दांत का दर्द हो जायेगा छूमंतर जाने इसके घरेलू उपाय - Dant Dard ke Gharelu Nuskhe

दांत में दर्द के घरेलू उपाय, Dant ke Dard ka Gharelu Upay, दांत दर्द

दांत दर्द को कुछ भी करने से रोका नहीं जा सकता है। एक बार दांत दर्द शुरू हो जाए, तो इसे अनदेखा न करें। यदि आप भी दांत दर्द (dant me dard) से पीड़ित हैं, तो आपको डॉक्टर के पास जाने की जरूरत है। लेकिन अगर आप तुरंत डॉक्टर के पास नहीं जा सकते हैं, तो अस्थायी रूप से कुछ दांत दर्द के घरेलू उपाय (dant dard ke gharelu upay) अपना सकते हैं। फिट शरीर के कुंजी हैं फिट दांत। इसीलिए दांतों की देखभाल में किसी भी तरह कोई लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए। क्योंकि दांत में दर्द तब शुरू होता है, जब दांत की जड़ के आसपास की नसों में किसी प्रकार की दिक्कत होने लगती है। कुछ लोगों को दांतों का दर्द उनके जबड़े, कान या सिर से आता हुआ महसूस होता है। कई बार तो दर्द बढ़कर (teeth pain in hindi) जबड़े तक चला जाता है, जो सूजन के रूप में चेहरे पर नजर आने लगता है। 
यहां हम दांत दर्द में तुरंत आराम के लिए क्या करें, दांत में दर्द के घरेलू उपाय (dant dard ke gharelu nuskhe) और दांत दर्द की दवा (dant dard ki dawa) के बारे में जानने वाले हैं। इसके अलावा, हम दांत दर्द और दांत दर्द के कारणों (causes of toothache) के बारे में बहुत सारी जानकारी लेने जा रहे हैं। 

Table of Contents

    दांत में दर्द क्यों होता है - Causes of Toothache in Hindi 

    बहुत से लोगों को ये लगता है कि दांत में दर्द सिर्फ कैविटी होने की वजह से ही होता है। कई मामलों में ये कारण सही हो सकता है। लेकिन आपको बता दें कि कैविटी के अलावा भी कई एक दांत दर्द के कारण (dant dard ke karan) हो सकते हैं। अगर आप लगातार दांत दर्द से पीड़ित हैं, तो आपको दांत दर्द के कारणों को भी जानना चाहिए। तो आइए दांत दर्द के कारणों (causes of toothache) से शुरू करते हैं। यह आपको अपने दांत दर्द के कारण को समझने में मदद करेगा।

    • ओरल हेल्थ का ध्यना न रखने के कारण दांतों में कीड़े लगने का डर रहता है। इससे दांतों में कैविटी हो जाती है। यह दांत के दर्द का कारण बनता है।
    • दांतों को मजबूत रखने वाले मसूड़ों को भी मजबूत रखना बहुत महत्वपूर्ण है। कई लोगों को मसूड़ों की बीमारी होती है और उससे कई समस्याएं हो सकती हैं जैसे कि उनमें सूजन आ जाती है। मसूड़े ढीले होने के बाद आपके दांतों का बाहर आना और उनमें भयंकर दर्द होना स्वाभाविक हो जाता है।
    • अक्ल दाढ़ (Wisdom Tooth) निकलने के दौरान दांतों में असहनीय दर्द होता है।
    • कैल्शियम की कमी के कारण भी दांत कमजोर पड़ने लगते है और दांतों में दर्द शुरू हो जाता है।
    • दांतों में क्रेक आने या टूटने के कई कारण हो सकते हैं, जैसे गिरने से, फेंकी गई कोई चीज लगने से, खेल-कूद के दौरान और किसी कठोर चीज को दांतों से काटने की कोशिश आदि। 
    • अगर फ्रैक्चर हुए दांत में लगातार दर्द हो रहा है तो इसका मतलब है कि फ्रैक्चर ने दांत के बीच से होते हुऐ नसों तक अपना रास्ता बना दिया है। जिसके कारण असहनीय दर्द हो रहा है। 
    • अगर आप कोई हार्ड ब्रश इस्तेमाल कर रहे हैं और जिसकी वजह से दांतों पर ज्यादा दबाव पड़ रहा है उस वजह दांत मसूड़ों में सूजन, खून निकलना और अन्य समस्याएं होने लगती हैं। अगर इस दबाव के साथ रोज ब्रश करेंगे, तो इसके कारण मसूड़े पीछे से हटने लगेंगे और दांत में दर्द होने लगेगा।
    • हृदय रोग और फेफड़ों का कैंसर भी दांतों का दर्द का कारण बन सकता है| कुछ मामलों में, दांत दर्द दिल के दौरे का एक चेतावनी संकेत हो सकता है।
    • दांतों में बैक्टीरिया के इन्फेक्शन के कारण दर्द होने लगता है। 
    • कान में दर्द, मुंह का अल्सर, टूटे हुए दांत, दांतों का पसीना, ढीली फिलिंग और साइनसिसिटिस भी दांत में दर्द होने के कारण (dant dard ke karan) हैं।

