home / लाइफस्टाइल
जानिए डॉटर्स डे कब है? क्या है इसका इतिहास व महत्व 2022 |  Daughters Day Kab Hai

जानिए डॉटर्स डे कब है? क्या है इसका इतिहास व महत्व 2022 |  Daughters Day Kab Hai

आपने वो गाना तो सुना ही होगा, ‘ये बेटियां तो बाबुल की रानियां हैं, मीठी-मीठी प्यारी-प्यारी कहानियां हैं’। सच ही तो है, बेटियां होती ही इतनी प्यारी हैं कि उनके बारे में लिखने जाओ तो शब्द कम पड़ जाते हैं। कहते हैं बेटे अपने किस्मत खुद बनाते हैं लेकिन बेटियां अपनी किस्मत साथ लेकर आती हैं। तभी तो जिस घर में बेटी होती है तो लोग कहते हैं, ‘बधाई हो आपके घर लक्ष्मी आई है’। यूं तो माता-पिता के लिए उनका हर दिन अपनी बेटी के नाम होता है फिर भी बनाने वालों ने बेटियों के लिए भी एक खास दिन बना दिया है, जिसे हम डॉटर्स डे (Daughters Day 2022) कहते हैं।

अब आप सोच रहे होंगे कि बेटियों को भला किसी एक दिन कैसे सेलिब्रेट किया जाये वो तो हर दिन सेलिब्रेट की जाती हैं। उनके आने भर से घर में खुशियां छा जाती हैं। तो हम आपको बताते हैं कि आखिर कब है डॉटर्स डे (Daughters Day kab hai) और ये दिन कब आता है (Daughters Day Kab Aata Hai), डाॅटर्स डे कोट्स। हम यहां आपको डॉटर्स डे (Daughters Day) के बारे में बता रहे हैं सब कुछ।

Daughters Day Kab Hai  | डाॅटर्स डे कब है

 Daughters Day 2022

कहते हैं बेटे भाग्य से पैदा होते हैं और बेटियां सौभाग्य से। बेटियां अपने साथ पूरे परिवार की किस्मत बदलने का दम रखती हैं। उन्हें खुला आकाश दिया जाये तो वे ऊंची उड़ान भी भर सकती हैं। बेटियां ही होती हैं, जिनके दिलों में सबके लिए प्यार होता है। फिर चाहे वो उनका मायका हो या ससुराल। दोनों घरों को बांधकर रखने वाली भी बेटियां ही होती हैं। आज बेटियां किसी भी बात पर बेटों से कम नहीं है। उनकी शिक्षा-दीक्षा अगर अच्छे से की जाये तो वे हर मुश्किल को पार कर अपने माता-पिता का नाम रोशन करती हैं। अब आपके मन में ये सवाल आना लाजमी है कि डॉटर्स डे कब है( Daughters Day Kab Hai)? तो आपकी जानकारी के लिए बता दें कि बेटियों को सेलिब्रेट करने के लिए हर साल की तरह इस साल भी यह सितंबर महीने के आखिरी रविवार को मनाया जाएगा। इस साल यह 25 सितंबर 2022 को (National Daughters Day 2022) सेलिब्रेट किया जायेगा।

Daughters Day History in Hindi  | डाॅटर्स डे का इतिहास

 
 Daughters Day 2022

भारत में एक लड़की होने के कलंक को दूर करने के लिए सबसे पहले डॉटर्स डे की शुरुआत (Daughters Day 2022) की गई थी। इस बात से तो हम सभी वाकिफ हैं कि दुनिया भर के अन्य देशों के विपरीत, भारत में बेटियों के साथ समान व्यवहार नहीं किया जाता है और उन्हें अक्सर एक बोझ के रूप में देखा जाता है। दहेज की अवधारणा भारत में अभी भी कायम है, भले ही इसके खिलाफ कानून हैं। इसके बावजूद दुल्हन के परिवार से अपेक्षा की जाती है कि वे पैसे और महंगे उपहार दें, साथ ही साथ एक फैंसी शादी भी करें, परंपरा में दोष देखने के बजाय, यह बेटियों के लिए एक सजा जैसा बन जाता है। भारत में कन्या भ्रूण हत्या भी एक बड़ा मुद्दा बना हुआ है, और कुछ मामलों में बेटियों को जन्म देने वाली महिलाओं को बहिष्कृत कर दिया जाता है। इसे भी पढ़े – पिता और बेटी पर शानदार कोट्स

