home / Hindi
जानिए ग्लिसरीन के नुकसान | Glycerin ke Nuksan

जानिए ग्लिसरीन के नुकसान | Glycerin ke Nuksan

ग्लिसरीन ब्यूटी एंड स्किन केयर प्रोडक्ट्स में सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाली सामग्री है। खासतौर पर यह मॉइस्चराइज़र और लोशन में  एक प्रमुख घटक है। ग्लिसरीन आपकी त्वचा को कई तरह से सकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकती है। हाइड्रेटिंग, एक्सफोलिएटिंग और क्लींजिंग से लेकर ग्लिसरीन आपकी त्वचा के के लिए कई बेहतरीन काम करती है। ग्लिसरीन से गोरापन भले ही न आये लेकिन यह आपकी त्वचा में गजब का निखार लाने का काम करती है। ग्लिसरीन के कई फायदे हैं वहीं ग्लिसरीन लगाने के नुकसान (glycerin ke nuksan) भी हैं। Glycerine Uses In Hindi के बारे में जानने से पहले हम आपको बता दें कि ग्लिसरीन होती क्या है (glycerine kya hota hai) साथ ही इसे कब लगाना चाहिए (Glycerin kab lagana chahiye)।

Glycerine Kya Hota Hai | ग्लिसरीन क्या है 

Glycerine Kya Hota Hai
ग्लिसरीन क्या है 

ग्लिसरीन वनस्पति तेलों या से प्राप्त एक प्राकृतिक तत्व है। इसे ग्लिसरॉल भी कहा जाता है। त्वचा की देखभाल की आवश्यक चीजों में, ग्लिसरीन का उपयोग मुख्य रूप से ओक्लूसिव के साथ किया जाता है, एक अन्य प्रकार का मॉइस्चराइजिंग एजेंट जो त्वचा में आने वाली नमी को बनाये रखता है। यह एक मीठे स्वाद के साथ एक स्पष्ट, रंगहीन, गंधहीन और सिरप जैसा तरल है। ग्लिसरीन एक humectant, एक प्रकार का मॉइस्चराइजिंग एजेंट है, जो आपकी त्वचा और हवा के गहरे स्तर से आपकी त्वचा की बाहरी परत को हाइड्रेट करता है। इसकी बहुमुखी प्रतिभा और नमी बनाए रखने की क्षमता के कारण, ग्लिसरीन का उपयोग लोशन से लेकर साबुन से लेकर टोनर तक हर एक उत्पाद में किया जाता है। ग्लिसरीन का उपयोग शुष्क त्वचा, कोल्ड सोर और कुछ अन्य त्वचा रोगों जैसे सोरायसिस के नियंत्रण, उपचार और रोकथाम के लिए किया जाता है। इसका उपयोग अक्सर उन परिस्थितियों में भी किया जाता है जहां त्वचा को चिकनाई और नम करने की आवश्यकता होती है। 

Glycerin Kab Lagana Chahiye | ग्लिसरीन कब इस्तेमाल करना चाहिए 

Glycerin Kab Lagana Chahiye
ग्लिसरीन कब इस्तेमाल करना चाहिए 

ग्लिसरीन का उपयोग अपने आप त्वचा को मॉइस्चराइज और एक्सफोलिएट कर सकता है, जबकि ब्यूटी केयर विशेषज्ञों का मानना ​​​​है कि ग्लिसरीन को अन्य इंग्रीडिएटंस जैसे नींबू और गुलाब जल के साथ मिलाने पर त्वचा को चमकदार और रीफ्रेश करने में मदद मिल सकती है। अब सवाल यह उठता है कि Glycerin kab lagana chahiye? तो हम आपको बता दें कि ज्यादातर मामलों में बेहद शुष्क यानि ड्राई स्किन होने पर ग्लिसरीन का इस्तेमाल करना चाहिए। इससे त्वचा न सिर्फ नम बनी रहती है बल्कि हाइड्रेट भी होती है। ग्लिसरीन त्वचा पर एक सुरक्षात्मक परत बनाने का काम करती है और शुष्क क्षेत्र को मॉइस्चराइज करने में मदद करती है, साथ ही शरीर में रक्त परिसंचरण में सुधार करती है। इसका अधिक से अधिक लाभ प्राप्त करने के लिए इसका नियमित रूप से उपयोग करें।

Glycerin ke Nuksan | ग्लिसरीन के नुकसान

Glycerin ke Nuksan
ग्लिसरीन के नुकसान

ग्लिसरीन का उपयोग अपने आप त्वचा को मॉइस्चराइज और एक्सफोलिएट कर सकता है। मगर अति हर चीज़ की बुरी होती है। जिन प्रोडक्ट्स में ग्लिसरीन का उपयोग होता है उन्हें एक बार अच्छे से जांच लें। कहीं उनकी इंग्रीडिएंट लिस्ट में ऐसा कोई इंग्रीडिएंट तो नहीं जिससे आपको एलेर्जी है। यदि आपको इसमें मौजूद किसी भी सामग्री से एलर्जी है, या यदि आप गर्भवती हैं और/या स्तनपान करा रही हैं तो ग्लिसरीन का प्रयोग न करें। अगर आप ग्लिसरीन का सेवन कर रहे हैं तो ग्लिसरीन का उपयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श लें। यदि आपकी हाल ही में कोई सर्जरी हुई है, या कोई आगामी सर्जरी निर्धारित है तो इसके बारे में सलाह लें। इसके अलावा अपने चिकित्सक को चिकित्सा समस्याओं, पहले से मौजूद बीमारियों और वर्तमान स्वास्थ्य स्थितियों के बारे में अपने इतिहास के बारे में बताएं। वैसे तो ग्लिसरीन को क्रीम के रूप में ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है और सीधे प्रभावित क्षेत्र पर लगाना होता है। मगर इसकी खुराक ले रहे हैं तो आपकी चिकित्सा स्थिति, आहार, उम्र, और अन्य दवाओं के साथ प्रतिक्रिया जैसी स्थितियों जांच के लिए आवश्यक होती हैं। 