    दांत में दर्द से बचाव

    दांत में दर्द की परेशानी आपको बार-बार न हो इसके लिए पहले से ही सचेत हो जाये और अपनी दांतों की देखभाल में बिल्कुल भी लापरवाही न बरतें। यहां हम आपको दांत में दर्द से बचाव के कुछ ऐसे उपाय (dant dard ke upay) बता रहे हैं, जिनका नियमित तौर पर पालन करने से आप दांतों से जुड़ी गंभीर समस्याओं से बच सकते हैं।

    नियमित रूप से करें फ्लॉस

    दांतो की सफाई के लिए जरूरी है कि आप नियमित रूप से फ्लॉस करें। ब्रशिंग के साथ माउथवॉश और फ्लॉसिंग भी जरूरी हैं। आपके दांतों के बीच में जो खाना फंसता है वो दांतों की सड़न और मसूड़ों के इंफेक्शन (dant ke dard ka ilaj) का एक बड़ा कारण होता हैं। इससे बचने के लिए रोजाना रात में सोने से पहले डेंटल फ्लॉस या फिर इंटरडेंटल ब्रश का इस्तेमाल करें और कुल्ला करने के बाद ही सोएं।

    ओरल हाइजीन का रखें ख्याल

    दांतों की सड़न, संक्रमण, मसूड़ों की बीमारी व अन्य कई कारणों के चलते व्यक्ति के दांतों में दर्द (dant me dard) होता है। ऐसे में आप अपनी ओरल हेल्थ का खास ख्याल रखें। दांतों की सही तरह से केयर करने के लिए रोजाना दो बार ब्रश करें। इससे आपके दांतों में सड़न नहीं होती। 

    धूम्रपान बिल्कुल ना करें

    धूम्रपान हमारे दांतों के लिए बहुत ही नुकसानदायकहोता है, यह दांतों की हालत को बदतर बना देता है। इसकी वजह से दांतों से जुड़े मसूड़े कमजोर हो जाते हैं और दांतों पर पीली परत जमा देते हैं।

    अत्यधिक मीठा खाना बंद करें

    किसी भी चीज की अति बुरी होती है। अगर आपको मीठा खाना बहुत पसंद है तो उसे सीमित करें। क्योंकि ये आपकी हेल्थ के साथ-साथ दांतों की हेल्थ के लिए भी बहुत नुकसानदायक है। खासतौर पर अगर आपको दांतों में दर्द या कैविटी की शिकायत है ज्यादा मीठा खाने से बचे। क्योंकि अधिक मात्रा में मीठे और चिपकने वाली चीजें जैसे कैंडीज ,चिप्स, क्रीम बिस्कुट आदि खाने से दांतों में सड़न पैदा होने लगाती है और ये दांतों में मौजूद खराब बैक्टिरिया को एक्टिव करती है। 

    टूथब्रश बदलते रहें

    ज्यादातर लोग साल भर 1 ही टूथब्रश इस्तेमाल करते हैं, लेकिन ये गलत आदत है। दांत के दर्द से बचाव के लिए सबसे जरूरी है आप हर दूसरे-तीसरे महीने में अपना टूथब्रश बदलते रहें।

    डाइट में विटामिन सी शामिल करें

    जी हां, विटामिन सी को भी डाइट में शामिल करके दांत दर्द से बचा जा सकता है। क्योंकि विटामिन सी एक शक्तिशाली एंटीबायोटिक है जो बैक्टीरिया को नष्ट करता है। साथ ही इससे दांत और मसूढ़ें भी मजबूत होते हैं। इसके लिए आप संतरे, कीवी, नींबू, पत्ता गोभी और गोभी का सेवन कर सकते हैं।

