जॉनी लीवर, महमूद और कपिल शर्मा जैसे ये कॉमेडी किंग्स हैं इंडियन कॉमेडी की पहचान

जॉनी लीवर, महमूद और कपिल शर्मा जैसे ये कॉमेडी किंग्स हैं इंडियन कॉमेडी की पहचान

खुश रहना एक कला है और ज़िंदगी में आने वाले हर तरह के पड़ाव व लम्हे को हंसी-खुशी स्वीकारना इसी कला में महारत हासिल करने जैसा है। अपने आस-पास आपने ऐसे बहुत से लोग देखे होंगे, जो हमेशा मुस्कुराते रहते हैं। उन्हें देखकर आप मन ही मन सोचते भी होंगे कि आखिर ये हमेशा इतना खुश कैसे रह लेते हैं। आज की दौड़ती-भागती ज़िंदगी में महसूस करने के लिए गम के बहाने बहुत हैं, मगर कोशिश की जाए तो उनको भी हंसते-मुस्कुराते जिया जा सकता है। लोगों की ज़िंदगी में खुशी की इसी अहमियत को रचाने-बसाने और उनको हंसते-खेलते जीवन का महत्व समझाने के लिए संयुक्त राष्ट्र 20 मार्च को वर्ल्ड हैप्पिनेस डे के तौर पर मनाता है। यूनाइटेड नेशंस यानि कि संयुक्त राष्ट्र का मानना है कि दुनिया में खुशी का महत्व और लोगों में खुशी का एहसास जगाना बहुत ज़रूरी है।

Table of Contents

    वर्ल्ड हैप्पिनेस डे का महत्व - Importance of World Happiness Day

    खुशी मतलब कोई भी वह चीज़, इंसान या काम, जिसके आस-पास होने या पूरा हो जाने से आपका मन प्रसन्न और पूर्ण हो जाए। यह कहावत सच है कि रुपये-पैसे के बल पर खुशियां नहीं खरीदी जा सकती हैं। आप कितने भी अमीर हों पर उसका मतलब यह नहीं हो सकता है कि आप अंदर से उतने ही खुश भी हों। संयुक्त राष्ट्र के विशेष सलाहकार रहे जेमी इलियन ने हैप्पिनेस डे मनाने का प्रस्ताव रखा था। इस दिवस को मनाने के माध्यम से वे दुनिया को एहसास दिलाना चाहते थे कि देश की समृद्धि के लिए सिर्फ आर्थिक विकास ही ज़रूरी नहीं है, बल्कि लोगों की खुशहाली और सुख को बढ़ाना भी अहम है।

    20 मार्च को दुनिया भर में मनाए जाने वाले इस खास दिवस की हर साल एक अलग थीम होती है। इसे वर्ल्ड हैप्पिनेस डे के साथ ही इंटरनेशनल डे ऑफ हैप्पिनेस (International Day of Happiness) के तौर पर भी जाना जाता है। इसका प्रस्ताव भूटान की तरफ से आया था और 1970 से ही भूटान का मुख्य उद्देश्य राज्य के लोगों की खुशहाली रहा है, न कि राष्ट्रीय आय को बढ़ाना।

    जाने-माने भारतीय कॉमेडियंस

    भारतीयों के बीच बॉलीवुड का एक अलग ही जलवा है और यह जलवा आज का न होकर बरसों से है। न जाने कितने ही लोग अपनी आम बोलचाल वाली भाषा में भी बॉलीवुड के डायलॉग्स का इस्तेमाल करना बेहद पसंद करते हैं। वे न सिर्फ बॉलीवुड स्टार्स के फैन होते हैं, बल्कि उनके द्वारा निभाए गए खास किरदारों के भी। बॉलीवुड ने हमें कई सफल कॉमेडियंस भी दिए हैं।

    अपने हास्य और गजब कॉमिक टाइमिंग के लिए मशहूर ये सितारे फिल्मों की जान होते हैं। इनके होने मात्र से दर्शकों का दिल बहल जाता है। हैप्पिनेस डे (Happiness Day) पर जानिए भारत के जाने-माने कॉमेडियंस के बारे में। इन्हें कॉमेडी किंग के तमगे से नवाज़ा जाना कोई अतिशयोक्ति नहीं है।
    • महमूद
    • जॉनी लीवर
    • परेश रावल
    • सतीश शाह
    • अली असगर
    • बोमन ईरानी
    • गोविंदा
    • अक्षय कुमार
    • कादर खान
    • कपिल शर्मा

