Advertisement

Acne

जानिए क्या है फेस ऑयल और फेस क्रीम के बीच अंतर – Face Oil vs Cream in Hindi

Megha SharmaMegha Sharma  |  Oct 5, 2020
जानिए क्या है फेस ऑयल और फेस क्रीम के बीच अंतर – Face Oil vs Cream in Hindi

Advertisement

 

 

फेस ऑयल और फेस क्रीम दोनों ही स्किन केयर प्रोडक्ट्स हैं। इनका इस्तेमाल त्वचा को मॉइश्चराइज़ रखने के लिए किया जाता है। एक ओर जहां फेस क्रीम केवल त्वचा पर ऊपरी रूप से काम करती है तो वहीं दूसरी ओर फेस ऑयल त्वचा की गहराई तक जाकर त्वचा को स्वस्थ रखने में मदद करता है। ग्लोइंग स्किन (Tips for Glowing Skin) पाने के लिए आप मॉइश्चराइज़र या फिर फेस ऑयल किसी का भी इस्तेमाल कर सकती हैं।                                                                                                                                        झाइयों के लिए बेस्ट क्रीम 

 

 

फेस ऑयल और क्रीम के बीच अंतर – Face Oil vs Cream in Hindi

Difference Between Face Oil and Face cream

Beauty Tips for Face: अगर फेस ऑयल और फेस क्रीम को साइंटिफिकली देखा जाए तो क्रीम या फिर लोशन में मौजूद में फैट्स आपकी त्वचा पर एक लेयर बना देते हैं और इस वजह से ये आपकी त्वचा के अंदर नहीं जा पाते हैं। क्रीम एक तरह से एक बैरियर का काम करती है, जो त्वचा को बाहरी चीजों जैसे कि प्रदूषण, धूल-मिट्टी से बचाए रखती है। साथ ही क्रीम या लोशन लगाने से त्वचा दिन भर हाइड्रेट रहती है। 
हालांकि, दोनों में इस्तेमाल की जाने वाली सामग्री के बारे में जानना भी बहुत जरूरी है इस वजह से ना तो तेल और ना ही क्रीम त्वचा को संभालने के लिए बहुत समृद्ध हैं। खैर कई सारी क्रीम्स में बहुत सी ऐसी सामग्री का भी इस्तेमाल किया जाता है, जिससे त्वचा मुलायम, सॉफ्ट और अच्छी लगती है। साथ ही त्वचा को पोषक तत्व भी मिलते हैं। 
वहीं जब तेल की बात आती है, तो ये त्वचा की सतह से परे, लिपिड बैरियर तक पहुंचता है और जहां से त्वचा उत्पन्न होती है वहां पर अपना असर दिखाता है। फेस ऑयल का इस्तेमाल करने से त्वचा अंदर से और गहराई से स्वस्थ होती है। तेल में मौजूद विटामिन, एंटीऑक्सिडेंट्स और आवश्यक फैटी एसिड तुरंत काम करते हैं और नियमित रूप से इसका इस्तेमाल करने से आपको अपने चेहरे पर खुद ही एक चमक और निखार दिखाई देने लगता है।

अलग-अलग स्किन टाइप के लिए फेस ऑयल- Face Oil For Different Skin Types in Hindi

Face Oil for Different Skin Types

ड्राई स्किन के लिए फेस ऑयल

अगर आपको लगता है कि ड्राई स्किन के लिए आप किसी भी फेस ऑयल का इस्तेमाल कर सकती हैं तो हम आपको बता दें कि ऐसा बिल्कुल नहीं है। कुछ ऑयल्स प्राकृतिक रूप से ही एस्ट्रिंजेंट और हल्के होते हैं। जैसे, जोजोबा ऑयल, ग्रेप सीड या फिर पोमिग्रेनेट ऑयल। हालांकि, ड्राई स्किन के लिए रिच ऑयल की ज़रूरत होती है, जिनमें अधिक फैटी एसिड हों ताकि आपकी स्किन कंडिशन हो सके और मॉइश्चराइज़ रह सके। 
रोज़ रात को सोने से पहले अपनी नाइट मॉइश्चराइज़िंग क्रीम में 3 से 5 बूंदें फेस ऑयल की मिला लें और फिर इसे अच्छे से अपने चेहरे और गर्दन पर लगा लें। आप चाहें तो सुबह के वक्त इसे मॉइश्चराइज़र के ऊपर भी लगा सकती हैं, इससे आपकी त्वचा को डबल प्रोटेक्शन मिलती है।
ड्राई स्किन के लिए आप बादाम के तेल का इस्तेमाल कर सकती हैं। यह काफी हाइड्रेटिंग होता है और इसमें काफी अधिक मात्रा में विटामिन ए होता है जो आपकी त्वचा को अधिक वक्त तक मॉइश्चराइज़ रखने में मदद करता है। 
आप चाहें तो ड्राई स्किन के लिए मरुला ऑयल का भी इस्तेमाल कर सकती हैं। यह आपकी ड्राई स्किन को मॉइश्चराइज़ रखता है और आप इसका इस्तेमाल सुबह या रात किसी भी वक्त कर सकती हैं। 

