जानिए आंखों के लिए घर पर काजल कैसे बनाते हैं - Kajal Banane Ki Vidhi

जानिए आंखों के लिए घर पर काजल कैसे बनाते हैं - Kajal Banane Ki Vidhi

सुंदर दिखने की चाहत हर किसी को होती है। आंखों की खूबसूरती से चेहरे की खूबसूरती और भी ज्यादा बढ़ जाती है। आंखों को सुंदर दिखने के लिए काजल बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। बात जब आंखों की खूबसूरती की आती है तो सबसे पहला नाम काजल (Kajal) का आता है। आज से नहीं बल्कि एक जमाने से काजल को महिलाओं के लिए अनिवार्य माना जाता रहा है। आपने भी देखा- सुना को होगा ही कि काजल स्त्रियों के 16 श्रृंगारों में शामिल है। सदियों से हमारी सभ्यता में केवल महिलाएं ही नहीं बल्कि पुरुष भी आंखों पर काजल का इस्तेमाल किया करते थे। उस समय काजल हर एक घर में बनाया जाने वाला एक सौन्दर्य प्रसाधन था लेकिन आज भी इसकी मांग कम नहीं हुई है। बाजार में मिलने वाले काजल में अक्सर केमिकल्स का प्रयोग किया जाता है जो कि आंखों को नुकसान पहुंचाते हैं। इसीलिए घर में बना काजल ही इस्तेमाल करना चाहिए। ये पूरी तरह से ऑर्गेनिक होता है जोकि आपकी आंखों को कई तरह से फायदा पहुंचाता है। तो आइए जानते है कि काजल के क्या फायदे हैं और इसे घर पर किस तरह से बना सकते हैं (how to make kajal at home in hindi)।


काजल लगाने के फायदे - Benefits of Kajal in Hindi


काजल लगाने का तरीका - How to Apply Kajal in Hindi


घर पर काजल बनाने की विधि - Kajal Banane ka Tarika


काजल लगाने का आध्यात्मिक महत्व - Spiritual Significance of Kajal in Hindi


आज से नहीं बल्कि पुराने समय से काजल लगाने का चलन चला आ रहा है। काजल लगाना एक भारतीय परंपरा है, जो आजकल फैशन स्टेटमेंट बन गई है। काजल को अन्य भाषाओं में कोहल, कोल, केहला, कोहा, सुरमा आदी के नाम से जाता है। काजल का इस्तेमाल केवल लड़कियों तक ही सीमित नहीं है, बल्कि हर लिंग और आयु के लोग इसे इस्तेमाल करते हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि गर्म प्रदेशों में, पुरुष और महिलाएं दोनों ही अपनी आंखों को सूरज की गर्मी से बचाने के लिए काजल का इस्तेमाल करते हैं। भारतीय समाज में काजल को बुरी नजर से बचाने के लिए भी प्रयोग करते हैं। कई लोग बच्चे के माथे या गाल पर एक छोटी सी बिंदी के रूप में इसे लगाते हैं।


नवरात्रि डांडिया नाइट के लिए बोल्ड काजल है बेस्ट, जानिए ऐसे ही कई खास मेकअप टिप्स


girl applying kajal


काजल लगाने के फायदे - Benefits of Kajal in Hindi


आंखों की सुंदरता बढ़ाने के लिए काजल लगाना अच्छा समझा जाता है। खासतौर पर घर पर बना हुआ काजल। जब आप इसके फायदे जानेंगे तो आप इस बात पर यकीन भी करने लगेंगे। तो आइये जानते हैं कि घर पर बने काजल को लगाने के फायदों के बारे में ....


पहले जमाने में सूर्य की हानिकारक पराबैंगनी किरणों से बचने के लिए सनग्लासेस नहीं बल्कि सुरमा यानि काजल का इस्तेमाल किया जाता था। क्योंकि काजल हमारी आंखों को सूरज की हानिकारक किरणों से बचाने में सक्षम है।


बड़ी- बड़ी आंखें किसको अच्छी नहीं लगती। अगर किसी की छोटी आंखें हैं तो वो काजल लगाकर अपने आंखों को बोल्ड और अट्रेक्टिव दिखा सकता है। अगर आप चाहते हैं कि आपकी आंखें बड़ी और सुंदर दिखें तो रोजाना आपको अपनी आंखों में काजल लगाना चाहिए।


