादाम
  • 19- पालक
  • 20 सेब

What is Pre and Probiotics Food in Hindi | क्या है प्रोबायोटिक्स और प्रीबायोटिक्स फूड

What is Pre and Probiotics Food in Hindi
क्या है प्रोबायोटिक्स और प्रीबायोटिक्स फूड

प्रोबायोटिक्स और प्रीबायोटिक्स इन दिनों पोषण में बहुत बड़े विषय हैं। फिर भी वे एक जैसे लगते हैं, दोनों आपके स्वास्थ्य में अलग-अलग भूमिका निभाते हैं। प्रोबायोटिक्स फायदेमंद बैक्टीरिया हैं, और प्रीबायोटिक्स इन बैक्टीरिया के लिए भोजन हैं। प्रीबायोटिक्स (Prebiotics) ना पचने वाले कार्बोहाइड्रेट्स होते हैं जो फाइबर से भरे होते हैं और ये आंतों में बैक्टीरिया के विकास को बढ़ावा देते हैं। साथ ही इन्हें हज़म करना भी बेहद मुश्किल होता है। वहीं इसके विपरीत प्रोबायोटिक्स (Probiotics) फायदेमंद बैक्टीरिया हैं जो आंत में रहते हैं और पाचन सुधार में मदद करते हैं। रोज़मर्रा की ज़िंदगी में प्रोबायोटिक्स (Probiotics) का सेवन करने से कई सेहतमंद फायदे होते हैं। प्रोबायोटिक्स (Probiotics) फूड न सिर्फ हमारे शरीर में होने वाले संक्रमण का इलाज करते हैं बल्कि स्वस्थ पाचन को बढ़ावा भी देते हैं और इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाते हैं। साथ ही ये त्वचा के लिए भी बेहद असरदार होते हैं। यहां ध्यान रखने वाली बात ये है कि सभी प्रीबायोटिक्स (Prebiotics) फाइबर होते हैं लेकिन सभी तरह के फाइबर को प्रीबायोटिक्स (Prebiotics) नहीं माना जा सकता है। मगर इन सब के बाद भी ऐसे कई प्रीबायोटिक्स (Prebiotics) फूड हैं, जिन्हें स्किन पर लगाने से उसमें ग्लो आता है। इसलिए सबसे पहले ये जानना बेहद ज़रूरी है कौन- कौन से फूड प्रोबायोटिक्स (Probiotics) और प्रीबायोटिक्स (Prebiotics) से भरपूर होते हैं और ये त्वचा को किस तरह से फायदा पहुंचाते हैं।

Probiotics Food for Skin in Hindi | त्वचा के लिए प्रोबायोटिक्स से भरपूर फूड

आप क्या खाते हैं और क्या नहीं खाते इसका असर त्वचा पर पड़ता है। सही भोजन न्यूट्रिशन प्रदान करता है, डैमेज स्किन सेल्स की मरम्मत में मदद करता है, त्वचा की एलर्जी का इलाज करता है और इसे भीतर से स्वस्थ बनाता है। बात करें प्रोबायोटिक्स की तो प्रोबायोटिक्स जीवित सूक्ष्मजीव हैं जिनका सेवन करने पर स्वास्थ्य लाभ होता है। प्रोबायोटिक्स, जिन्हें आमतौर पर लाभकारी बैक्टीरिया कहा जाता है, आपके शरीर और मस्तिष्क के लिए सभी प्रकार के शक्तिशाली लाभ प्रदान करते हैं। वे पाचन स्वास्थ्य में सुधार करने के साथ, अवसाद को कम करते हैं, दिल के स्वास्थ्य को बनाए रखते हैं और आपको बेहतर दिखने वाली त्वचा भी देते हैं। हम यहां आपको healthy food for glowing skin in hindi स्वस्थ त्वचा के लिए आहार के बारे में बता रहे हैं।  