    डेंटिस्ट से चेकअप करवाना न भूलें 

    कहते हैं कि प्रिवेंशन इज बैटर देन क्योर। इसलिए सबसे पहले तो कोशिश करें कि आपके दांतों में किसी तरह की समस्या ही न हो। साथ ही नियमित तौर पर डेंटिस्ट से अपना चेकअप जरूर करवाएं। ताकि अगर आपको भविष्य में किसी तरह की दांत से जुड़ी को कोई बड़ी दिक्कत न हो।

    दांत में दर्द के घरेलू उपाय - Dant ke Dard ka Gharelu Upay

    दांतों की एक आम समस्या है, दांतों में अक्सर दर्द होना। इसका दर्द तो सिर्फ वही समझ सकता है, जिसके दांत में कभी दर्द हुआ हो। ऐसे में खाना-पीना बहुत मुश्किल हो जाता है। इस दर्द को झेलना भी आसान नहीं है। हमारे आसपास जितने लोग हों, उतनी ही सलाह भी दी जाती है लेकिन कोई ये नहीं बताता कि दांत दर्द में तुरंत आराम के लिए क्या करें जिससे दर्द बंद हो जाये। तो आइए जानते हैं ऐसे ही कुछ आसान से दांत में दर्द के घरेलू उपाय (dant dard ke gharelu upay) के बारे में, जिन्हें आजमा कर दांत के दर्द से कुछ ही देर में छुटकारा (dant dard ke upay) पाया जा सकता है और आराम भी।

    • दांत के दर्द में लहसुस भी काफी कारगर है। एक लहसुन की कली को दांतों के बीच में दबा कर रखें। कुछ ही देर में उसके रस से दांत का दर्द सुन्न पड़ जायेगा। (dant dard ke gharelu nuskhe)
    • आलू तो आपके घर में आसानी से मिल ही जायेगा। अगर दांतों में दर्द के साथ ही सूजन भी है तो आलू को छीलकर उसकी स्लाइस उस भाग पर 20 मिनट तक रखें, तुरंत राहत मिलेगी।
    • नींबू विटामिन सी का बड़ा स्रोत है। दांतों के दर्द वाले हिस्से पर नींबू का कतरा लगाने से दर्द से तुंरत राहत मिलती है।
    • दांतों के दर्द में राहत के लिए आप टी- बैग का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। गर्म पानी में टी बैग्स रखें और उससे दर्द वाले भाग की सिकाई करें।
    • अगर दांत में दर्द बहुत ज्यादा हो रहा है तो 20 से 25 मिनट तक बर्फ से उस दांत की सिकाई करें, जिसमें दर्द हो रहा है। ऐसा करने से राहत मिलेगी।
    • नींबू विटामिन सी का बड़ा स्रोत है। दांतों के दर्द वाले हिस्से पर नींबू का कतरा लगाने से दर्द से तुंरत राहत मिलती है। (dant dard ke gharelu nuskhe)
    • दांतों के दर्द में ब्रांडी का भी इस्तेमाल होता है। अगर आपके घर में ब्रांडी रखी है तो थोड़ी सी रूई को उसमें डुबोयें और दांतों में दर्द वाले स्थान पर लगाएं। दर्द छूमंतर हो जाएगा।