    महमूद - Mehmood

    1943 में रिलीज़ हुई फिल्म ‘किस्मत’ से चाइल्ड एक्टर के तौर पर बॉलीवुड में डेब्यू करने वाले एक्टर महमूद किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं। उसके बाद उन्होंने अनगिनत फिल्मों में कई छोटे-बड़े किरदार निभाए। धीरे-धीरे उन्हें उनकी कॉमेडी के लिए पहचाना जाने लगा था। लीड एक्टर के खास दोस्त के किरदार में वे काफी जंचते थे। कुछ सालों बाद आलम यह हो गया था कि बड़े सितारे भी फिल्म में उनकी मौजूदगी होने से घबराने लगे थे। बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चन को भी महमूद ने ही कमर्शियल सिनेमा स्पेस से जोड़ा था।

    पढ़िए महमूद के बेस्ट डायलॉग
    1. हम इतना दिन से अप्लाई अप्लाई आप नो रिप्लाई… आज हम अप्लाई नहीं आया आप रिप्लाई  - पड़ोसन
    2. फकीरा खड़ा दुकान पर, मांगे सबकी खैर… न काहू उससे दोस्ती, न काहू उससे बैर  - लव इन टोक्यो
    3. यह आप लोग तालियां बजा रहे हैं … या रमी के पत्ते बांट रहे हैं - वारिस
    4. अगर एक बीवी चली गई तो दूसरी बीवी मिल सकती है … छत्तीस सास-ससुर मिल सकते हैं … मगर एक सच्चा दोस्त नहीं मिल सकता है - तुमसे अच्छा कौन है
    5. मेरे पास कार है लेकिन फिर भी मैं बेकार हूं - हमजोली

    जॉनी लीवर - Johnny Lever

    फिल्म 1951 से बॉलीवुड में सक्रिय रहे जॉनी लीवर को बॉलीवुड के सर्वश्रेष्ठ कॉमेडियंस में से एक माना जाता है। उन्होंने 300 से अधिक फिल्मों में अपनी अदाकारी और कॉमिक टाइमिंग का लोहा मनवाया है। वे बॉलीवुड के इकलौते स्टार हैं, जिनके नाम का इस्तेमाल गानों और फिल्म के टाइटल तक में किया गया है। उन्होंने अपने सफल करियर से 14 साल का ब्रेक लेकर जेम स्टोन्स का अपना बिज़नेस शुरू कर दिया था। वे इंडस्ट्री के पहले एक्टर थे, जिन्होंने संडे को छुट्टी लेने की शुरुआत की थी।

    पढ़िए जॉनी लीवर के बेस्ट डायलॉग
    1. मरते-मरते चेला गुरु को जीना सिखा गया - आनंद
    2. हर दफा खाया है मिलकर थप्पड़ तुझसे … मेरे महबूब कहीं और मिला कर मुझसे - मेरे महबूब
    3. पेट की आवाज़ के सामने आत्मा और परमात्मा दोनों की आवाज़ गायब हो जाती है - पैगाम
    4. मैं बोलूंगा तो बोलोगी कि बोलता है - बसंत
    5. रांझे का दिल पल्लू से सटका, हीर की जुल्फों में जा अटका… लेकर सोती हमसे जो सटके, मां को तेरी बेहद खटके - मेरे महबूब

    परेश रावल - Paresh Rawal

    बॉलीवुड एक्टर, कॉमेडियन और राजनीतिज्ञ के तौर पर मशहूर परेश रावल ने कॉमेडी के अपने हुनर से फिल्मों में अलग ही मसाले का तड़का लगाया है। 1985 में फिल्म अर्जुन से उन्होंने सपोर्टिंग रोल के तौर पर बॉलीवुड में डेब्यू किया था और उसके बाद से ही उन्होंने कभी पलट कर नहीं देखा। सफलता उनके कदम चूमती गई और इंडस्ट्री में उनकी चमक भी बढ़ती गई। उन्होंने गुजराती थिएटर और कई हिन्दी टीवी सीरियल्स में अपनी अदाकारी का जादू चलाया है।

