ब्यूटी

ब्लीच करने का तरीका (फेस) और सबसे अच्छा ब्लीच कौन सा है? – Bleach Karne ka Tarika

Archana ChaturvediArchana Chaturvedi  |  Aug 31, 2020
ब्लीच करने का तरीका, Bleach Karne ka Tarika, सबसे अच्छा ब्लीच कौन सा है

आजकल ज्यादातर लोग अपने चेहरे पर इंस्टेंट ग्लो पाने, टैनिंग रिमूव करने या फिर अनचाहे बाल (Facial Hair ) छुपाने के लिए फेस ब्लीच का सहारा लेते हैं। क्योंकि इससे चेहरे का रंग एक समान हो जाता है। ब्लीच स्किन को सॉफ्ट बनाने के साथ- साथ उसका पोषण भी करता है। जी हां, ब्यूटी एक्पर्ट्स भी मानते हैं कि ब्लीच की एक अच्छी बात ये है कि इसका इस्तेमाल आसानी से घर पर भी किया जा सकता है। इसके लिए ब्यूटी पालर्र जाने की भी कोई जरूरत नहीं है। बेदाग चेहरा व निखरी रंगत पाकर महिलाओं के कॉन्फिडेंस में गजब का फर्क आ जाता है। आइए जानते हैं ब्लीच फेस पर कैसे करते हैं, ब्लीच करने का तरीका (bleach lagane ka tarika) और ब्लीच से जुड़ी वो हर सभी बातें जो ब्लीचिंग पाउडर इस्तेमाल करने वाली हर लड़की को पता होनी ही चाहिए।

ब्लीच कैसे करते हैं – Bleach Kaise karte hai? 

ब्लीच कैसे करते हैं ये जानने से पहले आपको पता होना चाहिए कि आखिर ब्लीच क्या है (What is Bleach in Hindi)? दरअसल, ब्लीचिंग पाउडर या ब्लीच को ब्लीचिंग एजेंट के तौर पर जाना जाता है जो कि एक तरह का केमिकल होता है। इसका प्रयोग मुख्यता चेहरे के बालों का रंग हल्का करने, त्वचा को साफ और डार्कनेस को कम करने के लिए किया जाता है। इस पूरे प्रोसेस को ब्लीचिंग कहा जाता है।  ब्लीचिंग केवल फेस की ब्यूटी को बढ़ाने के लिए ही प्रयोग नहीं किया जाता बल्कि इसका प्रयोग अन्य जगह भी होता है। जैसे कि कागज को सफ़ेद बनाने, दांतों की सफाई में, चीजों को साफ और चमकदार बनाने में।
अगर हम ब्लीच करने की बात करते हैं तो हमें पता होना चाहिए कि बाजार में प्रमुख रूप से दो तरह की ब्लीच (Types Of Bleach In Hindi) मिलती है। पहला होता है पाउडर ब्लीच – ये ब्लीच आमतौर पर एक पाउडर के रूप में होती है। इस प्रकार की ब्लीच बहुत शक्तिशाली होती है। इसे कपड़े धोने, उसमें से दाग- धब्बे हटाने और गंध को दूर करने लिए किया जाता है। दूसरा होता है क्रीम ब्लीच – इस तरह की ब्लीच का उपयोग स्किन के लिए किया जाता है। ज्यादातर महिलाएं फेशियल से पहले ब्लीच करना पसंद करती हैं, इससे उनका ग्लो और भी बढ़ जाता है। तो आइए जानते हैं कि ब्लीच कैसे करते हैं और ब्लीच करने से पहले और बाद में किन-किन बातों का ध्यान रखना जरूरी होता है –