    • दांत में कीड़ा लगा है और उसकी वजह से दर्द हो रहा है तो दो चुटकी सेंधा नमक में सरसों का तेल मिलाकर उस पेस्ट को प्रभावित दांत पर लगाएं, इससे दांत के दर्द में तुरंत राहत मिलती है।
    • लौंग को पीस कर उसमें नींबू का रस निचोड़ लें और दिन में तीन से चार बार उन दांतों पर लगाएं, जिनमें दर्द हो रहा हो।
    • दांतों में दर्द से छुटकारा पाने के लिए फिटकरी के पाउडर को दर्द वाली जगह पर लगाएं। ऐसा करने से आपको दांत के दर्द से राहत मिलेगी
    • आपके जिस दांत में दर्द हो रहा हो, उस पर कपूर लगाएं। अगर कीड़े की वजह से दांत में दर्द हो रहा है तो उस जगह पर कपूर का चूरा भर दें। दर्द के साथ कीड़ों से भी छुटकारा मिलेगा।
    • दांत दर्द में अदरक भी लाभदायक है। अदरक के छोटे- छोटे टुकड़े करके उन पर सेंधा नमक डाल लें। जिस दांत में दर्द हो, उसके नीचे अदरक का टुकड़ा दबा लें। इस दौरान मुंह में जो पानी आये, उसे निगलने के बजाय थूकते रहें। इससे दांत दर्द सिर्फ 5 से 10 मिनट में ही बंद हो जायेगा।
    • अगर दांतों में दर्द की समस्या है तो नीम की तीन-चार पत्तियों को धोकर चबा लें। इनका स्वाद थोड़ा कड़वा होता है मगर इन्हें चबाने से दर्द में राहत मिलेगी।
    • दांत के दर्द में तुरंत आराम पाने के लिए अमरूद की पत्तियों को चबाएं या फिर पत्तियों को पानी में उबालकर उससे कुल्ला करें। इससे दांत दर्द के साथ मसूड़ों में सूजन और दर्द की समस्या भी दूर हो जाती है।
    • आपके जिस दांत में दर्द हो रहा है, उस जगह पर कच्चे प्याज का टुकड़ा रख दें। दर्द एकदम गायब हो जायेगा। (dant dard ke gharelu nuskhe)
    • दांतों के दर्द के लिए हींग का इस्तेमाल भी बेहद फायदेमंद साबित होता है। इसके लिए एक गिलास पानी में दो चुटकी हींग और चार चुटकी सेंधा नमक डालकर उबाल लें। पानी गुनगुना होने के बाद इससे कई बार कुल्ला करें। दर्द से तुरंत राहत मिलेगी। (dant dard ke gharelu nuskhe)

    दांत में दर्द हो तो क्या परहेज करें

    दांत में दर्द इतना भयंकर होता है कि इस स्थिति में किसी के लिए कुछ भी खाना बहुत मुश्किल होता है। लेकिन जैसे ही ये दर्द थोड़ा कम होता है या बंद हो जाता है लोग तुरंत ही कुछ भी खा लेते हैं, लेकिन ये सही नहीं हैं। कुछ भी खा लेने से दांत में दर्द (dant me dard) ज्यादा बढ़ सकता है। इसीलिए यहां हम आपको बता रहे हैं कि दांत के दर्द के दौरान क्या खाना चाहिए और किन चीजों से परेहज करना चाहिए। आइए जानते हैं -

    दांत दर्द में क्या खाएं

    दांत में दर्द के दौरान (teeth pain in hindi) आपको ऐसी चीजें खानी चाहिए जो चबाने और निगलने में आसान हो। इसके लिए आपको दांतों पर ज्यादा दबान न डालना पड़े। दांत में दर्द में इन चीजों को खा सकते हैं -

    • दलिया
    • जूस
    • आलू का भर्ता
    • पका हुआ केला
    • स्मूदी
    • मूंग की दाल
    • दही
    • आइसक्रीम
    • पनीर
    • दूध ब्रेड

    दांत दर्द में क्या नहीं खाएं

    दांत का दर्द आपके पूरे दिन को बिगाड़ देने के लिए काफी है। ऐसे में गलती से भी आप कुछ ऐसा न खा लें जिससे दांत का दर्द (dant dard ke upay) और भी ज्यादा तेज हो जाये। दांतों के दर्द में इन चीजों को खाने से बिल्कुल परहेज करना चाहिए  - 
    • दांत दर्द के दौरान मीठा नहीं खाना चाहिए। इससे दांत दर्द और भी ज्यादा बढ़ सकता है। 
    • एसिडिक फलों यानि कि ज्यादा खट्टे फलों का सेवन करने से बचें।
    • ऐसी भी कठोर चीजें न खाएं, जिनमें दांतों पर ज्यादा दबाव पड़े।
    • जरूरत से ज्यादा गर्म या ठंडा न खाएं और न पिएं।
    • ज्यादा तेल मसाले वाला भोजन न करें।

    दांत दर्द की दवा - Dant Dard ki Dawa

    आमतौर पर एस्पिरिन, इबुप्रोफेन, एसिटामिनोफेन, सेंटीवोन, क्लिंडामायसिन, नेपरोक्सन, नुप्रिन और विनमोल दांत दर्द की दवा के तौर पर ली जाती हैं। लेकिन हमारा मानना है कि दांत के दर्द के लिए किसी भी OTC दवा का उपयोग करने से पहले हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह लेकर ही खाएं। क्योंकि ये दांत दर्द की दवा (dant dard ki dawa) दर्द से आराम पाने में मददगार होते हैं लेकिन इनके साथ अन्य दवाओं के डोज भी दिये जाते हैं।

    दांत दर्द FAQs

    दांत का दर्द कितने समय तक रहता है?