दही | Yogurt

Dahi- Food for glowing skin in hindi

दही को अपनी ग्लोइंग स्किन डाइट में जरूर शामिल करें। दही लगभग हर घर में पाया जाता है। आज भी कई लोग पैकेट वाले दही से ज्यादा घर पर जमे हुए दही को खाना पसंद करते हैं। दही हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने में मदद करता है। ये न सिर्फ हमारी पाचन शक्ति में सुधार लाता है बल्कि बढ़े हुए ब्लड प्रेशर को संतुलित रखने में भी कारगर है। इसके अलावा दही त्वचा की नमी को बरकरार रखने और उसे मुलायम बनाए रखने में भी मदद करता है। दरअसल इसमें मौजूद लैक्टिक एसिड एक प्राकृतिक एक्सफोलिएटर के रूप में काम करता है और डेड स्किन सेल्स, मुंहासों और दाग- धब्बों से छुटकारा दिलाता है। इसलिए अपने खाने में रोज़ दही को ज़रूर शामिल करें।

सेब | Apple

फलों में सेब का सेवन हमें स्वस्थ बनाए रखने के लिए काफी है। आपने ये कहावत तो सुनी ही होगी an apple a day keeps doctor away यानि दिन में एक सेब का सेवन आपको बिमारियों और डॉक्टर दोनों से दूर रखता है। दरअसल, सेब फाइबर का मुख्य स्रोत माना जाता है, जिसे खाने से शरीर में अच्छे बैक्टीरिया उत्पन्न होते हैं। यही बैक्टीरिया शरीर में पी एच लेवल को भी संतुलित बनाए रखते हैं। इसलिए त्वचा को अंदर से स्वस्थ बनाए रखने के लिए दिन में एक सेब ज़रूर खाएं। यह बहुत अच्छे स्किन ग्लोइंग फ़ूड में से एक है।

डार्क चॉकलेट | Dark Chocolate

Dark chocolate in glowing skin diet in hindi

डार्क चॉकलेट प्रोबायोटिक्स (Probiotics) का बेहतर स्रोत मानी जाती है। इसमें एंटी- ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं, जो शरीर से हानिकारक तत्वों को कम करते हैं। इसके अलावा डार्क चॉकलेट पाचन शक्ति को भी स्वस्थ रखती है। इसमें कई प्रकार के डेयरी उत्‍पादों की तुलना में चार गुना ज्‍यादा प्रोबायेटिक्‍स (Probiotics) होता है। डार्क चॉकलेट का सेवन डिप्रेशन और चिंता का इलाज करने में भी मददगार साबित होता है। डार्क चॉकलेट में मौजूद प्रोबियोटिक (Probiotics) पेट में समाकर अच्छे बैक्टीरिया को बनाने में वृद्धि करता है। जब शरीर स्वस्थ रहेगा तो त्वचा भी अपने- आप दमकेगी।

सब्जियां | Vegetables

ऐसी कई सब्जियां हैं (face glow food in hindi), जिनमें भरपूर मात्रा में प्रोबायोटिक्स (Probiotics) मौजूद होता है, जैसे पालक, गाजर और चुकंदर। अगर आप स्किन को हेल्दी व ग्लोइंग बनाना चाहते हैं तो खाने में पत्तेदार सब्जियां शामिल करें। पालक खाने से शरीर में खून की मात्रा बढ़ती है, जिससे स्किन ग्लो करती है। कुछ ऐसा ही काम करता है चुकंदर। चुकंदर हमारे शरीर में जाकर डिटॉक्स फूड के रूप में काम करता है। हमारी त्वचा की ज्यादातर समस्याएं खराब पाचन की वजह से होती हैं। चुकंदर पेट संबंधी सभी समस्याओं को खत्म कर त्वचा में चमक लाता है। शरीर में खून की कमी होने पर डॉक्टर्स भी चुकंदर खाने की सलाह देते हैं। वहीं गाजर हमेशा आंखों के लिए फायदेमंद मानी जाती है, साथ ही ये हमारी त्वचा के लिए भी फायदेमंद होती है। गाजर में विटामिन ए पाया जाता है, जो त्वचा को अंदर से स्वस्थ बनाने में मदद करता है।