चेहरे पर ग्लिसरीन लगाने के नुकसान 

Chehre par Glycerin ke Nuksan
चेहरे पर ग्लिसरीन लगाने के नुकसान 

ग्लिसरीन के फायदे फोर स्किन तो आप जानके ही होंगे। हम यहां आपको चेहरे पर ग्लिसरीन लगाने के नुकसान के बारे में बता रहे हैं। ग्लिसरीन त्वचा पर उपयोग करने के लिए आम तौर पर सुरक्षित है और ज्यादातर लोग बिना किसी समस्या के ब्यूटी प्रोडक्ट्स का उपयोग करते हैं। हालांकि, अगर आपको इससे एलेर्जी है तो हमेशा जलन का खतरा बना रहता है। पहली बार ग्लिसरीन युक्त सौंदर्य प्रसाधनों का उपयोग करने से पहले एक पैच परीक्षण करें। इसके लिए कान के पीछे वाली स्किन पर या कलाई पर एक छोटे से क्षेत्र में थोड़ी मात्रा में ग्लिसरीन लगाएं और लगभग 24 घंटे तक प्रतीक्षा करें। अगर किसी भी तरह का रिएक्शन नहीं होता है तो यहाँ आपकी त्वचा के लिए सुरक्षित है। मगर ग्लिसरीन लगाने के नुकसान में आपको त्वचा का लाल होना, चकत्ता पड़ना, सूजन, खुजली, पित्ती और कोमलता जैसे लक्षण विकसित हो सकते हैं। यह इस बात का संकेत हैं कि ग्लिसरीन आपकी त्वचा पर सूट नहीं कर रही है। 

बालो पर ग्लिसरीन लगाने के नुकसान 

बालो पर ग्लिसरीन लगाने के नुकसान 

वैसे तो ग्लिसरीन के फायदे बालों के लिए भी होते हैं लेकिन जिस तरह चीज़ के अपने फायदे और नुकसान होते हैं वैसे ही बालो पर ग्लिसरीन लगाने के नुकसान भी होते हैं। शुष्क मौसम में अपने बालों को टॉपिकल ग्लिसरीन से ट्रीटमेंट करने से बाल और अधिक रूखे हो सकते हैं। वहीं ह्यूमिड के मौसम के दौरान अपने बालों को टॉपिकल ग्लिसरीन से ट्रीट करने से यह अत्यधिक पफी और मैनेज करने में कठिन हो सकते हैं। इसके अलावा हेयर स्टाइलिंग टूल का उपयोग करने से ठीक पहले अपने बालों में ग्लिसरीन लगाने से गर्मी की तीव्रता बढ़ जाती है और आपके बाल जल सकते हैं। यदि आपकी स्कैल्प प्राकृतिक रूप से तैलीय है, तो अपने बालों पर ग्लिसरीन का उपयोग करने से बचें, क्योंकि यह चिकनाई बढ़ा सकता है।

ग्लिसरीन से जुड़ें कुछ सवाल – FAQ’s

1- क्या ग्लिसरीन को चेहरे पर लगाकर, रात भर के लिए छोड़ सकते हैं?

जवाब- जी हां, ग्लिसरीन को चेहरे पर लगाकर, रात भर के लिए छोड़ने से चेहरे पर चमक आती है।

2- क्या ग्लिसरीन को सीधे चेहरे पर लगाया जा सकता है?

जवाब- ग्लिसरीन को सीधे चेहरे पर लगाने के बजाए नींबू या गुलाबजल के साथ मिलाकर लगाना ज्यादा इफेक्टिव होता है।

3- ग्लिसरीन कहा मिलता है?

जवाब- ग्लिसरीन आपको किसा भी शाॅप पर या ऑनलाइन उपलब्ध हो सकता है।

4- ग्लिसरीन कैसे बनती है?

जवाब- ग्लिसरीन वनस्पति तेलों या से प्राप्त एक प्राकृतिक तत्व है।

5- ग्लिसरीन से गोरापन होता है?

जवाब- ग्लिसरीन से गोरापन के साथ निखार भी आता है।

अगर आपको यहां दिए गए ग्लिसरीन लगाने के नुकसान (glycerin ke nuksan) पसंद आए तो इन्हें अपने दोस्तों व परिवारजनों के साथ शेयर करना न भूलें।

ये भी पढ़ें 

Sensitive Skin Care in Hindi

सेंसिटिव स्किन अपने साथ कई तरह की परेशानियां लेकर आती है, जैसे- मुंहासे, रैशेज़, खुजली आदि। इसलिए इसकी सही देखभाल बेहद जरूरी है

Dry Skin Care in Hindi

ड्राई स्किन के लिए घरेलू उपाय काफी कारगर होते हैं। आज यहां हम आपको ड्राई स्किन से जुड़ी हर वो बात व जानकारी देंगे जो आपके लिए जरूरी हो सकती है। 

Oily Skin Care Tips in Hindi

तैलीय त्वचा पर ब्लैकहेड्स, पिंपल्स और त्वचा की अन्य समस्याएं हो सकती हैं। इसके अलावा, मेकअप भी इस तरह की स्किन से चिपकता नहीं है। 

13 Sep 2022

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text