home / Fitness
मोटापा कम करने से लेकर सर्दी-जुकाम से राहत पाने तक कुछ ऐसे हैं अग्नि मुद्रा करने के फायदे

मोटापा कम करने से लेकर सर्दी-जुकाम से राहत पाने तक कुछ ऐसे हैं अग्नि मुद्रा करने के फायदे

सुखी जीवन के लिए योग बहुत जरूरी है। स्वस्थ्य रहने और शरीर के विभिन्न लाभों के लिए योग का अभ्यास किया जाता है। योग द्वारा सिखाई गई सांस लेने की तकनीक एकाग्रता और मन को बेहतर बनाने में मदद करती है। योग में पांच तत्वों को हमारे शरीर के मुख्य फोकस बिंदु मानें जाते हैं, जैसे – जल, पृथ्वी, आकाश, वायु, और अग्नि। इन तत्वों के कारण होने वाले असंतुलन के परिणामस्वरूप बीमारियां और स्वास्थ्य का खराब होना आदि समस्याएं भी हो सकती हैं। आज हम बात करेंगे अग्नि मुद्रा (agni mudra) के बारे में। अग्नि मुद्रा को सूर्य मुद्रा के रूप में भी जाना जाता है। 

जानिए क्या है अग्नि मुद्रा और इसके फायदे what is agni mudra and benefits in hindi

आए दिन शरीर में कोई न कोई दिक्कतें लगी रहती हैं कभी मौसम के बदलाव के कारण तो कभी गलत खान-पान की वजह से। सर्दी-जुकाम से लेकर मोटापा बढ़ने तक ये सारी समस्याएं शरीर में अग्नि-तत्व की कमी का परिणाम है। अग्नि मुद्रा इस कमी को पूरा कर शरीर का तापमान सामान्य बनाए रखती है। यह योग मुद्रा का एक प्रकार अग्नि देवता से जुड़ा है और विभिन्न तरीकों से इसका उपयोग किया जाता है। इस मुद्रा को करना शरीर में अग्नि ऊर्जा को सक्रिय करता है और शरीर के अग्नि संतुलन को बनाएं रखने में मदद करता है। तो आइए जानते हैं अग्नि मुद्रा करने की विधि और इसके फायदे के बारे में।

अग्नि मुद्रा कैसे करें?

सबसे पहले आरामदायक आसान में बैठ जाएं। फिर अनामिका उंगली को मोड़ लें और अंगूठे के निचले क्षेत्र पर अनामिका उंगली को ले आएं। अपनी बाकी की उंगलियां सीधा रखें। अंगूठे से अनामिका उंगली को हल्का सा दबाएं। इस मुद्रा को खाली पेट सुबह-सुबह करें। अग्नि मुद्रा को रोजाना 15 मिनट जरूर दोहराएं।

अग्नि मुद्रा करने के फायदे

अग्नि मुद्रा कैसे करें सीखने के बाद, आइए जानते हैं कि इसके क्या फायदे हैं –

  • अगर आप वजन कम करने की सोच रहे हैं तो अग्नि मुद्रा आपके लिए बहुत फायदेमंद है। बहुत से लोग अपच से पीड़ित होते हैं। अपच से पीड़ित लोगों का वजन बढ़ता रहता है। यह मुद्रा करने उनके मेटाबॉलिज्म को बेहतर बनाने का काम करता है।
  • यह मुद्रा शरीर में अग्नि तत्व को बढ़ाता है और आंखों को लाभ पहुंचाता है। इसलिए इस आसन को अग्निवर्धन मुद्रा कहा जाता है। चूंकि अग्नि तत्व आंखों से जुड़ा होता है, इसलिए यह दृष्टि में सुधार करने में मदद करता है। अगर आप आंखों के रोग और उपाय जानते हैं तो इस आसन का महत्व तो आप जानते ही होंगे।
  • सर्दी या खांसी होने पर यह आसन बहुत काम आता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि शरीर अक्सर ठंडा हो जाता है, जिससे यह समस्या हो सकती है। अग्नि तत्व वाला यह आसन आपको सर्दी-खांसी से दूर रखती है।
  • अगर आप हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या से पीड़ित हैं और शरीर से कोलेस्ट्रॉल कम करना चाहते हैं तो आपको यह आसन करना चाहिए। यह आसन निश्चित रूप से शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करता है
  • अगर आप बहुत ज्यादा तनाव में रहते हैं या फिर कोई जानने वाला तो उसे इस मुद्रा का अभ्यास जरूर करना चाहिए। अग्नि मुद्रा स्ट्रेस और टेंशन को दूर करने में बेहद सहायक है।

नोट – अगर आप बदहजमी या एसिडिटी की समस्या से पीड़ित हैं तो इस आसन को न करें।

ये भी पढ़ें –
क्या देर रात तक आपको भी नहीं आती है नींद? तो सोने से पहले ट्राई करें बस ये एक योगासन
गुस्से पर काबू पाने के लिए इन योगासनों का लें सहारा, दिमाग भी रहेगा शांत
जानिए योग से ब्रेस्ट कैंसर के खतरे को कैसे कम कर सकते हैं

POPxo की सलाह : MYGLAMM के ये शानदार बेस्ट नैचुरल सैनिटाइजिंग प्रोडक्ट की मदद से घर के बाहर और अंदर दोनों ही जगह को रखें साफ और संक्रमण से सुरक्षित!

16 Nov 2021

Read More

read more articles like this

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text