किमची | Kimchi

किम्ची एक फर्मेन्टेड, मसालेदार कोरियाई साइड डिश है। इसमें गोभी आमतौर पर मुख्य सामग्री होती है, लेकिन इसे अन्य सब्जियों से भी बनाया जा सकता है। किम्ची को मसालों के मिश्रण से सुगंधित किया जाता है, जैसे कि लाल मिर्च मिर्च के गुच्छे, लहसुन, अदरक, स्कैलियन और नमक। इसमें लैक्टिक एसिड बैक्टीरिया लैक्टोबैसिलस के साथ ही अन्य लैक्टिक एसिड बैक्टीरिया होते हैं, जो पाचन स्वास्थ्य को लाभ पहुंचा सकते हैं। पत्तागोभी से बनी किम्ची विटामिन के, राइबोफ्लेविन (विटामिन बी2), और आयरन सहित कुछ विटामिन और खनिजों से भरपूर होती है।

केफिर | Kefir

यदि आप स्मूदी पसंद करते हैं, तो आपको इस फर्मेन्टेड डेयरी उत्पाद को अपने दैनिक आहार में शामिल करने का तरीका खोजने में कोई समस्या नहीं होगी। इसके लिए बकरी के केफिर का विकल्प चुनें, क्योंकि अधिकांश लोगों के लिए इसे पचाना आसान होता है। केफिर न केवल प्रोबायोटिक्स का एक उत्कृष्ट स्रोत है, यह एंटीऑक्सिडेंट में भी समृद्ध है। केफिर को विभिन्न स्वास्थ्य लाभों से जोड़ा गया है। केफिर एक फर्मेन्टेड प्रोबायोटिक दूध पेय है। इसे गाय या बकरी के दूध में केफिर के दाने मिलाकर बनाया जाता है। यह लैक्टिक एसिड बैक्टीरिया और खमीर हैं, जो फूलगोभी की तरह दिखती हैं।

टेम्पेह | Tempeh

टेम्पेह एक ट्रेडिशनल इंडोनेशियन फ़ूड है, जो फर्मेन्टेड सोयाबीन से बनता है। यह एक फर्म पैटी बनाता है जिसका स्वाद अखरोट, मिट्टी या मशरूम के समान होता है। टेम्पेह भले ही इंडोनेशिया का है लेकिन उच्च प्रोटीन मांस के विकल्प के रूप में दुनिया भर में लोकप्रिय हो गया है। सोयाबीन आमतौर पर फाइटिक एसिड में उच्च होता है। हालांकि, यह फर्मेन्टेड फाइटिक एसिड की मात्रा को कम करता है, जिससे आपके शरीर में टेम्पेह से अवशोषित होने वाले खनिजों की मात्रा बढ़ सकती है। फर्मेन्टेशन कुछ विटामिन बी 12 भी पैदा करता है, जो एक एक पोषक तत्व होता है, जिसमें सोयाबीन नहीं होता है। विटामिन बी 12 मुख्य रूप से मांस, मछली, डेयरी और अंडे जैसे पशु खाद्य पदार्थों में पाया जाता है। यह टेम्पेह को शाकाहारियों के साथ-साथ अपने आहार में एक पौष्टिक प्रोबायोटिक जोड़ने के इच्छुक लोगों के लिए एक बढ़िया विकल्प बनाता है।

पारंपरिक छाछ | Traditional Buttermilk

शब्द “छाछ” वास्तव में फर्मेन्टेड डेयरी पेय की एक श्रृंखला को संदर्भित करता है। छाछ के दो मुख्य प्रकार हैं: पारंपरिक और ट्रेडिशनल। पारंपरिक छाछ मक्खन बनाने से बचा हुआ तरल है। केवल इस संस्करण में प्रोबायोटिक्स होते हैं, और इसे कभी-कभी दादी की प्रोबायोटिक कहा जाता है। पारंपरिक छाछ मुख्य रूप से भारत, नेपाल और पाकिस्तान में सेवन की जाती है। छाछ वसा और कैलोरी में कम होती है लेकिन इसमें कई महत्वपूर्ण विटामिन और खनिज होते हैं, जैसे कि विटामिन बी 12, राइबोफ्लेविन, कैल्शियम और फास्फोरस। 

