भरोसेमंद नहीं है वैजाइनल रिजुवेनेशन ट्रीटमेंट | POPxo

भरोसेमंद नहीं है सेक्स लाइफ सुधारने का दावा करने वाला वैजाइनल रिजुवेनेशन ट्रीटमेंट

भरोसेमंद नहीं है सेक्स लाइफ सुधारने का दावा करने वाला वैजाइनल रिजुवेनेशन ट्रीटमेंट

 


जैसा कि कहा जाता है कि वैजाइनल रिजुवेनेशन ट्रीटमेंट 45 साल से ज्यादा उम्र वाली लेडीज़ के लिए दर्दभरे सेक्स का इलाज होता है, लेकिन ऐसा नहीं है। दरअसल यह प्रोसीजर सेक्स के दौरान वैजाइना में जलन और निशान होने के अलावा और भी ज्यादा दर्द जैसी गंभीर समस्याओं की वजह बन सकता है।


डॉक्टरों को चेतावनी जारी


अमेरिका के फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन ने एक चेतावनी जारी करके डॉक्टरों से लेज़र या किसी एनर्जी थैरेपी द्वारा सेक्स संबंधित और दूसरी ऐसी समस्याओं का ट्रीटमेंट करने की सख्त मनाही की है, जिससे लेडीज़ को डिलीवरी या मेनोपॉज़ के बाद हेल्थ समस्याओं का सामना करना पड़े। उनका कहना है कि अभी इस तरह के ट्रीटमेंट की समीक्षा नहीं हुई या मंजूरी नहीं मिली है। 


अप्रमाणित ट्रीटमेंट्स


किसी अप्रमाणित ट्रीटमेंट की झूठी मार्केटिंग न सिर्फ चोट लगने की वजह बनती हैं, बल्कि कुछ मरीजों को गंभीर स्थितियों में सही और प्रमाणित इलाज कराने से रोक भी सकती है। एफडीए कमिश्नर स्कॉट गोट्लीब ने अपने एक बयान में कहा कि ऐसे ट्रीटमेंट के गंभीर परिणाम हो सकते हैं और इसकी प्रामाणिकता सिद्ध करने के लिए अब तक कोई सबूत नहीं मिले हैं इसलिए हम इस मुद्दे को लेकर काफी चिंतित हैं कि इससे लेडीज़ हेल्थ खतरे में पड़ सकती है।


भ्रामक मार्केटिंग


एफडीए ने वैजाइनल रिजुवेनेशन प्रोसीजर करने वाली 7 कंपनियों को भ्रामक मार्केटिंग करने का आरोप लगाते हुए लेटर भेजा है। इसमें कहा गया है कि इन कंपनियों को तुरंत ऐसे प्रोडक्ट्स की मार्केटिंग बंद कर देनी चाहिए, जिनका प्रयोग स्वीकृत नहीं है, और अगर उन्होंने ऐसा नहीं किया तो इसके दुष्परिणाम भुगतने होंगे।


डिजाइनर वैजाइनोप्लास्टी


Vaginal Rejuvanation


गौरतलब है कि वैजाइनल रिजुवेनेशन प्रोसीजर को इंश्योरेंस में कवर नहीं किया जाता और इसे आमतौर पर डिजाइनर वैजाइनोप्लास्टी, रिवर्जिनेशन या जीस्पॉट एम्प्लिफिकेशन कहा जाता है। आजकल यह काफी ज्यादा प्रचलित हो रहा है क्योंकि डॉक्टर इसे मेनोपॉज या बच्चे के जन्म के बाद होने वाले दर्दभरे सेक्स का इलाज बताते हैं जो आमतौर पर बढ़ती उम्र के कारण होने वाली वैजाइना की ड्राईनेस या वैजाइनल वॉल्स की थिनिंग की वजह से होता है। डॉक्टर इसे ट्रेडिशनल हॉरमोन रिप्लेसमेंट की वैकल्पिक थैरेपी बताते हैं।


लेडीज़ हेल्थ को खतरा


बच्चे के जन्म के बाद आमतौर पर लेडीज़ वैजाइनल ड्राईनेस और खिंचाव जैसी समस्याओं का सामना करती हैं जिससे सेक्स के दौरान होने वाला यौनसुख कम हो सकता है। इसी तरह जब महिला मेनोपॉज से गुजरती है तो उसका एस्ट्रोजेन लेवल कम हो जाता है और इससे वैजाइनल एट्रोपी या वैजाइनल वॉल्स की थिनिंग हो जाती है जो सेक्स के दौरान दर्द की वजह हो सकती है।


गंभीर स्थितियों का ट्रीटमेंट


यह ट्रीटमेंट आमतौर पर एबनॉर्मल प्री कैंसरस सर्वाइकल या वैजाइनल टिशूज़ के अलावा जेनाइटल मस्सों को रिमूव करने जैसी कुछ गंभीर स्थितियों का इलाज करने के लिए किया जाता है, लेकिन इसे वैजाइना को दोबारा पहले जैसा करना या वैजाइना के टिशूज़ को नष्ट करने के लिए स्वीकृत नहीं किया गया है, जो कि वैजाइनल रिजुवेनेशन में किया जाता है।


मरीजों की शिकायत


आपको बता दें कि एफडीए को दो ऐसी रिपोर्ट मिली हैं जिनमें मरीजों ने इस ट्रीटमेंट के बाद दर्द और ब्लीडिंग की शिकायत की है जबकि 12 रिपोर्ट ऐसे मरीजों की मिली हैं जिन्होंने इस ट्रीटमेंट के बाद काफी असुविधा महसूस की।


यह भी देखें -


1. सेक्स के दौरान हर लड़की के मन में आते हैं ये 15 ख्याल


2. फर्स्ट टाइम कर रहे हैं सेक्स तो अपनाएं ये टॉप 7 पोज़ीशन


3. मेरे लिए वो पहली बार सेक्स फनी था!


4. सेक्स करने से पहले जान लें ये 11 जरूरी बातें!


5. लड़कों को बेड में अच्छी लगती हैं ये चीजें


6. वैजाइनल इन्फेक्शन को ठीक करने के घरेलू नुस्खे

Read More from Wellness

Load More Wellness Stories