home / लाइफस्टाइल
पीरियड क्रैंप से लेकर ब्लोटिंग जैसे PMS के लक्षणों को कम करने के लिए ये घरेलू नुस्खें आएंगे काम

पीरियड क्रैंप से लेकर ब्लोटिंग जैसे PMS के लक्षणों को कम करने के लिए ये घरेलू नुस्खें आएंगे काम

बायोमेडसेंट्रल वुमन हेल्थ जर्नल में पब्लिश्ड एक स्टडी के मुताबिक पीरियड होने पर 80 से 90 प्रतिशत महिलाओं में पीएमएस के लक्षण दिखाई देते हैं। मैं भी इसका हिस्सा रह चुकी हूं। हर महीने प्रीमेंस्ट्रुअल सिंड्रोम हो जाता था और इसकी वजह से मुहांसे, ब्लोटिंग, मूड स्विंग, क्रैंप और फटीग आदि समस्याएं होने लगी थीं। यह आमतौर पर पीरियड आने से 7 दिन पहले शुरू हो जाता था और इस वजह से पीरियड एक हफ्ते की जगह 2 हफ्तों तक महसूस होते थे।

आधा महीने हर महीने आने वाले इस विजिटर के इंतजार में चला जाता था और बाकि का आधा दवाइयां खाने में। इस वजह से अपने पीएमएस के लक्षणों को कंट्रोल करने के लिए मैंने डॉक्टर की सलाह ली। हालांकि, इसके बाद भी एन्जाइटी और दिल की धड़कने तेज ही रहती थीं और अंत में मैंने फैसला लिया कि डॉक्टर की दवाई नहीं लेनी है और नैचुरल तरीकों पर ध्यान देना है। इसमें गर्म पानी रखने से लेकर चेहरे पर आने वाले मुहांसो को दूर करने के लिए मुल्तानी मिट्टी के फेस पैक और एनर्जी ड्रिंक आदि शामिल था। इस वजह से मैं यहां आपको 6 तरीके बताने वाली हूं, जिनसे मुझे PMS से छुटकारा मिला।

woman have bladder pain sitting on bed in bedroom after wake up feeling so sick and painful,Healthcare concept

सही फ्लूड्स लें

अगर आपको कॉफी पीना पसंद है और PMS फटीग को दूर करने के लिए आप दिन भर में काफी ज्यादा कॉफी पी लिया करती हैं तो आपको बता दें कि इससे केवल आपको कुछ समय के लिए ही राहत मिलती है। कैफीन आधारित चीजें पीने से आपके शरीर में डीहाइड्रेशन होती है और वॉटर रिटेंशन होने लग जाता है। इस वजह से अधिक से अधिक पानी पीएं। ऐसा इसलिए क्योंकि अगर आप दिन में 3 से 4 लीटर पानी पीती हैं तो ब्लोटिंग की समस्या कम होती है। यहां तक कि आप पीरियड्स में भी अपनी बॉडीकॉन ड्रेस ट्राई कर सकती हैं।

फाइबर इनटेक को बढ़ाएं

PMS के कारण होने वाली क्रेविंग की वजह से आपका बाहर का खाना खाने का मन कर सकता है। यकीन मानिए मुझे pmsing के दौरान बाहर का खाने का बहुत ज्यादा मन करता था लेकिन अपनी क्रेविंग को शांत करने के लिए मैंने अपने खाने में फाइबर इनटेक को बढ़ाया। इसके लिए मैंने आटा, फल, सब्जियां आदि खाना शुरू किया जिससे मुझे सही पोषण और फाइबर मिले। इससे मुझे पीरियड्स के दौरान भी थकान महसूस नहीं होती और क्रेविंग भी नहीं होती।

डाइट में एड करें PMS Gummies

भले ही आप बैलेंस्ड डाइट ले रही हों लेकिन PMS को बेहतर बनाने के लिए आप सिरोना की PMS Gummies भी ट्राई कर सकती हैं। मुझे इनके बारे में कुछ समय पहले ही पता चला है और इससे मेरी वाकई में काफी मदद हुई है। इस नैचुरल प्रोडक्ट ने मेरे PMS के लक्षणों को काफी कम किया है। इन Gummies में मौजूद विटामिन बी6 हार्मोनल बैलेंस बनाने में मदद करता है। साथ ही इसमें मौजूद चेस्टेबैरी ब्लोटिंग और ब्रेस्ट सोरनेस को कम करती है। Dong Quai फटीग को दूर रखती है और इसमें मौजूद सूदिंग प्रोपर्टी चेहरे पर होने वाले मुहांसों को दूर रखने में मदद करती हैं।

पेन किलर नहीं नैचुरल पेन रिलीफ का करें इस्तेमाल

क्रैंप को कम करने के लिए पेनकिलर लेने की जगह आप सिरोना फेमिनिन पेन रिलीफ पैच का इस्तेमाल कर सकती हैं, जो पीरियड क्रैंप को कम करने में मदद करते हैं। इस पैच का इस्तेमाल करना बहुत ही आसान है। इसके लिए आपको केवल स्लीक पैच को अपने लॉवर टमी पर लगाना है। इस पेन रिलीविंग पैच को मेंथॉल और eucalyptus ऑयल से बनाया गया है। इसे कैरी करना भी आसान है और एक पैच 8 से 10 घंटों तक काम करता है। पीरियड में पैड कैसे लगाते हैं

पीरियड्स में पूरा समय बेड पर ना बैठे रहें

कहीं आप भी तो पीरियड्स होने पर पूरा दिन बेड पर नहीं लेटे रहते या फिर बैठे रहते हैं। अगर हां तो आपको आज ही ऐसा करना बंज करना होगा क्योंकि इससे आपको बाद में परेशानी हो सकती है और आपका वजन भी बढ़ सकता है। इस वजह से पीरियड्स में भी अपनी बॉडी को मूव करें और थोड़ी बहुत एक्सरसाइज भी करें।

22 Apr 2022

Read More

read more articles like this

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text