 Bleach Kaise karte hai

  • अगर आपकी स्किन बहुत कोमल और सेंसिटिव है तो ब्लीचिंग क्रीम को चेहरे पर लगाने से पहले उस घोल को कान के पीछे या फिर अपनी हाथों की कोहनियों पर लगाकर टेस्ट कर लें कि आपको जलन या रैशेज तो नहीं हो रहे हैं।
  • ब्लीचिंग कराने के तुरंत पहले थ्रेडिंग या फिर वैक्स न करवाएं।
  • ब्लीचिंग क्रीम लगाने से पहले अपना चेहरा अच्छी तरह जरूर साफ कर लें।
  • गरम पानी से नहाने के तुरंत बाद ब्लीच का प्रयोग न करें।
  • ब्लीचिंग पेस्ट चेहरे पर लगाने और हटाने दोनों वक्त हाथ का प्रयोग न करें। क्योंकि आपके हाथों में कीटाणु और जीवाणु हो सकते हैं, इसके लिए ब्रश या स्टिक का ही उपयोग करें।
  • ब्लीच करने के तुरंत बाद धूप की रोशनी में न जायें, ऐसे में आप अपना पूरा चेहरा किसी कपड़े से अच्छे से कवर करके निकल सकते हैं।
  • ब्लीच करने के बाद क्या करना ठीक रहता है (bleach karne ke baad kya kare)? ब्लीच कराने के बाद फेशियल या फिर क्लीन- अप कराने से ज्यादा अच्छा निखार आता है।
  • चेहरे को पानी से अच्छी तरह से पोंछ लें और फिर कोल्ड क्रीम से हल्के हाथों से मसाज करें।
  • ब्लीचिंग के बाद चेहरे पर एस्ट्रिंजेंट लोशन लगाने से स्किन पर रैशेज नहीं होते हैं और न ही जलन होती है।

स्किन के अनुसार करें ब्लीच का चुनाव

ब्लीच करने से पहले अपने स्किन के टाइप को जानना बहुत ही जरूरी है कि आपको स्किन के लिए किस तरह की ब्लीच परफेक्ट रहेगी। क्योंकि, हर किसी के चेहरे के लिए एक तरह की ब्लीच क्रीम उपयुक्त नहीं होती। इस केमिकल को अपने चेहरे पर लगाने से पहले ये जांच कर लें कि आपकी स्किन किस तरह की है। आइए जानते हैं कि स्किन के अनुसार कैसे करें ब्लीच का चुनाव –

सेंसिटिव स्किन – सेंसिटिव स्किन के लिए लैक्टो ब्लीच बेस्ट होती है क्योंकि इसका असर तेजी से नहीं होता है और इसके साइडइफेक्ट भी नहीं होते हैं।
नॉर्मल स्किन – जिन लोगों कि स्किन नॉर्मल होती हैं और जिन्हें किसी भी तरह की कोई स्किन प्रॉब्लम्स नहीं होती हैं उनके लिए ऑक्सी ब्लीच बेस्ट ऑप्शन है।
फेयर स्किन टोन – इस तरह की स्किन टोन वाले लोगों के लिए सैफरॉन ब्लीच बेहतर रहती है।
डार्क स्किन टोन – सांवले या फिर गहरे रंग की रंगत के लोगों के लिए पर्ल ब्लीच एकदम सही है। ये चेहरे में इंस्टेंट ग्लो लाती है।
बेहतर रिजल्ट के लिए ब्लीच करने बाद MyGlamm का GLOW IRIDESCENT BRIGHTENING SHEET MASK ट्राई करें। 

ब्लीच करने का तरीका – Bleach Karne ka Tarika

फेस ब्लीच करना आसान है लेकिन सही तरीके से करना जरूरी है। कई लोग ब्लीच को सही तरीके से नहीं करते हैं जिससे उन्हें कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। जहां एक तरफ ब्लीच आपके चेहरे की तमाम समस्याओं को खत्म करने में मदद करता है वहीं अगर इसे गलत तरीके से इस्तेमाल किया जाए तो ये उन समस्याओं को खुद न्यौता देने जैसा है। इसीलिए यहां हम आपको ब्लीच करने का तरीका (bleach lagane ka tarika) स्टेप बाय स्टेप बता रहे हैं, तो आइए जानते हैं कि ब्लीच कैसे लगाते हैं –

Bleach Karne ka Tarika

स्टेप 1 – सबसे पहले अपने चेहरे को फेसवॉश से धोकर अच्छी तरह साफ कर लें।
स्टेप 2 – इसके बाद ब्लीच करने से पहले अपने फेस पर प्री- ब्लीच क्रीम से मसाज करें।
स्टेप 3 – अब आप एक कटोरी में चेहरे की स्किन के अनुसार 2 या 3 चम्मच ब्लीचिंग क्रीम लें और उसमें एक्टिवेटर यानि कि ब्लीचिंग पाउडर (bleaching powder uses in hindi) 1 या 2 चुटकी मिलाएं। इस दौरान ये ध्यान रखें कि एक्टिवेटर की मात्रा संतुलित हो नहीं तो आपकी स्किन को नुकसान भी पहुंच भी सकता है।
स्टेप 4 – अब उंगलियों और फिर ब्रश की मदद से अपने पूरे चेहरे और गर्दन पर ब्लीच का यह मिक्सचर लगा लें, याद रखें कि ब्लीच आईब्रो और कलमों पर न लगायें नहीं तो ये भी गोल्डन कलर की हो जायेंगी।
स्टेप 5 – इसके बाद ब्लीच को 10 से 15 मिनट के लिए ऐसे ही लगा छोड़ दें।
स्टेप 6 – अब स्पंज या फिर टिश्यु पेपर की मदद से ब्लीच साफ कर लें और ठंडे पानी से मुंह धो लें।
स्टेप 7 – इसके बाद चेहरे को अच्छी तरह से पोंछ लें फिर पोस्ट- ब्लीच क्रीम से चेहरे की मालिश कर लें।
बेहतर रिजल्ट के लिए ब्लीच करने बाद MyGlamm का K.PLAY MANDARIN BRIGHTENING SHEET MASK ट्राई करें।