    पढ़िए परेश रावल के बेस्ट डायलॉग
    1. यह हाथ है कि हथौड़ा … कीड़ों की बस्ती में कौन सा आ गया मकौड़ा - हिम्मतवाला
    2. यह बाबूराव का स्टाइल है - हेरा फेरी
    3. दुनिया वालों मुझे न दिखाओ आईना … नहीं तो मैं बोलूंगा ‘मेड इन चाइना’ - हिम्मतवाला
    4. बाहर आग तो अंदर ज्वालामुखी है … जाएं तो किधर जाएं - आवारा पागल दीवाना
    5. किसी शरीफ के कमीनेपन को देखने में जो मज़ा आता है न … वो किसी हरामी के हरामीपन में नहीं - टेबल नं.21

    सतीश शाह - Satish Shah

    200 से ज्यादा फीचर फिल्म्स में नज़र आ चुके वर्सेटाइल एक्टर सतीश शाह ने बॉलीवुड फिल्मों के साथ ही मराठी फिल्म इंडस्ट्री और टेलीविजन सीरियल्स में भी काम किया है। साराभाई वर्सेस साराभाई में अपने अहम किरदार के लिए खासतौर पर मशहूर सतीश शाह ने लाफ्टर कॉन्टेस्ट ‘कॉमेडी सर्कस’ को जज भी किया था। 1978 में अपनी पहली फिल्म ‘अरविंद देसाई की अजीब दास्तां’ से करियर की शुरुआत करने वाले सतीश शाह ने 1980 में सिटकॉम यह जो है ज़िंदगी में काम किया था, जिसमें 1 साल के अंदर उन्होंने 60 अलग-अलग कैरेक्टर्स में जान फूंकी थी।

    पढ़िए सतीश शाह के बेस्ट डायलॉग
    1. कुत्ता पालो, बिल्ली पालो, यहां तक कि सांप भी पाल लेना ... पर गलतफहमी मत पालना - फिर भी दिल है हिंदुस्तानी
    2. यह रात को तीन से पांच का जो वक्त होता है न … वो बिलकुल कुंभकरण का वक्त होता है - मुझसे शादी करोगी
    3. कीड़ा मकौड़ा … बिन तेल का पकौड़ा! - हमशकल्स
    4. रास्ते के बीच में प्रेम … व्हॉट अ शेम - मस्ती
    5. अगर खूबसूरत लड़की को न छेड़ो … तो वो भी उसकी बेइज़्ज़ती होती है न - मालामाल

    अली असगर - Ali Asgar

    1987 से अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत करने वाले एक्टर अली असगर को इंडिया के बेस्ट कॉमेडियंस में गिना जाता है। वे जितनी सहजता से पुरुष किरदारों को निभाते हैं, उतनी ही काबीलियत से महिला किरदारों को भी। सीरियल जीनी और जूजू के लिए उन्हें बेस्ट एक्टर इन अ कॉमिक रोल से सम्मानित भी किया जा चुका है। वे एनिमेटेड फिल्म ‘डेस्पिकेबल मी’ में ग्रू और ड्रू नामक दो किरदारों के लिए हिंदी डबिंग भी कर चुके हैं। अली असगर को कपिल शर्मा के शोज़ के लिए भी जाना जाता है।

    पढ़िए अली असगर के बेस्ट डायलॉग
    1. भूख ऐसी चीज़ है जो अच्छे-अच्छों की ज़िद को भुला देती है - बाली उमर को सलाम

    बोमन ईरानी - Boman Irani

    थिएटर-फिल्म एक्टर और वॉइस ओवर आर्टिस्ट बोमन ईरानी ने सन 2000 से अपनी फिल्मी पारी की शुरुआत की थी। उससे पहले वे मुंबई के होटल में वेटर और इन रूम सर्विस के तौर पर काम किया करते थे। इंडस्ट्री में उन्होंने अपना सही मुकाम मुन्ना भाई सीरीज़ से बनाया था, जिसमें वे संजय दत्त के साथ नज़र आए थे। बोमन ईरानी ने अपनी ज़िंदगी में काफी संघर्ष किया है और उसी के बलबूते अब वे लोगों की प्रेरणा बन चुके हैं। वे एक बेहतरीन फोटोग्राफर भी हैं।

    पढ़िए बोमन ईरानी के बेस्ट डायलॉग
    1. मेरे पास पुलिस है, पावर है, पैसा है … तेरे पास क्या है - लगे रहो मुन्ना भाई
    2. इलेक्शन सर्कस की तरह होता है … जहां पर जोकर सिर्फ टाइमपास के लिए होता है …टिकटें खरीदी जाती हैं शेर को देखने के लिए - भूतनाथ रिटर्न्स
    3. इंसान के संस्कार बड़े ही होने चाहिए … छोटा तो भीम भी होता है - हाउसफुल 3
    4. ज़िंदगी पर जितना शक करोगे … ज़िंदगी तुम्हें उतना ही तंग करेगी - शादी से पहले
    5. नाश्ता किया, ब्रेकफास्ट? - फ्रूट एंड नट