पनीर | Cheese 

हालांकि अधिकांश प्रकार के पनीर फर्मेन्टेड होते हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि उन सभी में प्रोबायोटिक्स होते हैं। गौडा, मोज़ेरेला, चेडर और कॉटेज चीज सहित कुछ चीज़ों में अच्छे बैक्टीरिया उम्र बढ़ने की प्रक्रिया से बचे रहते हैं। पनीर अत्यधिक पौष्टिक और प्रोटीन का बहुत अच्छा स्रोत है। यह कैल्शियम, विटामिन बी 12, फास्फोरस और सेलेनियम सहित महत्वपूर्ण विटामिन और खनिजों में भी समृद्ध है। पनीर जैसे डेयरी उत्पादों की मध्यम खपत हृदय रोग और ऑस्टियोपोरोसिस के जोखिम को भी कम कर सकती है।

Prebiotics Food for Skin in Hindi | त्वचा के लिए प्रीबायोटिक्स से भरपूर फूड

प्रीबायोटिक्स आहार फाइबर का एक रूप है जो आपके पेट में अच्छे बैक्टीरिया को फीड करता है। यह आपके आंत बैक्टीरिया को आपके बृहदान्त्र कोशिकाओं के लिए पोषक तत्वों का उत्पादन करने की अनुमति देता है, जिससे एक स्वस्थ पाचन तंत्र होता है। प्रीबायोटिक्स नॉन लिविंग अपचनीय प्लांट फाइबर हैं जो जीवित रहने के लिए कोलन में अच्छे बैक्टीरिया द्वारा उपयोग किए जाते हैं। यदि आप स्वस्थ आंत के लिए प्रोबायोटिक्स खाद्य पदार्थों का सेवन कर रहे हैं, तो अपने आहार में प्रीबायोटिक युक्त खाद्य पदार्थों को शामिल करना भी महत्वपूर्ण है।

Prebiotics Food for Skin in Hindi
त्वचा के लिए प्रीबायोटिक्स से भरपूर फूड

प्याज | Onion

क्या आप जानते हैं कि प्याज में एक नहीं बल्कि 3 तरह के विटामिन होते हैं, ए, सी और ई। ये सभी विटामिन आपकी त्वचा के लिए अच्छे हैं और सूरज की यू वी किरणों से त्वचा की रक्षा करते हैं। इसमें सल्फर भी मौजूद होता है, जो त्वचा को साफ करने में मदद करता है और मुंहासों को बढ़ने से रोकता है। आप चाहें तो प्याज का पेस्ट बनाकर भी चेहरे पर लगा सकते हैं।  इसके लिए प्याज के रस में हल्दी पाउडर मिलाकर एक मोटा पेस्ट बनाकर चेहरे पर लगाएं। यह आपकी त्वचा को ग्लोइंग, हेल्दी और खूबसूरत बनाने में मदद करेगा।

लहसुन | Garlic

Garlic for beautiful skin

लहसुन भले ही प्रीबायोटिक्स (Prebiotics) फूड लिस्ट में आता हो, लेकिन त्वचा के लिए ये कई तरह से फायदेमंद होता है। त्वचा पर थोड़ा सा लहसुन लगाने से आप कई तरह की समस्याओं से छुटकारा पा सकते हैं। इसके लिए आपको ज्यादा कुछ करने की ज़रूरत भी नहीं है। बस कुछ लहसुन का पेस्ट बनाकर मुंहासों या फिर व्हाइट हेड्स पर लगाएं। धीरे- धीरे ये आपकी त्वचा से गायब हो जाएंगे।

शहद | Honey

शहद में भरपूर मात्रा में एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं, जो मुंहासों के इलाज में बेहद कारगर होते हैं। यह  ड्राई स्किन को मॉइश्चराइज करने में मदद करता है और इसे लंबे समय तक नरम और कोमल बनाए रखता है। इसका पेस्ट बनाने के लिए आप एक पिसे हुए केले में शहद और ओटमील मिलाएं। इस मास्क को लगभग 10-15 मिनट के लिए अपने चेहरे पर लगाकर छोड़ दें और बाद में गुनगुने पानी से चेहरा धो लें।