अगर आप रोजाना घर के बने काजल का इस्तेमाल करते हैं तो इससे आपकी आंखों की रौशनी भी बढ़ सकती है।


आंखों में होने वाली कई तरह की बीमारियों से बचाता है काजल। मोतियाबिंद, रतौंधी इत्यादि के लिए काफी कारगर है।


तेज धूप और देर रात तक काम करने की वजह से आंखों में जलन होने लगती है। काजल लगाने से आंखों को ठंडक मिलती है और आराम पहुंचता है।


काजल आंखों को कीट- पतंगों से भी बचाने का काम करता है।


काजल लगी आंखों की खूबसूरती से चेहरे को भी एक नया लुक मिल जाता है। जिससे आप और भी ज्यादा अट्रेक्टिव लगती हैं।


वजन घटाने से लेकर बालों के झड़ने तक में फायदेमंद है गुड़हल का फूल


घर पर काजल बनाने की विधि - Kajal Banane ka Tarika


kajal banane ka tarika


काजल के बिना मेकअप अधूरा है। आंखों को हाइलाइट करने और आकर्षक लुक देने के लिए आजकल ज्यादातर लोग काजल का इस्तेमाल करते हैं। यूं तो बाज़ार में बहुत सारे ब्रांड्स के काजल मौजूद है, लेकिन उनमें कोई न कोई केमिकल जरूर मिला होता है। अगर आप अपने आंखों को खराब करना नहीं चाहती हैं तो होममेड काजल (Homemade Kajal) इस्तेमाल कर सकती हैं। होम मेड काजल को ऑर्गेनिक काजल भी कहा जाता है क्योंकि इसे बनाने में किसी भी तरह के केमिकल्स का उपयोग नहीं किया जाता। ये पूरी तरह से आंखों के लिए सुरक्षित होता है। और इसे घर पर आसानी से बनाया भी जा सकता है। बस इसके लिए आपको कुछ आसान से स्टेप फॉलो करने होंगे। आइए जानें घर पर काजल कैसे बनाएं (ghar par kajal kaise banaye)?


बादाम से काजल बनाना


बादाम से काजल कैसे बनाते हैं (kajal kaise banate hain)? इसके लिए एक गहरा मिट्टी का दीया लें और उसे जमीन पर रखें। ध्यान रहे कि आप दीपक में तेल डालें घी नहीं। अब इस दीपक पर प्लेट इस तरह से रख दें कि इससे दीपक बुझ न जाए। अब इस प्लेट पर कुछ बादाम रख दें (एक समय में 1-2) और बादाम को पूरी तरह जलने दें। अब बादाम के पूरी तरह जलने के बाद 3- 4 मिनट बाद बादाम को निकाल दें। यही प्रक्रिया अन्य बादामों के साथ दोहरायें। उसके बाद यही प्रक्रिया दोहराते रहें, जब तक कि सभी बादाम पूरी तरह न जल जाएं। जब सारे बादाम जल जाएं तो चाकू से इसकी कालिख को निकाल लें और इससे तैयार काजल को डिब्बे में बंद करके रखें।


दिये की लौ से काजल बनाना


सबसे पहले एक लैंप या दीया लें और उसमें घी या तेल भर लें। अब घी में भीगी एक रुई की बत्ती को लैंप में रखें और जला लें। अब दिये को दोनों तरफ से किसी चीज से ढंक लें। दिये के ऊपर उल्टी प्लेट रख दें। ध्यान रखें कि प्लेट में दिये की लौ छू रही हो। इस दिये को रात भर जलने दें ताकि प्लेट पर कालिख जमा होती रहे। जब दीया बुझने के बाद प्लेट हटा लें। अब प्लेट पर लगी कार्बन कोटिंग (कालिख जैसा कुछ) को निकालें और एक साफ डिब्बी में जमा करके रख लें। इसे स्मूद बनाने के लिए कुछ बूंद घी डाल लीजिये। डिब्बी को बंद करके दो घंटे के लिए फ्रिज में रख दें। उसके बाद ये इस्तेमाल के लिए तैयार है। चार महीने में एक बार आप इस तरह घर पर ही काजल बना सकते हैं।


