यूरोप से लौटे अनूप जलोटा को कोरोना वायरस के डर से डॉक्टरों ने आइसोलेशन में भेजा

यूरोप से लौटे अनूप जलोटा को कोरोना वायरस के डर से डॉक्टरों ने आइसोलेशन में भेजा

भारत सहित देशभर में कोरोना वायरस कोविड-19 (coronavirus covid-19) तेजी से अपने पांव पसार रहा है। कोरोना वायरस के खिलाफ ग्लोबल जंग जारी है। ऐसे में सरकार अपनी जनता के लिए ढाल बनकर सामने खड़ी हुई है। भारत सरकार इस जानलेवा वायरस को मात देने की कोशिशों में दिन-रात जुटी हुई है। खासतौर पर विदेशों से लौट रहे व्यक्तियों पर खास नजर रखी जा रही है। 
हाल ही में भजन सम्राट अनूप जलोटा यूरोप के होलैंड, जर्मनी, लेस्टर और लंदन‌‌ जैसे शहरों में अपने भजन कार्यक्रम करके भारत लौंटे हैं। मुंबई एयरपोर्ट पर पहुंचते ही डॉक्टरों ने उनकी जांच की और उन्हें पास के एक होटल में बंद कर दिया। ऐसा इस लिया किया गया कि वो विदेश यात्रा से लौंटे हैं और साथ उनकी उम्र 60 साल से ज्यादा। क्योंकि इस स्थिति में उन्हें कोरोना वायरस होने का खतरा ज्यादा है।
दरअसल, कोरोना वायरस के खतरे के मद्देनजर उन्हें फिलहाल आइसोलेशन में रखा गया है। इस बात की जानकारी खुद अनूप जलोटा ने अपने सोशल मीडिया के जरिए दी है। अनूप जलोटा ने सोशल मीडिया पर अपनी एक तस्वीर शेयर की है, जिसमें वे मास्क पहने हुए दिख रहे हैं। 

अनूप जलोटा ने अपने ट्वीट कर लिखा, मैं BMC द्वारा 60 साल की उम्र से ज्यादा के यात्रियों को दी जाने वाली मेडिकल केयर से खुश हूं। मुझे होटल मिराज में ले जाया गया था क्योंकि मैं लंदन से मुंबई आया। मुझे लेने के लिए डॉक्टरों की एक टीम भेजी गई। मैं यहां आने वाले हर यात्री से सहयोग करने की विनती करता हूं। ताकि उनकी मदद से कोरोना वायरस को फैलने से रोका जाए।

अनूप जलोटा होटल के कमरे बंद होने के बाद भी कई इंटरनेट के जरिए मीडिया को हर अपडेट देते रहे। 66 साल के अनूप जलोटा ने कई न्यूज चैनल के जरिए बताया कि 60 की उम्र पार चुके लोगों की रोगों से लड़ने की क्षमता कम होती है। इसी वजह से उन्हें कुछ दिनों के लिए डॉक्टरों की निगरानी में रखा गया है। उन्होंने अपने फैंस को ये भी बताया कि उन्हें फिलहाल कोरोना संक्रमण का कोई लक्षण नहीं है। साथ ही उन्होंने भारत सरकार की मुस्तैदी और उनकी योजनाओं की भी खूब तारीफ की। अनूप जलोटा ने कहा अगर ऐसे ही हम डटकर और सावधानी से काम करते रहे तो जल्द ही कोरोना वायरस पर जीत हासिल कर लेंगे।

बता दें तकरीबन आधी दुनिया कोरोना की चपेट में आ चुकी है। भारत में भी कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है। ये खबर लिखे जाने तक देश में कोरोना मरीजों की संख्या 148 हो गई है।  इसमें तीन लोगों की मौत हो गई है, जबकि 13 लोग ठीक होकर घर जा चुके हैं। वहीं अन्य राज्यों के मुकाबले दिल्ली और महाराष्ट्र के हालात बहुत खराब होते जा रहे हैं। 

 

फिलहाल कोरोना से निपटने के लिए सरकारें तीन स्तर पर काम कर रही है। पहला कोरोना से पीड़ित लोगों की पहचान करना। दूसरा संक्रमित शख्स और उनके संपर्क में आए लोगों को आईसोलेशन वार्ड में डालना और तीसरा लोगों को एक जगह इकट्ठा नहीं होने देना। इसी के चलते देश में कई जगहों पर स्कूल-कॉलेज, मंदिर, जिम, पार्क, मॉल, सिनेमाघर बंद कर दिये हैं। यहां तक प्राइवेट कर्मचारियों को भी घर से काम करने की सलाह दी है।