home / Care
गुड़हल के फूल के फायदे बालों के लिए

 जानिए बालों के लिए गुड़हल के फूल के फायदे

गुड़हल का फूल अक्सर आपने घर के मंदिर में चढ़ते हुए देखा होगा। मगर क्या आप जानते हैं कि आपके बगीचे को सुशोभित करने वाले लाल रंग के ये चमकीले गुड़हल के फूल बालों की देखभाल के लिए भी एक लोकप्रिय उपाय है? आयुर्वेद में, बालों का झड़ना कैसे रोकें के इलाज, बालों के पुनर्विकास को प्रोत्साहित करने और समय से पहले सफेद होने को रोकने के लिए गुड़हल का उपयोग की सलाह दी जाती है। बालों के लिए Gudhal ke Fayd कई हैं। गुड़हल के नियमित इस्तेमाल से बालों को फायदा होता है और वे लंबे, मजबूत और स्वस्थ बनते हैं। रूखे बालों को सिल्की बनाने के घरेलू तरीके भी इनमें से एक है। बालों के लिए गुड़हल के फूल का पाउडर के फायदे भी हैं। इस लेख में हम आपको गुड़हल के फूल के फायदे बालों के लिए बता रहे हैं। 

गुड़हल के फूल के फायदे बालों के लिए

1- बालों के विकास को बढ़ाये 
2- बाल कंडीशन करे
3- समय से पहले बाल सफेद होने से रोकता है
4- रूसी और खुजली वाली स्कैल्प का इलाज करे
5- गंजापन रोके 

आयुर्वेद में, बालों के विकास को बढ़ावा देने के लिए हिबिस्कस यानी गुड़हल के फूल सबसे प्रसिद्ध जड़ी बूटियों में से एक है। जी हां, आपके बगीचों में उगने वाले चमकीले और सुंदर फूलों में असाधारण उपचार गुण होते हैं। अगर आप बालों के झड़ने से परेशान हैं, तो गुड़हल के फूल और पत्ते आपके लिए अचूक उपाय के रूप में काम करेंगे और बालों का झड़ना बंद कर देंगे। बालों की समस्याओं को ठीक करने के लिए गुड़हल के फूल और साथ ही गुड़हल के पत्ते दोनों का उपयोग किया जाता है। जिस तरह बालों में दही लगाने के फायदे हैं, बालों में अंडा लगाने के फायदे हैं ठीक उसी तरह बालों के लिए गुड़हल के औषधीय उपयोग भी हैं। 

बालों के विकास को बढ़ाये 

बाल बढ़ाने का तेल के बारे में तो अपने सुना ही होगा। मगर क्या आप जानते हैं, गुड़हल के फूल भी बाल लंबे करने में मदद करते हैं। गुड़हल के फूलों में प्राकृतिक रूप से पाए जाने वाले अमीनो एसिड बालों को पोषक तत्व प्रदान करते हैं, जो बालों के विकास को बढ़ावा देने में मदद करते हैं। ये अमीनो एसिड केराटिन नामक एक विशेष प्रकार के संरचनात्मक प्रोटीन का उत्पादन करते हैं, जो बालों का निर्माण खंड है। केराटिन बालों को बांधता है जिससे उनके टूटने की संभावना कम हो जाती है। यह बालों के स्ट्रैंड की समग्र मोटाई को भी बढ़ावा देता है और बालों को अधिक प्रबंधनीय बनाता है। तो, बालों को नुकसान पहुंचाने वाले महंगे केराटिन उपचारों की ओर रुख करने के बजाय, आप अपने बालों पर गुड़हल का उपयोग करना शुरू कर सकते हैं।

बाल कंडीशन करे 

अधिकांश शैंपू में मौजूद रसायन बालों को उसके प्राकृतिक तेलों से दूर कर देते हैं। क्या आपने देखा है कि आपके बाल रूखे और बेजान हो रहे हैं? चिंता न करें, आप अपने बालों को पोषण देने और इसकी प्राकृतिक नमी को सील करने के लिए गुड़हल का उपयोग कर सकते हैं! गुड़हल के फूलों और पत्तियों में अधिक मात्रा में म्यूसिलेज होता है, जो एक प्राकृतिक कंडीशनर के रूप में कार्य करता है। यह प्राकृतिक रूप से पाए जाने वाले इस कंडीशनर के कारण है कि हिबिस्कस के फूलों और पत्तियों को कुचलने से स्पर्श करने पर चिपचिपापन महसूस होता है। 