ऑयली स्किन के लिए फेस ऑयल

यह सुनने में अजीब लगता है लेकिन सही तेल का इस्तेमाल करने से ना केवल ये आपको आपके चेहरे के अत्यधिक ग्रीस को कम करता है, बल्कि साथ ही आपकी स्किन के सीबम प्रोडक्शन को भी रेगुलेट करता है, ताकि आपका चेहरा कम ऑयली लगे। हालांकि, ऑयली स्किन (Oily Skin ke lie Face Oil) होने के कारण आपको हमेशा लाइटवेट या फिर ऑयल फ्री मॉइश्चराइज़र का इस्तेमाल करना चाहिए ताकि ये त्वचा द्वारा सोख लिया जाए और आपके पोर्स बंद ना हों। इसके बाद आप प्रोटेक्शन के लिए फेस ऑयल लगा सकती हैं। 
ऑयली स्किन के लिए जोजोबा या फिर ग्रेप सीड ऑयल का इस्तेमाल करना चाहिए। दरअसल, जोजोबा और ग्रेप सीड दोनों ही लाइटवेट और ब्रीथएबल ऑयल होते हैं। इस वजह से ये दोनों ऑयल्स ऑयली त्वचा के लिए बहुत ही फायदेमंद हैं। 

अलग-अलग स्किन टाइप के लिए फेस क्रीम- Face Creams for Different Skin Types in Hindi

Face cream for different skin types

ऑयली स्किन के लिए क्रीम्स

अगर आप ऐसा सोचती हैं कि आपकी स्किन ऑयली है और इस वजह से आपको मॉइश्चराइज़र लगाने की ज़रूरत नहीं है तो ये बिल्कुल गलत है। दरअसल, ड्राई स्किन या फिर कॉम्बिनेशन स्किन की तरह ऑयली स्किन के लिए मॉइश्चराइज़र बेहद ही ज़रूरी होता है। दरअसल, प्रदूषण, सूरज की हानिकारक किरणों और अधिक क्लींजिंग करने की वजह से आपकी त्वचा का मॉइश्चर बैरियर डैमेज हो सकता है और इससे ऑयल का प्रोडक्शन भी बढ़ सकता है। ऐसे में आपकी स्किन अधिक शाइनी दिखाई दे सकती हैं। इस वजह से आपको भी मॉइश्चराइज़र का इस्तेमाल करना चाहिए। आप किसी भी वॉटर बेस्ड या फिर लाइटवेट मॉइश्चराइज़र का इस्तेमाल कर सकती हैं। 

ड्राई स्किन के लिए क्रीम

कई बार कुछ महिलाएं मौसम में बदलाव की वजह से ड्राई स्किन का सामना करती हैं। हालांकि, बहुत सी महिलाएं ऐसी भी होती हैं, जिनकी प्राकृतिर रूप से ही त्वचा ड्राई होती है। ऐसे में ज़रूरी है कि आप मॉइश्चराइज़र का इस्तेमाल करें। इससे आपकी स्किन हाइड्रेटिड रहती है। मुख्य रूप से ड्राई स्किन के लिए अधिक रिच क्रीम या लोशन अच्छा होता है। 

फेस ऑयल इस्तेमाल करने के फायदे – Face Oil ke fayde

  • त्वचा पर तुरंत दिखता है रिजल्ट- इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपका स्किन टाइप क्या है लेकिन पहली बार फेस ऑयल का इस्तेमाल करने से ही आपको चेहरे पर इसका असर दिखाई देने लग जाता है। फेस ऑयल लगाने से ये तुरंत आपकी त्वचा में तला जाता है और अंदर तक त्वचा को मॉइश्चराइज़ करता है। साथ ही इसमें मौजूद एंटीऑक्सिडेंट्स, पॉलीफेनल्स और ओमेगा फैटी एसिड भी आपकी स्किन के लिए लाभकारी होते हैं। 
  • आप फेस ऑयल का इस्तेमाल सामान्य मॉइश्चराइज़ेशन के लिए कर सकती हैं लेकिन मेकअप टच-अप्स के लिए भी ये बहुत फायदेमंद है। दरअसल, अधिक मेकअप एड करने की जगह थोड़ा सा ऑयल लें और पैट कर लें और बस आप जानें के लिए तैयार हैं। 
  • अगर आपकी स्किन ड्राय है तो आपको फेस ऑयल से अपने चेहरे पर कुछ मिनटों के लिए मसाज करनी चाहिे। इसके बाद मॉइश्चराइज़र लगाना चाहिए। या फिर आप चाहें तो फेस ऑयल लगाने के बाद इस पर एसपीएफ लगा सकती हैं। सनस्क्रीन ऑयल को स्किन में लॉक करती है और कम शाइनी लुक भी देती है। आप चाहें तो अपने फाउंडेशन या फिर ब्रोंजर में भी ऑयल डालकर लगा सकती हैं। 
  • कई बार मॉइश्चराइज़र लगाने के बाद आपको अपने चेहरे पर चिपचिपा या फिर अजीब सा लगने लगता है। ऐसे में आप दोबारा से उस प्रोडक्ट का इस्तेमाल करने से बचती हैं। हालांकि, ऑयल का इस्तेमाल करने पर आपको ऐसा बिल्कुल नहीं लगेगा। दरअसल, ये तुरंत आपकी त्वचा में चला जाता है और इसमें किसी तरह के एक्स्ट्रा इंग्रीडिएंट्स का इस्तेमाल नहीं किया जाता है। 