केले के छिलके | Banana Peels

स्किन के मामले में केले के साथ उसके छिलके भी फायदेमंद होते हैं। केले के छिलके विटामिन ए, बी, सी, ई, पोटैशियम और ज़िंक से भरपूर होते हैं। अगर आपकी त्वचा पर मुंहासे हो गए हैं, तो केले के छिलके आपकी इस समस्या का समाधान साबित हो सकते हैं। इसके लिए मुंहासे वाली जगह पर छिलके को रगड़ें। एक या दो दिन के बाद आपको अंतर दिखना शुरू हो जाएगा।

सनफ्लॉवर सीड्स और बादाम | Sunflower Seeds and Almond

सनफ्लॉवर सीड्स और बादाम दोनों ही त्वचा के लिए काफी अच्छे होते हैं। दोनों में एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन ई की पर्याप्त मात्रा पाई जाती है। ये त्वचा को धूप, धूल और प्रदूषण से बचाते हैं। सनफ्लॉवर सीड्स और बादाम को रात भर पानी में भिगोकर रखें, सुबह इन भीगे हुए बादामों को नाश्ते में खाएं। आप चाहें तो बादाम के पेस्ट को कई तरीकों से त्वचा पर भी लगा सकते हैं। ये स्किन को अंदर व बाहर दोनों तरफ से स्वस्थ बनाता है।

मशरूम | Mushrooms

खाद्य मशरूम की अधिकांश किस्में कार्बोहाइड्रेट जैसे चिटिन, बीटा और अल्फा ग्लूकेन्स और अन्य यौगिकों से भरपूर होती हैं जो प्रीबायोटिक्स के रूप में कार्य करती हैं। मशरूम में न केवल प्रीबायोटिक्स होते हैं, बल्कि उनमें आवश्यक अमीनो एसिड के साथ-साथ कैल्शियम, पोटेशियम, मैग्नीशियम, आयरन और जिंक जैसे खनिज भी होते हैं, जो हमारे ऊर्जा उत्पादन और प्रतिरक्षा प्रणाली का समर्थन करने में भूमिका निभाते हैं। बर्गर पैटी के बदले पोर्टोबेलो मशरूम आज़माएं या अपने आहार में अधिक पौष्टिक कवक प्राप्त करने के लिए कुछ कटा हुआ मशरूम एड करें।

छोला, दाल, और राजमा | Chickpeas, Lentils, and Kidney Beans 

फलियां यानि छोला, दाल, और राजमा प्रोटीन, प्रीबायोटिक कार्बोहाइड्रेट और सूक्ष्म पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं, जो उन्हें आंत के स्वास्थ्य और समग्र स्वास्थ्य और भलाई के लिए एक बढ़िया विकल्प बनाती हैं। प्रीबायोटिक कार्बोहाइड्रेट युक्त अधिक फलियां शामिल करने से आंत माइक्रोबायोम को सकारात्मक रूप से बदल सकता है, आंतों की गति को विनियमित करने में मदद करता है, खनिज अवशोषण में वृद्धि करता है, और ब्लड शुगर व कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कंट्रोल करके मोटापे के जोखिम को कम करता है। 

कोकोआ पाउडर | Cocoa Powder

आपने सुना होगा कि चॉकलेट सेहतमंद होती है, यह बात आंशिक रूप से सच है। डार्क चॉकलेट की थोड़ी मात्रा आपके स्वास्थ्य को बढ़ावा दे सकती है लेकिन कम मात्रा में अधिक खाने से उच्च कैलोरी और चीनी की खपत हो सकती है जिससे अवांछित वजन बढ़ सकता है और ग्लूकोज स्तर हाई हो सकता है। शुद्ध चॉकलेट, या कोको में एंटीऑक्सिडेंट होते हैं, जो शरीर में फ्री रेडिकल्स के रूप में कार्य करते हैं और ऑक्सीडेटिव तनाव के प्रभावों से लड़ने में मदद करते हैं। कोकोआ में प्रीबायोटिक फाइबर भी होते हैं और अन्य सभी प्रीबायोटिक खाद्य पदार्थों की तरह, हमारे पेट में अच्छे बैक्टीरिया को फीड करने में मदद करता है।  