    दांत में कीड़े लगे होने व मसूड़ों में सूजन की वजह दांत का दर्द कभी भी उठ सकता है और ये कम से कम 2 से 3 दिन रहता है। वहीं अक्ल दाढ़ का दर्द (teeth pain in hindi) कम से कम एक या दो दिन तक तो रहता ही है।

    दांत दर्द में तुरंत आराम पाने के लिए क्या करें?

    अगर दांत में दर्द (dant me dard) बहुत ज्यादा हो रहा है तो दांत दर्द में तुरंत आराम पाने के लिए 20 से 25 मिनट तक बर्फ से उस दांत की सिकाई करें, जिसमें दर्द हो रहा है। ऐसा करने से राहत मिलेगी।

    क्या ज्यादा गर्म चीजें खाने से दांत कमजोर हो जाते हैं?

    गर्म चीजें नहीं बल्कि ज्यादा ठंडा और ज्यादा गर्म चीजें खाने से दांतों को नुकसान पहुंचता है। इस आदत से दांत समय से पहले ही खराब (dant dard ke karan) हो जाते हैं।

    क्या पतंजलि में दांत दर्द की दवा आती है ?

    पंतजलि में दांत दर्द की दवा (dant dard ki dawa) नहीं आती है। लेकिन पतंजलि का दन्त मंजन, दन्त पाउडर और खदिरादी वटी, दांतों की सभी समस्याओं से छुटकारा दिलाने का वादा करती है।

    अकल की दाढ़ आने में इतना दर्द क्यों होता है?

    अकल की दाढ़ आने में इतना दर्द (dant me dard) इसलिए होता है क्योंकि विस्डम टुथ सबसे अंत में आते हैं। इन्हें मुंह में पूरी जगह नहीं मिल पाती और इसकी वजह जब ये दांत आते हैं तो बाकी के दांतों को भी धक्के देते या पुश करते हैं। इससे मसूड़ों पर भी दवाब बनता है और ज्यादा दर्द होता है।

    क्या दांत दर्द घरेलू इलाज से ठीक होता है?

    दांत दर्द में तुरंत आराम के लिए दांत दर्द के घरेलू उपाय बेहद कारगर साबित होते हैं। लेकिन अगर दर्द बर्दाश्त से बाहर है तो खुद डॉक्टर बनने की कोई जरूरत नहीं है इसका तुरंत डेंटल क्लीनिक में जाकर इलाज करवाएं।

    ओरल हाइजीन क्या है?

    ओरल हाइजीन यानि कि मुंह की साफसफाई करना होता है। ओरल हाइजीन के फायदे सिर्फ मुंह को ही नहीं बल्कि पूरे शरीर को ही मिलते हैं। अगर आप इसके प्रति थोड़ी सी भी लापरवाही बर्ते हैं तो ये आपको काफी मंहगा पड़ सकता है।

    क्या दांत दर्द की वजह से कान में भी दर्द हो सकता है?

    अगर आपके दांत में दर्द है या फिर दांत में किसी तरह का इंफेक्शन तो इससे कान में भी दर्द होने लगता है। क्योंकि कैविटी या संक्रमण दांतों का समर्थन करने वाली हड्डियों तक फैलकर गंभीर दर्द पैदा करती है और जबड़े में दर्द (teeth pain in hindi) होने से ये कान तक पहुंच जाता है।

    कैविटी दांत दर्द का कारण बन सकती है क्या?

    POPxo की सलाह : MYGLAMM के ये शनदार बेस्ट नैचुरल सैनिटाइजिंग प्रोडक्ट की मदद से घर के बाहर और अंदर दोनों ही जगह को रखें साफ और संक्रमण से सुरक्षित!

    Beauty

    Ultimate Germ Defence 35 Sanitizing Wipes + 30 Sanitizing Towels + 4 Moisturizing Hand Sanitizers

    INR 999 AT MyGlamm