    गोविंदा - Govinda

    लोकप्रिय बॉलीवुड एक्टर गोविंदा को उनकी कॉमेडी के साथ ही अनोखे डांस स्टेप्स के लिए भी जाना जाता है। 1986 में फिल्म इल्ज़ाम से अपने करियर की शुरुआत करने वाले गोविंदा ने 165 से ज्यादा बॉलीवुड फिल्मों में काम किया है। फिल्म ‘हद कर दी आपने’ में गोविंदा ने 6 किरदार निभाए थे - राजू, उसकी मम्मी, उसके पापा, उसकी बहन, उसकी दादी और उसके बाबा। कॉमेडी हीरो के तौर पर मशहूर गोविंदा ने डांस रियलिटी शोज़ भी जज किए हैं।

    पढ़िए गोविंदा के बेस्ट डायलॉग
    1. दुनिया मेरा घर है, बस स्टैंड मेरा अड्डा है, जब मन करे आ जाना, राजू मेरा नाम है … और प्यार से लोग मुझे बुलाते हैं … कुली नं.1 - कुली नं. 1
    2. ऊपर से हम हैं साथ-साथ और अंदर से हम आपके हैं कौन - जोड़ी नं. 1
    3. यह चीटिंग नहीं है, यह सेटिंग है - बड़े मियां छोटे मियां
    4. मैं न इधर देखता हूं न उधर देखता हूं… बहुत सोचने के बाद कहीं देखता हूं - आ गया हीरो
    5. मैं तेरे प्यार में क्या-क्या न बना मीना … कभी बना कुत्ता, कभी कमीना - हीरो नं.1

    अक्षय कुमार - Akshay Kumar

    बॉलीवुड एक्टर अक्षय कुमार का असली नाम राजीव हरि ओम भाटिया है। फिल्मों में आने के बाद उन्होंने अपना नाम बदल लिया था। मल्टी टैलेंटेड एक्टर अक्षय ने हर जोनर में अपनी अदाकारी का लोहा मनवाया है। बात चाहे एक्शन फिल्मों की हो या कॉमेडी की, बायोपिक्स की हो या रोमांटिक की, वे हर फिल्म से दर्शकों पर अपना जादू चला देते हैं। लगभग 29 साल के करियर में अक्षय 100 से अधिक फिल्मों में काम कर चुके हैं। उनके खाते में फ्लॉप से ज्यादा हिट फिल्में हैं।

    पढ़िए अक्षय कुमार के बेस्ट डायलॉग
    1. पीने की कैपेसिटी, जीने की स्ट्रेंथ, अकाउंट का बैलेंस और नाम का खौफ … कभी भी कम नहीं होना चाहिए - वन्स अपॉन अ टाइम इन मुंबई दोबारा
    2. डोन्ट एंग्री मी! - राउडी राठौर
    3. हीरो मरने के बाद स्वर्ग जाता है … और विलेन जीते जी स्वर्ग पाता है - वन्स अपॉन अ टाइम इन मुंबई दोबारा
    4. दुनिया में तीन चीज़ें होती ज़रूर हैं लेकिन किसी ने देखी नहीं … भूतों का संसार, सच्चा वाला प्यार और बहत्तर सिंह की रफ्तार - खिलाड़ी 786
    5. बॉस का खून बोलता नहीं, खौलता है … और जब यह खौलता है तो यह बॉस एक-एक को फोड़ता है - बॉस

    कादर खान - Kadar Khan

    इंडियन-कनाडाई मूल के कादर खान एक जाने-माने फिल्म एक्टर, स्क्रीनराइटर, कॉमेडियन और डायरेक्टर थे। 1973 में फिल्म दाग से बॉलीवुड में डेब्यू करने वाले कादर खान ने 300 से अधिक फिल्मों में एक्टिंग की है। बहुत कम लोग जानते हैं कि अभिनय क्षेत्र में अपनी किस्मत आज़माने से पहले वे एक कॉलेज में प्रोफेसर थे। एक्टिंग के साथ ही उन्होंने कई फिल्मों के लिए डायलॉग भी लिखे हैं। कई अवॉर्ड्स अपने नाम कर चुके कादर खान की 31 दिसंबर 2018 को कनाडा में मृत्यु हो गई थी।