फेस ब्लीच और सावधानियां – Bleaching Tips in Hindi

आमतौर पर ब्लीचिंग पाउडर के उपयोग (bleaching powder uses in hindi) साफ-सफाई के तौर पर किया जाता है। इससे क्लोरीन की तीव्र गंध निकलती है। क्लोरोफॉर्म एवं क्लोरीन गैस बनाने में भी इसका उपयोग किया जाता है। फेस पर ब्लीच के तौर पर इसकी बेहद नपी तुली मात्रा का इस्तेमाल किया जाता है। आजकल बाजार में कई ऐसी ब्लीच क्रीम मौजूद हैं जिन्हें इस्तेमाल करना बेहद आसान है। ऐसे में लोग अब घर पर भी ब्लीच करने लगे हैं। लेकिन इस बात का जरूर ध्यान रखें कि ब्लीच करने के दौरान हुई एक छोटी सी गलती भी भारी पड़ सकती है। तो आइए जानते हैं ब्लीच करने के दौरान कौन-कौन सी सावधानियां बरतनी चाहिए –
  • ब्लीच क्रीम में एक्टिवेटर मिलाने के लिए मेटल की चम्मच का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।
  • अगर आपके चेहरे पर मुंहासे, दाने या फिर किसी तरह का कोई घाव हैं तो आपको ब्लीच का प्रयोग नहीं करना चाहिए।
  • इस बात का हमेशा ध्यान रखें कि बॉडी ब्लीच और फेस ब्लीच बिल्कुल अलग- अलग होती हैं। चेहरे की ब्लीच बॉडी पर और बॉडी की ब्लीच चेहरे पर कभी न लगाएं।
  • अगर आपको किसी तरह का कोई स्किन इंफेक्शन है या फिर आपकी स्किन बहुत ही सेंसिटिव है तो भी आपको ब्लीच का प्रयोग नहीं करना चाहिए।
  • अगर ब्लीचिंग के दौरान जलन हो रही हो तो पाउडर की मात्रा कम करें और क्रीम की मात्रा बढ़ा लें।
  • हमेशा अच्छी कंपनी का ही ब्लीच इस्तेमाल करें।

जानिए आंखों के लिए घर पर काजल कैसे बनाते हैं

ब्लीच करने के फायदे – Bleach Karne ke Fayde

फेस ब्लीच करने के एक नहीं बल्कि अनेक फायदे हैं। खासतौर पर अगर आप इंस्टेंट निखार की बात करेंगे तो ब्लीच उनमें से एक ऑप्शन हो सकता है। आपकी स्किन रोजाना कई तरह के हानिकारक तत्वों जैसे- यूवी किरणों, धूल, मिट्टी और प्रदूषण का सामना करती है। ऐसे में आपके चेहरे की स्किन सांवली और रुखी दिखाई देने लगती है। फेस पर ब्लीच करने से कुछ ही मिनटों में आपकी आपकी डैमेज स्किन मरम्मत हो जाती है और चेहरे पर निखार आ जाता है। तो आइए जानते हैं कि ब्लीच करने से कौन-कौन से फायदे होते हैं – 

 Bleach Karne ke Fayde

दाग धब्बों से मिले छुटकारा 

ब्लीच लगाने से चेहरे पर दाग, धब्बे और पिगमेंटेशन की समस्या से छुटकारा भी मिलता है। दरअसल, ब्लीच में स्किन से जुड़ी समस्याओं को दूर करने के गुण मौजूद होते हैं। ये स्किन के रोम छिद्रों और कोशिकाओं से अशुद्धियों और मेलानिन को साफ करने में मदद मिलती है।