अगर बड़े शहरों को छोड़ भी दें तो यह मुद्दा अभी भी ग्रामीण और साथ ही भारत के अन्य हिस्सों में मौजूद है। इसके अलावा भले ही लोग बेटियों से प्यार करें मगर बेटे की चाह में वो और बच्चे पैदा करने से भी गुरेज नहीं करते हैं। इसी दकियानूसी सोच को खत्म करने के लिए राष्ट्रीय बेटी दिवस भारत में शुरू हुआ और पहली बार 2007 में इसे मनाया गया। यही डाॅटर्स डे का इतिहास (Daughters Day History in Hindi) है।

Daughters Day Kyu Manaya Jata hai | बेटी दिवस क्यों मनाया जाता है 

आपको बहुत हद तक यह पता चल गया होगा  कि बेटी दिवस क्यों मनाया जाता है ? यह उन खुशियों के सम्मान में मनाया जाता है, जो बेटियां अपने आसपास के लोगों के जीवन में लाती हैं। चाहे वह माता-पिता हों, दादा-दादी हों, भाई-बहन हों, शिक्षक हों, आदि। लड़कियां लड़कों के बराबर हैं, और उन्हें उनकी क्षमताओं पर आंका जाना चाहिए न कि उनके लिंग पर, यह बेटियों को समान अवसर प्रदान करने पर भी केंद्रित है, चाहे वह शिक्षा हो या और कोई काम। इस दिन जिम्मेदार नागरिक बेटियों के महत्व के बारे में जागरूकता लाना का प्रयास करते हैं 

Daughters Day Kaise Manaya Jata hai | बेटी दिवस कैसे मनाया जाता है

इस दिन लोग एक दूसरे को बेटी दिवस के शुभकामना सन्देश भेजते हैं और बेटियों की अहमियत पर सुविचार साझा करते हैं। जिनके घर में सौभाग्य से बेटियां हैं वो उन्हें उपहार देते हैं और केक इत्यादि काटकर बेटी दिवस का जश्न मनाते हैं। भारत में बेटियों के साथ बाहर भोजन करके या उन्हें शॉपिंग कराकर भी डाॅटर्स डे सेलिब्रेट कराया जा सकता है, हालांकि बेटी दिवस मनाने से ज्यादा जरुरी है, बेटी को मानना। उसकी अहमियत को जानना, इसलिए ही तो यह ख़ास दिन बेटी(Daughter’s Day) मनाया जाता है।

 Daughters Day Importance in Hindi | डाॅटर्स डे का महत्व

 Daughters Day 2022 बेटा हो या बेटी, किसी को अपने बच्चों को मनाने के लिए किसी कारण की आवश्यकता नहीं होनी चाहिए। इसके लिए बस उनका जन्मदिन ही काफी है। मगर भारत में कई अन्यायपूर्ण पितृसत्तात्मक समाज अभी भी बेटियों को बेटों से कमतर मानते हैं। इसलिए कुछ देशों की सरकारों ने समानता को प्रोत्साहित करने के प्रयास में डॉटर्स डे को राष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त त्योहार के रूप में मनाने का फैसला किया। सरकार और कानून के सामने हर नागरिक समान है और इस सोच को लोगों में बढ़ावा देने की जरूरत है। डॉटर्स डे की बढ़ती लोकप्रियता को देखकर यह पता चलता है कि समय कैसे बदल रहा है। लोग खुशी-खुशी बेटियों के होने का जश्न मना रहे हैं और डॉटर्स डे को सेलिब्रेट कर रहे हैं। चूंकि यह रविवार को पड़ता है, इसलिए बेटियों और माता-पिता की आमतौर पर उस दिन छुट्टी होती है और उनके पास जश्न मनाने के लिए व एक साथ समय बिताने के लिए पूरा एक दिन होता है।