जौ | Barley

जौ एक लोकप्रिय अनाज है और बियर बनाने के लिए प्रयोग किया जाता है। इसमें प्रति 100 ग्राम में 2-20 ग्राम बीटा-ग्लुकन होता है। बीटा-ग्लुकन एक प्रीबायोटिक फाइबर है जो आपके पाचन तंत्र में अनुकूल बैक्टीरिया के विकास को बढ़ावा देता है। जौ में बीटा-ग्लूकेन कुल और एलडीएल (खराब) कोलेस्ट्रॉल को कम करने और हृदय रोग के जोखिम को कम करने के भी गुण होते हैं। यह ब्लड शुगर के स्तर को कम करने में भी मदद कर सकता है। साथ ही, जौ सेलेनियम से भरपूर होता है। यह थायराइड फंक्शन में मदद करता है, एंटीऑक्सीडेंट लाभ प्रदान करता है, और आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाता है। 

सेब | Apple

सेब फाइबर वाला एक स्वादिष्ट फल है। पेक्टिन, एक प्रकार का घुलनशील फाइबर, एक सेब की कुल फाइबर सामग्री के लिए जिम्मेदार है। सेब में मौजूद पेक्टिन के प्रीबायोटिक फायदे हैं। सेब से पेक्टिन स्वस्थ आंत माइक्रोबायोटा को बढ़ावा दे सकता है और सूजन को कम कर सकता है। पेक्टिन ब्यूटायरेट को बढ़ाता है, एक शॉर्ट-चेन फैटी एसिड जो लाभकारी आंत बैक्टीरिया को खिलाता है और हानिकारक बैक्टीरिया की आबादी को कम करता है। प्रीबायोटिक लाभों के अलावा, सेब हृदय स्वास्थ्य में सुधार कर सकते हैं और अस्थमा और अन्य बीमारियों के जोखिम को भी कम कर सकते हैं।

Food Face Mask in Hindi | फूड इंग्रीडिएंट्स से कैसे बनाएं फेस मास्क

Girl using food face mask 

नारियल – Coconut

नारियल का तेल सेहत के साथ त्वचा के लिए भी बेहद फायदेमंद होता है। खासतौर पर ड्राई स्किन वालों को निश्चित रूप से नारियल तेल का इस्तेमाल करना चाहिए। नारियल तेल न सिर्फ त्वचा को साफ रखता है बल्कि उसे पोषित कर मुलायम व चमकदार भी बनाता है। नारियल तेल लगाने के लिए…

स्टेप 1: थोड़ा नारियल तेल गर्म करें।

स्टेप 2: इसे अपने पूरे चेहरे और गर्दन पर लगाएं।

स्टेप 3: अब सर्कुलेशन मोड में मालिश करें।

स्टेप 4: रात भर नारियल तेल त्वचा पर लगा रहने दें और अगली सुबह अपना चेहरा धो लें।

नींबू – Lemon

प्राकृतिक एंटीसेप्टिक गुण होने के कारण नींबू त्वचा संबंधित सभी समस्याओं को दूर करता है। नींबू में प्राकृतिक ब्लीचिंग गुण पाया जाता है। प्राकृतिक लाइटनिंग एजेंट होने के कारण यह त्वचा के लिए काफी फायदेमंद होता है। जब बारी आती है त्वचा से टैन हटाने की तो नींबू सबसे बेहतर काम करता है। यही वजह है कि नींबू का इस्तेमाल कई ब्यूटी प्रोडक्ट्स में भी किया जाता है। नींबू का मास्क बनाने के लिए…

स्टेप 1: एक बाउल में अंडे की सफेदी निकाल लें।

स्टेप 2: अब इसमें नींबू की कुछ बूंदें मिक्स कर लें।

स्टेप 3: इसे चेहरे पर तब तक लगा कर रखें जब तक कि ये सूख न जाए।

स्टेप 4: उसके बाद इसे मास्क की तरह निकाल दें और चेहरे को ठंडे पानी से धो लें। इससे आपके चेहरे पर चमक आ जाएगी।