चेहरे के बाल छिप जाते हैं

चेहरे पर बाल होने की वजह से भी चेहरा सांवला दिखाई देता है। ब्लीच फेस से जहां स्किन में निखार आता है वहीं बारीक रोयें भी छिप जाते हैं। ये सबसे आसान तरीका है चेहरे के बाल को छिपाने का जबकि वैक्सिंग के जरिये रोओं को खींचने से चेहरे की स्किन ढीली होकर झूलने लगती है।

डेड स्किन का सफाया 

धूल-मिट्टी और प्रदूषण के कारण व्यक्ति की त्वचा शुष्क और रूखी हो जाती है जिसकी वजह से चेहरे की त्वचा पर मृत सेल्स जमा हो जाते हैं। इन मृत सेल्स को डेड स्किन के नाम से भी जाना जाता हैं। ब्लीच फेस करने से डेड स्किन खत्म हो जाती है और चेहरा चमकने लगता है।

टैनिंग दूर करें

हमारी स्किन बहुत ही नाजुक होती है और उसे ज्‍यादा देर धूप में रखने से सन टैनिंग की समस्‍या पैदा हो जाती है। टैनिंग दूर करने के लिए ब्लीच का उपाय काफी कारगर है, और ज्यादातर लोग यही तरीका भी अपनाते हैं।

रंगत में निखार

ब्लीच फेस लगाने से स्किन का टेक्सचर बदल जाता है। ब्लीचिंग से स्किन का कालापन दूर होता है जिससे चेहरे पर ग्लो आ जाता है। ये स्किन के मेलानिन स्तर को कम करती है जिससे आपके चेहरे पर निखार लंबे समय तक कायम रहता है।
बेहतर रिजल्ट के लिए ब्लीच करने बाद MyGlamm का K.PLAY ACAI BERRY ANTI-OXIDANT SHEET MASK ट्राई करें।

ब्लीच के नुकसान – Bleach ke Nuksan

ऐसा नहीं है कि ब्लीच करने के सिर्फ फायदे ही फायदे हैं, बल्कि इसके कई नुकसान भी हैं। ब्लीचिंग एक ऐसी प्रक्रिया है जो आपकी स्किन के बालों को आपको रंगत से मिलाकर एक नया निखार देने में मदद करता है, लेकिन ब्लीच में केमिकल होने की वजह से ये कई बार फायदा पहुंचाने की बजाय नुकसान पहुंचाती है। आइए जानते हैं ब्लीच करने के नुकसानों के बारे में –

Bleach ke Nuksan

  • ब्लीच करने से स्किन का नैचुरल ग्लो खत्म हो जाता है।
  • ब्लीचिंग से चेहरे पर कई बार काले धब्बे भी पड़ सकते हैं।
  • ब्लीचिंग से आंखों में जलन और लालिमा की समस्या हो सकती है।
  • एक्सपर्ट्स कहते हैं कि ब्लीच का ज्यादा इस्तेमाल करने से ऑस्टियोपोरोसिस जैसी परेशानी भी उत्पन्न हो सकती है।
  • कई बार ब्लीच में एक्टिवेटर के गलत अनुपात में मिल जाने की वजह से स्किन को हानि भी पहुंच सकती है और एलर्जी भी हो सकती है। यहां तक सेंसिटिव लोगों की स्किन झुलस जाने तक का खतरा रहता है।

चेहरे से कील मुंहासे हटाने के आयुर्वेदिक उपाय

सबसे अच्छा ब्लीच कौन सा है?

चेहरे की तमाम परेशानियों से छुटकारा पाने के लिए हम में से ज्यादातर लोग ब्लीच करना पसंद करते हैं। लेकिन ये नहीं पता होता है कि कौन-सी फेस ब्लीच क्रीम बेस्ट रहेगी। तो फ्रिक मत कीजिए क्योंकि यहां हम आपको कुछ ऐसे बेस्ट फेस ब्लीच क्रीम के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हें हर स्किन टाइप के लोग इस्तेमाल कर सकते हैं। तो आइए जानते हैं बेस्ट फेस ब्लीच क्रीम के बारे में –

ऑक्सीलाइफ ब्लीच (OxyLife Natural Radiance 5 Creme Bleach)

ऑक्सीलाइफ नेचुरल रेडियंस क्रीम, ब्लीच एक्टिव ऑक्सीजन से युक्त होती है जिसकी वजह से ये स्किन की पांच प्रॉब्लम्स – डार्क स्पॉट्स, डल स्किन, डेड स्किन, सन टैन और डल स्किन टोन से छुटकारा दिलाने में मदद करती है।

वीएलसीसी इंस्टा ग्लो हर्बल ब्लीच (VLCC Insta Glow Herbal Bleach)