समय से पहले बाल सफेद होने से रोकता है

आजकल की लाइफस्टाइल में बाल जल्दी सफेद हो जाते हैं। परंपरागत रूप से, गुड़हल का उपयोग भूरे बालों को मास्क करने के लिए प्राकृतिक डाई के रूप में किया जाता था। हिबिस्कस में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट और विटामिन मेलेनिन के उत्पादन में मदद करते हैं, जो प्राकृतिक रूप से पाया जाने वाला वर्णक है, जो बालों को उसका प्राकृतिक रंग देता है। 

रूसी और खुजली वाली स्कैल्प का इलाज करे 

क्या आपकी स्कैल्प अधिक ऑयली है, जिससे रूसी और खुजली वाली स्कैल्प जैसी समस्याएं हो रही हैं? गुड़हल एक कसैले की तरह काम करता है और ग्रंथियों द्वारा तेल के स्राव को कम करता है। बालों के लिए हिबिस्कस के पत्तों का उपयोग समग्र रूप से सुखदायक और शीतलन प्रभाव प्रदान करने के अलावा बालों के पीएच संतुलन को बनाए रखता है।

गंजापन रोके 

गंजेपन के इलाज के लिए गुड़हल के अर्क के उपयोग का अध्ययन करने के बाद कई शोध पत्र प्रकाशित हुए हैं। ये सभी अध्ययन बताते हैं कि बालों को फिर से उगाने के लिए हिबिस्कस का उपयोग करना एक सुरक्षित तरीका है। गुड़हल का प्रयोग गंजेपन (मिनोक्सिडिल और फिनस्टेराइड) के इलाज के लिए इस्तेमाल की जाने वाली दवाओं की तरह ही प्रभावी है। समान रूप से प्रभावी होने के अलावा, हिबिस्कस इन दवाओं से जुड़े किसी भी हानिकारक दुष्प्रभाव का कारण नहीं बनता है। 

गुड़हल का फूल बालों में कैसे लगाएं

1- गुड़हल के गुणों वाला तेल
2- गुड़हल का शैंपू
3- गुड़हल का कंडीशनर
4- गुड़हल का हेयर मास्क
5- गुड़हल से बना हेयर पैक

जैसा कि आप जानते हैं, बालों से संबंधित समस्याओं को हल करने और बालों के समग्र स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए गुड़हल के औषधीय उपयोग बहुत हैं। लेकिन साथ ही ये जान भी बेहद ज़रूरी है कि गुड़हल का फूल बालों में कैसे लगाएं। यानि गुड़हल के फूल का उपयोग कैसे करें। गुड़हल के फूल और इसके पत्तों दोनों को बालों के लिए कई तरह से इस्तेमाल किया जा सकता है क्योंकि दोनों ही बालों के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। हम यहां कुछ तरीके बता रहे हैं।

गुड़हल के गुणों वाला तेल

गुड़हल का तेल  स्कैल्प को नया जीवन प्रदान करता है। साथ बालों के विकास को बढ़ावा देता है। संक्षेप में, यह आपके बालों को हिबिस्कस के उपरोक्त सभी लाभ प्रदान करता है। गहरा पोषण प्रदान करने और रक्त परिसंचरण में सुधार करने के लिए आप इसे सप्ताह में तीन बार अपने बालों पर इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके बनाने के लिए आपको ज्यादा कुछ नहीं करना है बस लगभग 8 गुड़हल के फूल और 8 गुड़हल के पत्ते लेकर उन्हें बारीक पीस लें। एक कप नारियल तेल को गर्म करें और उसमें मिलाएं। मिश्रण को एक साथ गर्म होने दें और फिर ठंडा होने के लिए एक तरफ रख दें। आपका गुड़हल का तेल इस्तेमाल के लिए तैयार है। इससे अपने स्कैल्प की लगभग 10 मिनट तक मालिश करें और अच्छे परिणामों के लिए इसे लगभग 30 मिनट के लिए छोड़ दें। इसके बाद अपने बालों और स्कैल्प को शैम्पू से धो लें। आप बचे हुए गुड़हल तेल को भविष्य में उपयोग के लिए स्टोर भी कर सकते हैं।