फेस क्रीम इस्तेमाल करने के फायदे – Face Cream ke Fayde

  • जैसा कि इसके नाम से ही आप समझ सकते हैं मॉइश्चराइज़िंग क्रीम आपकी त्वचा को मॉइश्चराइज़ रखने में मदद करती है। मॉइस्ट स्किन हमेशा आपके चेहरे को अच्छा लुक देती है और इससे मेकअप भी अधिक समय तक टिका रहता है। 
  • सुबह की धूप त्वचा के लिए अच्छी होती है लेकिन दिनभर धूप की हानिकारक किरणों की वजह से त्वचा को नुकसान पहुंचता है। ऐसे में भी मॉइश्चराइज़र आपकी स्किन को प्रोटेक्ट करने का काम करता है।
  • अधिकतर मॉइश्चराइज़िंग क्रीम्स में स्किन को ब्राइट करने का फॉर्मुला होता है। इस वजह से आपकी त्वचा अधिक निखरी हुई नज़र आती है। 
  • चेहरे पर अधिक धूल मिट्टी होने की वजह से कई महिलाओं को मुहांसे या फिर पिपंल होते हैं। इस वजह से मॉइश्चराज़र का इस्तेमाल करने से त्वचा साफ रहती है और मुहांसे भी दूर रहते हैं। 

फेस ऑयल और क्रीम को लेकर पूछे जाने वाले सवाल- FAQs

Questions related to face cream and face oil

फेस ऑयल या फेस क्रीम पहले किसका इस्तेमाल करना चाहिए?

महिलाओं द्वारा अक्सर ही ये सवाल किया जाता है। वह अक्सर पूछती हैं कि पहले फेस ऑयल लगाना चाहिए या फिर फेस क्रीम लगानी चाहिए। दरअसल, आपको पहले फेस क्रीम लगानी चाहिए और इसके बाद फेस ऑयल लगाना चाहिए। क्रीम का काम त्वचा को हाइड्रेट करना होता है और ऑयल त्वचा को लंबे वक्त तक हाइड्रेट रखने में मदद करता है। क्रीम लगाने के बाद ऑयल लगाने पर भी आपकी त्वचा आसानी से सभी पोषक तत्वों को सोख लेती है और इसी वजह से ऑयल को क्रीम के बाद लगाया जाता है।

फेस ऑयल या फेस क्रीम कौन सा बेहतर होता है?

सामान्य रूप से आप अपनी त्वचा पर फेस ऑयल और फेस मॉइश्चराइज़र दोनों का इस्तेमाल कर सकती हैं। हालांकि, यदि आपकी स्किन ड्राय है तो आप केवल फेस ऑयल का भी इस्तेमाल कर सकती हैं। साथ ही अगर आप किसी ऐसे प्रोडक्ट का इस्तेमाल करना चाहती हैं, जो प्राकृतिक हो तो भी आप फेस ऑयल का ही इस्तेमाल कर सकती हैं। हालांकि, अगर आप त्वचा को मॉइश्चराइज़ रखने के साथ अन्य समस्याओं को भी दूर करना चाहती हैं तो आपको मॉइश्चराइज़र का इस्तेमाल करना चाहिए। साथ ही सूरज की हानिकारक किरणों से बचाव के लिए भी आपको मॉइश्चराइज़र का इस्तेमाल करना चाहिए।

क्या मैं क्रीम की जगह फेस ऑयल का इस्तेमाल कर सकती हूं?

जी हां, बिल्कुल आप फेस क्रीम की जगह फेस ऑयल का इस्तेमाल कर सकती हैं। दरअसल, फेस ऑयल आपकी स्किन को हाइड्रेट रखता है और साथ ही इसे सॉफ्ट और सपल बनाता है। यह अधिक लाइटवेट और क्रीमी होते हैं, जो त्वचा के सरफेस पर बैठ जाता है।

मुझे फेस ऑयल का इस्तेमाल कब करना चाहिए?

सभी स्किनकेयर प्रोडक्ट्स का एक अपना अलग मॉलिक्यूलर स्ट्रक्चर होता है। इस वजह से इन स्किन केयर प्रोडक्ट्स को उनकी थिकनेस और विलोसिटी के आधार पर लगाया जाता है। उदाहरण के लिए आप मॉइश्चराइज़र लगाने के बाद टोनर नहीं लगाते हैं क्योंकि इससे क्रीम या लोशन टिक नहीं पाता है। इसी तरह फेस ऑयल भी मॉइश्चराइज़र लगाने के बाद लगाया जाता है।