पपीता – Papaya

पपीते में पेपैन नामक एंजाइम होता है। जब इसे फेस मास्क के रूप में इस्तेमाल किया जाता है, तो यह त्वचा की रंगत को निखारने में मदद करता है और इसे कोमल व चमकदार बनाता है। इसका मास्क बनाने के लिए…

स्टेप 1: एक पपीते को छोटे क्यूब्स में काट लें।

स्टेप 2:  अब इसे ग्राइंडर में डालकर पीस लें।

स्टेप 3: अब इसमें एक चौथाई कप मुल्तानी मिट्टी और थोड़ा शहद मिलाकर मास्क तैयार कर लें।

स्टेप 4: अब मास्क को अपने चेहरे पर लगाएं और 30 मिनट के बाद चेहरे को पानी से धो लें।

खीरा – Cucumber

Cucumber face mask for glowing skin

गर्मियों के मौसम में खीरे का सेवन शरीर को अंदर से ठंडा रखने का काम करता है। अगर आपकी त्वचा पर किसी प्रकार की सूजन है, तो खीरे से बना पेस्ट आपकी त्वचा को निखारने में मदद करता है। खीरे का पेस्ट बनाने के लिए…

स्टेप 1: कुछ खीरे के स्लाइस को पीसें और एक कप दही में मिलाएं।

स्टेप 2: अब तैयार गाढ़े पेस्ट को ब्रश की मदद से चेहरे पर लगाएं।

स्टेप 3: 20 मिनट बाद अपने चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।

गाजर – Carrot

गाजर केवल स्वाद में ही अच्छी नहीं होती, बल्कि त्वचा के लिए भी काफी फायदेमंद होती है। गाजर में एंटीऑक्सीडेंट के गुण होते हैं, जो त्वचा को बेहद लाभ पहुंचाते हैं। गाजर का जूस भी त्वचा को फायदा पहुंचाता है। इसका जूस बनाने के लिए…

स्टेप 1: एक कप गाजर का रस लें और कुछ अदरक को मिक्सी में पीस लें।

स्टेप 2: अब इसे एक साफ ग्लास में डालें।

स्टेप 3: ग्लोइंग स्किन के लिए रोज सुबह ये जूस पिएं। (स्वाद के लिए पुदीने की पत्तियां मिला सकते हैं)

ये भी पढ़ें –

ड्राई स्किन को साॅफ्ट और ग्लोइंग बनाते हैं ये ब्रांडेड और होममेड माॅइश्चराइज़र

जानिए ड्राई स्किन के लिए बेस्ट माॅइश्चराइज़र्स के बारे में। साथ ही जानिए हमारी त्वचा पर आखिर माॅइश्चराइज़र की ज़रूरत क्यों पड़ती है और ये किस तरह से त्वचा को फायदा पहुंचाता है।

बाल लम्बे करने के लिए बेस्ट फ़ूड

जो भी आप खाती हैं वो खाना आपकी हेयर ग्रोथ पर सीधा असर डालता है। ये 10 सुपर फूड्स आपके बालों को मजबूत बनाने के साथ ही उन्हें जल्दी बढ़ाने में मदद भी करेंगे।

त्वचा के लिए बादाम तेल के फायदे

बादाम सिर्फ एक ड्राई फ्रूट नहीं है बल्कि इसका इस्तेमाल सौन्दर्य को बनाए रखने और बढ़ाने के लिए भी किया जाता है। इसके कोई गिने-चुने फायदे नहीं हैं बल्कि ये तो गुणों की खान है।

सर्दियों में किन सब्जियों के सेवन से शरीर को मिलेगी अंदरूनी गर्माहट

सर्दियों का मौसम आते ही हमारा पूरा लाइफस्टाइल बदल जाता है, फिर बात चाहे पहनावे की हो या फिर खान-पान की। ऐसे में बदलते मौसम के साथ तालमेल बिठाने के लिए अपना ख्याल रखना बेहद ज़रूरी हो जाता है। 

01 Mar 2019

Read More

read more articles like this

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text