गुड़हल का शैंपू

बालों के लिए गुड़हल का उपयोग करने का एक और शानदार तरीका शैंपू के रूप में है। उनके झाग पैदा करने वाली प्रकृति के कारण, हिबिस्कस के पत्तों और फूलों को आसानी से शैंपू में तैयार किया जा सकता है। अन्य शैंपू के विपरीत, हिबिस्कस से बने प्राकृतिक शैंपू स्कैल्प को उसके प्राकृतिक तेलों से अलग किए बिना बालों को साफ करते हैं। आप घर पर अपना हिबिस्कस हेयर शैम्पू भी बना सकते हैं। बस लगभग 15 हिबिस्कस पत्ते और 5 हिबिस्कस फूल लें। इन्हें पानी में उबालें और पीसकर पेस्ट बना लें। इस पेस्ट में बेसन मिलाकर एक ऑर्गेनिक शैम्पू बनाएं।

गुड़हल का कंडीशनर

गुड़हल में मौजूद अमीनो एसिड (केराटिन) इसे एक बेहतरीन कंडीशनर बनाता है। हिबिस्कस बालों के रोम को पोषण देता है, बालों को मुलायम बनाता है और इसे अधिक प्रबंधनीय बनाता है। अपने बालों के लिए हिबिस्कस के पौष्टिक लाभों को प्राप्त करने के लिए, आप ऐसे कंडीशनर का उपयोग भी कर सकते हैं जिनमें गुड़हल प्रमुख घटक के रूप में होता है। यदि आप अपना खुद का हिबिस्कस हेयर कंडीशनर बनाना चाहते हैं, तो आपको बस इतना करना है कि पानी में लगभग आठ हिबिस्कस फूलों को कुचलकर पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को अपने स्कैल्प और बालों पर लगाएं। इसे एक घंटे के लिए छोड़ दें और फिर गुनगुने पानी से धो लें। यह साधारण कंडीशनर एक गहरी कंडीशनिंग उपचार के रूप में काम करता है।

गुड़हल का हेयर मास्क

आंवला पाउडर के साथ गुड़हल का उपयोग करके हेयर मास्क बनाया जा सकता है। इस मास्क को बनाने के लिए गुड़हल पाउडर और आंवला पाउडर को बराबर मात्रा में पानी में मिलाकर चिकना पेस्ट बना लें। अब इसे अपने पूरे बालों और स्कैल्प पर लगाएं। इसे 40 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर माइल्ड शैम्पू से धो लें। यह मास्क आपके बालों के रोम को मजबूत करेगा और स्कैल्प के स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करेगा। यह बालों को कंडीशन भी करता है। आंवला के साथ हिबिस्कस बालों के झड़ने और दोमुंहे बालों को रोकने में भी मदद करता है। 

गुड़हल से बना हेयर पैक

आप गुड़हल के फूल का हेयर पैक भी बना सकते हैं। खासतौर पर अगर आपके बाल काफी झड़ रहे हैं तो गुड़हल के फूल से बना हेयर पैक बालों को झड़ने से रोकने में आपकी काफी मदद कर सकता है। इसे बनाने के लिए एक चम्मच मेथी दाना रात भर पानी में भिगो दें। सुबह इन बीजों को गुड़हल के पत्तों के गुच्छे के साथ पीसकर एक महीन पेस्ट बना लें। इस पेस्ट में आधा कप छाछ डालें और फिर से पीसकर एक चिकना पेस्ट बना लें। इसे अपने स्कैल्प पर लगाएं और एक घंटे के लिए छोड़ दें। बाद में इसे माइल्ड शैम्पू से धो लें। डैंड्रफ से छुटकारा पाने के लिए आप इस हेयर पैक को हफ्ते में एक बार लगा सकते हैं।

अगर आपको यहां दिए गए गुड़हल के औषधीय उपयोग पसंद आए तो इन्हें अपने दोस्तों व परिवारजनों के साथ शेयर करना न भूलें।

30 Jun 2022

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text