कपूर से काजल बनाने की विधि


कपूर से काजल पारने यानि बनाने का तरीका बहुत ही पुराना और फायदेमंद है। कपूर के 2-3 टुकड़े लें और उसे प्लेट के बीच में रखें। अब दोनों तरफ कटोरी रखें। अब कपूर को जलाएं और इसे पूरी तरह जलने दें। जब कालिख प्लेट पर इकट्ठी हो जाए तो चाकू की सहायता से इसे निकाल ले और इसे किसी डिब्बी में रख दें। कपूर से बना हुआ काजल आंखों को आराम पहुंचाता है और आंखों से धूल के कणों को भी निकालता है। ध्यान रहे कि कपूर अच्छी तरह जले।  


कैस्टर ऑयल की मदद से काजल बनाना


सबसे पहले किसी सूती कपड़े को रोल कर पतली बत्ती बना लें और इसे मिट्टी के दिये में अरंडी का तेल (castor oil) जिसे कैस्टर ऑयल भी कहते हैं उससे भरकर जला दें। लहसुन रस लगे पीतल की थाली से इसे प्रकार ढ़क दें ताकि दिये को जलने के लिये पूरी ऑक्सीजन मिले और जलने में सहायता मिले। अगले दिन सुबह पीतल की प्लेट से इस कार्बन पाउडर यानि कालिख को हटा कर एक डिब्बी में भर लें। इसमें कुछ बूंदें घी या अरंडी के तेल को डालकर अच्छे से मिलायें यह कई दिनों तक स्टोर करके रखा जा सकता है।


सौंदर्य व स्वास्थ्य के लिए जानें कैस्टर ऑयल के फायदे और नुकसान


एलोवेरा जेल से काजल बनाना 


एक मिट्टी का दीया लें और उसे कैस्टर ऑयल से भर लें। अब प्लेट पर थोड़ा एलोवेरा जेल फैलाएं और इसे इस तरह रखें ताकि लौ से एलोवेरा जेल वाला भाग जले। एलोवेरा जेल के पूरी तरह जलने तक इंतज़ार करें। जब जेल पूरी तरह जल जाए तब चाक़ू की सहायता से कालिख को निकाल लें और बॉक्स में रख दें। इसमें 5-8 घंटे का समय लगता है। एलोवेरा जेल से बने काजल का इस्तेमाल करने से आंखों को ठंडक मिलती है।


जानें, एलोवेरा जेल और एलोवेरा जूस के 17 हेल्थ और ब्यूटी बेनिफिट्स


kajal in hindi


काजल लगाने का तरीका - How to Apply Kajal in Hindi?


स्टेप 1- काजल लगाने के लिए सबसे पहले अपनी आंखों को पानी से अच्छी तरह से साफ करके किसी कपड़े या अच्छी तरह पोंछ लें।


स्टेप 2- अगर आपको लगता है आपका काजल ज्यादा लिक्विड है तो आंखों के नीचे थोड़ा पाउडर लगा लें। इससे आंख के पास का एरिया ऑयल फ्री हो जायेगा।


स्टेप 3- काजल को हमेशा आंखों के बाहरी किनारे से शुरू करते हुए अन्दर की तरफ लगाएं। अन्दर के किनारों में और उसके पास हमेशा काजल की पतली लाइन ही लगाएं। फिर चाहे बाद में आप इसे मोटा कर सकती हैं।


स्टेप 4 - अब इसके बाद आप शुरूआत में लगाए एक्स्ट्रा पाउडर को मेकअप ब्रश की मदद से पोंछ लें। फाइनल टच देने के लिए आप आंखों में काजल के साथ-साथ आई लाइनर भी लगाएं।  इसके लिए अपनी काजल पेंसिल को आई लाइनर में डुबोकर इसे अपने आंखों की वॉटर लाइन पर लगाएं। इससे आपका काजल भी नहीं फैलेगा और आपकी आंखों को डार्क और बोल्ड लुक भी मिलेगा।


ये भी पढ़ें - इन 7 सेल्फी ट्रिक्स एंड टिप्स से जब लेंगे अपनी फोटो तो हर कोई कहेगा आपको सेल्फी क्वीन


(इमेज सोर्स- इंस्टाग्राम, यूट्यूब)