क्या होता है कुमकुमादि तैलम (Kumkumadi Tailam)? जानिए इसके ब्यूटी बेनिफिट्स

क्या होता है कुमकुमादि तैलम (Kumkumadi Tailam)? जानिए इसके ब्यूटी बेनिफिट्स

आजकल की लाइफस्टाइल का असर हमारी स्किन पर भी साफ दिखाई देता है। समय से पहले एजिंग का दिखना, पॉल्युशन की वजह से चेहरे की रंगत का असामान होना व स्किन से जुड़ी ऐसी ही अन्य समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इनसे निजात पाने के लिए हम तमाम तरह के ब्यूटी प्रोडक्ट्स व घरेलू उपाय आजमाते तो हैं लेकिन हमें मनचाहा नतीजा नहीं मिलता है। लेकिन चरक और सुश्रुत जैसे महान भारतीय वैद्यों ने त्वचा की देखभाल से जुड़ी समस्याओं को हल करने के लिए कई आसान उपाय बताए हैं। उन्हीं में से एक है आयुर्वेद का नायाब तोहफा जिसे कुमकुमादि तैलम या कुंकंमादि तेल (Kumkumadi Face Oil Benefits) के रूप में जाना जाता है। भारत के केरल राज्य में पारंपरिक औषधियों में इस तेल का इस्तेमाल चेहरे की रंगत निखारने व त्वचा संबंधी अन्य समस्यों को खत्म करने के लिए किया जाता है। 

क्या है कुमकुमादि तैलम What Is Kumkumadi Tailam?

आयुर्वेद के कई ग्रंथों में कुमकुमादि तैमल (Kumkumadi Tailam) का वर्णन किया गया है। दरअसल, यह एक आयुर्वेदिक औषधि है जो त्वचा से जुड़ी तमाम समस्याओं जैसे मुंहासे, झाईं, दाग-धब्बे, ब्लैक हेड्स और व्हाइट हेड्स को दूर कर त्वचा को अंदर से निखारती है। कुमकुमादि यानि कि कुमकुम का अर्थ होता है केसर, जो कि इस तेल में इस्तेमाल होने वाली दिव्य औषिध है। केसर को मिलाकर 25 अनमोल जड़ी बूटियों से तैयार होता है कुमकुमादि तैलम। इस तेल का उपयोग हजारों साल से मसाज, पंचकर्म और नस्य में किया जाता रहा है। आजकल कई ब्यूटी ब्रांड्स इसे फेस ऑयल के तौर पर बना रहे हैं। 

फेस ऑयल कुमकुमादि तैलम के फायदे Kumkumadi Face Oil Benefits in HIndi

कुमकुमादि तैलम (Kumkumadi Tailam) के उपयोग से चेहरे की चमक, रंगत बरकरार रहती है, यह तेल पूरी तरह से आयुर्वेदिक है। इसमें मिला हुई नारियल तेल और बकरी के दूध जैसी औषधियां स्किन को कई फायदे पहुंचाती हैं। तो आइए जानते हैं फेस ऑयल कुमकुमादि तैलम के फायदे (Kumkumadi Face Oil Benefits in HIndi) के बारे में - 

  • कुमकमादि तैलम में एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-हाइपरपिग्मेंटेशन, मॉइस्चराइजर, डेमल्सेण्ट, एंटीबैक्टीरियल, एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी-माइक्रोबियल, एंटी-प्रूरिटिक और नेचुरल सनस्क्रीन के गुण पाए जाते हैं। ये आपकी स्किन को जरूरी पोषण देता है व उसे हेल्दी बनाता है।
  • त्वचा की चमक को बढ़ाने में कुमकुमादि तैल का इस्तेमाल भारत में हजारों सालों से किया जा रहा है। इसके रोजाना इस्तेमाल से आपकी स्किन शीशे की तरह चमकने लगती है।
  • कुमकुमादि तेल लगाने से स्किन को नैचुरल कलर मिलता है। साथ ही ये एंटी एंजिंग के तौर पर भी काम करता है।
  • चाहे कितने भी पुराने दाग-धब्बे के क्यूं न हों, 3 से 6 महीने तक इसका इस्तेमाल करने से सब गायब हो जाते हैं।
  • ये तेल स्किन को टोन करता है व चेहरे के ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाता है।

  • ये तेल हाइपरपिग्मेंटेशन या झाईं को दूर करने में बेहद कारगर है। 
  • इसमें पराग और नारियल का तेल मिक्स होता है जिसकी वजह है कि ये स्किन पर एक सुरक्षा परत की तरह काम करता है और स्किन को धूप की हानिकारक किरणों बचाता है व सन टैन को भी खत्म कर देता है।
  • कुमकुमादि तैलम को बनाने में कई खास आयुर्वेदिक औषधियों का इस्तेमाल भी किया जाता है। ये स्किन में होने वाले सबसे गंभीर किस्म के मुंहासों की समस्याओं को दूर करने में मदद करते हैं। 
  • कुमकुमादि तेल को बनाने में केसर, हल्दी, चंदन, घी, नारियल का तेल और बकरी के दूध जैसी औषधियों का इस्तेमाल किया जाता है। इसका उपयोग करने से स्किन हाइड्रेट रहती है और साथ ही हेल्दी भी।
  • इस तेल की सबसे बड़ा फायदा यही है कि इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं है।

Beauty

GLOW Iridescent Brightening Moisturising Cream

INR 1,595 AT MyGlamm