Advertisement

लाइफस्टाइल

जानिए डाॅटर्स डे कब है? और क्या है इसका इतिहास व महत्व – Daughters Day Kab Hai

Supriya SrivastavaSupriya Srivastava  |  Jul 22, 2021
डाॅटर्स डे कब है, daughters day kab hai, daughters day 2021
आपने वो गाना तो सुना ही होगा, ‘ये बेटियां तो बाबुल की रानियां हैं, मीठी-मीठी प्यारी-प्यारी कहानियां हैं’। सच ही तो है, बेटियां होती ही इतनी प्यारी हैं कि उनके बारे में लिखने जाओ तो शब्द कम पड़ जाते हैं। कहते हैं बेटे अपने किस्मत खुद बनाते हैं लेकिन बेटियां अपनी किस्मत साथ लेकर आती हैं। तभी तो जिस घर में बेटी होती है तो लोग कहते हैं, ‘बधाई हो आपके घर लक्ष्मी आई है’। यूं तो माता-पिता के लिए उनका हर दिन अपनी बेटी के नाम होता है फिर भी बनाने वालों ने बेटियों के लिए भी एक खास दिन बना दिया है, जिसे हम डॉटर्स डे (daughters day 2021) कहते हैं।
अब आप सोच रहे होंगे कि बेटियों को भला किसी एक दिन कैसे सेलिब्रेट किया जाये वो तो हर दिन सेलिब्रेट की जाती हैं। उनके आने भर से घर में खुशियां छा जाती हैं। तो हम आपको बताते हैं कि आखिर कब है डॉटर्स डे (daughters day kab hai) और ये दिन कब आता है (daughters day kab aata hai), डाॅटर्स डे कोट्स। हम यहां आपको डॉटर्स डे (daughters day) के बारे में बता रहे हैं सब कुछ। 

डाॅटर्स डे कब है? – Daughters Day Kab Hai

Daughters Day Kab Hai

कहते हैं बेटे भाग्य से पैदा होते हैं और बेटियां सौभाग्य से। बेटियां अपने साथ पूरे परिवार की किस्मत बदलने का दम रखती हैं। उन्हें खुला आकाश दिया जाये तो वे ऊंची उड़ान भी भर सकती हैं। बेटियां ही होती हैं, जिनके दिलों में सबके लिए प्यार होता है। फिर चाहे वो उनका मायका हो या ससुराल। दोनों घरों को बांधकर रखने वाली भी बेटियां ही होती हैं। आज बेटियां किसी भी बात पर बेटों से कम नहीं है। उनकी शिक्षा-दीक्षा अगर अच्छे से की जाये तो वे हर मुश्किल को पार कर अपने माता-पिता का नाम रोशन करती हैं। बेटियों को सेलिब्रेट करने के लिए हर साल की तरह इस साल भी यह सितंबर महीने के आखिरी रविवार को मनाया जाएगा। इस साल यह 26 सितंबर 2021 को (national daughters day 2021) सेलिब्रेट किया जायेगा।  

डाॅटर्स डे का इतिहास – Daughters Day History in Hindi

भारत में एक लड़की होने के कलंक को दूर करने के लिए सबसे पहले डॉटर्स डे की शुरुआत की गई थी। इस बात से तो हम सभी वाकिफ हैं कि दुनिया भर के अन्य देशों के विपरीत, भारत में बेटियों के साथ समान व्यवहार नहीं किया जाता है और उन्हें अक्सर एक बोझ के रूप में देखा जाता है। दहेज की अवधारणा भारत में अभी भी कायम है, भले ही इसके खिलाफ कानून हैं। इसके बावजूद दुल्हन के परिवार से अपेक्षा की जाती है कि वे पैसे और महंगे उपहार दें, साथ ही साथ एक फैंसी शादी भी करें, परंपरा में दोष देखने के बजाय, यह बेटियों के लिए एक सजा जैसा बन जाता है। भारत में कन्या भ्रूण हत्या भी एक बड़ा मुद्दा बना हुआ है, और कुछ मामलों में बेटियों को जन्म देने वाली महिलाओं को बहिष्कृत कर दिया जाता है। अगर बड़े शहरों को छोड़ भी दें तो यह मुद्दा अभी भी ग्रामीण और साथ ही भारत के अन्य हिस्सों में मौजूद है। इसके अलावा भले ही लोग बेटियों से प्यार करें मगर बेटे की चाह में वो और बच्चे पैदा करने से भी गुरेज नहीं करते हैं। 

Daughters Day History in Hindi

जबकि अन्य देशों में यह दिन उस आशीर्वाद के रूप में मनाया जाता है, जो बेटियां अपने आसपास के लोगों के जीवन में लाती हैं। चाहे वह माता-पिता हों, दादा-दादी हों, भाई-बहन हों, शिक्षक हों, आदि। भारत में यह दिन बेटी होने से कलंक को दूर करने पर केंद्रित है, इसके जरिये यह प्रकाश डालने की कोशिश की गई है कि लड़कियां लड़कों के बराबर हैं, और उन्हें उनकी क्षमताओं पर आंका जाना चाहिए न कि उनके लिंग पर, यह बेटियों को समान अवसर प्रदान करने पर भी केंद्रित है, चाहे वह शिक्षा हो या और कोई काम।

डाॅटर्स डे का महत्व – Daughters Day Importance in Hindi

Daughters Day Importance in Hindi

बेटा हो या बेटी, किसी को अपने बच्चों को मनाने के लिए किसी कारण की आवश्यकता नहीं होनी चाहिए। इसके लिए बस उनका जन्मदिन ही काफी है। मगर भारत में कई अन्यायपूर्ण पितृसत्तात्मक समाज अभी भी बेटियों को बेटों से कमतर मानते हैं। इसलिए कुछ देशों की सरकारों ने समानता को प्रोत्साहित करने के प्रयास में डॉटर्स डे को राष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त त्योहार के रूप में मनाने का फैसला किया। सरकार और कानून के सामने हर नागरिक समान है और इस सोच को लोगों में बढ़ावा देने की जरूरत है। डॉटर्स डे की बढ़ती लोकप्रियता को देखकर यह पता चलता है कि समय कैसे बदल रहा है। लोग खुशी-खुशी बेटियों के होने का जश्न मना रहे हैं और डॉटर्स डे को सेलिब्रेट कर रहे हैं। चूंकि यह रविवार को पड़ता है, इसलिए बेटियों और माता-पिता की आमतौर पर उस दिन छुट्टी होती है और उनके पास जश्न मनाने के लिए व एक साथ समय बिताने के लिए पूरा एक दिन होता है।

डाॅटर्स डे से जुड़े सवाल-जवाब – FAQ’s

डाॅटर्स डे क्यों मनाया जाता है?

समाज में बेटियों के महत्व और उनके बराबरी के योगदान पर प्रकाश डालने के लिए डाॅटर्स डे मनाया जाता है।

POPxo की सलाह : MYGLAMM के ये शानदार बेस्ट नैचुरल सैनिटाइजिंग प्रोडक्ट की मदद से घर के बाहर और अंदर दोनों ही जगह को रखें साफ और संक्रमण से सुरक्षित!

You Might Also Like

Daughters day quotes in english