डॉटर्स डे मनाने का खास महत्व है, क्योंकि परिवार के हर सदस्यों को प्यार के बंधन में बांधें रखने में बेटियों का  अहम किरदार होता हैजब समाज में बेटियों को बेटों के मुकाबले कम आंका जाता है तो इस दिन का महत्व बढ़ जाता है। ऐसे में हमें लोगों को जागरूक करना जरूरी है और उनके त्याग, समर्पण, साहस, कामयाबी की याद दिलानी पड़ती है। 

Laws in India for Girls in Hindi | लड़कियों के लिए भारत में कानून

भारतीय कानून बेटियों को समाज में सुरक्षित स्थान देने के लिए प्रतिबद्ध है, अनैतिक व्यापार रोकथाम अधिनियम, 1956, दहेज निषेध अधिनियम 1961(1986 में संशोधित) , सती आयोग रोकथाम अधिनियम, 1987 घरेलू हिंसा से महिलाओं का संरक्षण अधिनियम, 2005 जैसे कई कानून महिलाओं के पक्ष में हैं। महिलाओं के प्रति अपराध करने वालों के प्रति और भी कई सख्त कानून हैं, लेकिन इनके प्रति अभी जागरूकता कम है। बलात्कार जैसे मामलों में महिला अपराधियों को सजा मिलने की दर बेहद कम है क्योंकि मामले उजागर ही नहीं होते हैं, इसे स्त्री शुचिता से जोड़कर देखा जाता है।

  • डाॅटर्स डे (Daughter’s Day) कब है? 

इस बार डाॅटर्स डे (Daughter’s Day) 25 सितम्बर 2022, यानि रविवार को है

  • डाॅटर्स डे और वूमेंस डे कैसे अलग है? 

डाॅटर्स डे (Daughter’s Day) सितम्बर के आखिरी रविवार को मनाया जाता है जबकि वूमेंस डे 8 मार्च को मनाया जाता है। वूमेंस डे का उद्देश्य है महिलाओं का सशक्तिकरण जबकि डाॅटर्स डे (Daughter’s Day) बेटियों के महत्व के प्रति जागरूकता के लिए मनाया जाता है

  • डाॅटर्स डे कैसे बनाएं? 

डॉटर्स डे मनाने के लिए आप अपनी बेटी का फेवरेट फ़ूड तैयार कर सकते हैं या उसे कोई सुंदर सा गिफ्ट दे सकते हैं

  • डाॅटर्स डे पर क्या गिफ्ट(Daughter’s Day Gift) करें ? 

डॉटर्स डे पर आप चाकलेट्स, गर्ल टॉय, ड्रेस, स्टेशनरी, होम डेकोर, पर्स, ज्वेलरी, डिजिटल गेम्स, गैजेट्स या वाच गिफ्ट कर सकते हैं

  • राष्ट्रीय बेटी दिवस पहली बार कब शुरू हुआ? 

इसकी शुरुआत साल 2007 में हुई थी

ये भी पढ़ें – 

Navratri Gift Ideas in Hindi

Songs on Daughter in Hindi

Daughters Day Gifts Ideas in hindi

 

POPxo की सलाह : MYGLAMM के ये शानदार बेस्ट नैचुरल सैनिटाइजिंग प्रोडक्ट की मदद से घर के बाहर और अंदर दोनों ही जगह को रखें साफ और संक्रमण से सुरक्षित!

You Might Also Like

Daughters day quotes in english

23 Sep 2022

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text