यह एक हर्बल ब्लीच है और स्किन पर पूरी तरह से जेंटल है। ये नैचुरल हर्बल तत्वों जैसे खीरा, टमाटर आदि के गुणों से युक्त है। ये न केवल स्किन को रेपियर करता है और चेहरे की टैनिंग को खत्म करके नई स्किन लाने में मदद करता है साथ ही चेहरे के अनचाहे बालों का रंग भी हल्का कर देता है, जिससे वो दिखाई नहीं देते हैं।

फेम टर्मरिक हर्बल फेयरनेस क्रीम ब्लीच (Fem Turmeric Herbal Fairness Cream Bleach)

यह डर्मेटोलॉजिकली टेस्टेड है और अमोनिया से मुक्त है। यह एक हर्बल ब्लीच है जो सेंसटिव स्किन और ऑल टाइप स्किन के लिए बहुत अच्छी है। इसमें हल्दी और दूध दोनों ही है जो एक साथ मृत त्वचा कोशिकाओं और सनटैन को हटाने में मदद करते हैं।

O3+ मेलडर्म विटामिन-सी जेल ब्लीच (O3+ Meladerm Vitamin C Gel Bleach)

यह ब्लीच पेरॉक्साइड से मुक्त है और आपकी त्वचा को हाइड्रेशन का सही संतुलन प्रदान करती है। ये ब्लीच क्रीम के रूप में न होकर जैल बेस में आती है, जिसका मुख्य घटक विटामिन सी है। जोकि कोलेजन उत्पादन को बढ़ाता है और त्वचा को तरोताजा कर उसे जवां बना देता है। 

फेस ब्लीच FAQs

ब्लीच के बाद क्या लगाएं ?

अगर आप बाजार वाली ब्लीच लगा रहे हैं तो उसके साथ पोस्ट क्रीम भी मिलती है, आप सीधे उसे अप्लाई कर सकते हैं। इसके अलावा आप एलोवेरा जेल लगा सकते हैं, इससे किसी तरह की जलन भी नहीं होती है और चेहरे को ठंडक मिलती है।

क्या ब्लीच लगाने से स्किन जल जाती है ?

ये निर्भर करता है कि आप अपनी ब्लीच क्रीम में एक्टीवेटर कितना डाल रहे हैं। अगर आपकी स्किन सेंसिटिव हैं तो कम से कम मात्रा में एक्टीवेटर का इस्तेमाल करें।

ब्लीचिंग से क्या चेहरे पर बालों की ग्रोथ बढ़ जाती है?

ये बात सिर्फ एक मिथ है। ब्लीचिंग करने पर चेहरे के बाल छिप जाते हैं और उन का रंग चेहरे के रंग से मिल जाता है। इसके बाद जब ब्लीचिंग का असर खत्म होने लगता है तो बाल फिर से काले दिखने के कारण ऐसा सिर्फ महसूस होता है कि बाल की ग्रोथ बढ़ रही है।

फेशियल और ब्लीच में क्या अंतर है ?

फेशियल का इस्तेमाल चेहरे को खूबसूरत और ग्लोइंग स्किन बनाने के लिए होता है जबकि ब्लीच का प्रयोग चेहरे के बालों का रंग हल्का करने और टैनिंग दूर करने के लिए होता है।

क्या थ्रेडिंग या फिर वैक्स करने के तुरंत बाद ब्लीच नहीं करना चाहिए ?

थ्रेड और वैक्स करने बाद आपकी स्किन काफी सेंसिटिव हो जाती है। ऐसी स्किन पर ब्लीच का इस्तेमाल करना स्किन के लिए हानिकारक हो सकता है। क्योंकि ब्लीच में कुछ केमिकल्स होते हैं जो स्किन के लिए नुकसानदायक हो सकते हैं। इसीलिए ब्लीच का प्रयोग वैक्स के बाद स्किन पर न करें।

ब्लीच लगाने पर अगर जलन ज्यादा हो रही तो क्या करना चाहिए ?

त्वचा में तेज जलन होने पर मिश्रण में क्रीम की मात्रा बढ़ाएं नही तो जहां पर भी ब्‍लीच लगाई है उस हिस्‍से को ठंडे पानी से धो लें। ब्लीच को कभी आंखों, आई ब्रो, होठों व सिर के बालों पर न लगने दें। फिर भी अगर गलती से लग जाए तो तुरंत पानी से धो देना चाहिए। हमेशा अच्छी क्वालिटी का ही ब्लीच इस्तेमाल करें।