    पढ़िए कादर खान के बेस्ट डायलॉग
    1. औरों के लिए गुनाह सही, हम पिएं तो शबाब बनती है… अरे सौ गमों को निचोड़ने के बाद, एक कतरा शराब बनती है - नसीब
    2. दुख जब हमारी कहानी सुनता है तो खुद दुख को दुख होता है - बाप नंबरी बेटा दस नंबरी
    3. व्हिस्की में सोडा या पानी मिलाने से उसका टेस्ट खराब हो जाता है … व्हिस्की में व्हिस्की मिलाकर पीना चाहिए - खून भरी मांग
    4. अगर मोहब्बत का मौसम ठीक नहीं रहा तो ये अपने घर जाएंगे … और अगर मोहब्बत का मौसम ठीक रहा तो फिर ये गाना गाएंगे - आतिश
    5. यह कैसा लोचा किया तूने मेरे प्यार का … माल तो बिका नहीं, बिल चढ़ गया उधार का - अंखियों से गोली मारे

    कपिल शर्मा - Kapil Sharma

    स्टैंड अप कॉमेडियन, एक्टर और प्रोड्यूसर कपिल शर्मा ने अपने हंसी के फुहारों को ही अपनी पहचान बना लिया है। वे कभी अपने कॉमेडी के तड़कों के लिए लोकप्रियता हासिल कर लेते हैं तो कभी अपने अजीबोगरीब व्यवहार से। स्टैंड अप कॉमेडी में हाथ आज़माने के बाद उन्होंने फिल्मों का रुख किया और उनमें एक्टिंग करने के साथ ही उन्हें प्रोड्यूस भी करने लगे। फिलहाल छोटे पर्दे पर वे द कपिल शर्मा शो के सीज़न 2 से छाए हुए हैं। उन्हें कॉमेडी जीनियस और बेस्ट कॉमेडी एक्टर जैसे अवॉर्ड्स भी मिल चुके हैं।

    पढ़िए कपिल शर्मा के बेस्ट डायलॉग
    1. आदमी की याददाश्त भले ही चली जाए … बीवी का बर्थडे भूल सकता है? - किस किसको प्यार करूं
    2. हमारे ज़माने में लड़कियां अपनी शादी की बात सुनकर शर्म के मारे भाग जाती थीं … और आज-कल तो लड़कियां घर से भाग जाती हैं, फिर भी नहीं शरमातीं
    3. तूने जिसका नाम अपनी हथेली पर छिपाया है… ज़रा आकर देख झरोखे पर, वो अपनी हथेली पर तेरा चांद लेकर आया है।
    4. तुम्हारा बर्थडे ऐसे मनाऊंगा न… ऐसा लगेगा पहली बार पैदा हुई हो

    हैप्पिनेस डे को लेकर पूछे जाने वाले सवाल-जवाब

    दुनिया भर में मशहूर इस खास दिवस के बारे में अभी काफी लोग नहीं जानते हैं। ऐसे में इसके महत्व, इतिहास और सबसे खुशहाल देश के बारे में मन में जिज्ञासा होना बेहद स्वाभाविक है। जानिए, हैप्पिनेस डे के बारे में पूछे जाने वाले कुछ अहम सवाल और उनके जवाब।
    1. इंटरनेशनल हैप्पिनेस डे कब मनाया जाता है?
    - International Happinee Day हर साल 20 मार्च को मनाया जाता है।
    2. दुनिया का सबसे खुशहाल देश कौन सा है?
    - भूटान को दुनिया का सबसे खुशहाल देश माना जाता है। यहां राष्ट्रीय आय से ज्यादा महत्व राष्ट्र की खुशहाली को दिया जाता है।
    3. क्या भारत में भी इसे मनाया जाता है?
    - जी हां, संयुक्त राष्ट्र से संबंधित हर देश में इसे मनाया जाता है। इसके लिए हर साल एक अलग थीम निश्चित की जाती है और उसी के हिसाब से कार्यक्रम तय किए जाते हैं।
    4. भारत में कॉमेडी का स्तर क्या है?
    - भारत में कई जाने-माने कॉमेडियंस हैं, जो अपनी गजब कॉमिक टाइमिंग से दर्शकों का मनोरंजन करने में कोई कमी नहीं रखते हैं। गोविंदा, कादर खान, जॉनी लीवर, कपिल शर्मा, महमूद आदि कुछ ऐसे कॉमेडियंस हैं, जिन्हें दशकों तक याद रखा जाएगा।