home / पैरेंटिंग
इन पैरेंटिंग टिप्स से सुनिश्चित करें कि तलाक के बाद आपके बच्चे को नहीं चुनना पड़े किसी एक को

इन पैरेंटिंग टिप्स से सुनिश्चित करें कि तलाक के बाद आपके बच्चे को नहीं चुनना पड़े किसी एक को

छोटे बच्चों के लिए ये काफी मुश्किल हो जाता है कि वो आपके तलाक को समझ पाएं और इस वजह से आप इन पैरेंटिंग टिप्स की मदद से ऐसी परिस्थिति को बेहतर बना सकते हैं। कई बार तलाक के मामलों में बच्चों को किसी एक का पक्ष लेने के लिए कहा जाता है और ऐसा अधिकतर तब होता है जब उन्हें किसी एक पैरेंट की प्राइमरी कस्टडी दिए जाने की बात आती है। हालांकि, माता और पिता के बीच किसी एक को चुनना एक बच्चे के लिए बिल्कुल आसान नहीं होता है। साथ ही यदि आप अपने बच्चे को अपनी साइड लेने के लिए फॉर्स  करते हैं तो ये मानसिक रूप से आपके बच्चे को प्रभावित कर सकता है और उनपर उम्रभर का प्रभाव डाल सकता है। इस वजह से आज हम आपके लिए ऐसी टिप्स लेकर आए हैं, जिनकी मदद से आप ये सुनिश्चित कर सकते हैं कि आपका बच्चा आप दोनों को बराबर प्यार करे और तलाक की वजह से किसी एक की साइड ना ले।

बच्चों के सामने ना करें बहस

आपके तलाक के पीछे काफी सारे कारण हो सकते हैं लेकिन ऐसे में आपको अपने बच्चे के खास ख्याल रखना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि कुछ स्टडी में पाया गया है कि जिन बच्चों के माता-पिता तेज आवाज में लड़ाई करते हैं तो उन बच्चों में एन्जाइटी और डिप्रेशन की अधिक शिकायतें आती हैं। हाई- कॉन्फ्लिक्ट परिस्थितियां एक तनावपूर्ण माहोल बना देती हैं, जो आपके छोटे बच्चे की विकासात्मक जरूरतों को सूट नहीं करता है। आप इसका हल अपनी गाड़ी में लड़कर या फिर पार्क में बातों को डिस्कस करके या फिर अपने बच्चे की अनुपस्तिथि में बात करके निकाल सकते हैं। इससे आपके बच्चे का झुकाव किसी एक ओर नहीं होगा। 

बच्चों से खुलकर करें बात

तलाक आपके बच्चे के लिए कंफ्यूजिंग हो सकता है। इस वजह से आपको सलाह दी जाती है कि आप अपने बच्चों से बात करें। आपको अपने बच्चों के समझाना चाहिए आप दोनों एक दूसरे से अलग हो रहे हैं लेकिन दोनों उनसे उतना ही प्यार करते रहेंगे और उनके लिए हमेशा वहं रहेंगे और अगर उन्हें कुछ भी जरूरत हो या कोई भी बात करनी हो तो वो हमेशा कर सकते हैं।

अपने एक्स के प्रति गलत बातें ना बोलें

अगर आपका बच्चा देखता है कि उनके पिता, उनकी मां के बारे में गलत तरीके से बात करते हैं तो हो सकता है कि उसका प्यार मां की ओर बढ़ जाए और वो आपको ज्यादा पसंद ना करें। वहीं दूसरी ओर ऐसा भी हो सकता है कि बच्चे का झुकाव पिता की ओर बढ़ जाए और वो अपनी मां को उतना सम्मान ना दें पाएं। इससे आपके बच्चे के मानसिक स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

अगर आप अपने बच्चे के सामने एक्स के बारे में बात करते हुए अनबायस नहीं रह पाते हैं तो यह समय है कि आप अपने एक्स से खुलकर बात करें और एक बेहतर अप्रोच बनाएं ताकि आप दोनों अच्छे से को-पैरेंटिंग कर सकें।

यह भी पढ़ें:
कहीं आप अपने पार्टनर को हल्के में तो नहीं लेते? इन 4 तरीकों से लगाएं पता
अगर आपका पार्टनर शादी के लिए ना हो तैयार तो करें ये 3 चीजें
इन 3 वजहों के चलते शादी के लिए लड़कों को ज्यादा अट्रेक्ट करती हैं अपने से बड़ी उम्र की लड़कियां

19 Dec 2021

Read More

read more articles like this

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text